Saturday, 30 August 2014

क्या स्त्री पुरूष बराबर है?

अक्सर ऐसा देखा गया है की आजकल के आधुनिक या यूँ कहे पश्चिम का अंधानुुकरण करने वाले लोग इस बात पर बडा जोर देते है की स्त्री को पुरूष की बराबरी पर आना चाहिये । दुःख की बात तो ये है की ऐसी बातों में महीलायँ आगे रहती है । क्योंकी मेरे हिसाब ऐसा बोलकर स्त्री समाज अपना खुद का अपमान करती है ।

सबसे पहली बात तो ये की खुद भगवान ने दोनो को अलग बनाया तो दोनो एक कैसे हो सकते है । स्त्री का मानसिक विकास, शारीरिक विकास , गुणों का विकास और सामाजिक ताने बाने में उनकी उपस्थिति पुरूषों से अलग है,
इतने सारे स्तरों पर भिन्नता होने के कारण वो पुरूष के बराबर तो क्या आसपास भी नही है।  इसी बात को मुंशी प्रेमचंद ने इस प्रकार कहा है की - मानवीय गुणों के क्रमिक विकास में स्त्री पुरूषों से कही आगे है । हमारे समाज में स्त्री का अपनी महत्ता है और पुरूषों की अपनी,
इस मामले में किसी को आगे बोलना और किसी को पीछे कहना वैसी ही मूर्खता है जैसी कोई ये बोले की १ लीटर दूध में और  सूरज के प्रकाश में कौन आगे और कौन पीछे ।  पुरूष को जन्म देनी वाली औरत पुरूष से पीछे कैसे हो सकती है ।

मुकाबला समान स्तर पर होता है । अगर आपके सामने कोई ये बोल रहा है की स्त्री और पुरूष को बराबर होना चाहिये तो निसंदेह ही यह कहने की कोशिश कर रहा है की स्त्री पिछडा गई है अौर मर्द आगे है । बराबरीं की बातें करने का मतलब है किसी ना किसी को आगे रखना और किसी ना किसी को पीछे रखने जैसा है । किसी कंपनी में सेल्ल वालो का अपना महत्व है , मार्केटिंग का अपना महत्व है टेक टीम का अपना महत्व है, लेकिन हम ये नही बोल सकते है की सब बराबर होने चाहिये ।

आज भी घर का खर्चा कहाँ चलाना है वो स्त्री ही देखती है चाहे वो दिल्ली की हो या किसी ग्रामीण इलाके की । कोई भी त्योहार या फिर कोई धार्मिक काम, घर को सजाना हो या फिर माँ बन कर घर का निर्णयकर्ता बन जाना हो, सभी कामों में स्त्री ही मुख्य केंद्र है । यहाँ तक की मेट्रों की सीट हो या भारत का कानून हो या सरकारी नौकरीयाँ, सब जगह बराबरी से जितना मिलना चाहिये  उससे ज्यादा ही दिया गया है । भारत के बहुत सारे मंदिर है जहाँ बिना शादी के कोई पुरूष प्रवेश नही कर सकता है कारण पूछने पर वहाँ के पंडित साफ साफ एक ही वाक्य बोलते है की हमारे शास्त्रों में लिखा है की स्त्री के बिना पुरूष अपूर्ण और अशुद्द है, इसलिये हम अविवाहित पुरूषों को प्रवेश नही देते है । शादी के बाद जोडे से बिठाने की परंपरा तो हमेशा से ही रही है । आज के शहर के कूलडूड भी  आपको बोलते मिल जाते है की - "कर लो भाई जितनी ऐश जब तक शादी ना हो"। उनके इस वाक्य में स्त्रीयों के प्रति सम्मान साफ दिखलाई देता है की उसके आने पर बडे परिवर्तन होंगे और वो ये चीज मान कर चलता है ।

आपको जानकर आश्चर्य होगा की भारतीय दर्शनशास्त्र में प्रकृति को भी दो हिस्सों में बाँटा गया है, पुरूष प्रकृति  और स्त्री प्रकृति । गीता और अन्य जगह पर धर्म शब्द किसी पूजा पाठ की पद्धति से नही जोडा गया है, भारत में धर्म शब्द तो राम और कृष्ण के भी पहले भी था और धर्म पर बोलते हुये कृष्ण ने बोला है की धर्म के १० गुण होते है । जैसे क्षमा, करूणा, बुद्धि आदी स्त्रीलिंग शब्द है । वही अधर्म शब्द के गुण जैसे क्रोध,लोभ आदी पुर्लिंग शब्द है। नदियों का माता कहना और उनके स्त्रीसूचक शब्द इसी बात की ओर इशारा करते है की भारतीय समाज में स्त्रीयों का विशेष महत्व रहा है । हाँ समय से साथ थोडा कम ज्यादा हो गया है । मुझे तो यह लगता है की धर्म, संस्कृति और धर्म के स्त्रीसूचक गुणों का निर्माण पुरूषों द्वारा बनाना संभव ही नही है, ये सारी चीजे और व्यवस्था भारत में पुरातन स्त्रीयों के द्वारा ही बनाई गई है और इस बात पर अच्छी खासी रीसर्च (अनुसंधान) की आवश्यकता है।  और तो और हमने तो भारत को, जो की पुरूष सूचक शब्द है, के आगे भी माता लगाकर पूरे विश्व के सामने अनूठा उदाहरण प्रस्तुत किया है । आपको समाचार मे ये सुनने को मिल जायेगा कि कुछ लोगो ने मिलकर किसी औरत का बलात्कार किया लेकिन ये कभी सुनने को नही मिलेगा की कुछ औरतों ने मिलकर पुरूष का बलात्कार किया । ऐसा इसलिये की भारतीय स्त्रीयों में अभी भी अपनी संस्कृति के प्रति श्रद्धा है और उनके स्वभाव में अपने आप ही धर्म के गुण विद्ववान होते है ।


क्या आपको अभी भी लगता है की भारत में हमेशा स्त्रीयों को हर काम में पीछे रखा गया है ?

हाँ मै मानता हूँ बहुत जगह पर स्त्रीयों के साथ बहुत गलत व्यवहार  होता है और वहाँ बदलाव जरूरी है । समय समय पर समाज में कुरीतीयों ने जन्म लिया और वो आज खत्म हो गई । आज जो कुरीतियाँ है वो कल खत्म हो जायेंगी । लेकिन इसका ये मतलब नही की हम ये मान के चल बैठे की स्त्री पीछे रह गई और उसे भागकर पुरूषों के बराबर आना चाहिये ।

बराबरी का जो अभियान है वो विदेशी देन है, ये कन्सेप्ट (अवधारणा) बाहर के देश से आया है । जहाँ से ये अभियान आया है वहाँ पर स्त्रीयों की दुर्दशा बेहद खराब है । मात्र ६० साल पहले तक वहाँ कानूनन वोट डालना हो या बैंक में खाता खुलवाना हो, इस तरह कामों में स्त्रीयों कोई अधिकार प्राप्त नही था । आपने जिन तथाकथित महान(?) विदेशी दार्शनिक लोगो का बस नाम सुन रखा है उनके साहित्य अंदर तक पडोगे तो आपको पता लगेगा की कही किसी ने लिखा है की "स्त्री मात्र भोग(मजे) की वस्तु है", तो कही किसी ने लिखा है की "स्त्री के अंदर आत्मा नही होती है जैसे अन्य जानवर जैसे की कुत्ता बिल्ली"। सिगमंड फ्राईड ने तो ये तक बोल दिया की बच्चे के अंदर सेक्स भावना रहती है वो माँ का दूध पीते समय दिख जाती है। अरस्तु से लेकिन जितने भी दार्शनिक और विचारक पैदा हुये उन सबसे विचार औरतों के प्रति ठीक नही थे ।
दा विंची मूवी में बताया गया है की मात्र २००० सालो में ईसाई धर्म शून्य से पूरे संसार में जनसंख्या के मामले में पहले स्थान पर आ गया और इस विश्व विजय में करोडो औरतों को डायन बोल कर जिंदा जला दिया गया । आज भी इस्लामिक देश जहाँ सरीया कानून लागु है वहाँ पर स्त्रीयों की स्थिती बहुत निंदनीय है। दूर क्युँ जाते है, आजाद भारत का शाहबानो केस ही देख लेते है । शाहबानों ५० साल की औरत थी जो तलाक के बाद अपने शौहर से गुजारा भत्ता माँगने कानून तक पहुँच गई । कोर्ट ने फैसला जो सुनाया वो भारतीय कानून के हिसाब से ठीक था लेकिन शरीया कानून मानने वाले ने पूरे देश में इसे बहुत बडा मुद्दा बना दिया । संगठित मुस्लिम शक्ति ने अपना प्रभाव दिखाते हुये भारतीय  कानून में ही संशोधन करवा दिया । दुबई में शरीया कानून होने की वजह से कई विदेशी महिलाओं को बलात्कार के बाद न्याय नही मिलता है | इरानी महीला अतेफाह (Atefah_Sahaaleh) को १४ से १६ साल की उम्र में ५१ साल का एक बंदा बलात्कार करता रहा । शरीया अदालत में जब अतेफाह को लगा की वो अपना केस हार रही है तो उसने अपनी बात जोर से रखने के लिये अपने चेहरे से हिजाब उतार दिया । इस बात पर अदालत ने अतेफाह को फाँसी की सजा दे डाली ।

अगर आपके पास भारत को बदनाम करने के नाम पर २-३ कुरीतियों है तो मेरे पास तो हजारों जीवीत प्रमाण है  विदेशी संस्कृतीयों के नाम पर। इशारा बस एक ही तरफ है की भारतीय समाज में महीलाओं की स्थिती पहले और आज हमेशा ही अच्छी रही है । अगर महिला बराबरी की बात और अभियान का तुक बनता है तो वो मात्र विदेशी में बनता है, लेकिन भारत में नही । दुःख की बात तो ये है की इसी बराबरी के नाम विदेश में ५० साल पहले फेमिनिज्म नाम के अभीयान को चलाया गया और इसका परिणाम यह रहा की स्त्रीयों ने पुरूषों के कंधे से कंधे मिला कर शराब, सिगरेट और आदि बुराईयाँ अपना ली है । बराबरी के फेमिनिज्म ने क्या बर्बादी की वो इंटरनेट पर आसानी ने पढने को मिल जायेगी ।

अगर जरूरत है तो पुरूषों को स्त्री गुणों को अपनाने की जरूरत है ना की स्त्रीयों को मर्द की तरह बनने की । दोनो के अपने अपने अधिकार है और दोनो के अपने अपने कृतर्व्य । जब तक हमारे समाज में स्त्रीयों ने मन में ये बात रहेगी की वो पीछे है तब तक उनके मन में स्वाभीमान नही आ सकता और तब तक उनके मन के किसी ना किसी कोने में हीन भावना रहेगी ही रहेगी और तब तक धीरे धीरे स्त्री समाज अपनी खुद की पहचान खोकर पुरूष समाज का अंधानुकरण करेगी ही करेगी ।  ये अंधानुकरण ठीक वैसा ही है जैसे आज का भारतीय युवक ५०० सालों की लूट के दम मात्र १५० साल की तरक्की को देख कर मन से गुलाम होकर अपने को पीछे समझने लगा है और हर चीज में विदेशी अंधानुकरण करने लग गया है । बदलाव की जरूरत तो हमेशा ही हर समाज को रहती है लेकिन इस बात पर नही की कोई समाज अपनी पहचान ही मिटा दे और अपने को हीन समझे ।

जिस प्रकार आपके घर में गंदगी हो आप सरकार का इंतजार नही करते, आप खुद ही साफ करने जुट जाओगे । ठीक उसी प्रकार से भारतीय स्त्री समाज को अपने पीछे नही समझना चाहिये और ये तो बोलना ही नहीं चाहिये की बराबरी पर आना है । आप लोग तो वैसी ही आगे हो । जरूरत है तो बस आपको जो गलत लगे उसके खिलाफ आवाज उठाने की, भेडचाल चलने की नही ।

मै खुद एक लडका हूँ इसलिये इस मुद्दे पर लिखने का अधिकार नही है, लेकिन मै अपने को रोक नहीं सका क्युँकि जिनको ये लेख लिखना चाहिये वो आगे नही आते या फिर मतिभ्रम में है ।


--
Narendra Sisodiya
UI Architect @
Unicommerce
Delhi - Bharat

Friday, 11 April 2014

Fundamental Problem with Banking System

Sometimes economics is very simple -
See, Govt do not create new money, Banks create money and bank distribute money using new loan in term of house loan, credit cards or education loans. So all money created in form loans. So somebody from us will not be able to pay his/her loan because we all need to pay them with Interest and total money in the whole system is equal to total loans, for paying Interest, we need to put more loans in our system, this is an end less cycle where we will never to pay our loans.
Apart from this problem, We have second more dangerous problem too,
Because banks create loans, they give heavy loans with very low interest rates to Rich-Super Rich society, on the name create jobs and industry. But the reality is , this elite rich society will become more rich and wealthy by this process.
This system has create gap in our society. We need an International revolution to remove this system.

--
┌─────────────────────────┐
│  नरेन्द्र सिसोदिया
│  स्वदेशी प्रचारक, नई दिल्ली
│  http://narendrasisodiya.com
└─────────────────────────┘

Monday, 16 December 2013

The Banking System and Big Corporates are your real enemy

Everytime you use Credit Card, you take a short term loan. For every 90 Rupee of Loan, Bank "generate" around 2000 Rupee Virtual Money. Virtual money is just Computer figure. You work hard, for earn money but Bank need not to earn money, They just press "Keyboard" to make more money.

If you need loan for education you have to give so many documents and Beg for it, and that will be 10% Interest Rate. If Bank Give most money to Big Corporates with very low interest rates. Everytime you take loan or use Credit Card or use Bank Virtual money (like cheque, computer figure) you help Big Corporation to Grow !

The Ultimate Aim of this whole system is to grow capitalistic market and make you just a consumer.. Look out you papa aur grandpa , they earned less and saved more. You guys are earning huge and saving noting.

America Revolution was used Bank money with compromise in 1870-1890 era. that compromise have a rise in private Banking sector. the Democracy is designed in a such a way that it will only help Corporates ! America's democracy is older the Bharat. you can see now, in America, Govt is sponsored by American Capitalistic elements. After 50 -90 years, Indian Govt will also become like American Govt , fully sponsored by Corporates !!

The illusion is -- Banking sector and Corporate sector is two separate things but actually it is wrong.. both are same. Big corporates also own Bank and have very Good approach in Govt and they create profit making laws and get low interest rate loans and create a huge Virtual money which comes to you as your salary. All they want their virtual money to be returned to them via computers (ATM ,Credit Cards ,Internet Transactions ). You saving habit is their biggest problem , they just hate somebody withdrawing "Cash", the real paper money because they just do not have it. all they have just 3% cash and Rest 97% is just a figure/number in your computer screen ! So they have created a system where you become a consumer slave who just spend 100% of their salary and fully depended on Credit Card or Loan based future virtual money !!

You Blame Politics as the real reason of all bad thing, but you need to identify man behind the all the problem.. The Banking System and Big Corporates are your real enemy and your are hopeless dependent on them.

Remember , hopelessly dependent is another name of "Slavery" !!


--
┌─────────────────────────┐
│  नरेन्द्र सिसोदिया
│  स्वदेशी प्रचारक, नई दिल्ली
│  http://narendrasisodiya.com
└─────────────────────────┘

Friday, 8 November 2013

बैंकिग सिस्टम में सुधार होना चाहिये ।

बैंक का काम बस पैसे सुरक्षा और लेन देन की सुरक्षा तक ही होना चाहिये । लोन, ब्याज और फलाना ढिकाना जैसे कोई भी काम करना नही होना चाहिये ।  जैसे कोई आपके पास २० रूपये है और आप बैंक में दे दो, जब निकालना हो निकाल लो । ब्याज मिलना ही नही चाहिये, बैंकिग पूरी तरह "profit less" कर देना चाहिये । बैंक आपको १% फयादा देकर पता नही कितना लाभ लेता है । बैंकिग सिस्टम में सबसे ज्यादा फायदा बैंक वालो को ही मिलता है । वो इस फायदे को बडाने के चक्कर में क्या क्या नही करते । पूरी तरह से economy को गुलाम बना कर रख दिया है । लोग मूरख की तरह सोचते है की ब्याज मिल रहा है लेकिन ये क्युँ नही सोचते की पैसे की वैल्यू भी तो घट रही है । पहले १०० रूपये में शादी हो जाती थी अब २ लाख में भी नही होती है । अगर आपने बैंकिग सिस्टम से १०० रूपये से १०,००० बना भी लिये तो कौन सा बडा काम कर दिया । बैंकिग सिस्टम पूरी तरह से सरकार के पास चला जाना चाहिये  और सारी बैंकिग सर्विस (जैसे लोन, ब्याज, गिफ्ट, ) जैसे सारी फालतू की सर्विस बंद कर देना चाहिये । बैंकिग सिस्टम का बस २ ही काम होना चाहिये ।

१) पैसे आपके अंकाउट में डालो (ब्रांच जाकर) ,
२) पैसे को निकालो  (ATM) या ओनलाईन ट्रांसफर कर दो (INTERNET TRANSFER) !

जितना डालोगे उतना ही मिलेगा, ना पैसे कटना चाहिये ना पैसा बडना चाहिये । बैंकिग सिस्टम हमारा नौकर है जिसको हमने हमारी अर्थव्यवस्था में होने वाले लेन देन को सरल बनाने के बनाया था, ना की अर्थव्यवस्था चलाने के लिये । ये नौकर हमारा मालिक बन गया । हो सके तो एक बैंक कर दो |

फिलहाल में ऐसा सोच रहा हूँ, आपकी राय चाहिये ।

--
┌─────────────────────────┐
│  नरेन्द्र सिसोदिया
│  स्वदेशी प्रचारक, नई दिल्ली
│  http://narendrasisodiya.com
└─────────────────────────┘

Friday, 23 August 2013

1000+ Facts, Every Indian should know

By - P. Deivamuthu
Editor, Hindu Voice
http://hinduvoicemumbai.blogspot.in
Date – August 23, 2013

1. विश्व के लगभग ५७ मुस्लिम देशों में ऐसा कोई देश बताइये जहाँ हज यात्रा के लिए विशेष रियायतें दी जाती हैं।
2. कोई एक ऐसा मुस्लिम देश बताइये जहाँ अल्पसंख्यक हिन्दुओं को विशेष अधिकार दिये गये हैं?
3. कोई एक ऐसा मुस्लिम देश बताइये जहाँ किसी गैर मुस्लिम को मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री, या राष्ट्रपति बनाया गया हो?
4. एक भी ऐसा देश बताइए जहाँ की ८५% बहुसंख्यक जनता १५% अल्पसंख्यक की दया पर जीवित हो।
5. कोई एक भी मुल्ला या मौलवी बताइये जिसने आतंकवाद के खिलाफ फतवा जारी किया हो?
6. हिन्दू बाहुल्य प्रदेश महाराष्ट्र, बिहार, केरल, पांडिचेरी इत्यादि में मुस्लिम मुख्यमंत्री हुए हैं। क्या आप कभी मुस्लिम बाहुल्य प्रदेश जम्मू-कश्मीर, या ईसाई बाहुल्य नागालैंड व मिजोराम में हिन्दू मुख्यमंत्री की कल्पना कर सकते हैं?
7. यदि ८५ प्रतिशत हिन्दू असहिष्णु हैं तो मस्जिदों और मदरसों में वृद्धि कैसे हो रही है? मुस्लिम दिन में पांच बार सार्वजनिक रास्तों पर नमाज कैसे अदा कर रहें हैं और लाउडस्पीकर से यह घोषणा कैसे करते हैं कि अल्लाह के अलावा कोई भगवान नहीं है?
8. हिन्दुओं ने भारत का ३० प्रतिशत भूभाग मुसलमानों को जब सन् १९४७ में सहजता से दे दिया तो अब उन्हें अपने पवित्र तीर्थस्थान अयोध्या, मथुरा और काशी के लिए भीख क्यों मागनी पड़ती है?
9. श्रद्धालुओं द्वारा मंदिरों के कल्याण हेतु दी गयी दान-राशि मुस्लिमों व ईसाइयों के कल्याण के लिए खर्च की जाती है। क्या इसी प्रकार मदरसों व चर्चों के द्वारा संग्रहित धन राशि हिन्दुओं के कल्याण में खर्च की जाती है?
10. जब यूनिफार्म स्कूली बच्चों के लिए जरूरी है, तो नागरिकों को लिए समान नागरिक कानून क्यों नहीं?
11. यदि महाराष्ट्र, गुजरात, उ. प्रदेश, बिहार, केरल आदि भारत के अभिन्न अंग हैं, तो फिर जम्मू-कश्मीर क्या है? क्या वहाँ धारा ३७० उचित है?
12. गाँधी जी ने खिलाफत आन्दोलन का सर्मथन क्यों किया? जबकि उस आंदोलन का देश की स्वतंत्रता से कोई लेना - देना नहीं था।
13. सोमनाथ मंदिर के जीर्णोद्धार के समय गाँधीजी ने मंत्रिमंडल के निर्णय का विरोध कर - ‘पुनर्निर्माण सरकारी पैसे से न होकर जनता के पैसे से हो,‘ ऐसा कहा था। जबकि जनवरी १९४८ में दिल्ली की एक मस्जिद का निर्माण सरकारी पैसे से कराने के लिए पं. नेहरू और सरदार पटेल पर उन्होंने दबाव डाला था। क्यों?
14. यदि मुसलमान व क्रिश्चियन महाराष्ट्र, उ. प्रदेश, बिहार, उत्तरांचल, हरियाणा, पंजाब आदि में अल्पसंख्यक हैं तो क्या मिजोरम, नागालैण्ड, जम्मू-कश्मीर, मेघालय आदि राज्यों में हिन्दू अल्पसंख्यक नहीं? फिर क्यों नहीं उन्हें (हिन्दुओं को) भी अल्पसंख्यकों के समान अधिकार दिये जाते हैं?
15. क्या आप को लगता है कि हिन्दुओं के लिए कोई समस्या है या फिर हिन्दू कहना ही स्वंय में एक समस्या है?
16. गोधरा पर इतना शोर क्यों जब कि चार लाख विस्थापित कश्मीरी हिन्दुओं के बारे में कोई कुछ नहीं बोलता? क्या गोधरा में ५९ हिन्दुओं के नरसंहार के लिए कोई आयोग नहीं?
17. सन् १९४७ में जब भारत का विभाजन हुआ तब पाकिस्तान में हिन्दुओं की जनसंख्या २४ प्रतिशत थी जो अब १ प्रतिशत रह गयी है। इसी प्रकार पूर्वी पाकिस्तान (बांग्लादेश) में हिन्दू ३० प्रतिशत थे जो अब मात्र ७ प्रतिशत रह गया है। अर्थात इन देशों में हिन्दू मारे गए और भगा दिए गये। क्या हिन्दुओं के लिए मानवाधिकार आयोग नहीं?
18. भारत में जो मुस्लिम जनसंख्या १९५१ में १० प्रतिशत थी वह आज बढ़कर १४ प्रतिशत हो गयी है। जबकि हिन्दू जनसंख्या जो ८७.२ प्रतिशत थी व घटकर ८२ प्रतिशत हो गयी है (२००१ के जनगणनानुसार)। अर्थात् परिवार नियोजन का नारा सिर्फ हिन्दुओं के लिए ही है?
19. आप विचार करें :- यहाँ मस्जिद धर्मनिरपेक्ष जबकि मंदिर साम्प्रदायिक - इमाम धर्मनिरपेक्ष, साधु-संत सांप्रदायिक - बीजेपी सांप्रदायिक, मुस्लिम लीग धर्मनिरपेक्ष -  डाॅ. प्रवीण भाई तोगडि़या सांप्रदायिक (देशद्रोही), इमाम बुखारी धर्मनिरपेक्ष (देशप्रेमी), - वंदे मातरम् सांप्रदायिक, अल्लाह हो अकबर धर्मनिरपेक्ष- श्रीमान सांप्रदायिक, मिंया धर्मनिरपेक्ष - राम कृष्ण सांप्रदायिक, रहीम, अल्लाह, व जिसस धर्मनिरपेक्ष - हिन्दू वादी साम्प्रदायिक, इस्लामी धर्मनिरपेक्ष - हिन्दुत्व सांप्रदायिक, जिहादी धर्मनिरपेक्ष - और अंत में हिन्दुस्थानी कहना सांप्रदायिक, जबकि इटालियन कहना धर्म निरपेक्ष है।
20. यदि क्रिश्चियन व मुस्लिम स्कूलों में बाइबिल व कुरान पढ़ाई जाती है तो फिर हिन्दू अपनी पाठशालाओं में गीता व रामायण क्यों नहीं पढ़ा सकते हैं?
21. यदि अब्दुल रहमान अंतुले प्रसिद्ध सिद्धिविनायक मंदिर, प्रभादेवी (मुंबई) के संरक्षक (ट्रस्टी) हो सकते हैं% तो क्या एक हिन्दू, मुलायम या लालू, किसी मस्जिद या मदरसे का संरक्षक बन सकते है?
22. शंकराचार्य को गिरफ्तार किया जा सकता है। डाॅ. प्रवीण तोगाडि़या पर झूठे आरोप तय कर कई बार उन्हें गिरफ्तार किया जाता है। किन्तु जामा मस्जिद (दिल्ली) का शाही इमाम अहमद बुखारी जो स्वयं को आई. एस. आई का एजेंट बता कर भारत सरकार व हिन्दुओं को खुली चुनौती देता है, उसे गिरफ्तार क्यों नहीं किया जाता?
23. हज के लिए रियायत दी जाती है जबकि हिन्दू तीर्थ यात्रियों (अमरनाथ, कैलाश और सबरीमलय आदि) पर यात्रा कर लगाया जाता है। क्यों?
24. २००३-०४ में मुस्लिम राष्ट्रपति, हिन्दू प्रधानमंत्री और ईसाई रक्षामंत्री से बनी एक उत्तम सरकार हिन्दू राष्ट्र - भारत के अतिरिक्त अन्यत्र संभव है?
25. केरल प्रदेश के विधायक, सांसद व मंत्रीगण ‘अल्ला‘ और ‘जिसस‘ के नाम से शपथ लेते हैं, जो असंवैधानिक है। क्या हिन्दू ‘राम‘ या ‘कृष्ण‘ के नाम से शपथ ले सकते हैं?
26. अरबी भाषा की उन्नति के लिए तो भारत सरकार सहायता देती है। परन्तु ‘संस्कृत‘ के लिए नहीं। क्या संस्कृत की अपेक्षा अरबी अधिक राष्ट्रीय है?
27. असम में आई.एम.डी धारा बांगलादेशीय मुसलमानों को भारत में बसने और नागरिकता प्रदान करने में सहायक है जब कि भारतीय जम्मू-कश्मीर में नहीं बस सकते। यह दोहरी नीति क्यों?
28. एक करोड़ जम्मू-कश्मीर निवासियों को २४,००० करोड़ की सहायता अर्थात् प्रति व्यक्ति रु.२४,००० की सहायता, जबकि अन्य प्रदेशों के लोगों को प्रतिव्यक्ति इसका ५ प्रतिशत भी नहीं। कहीं यह अराष्ट्रीय तत्वों को पुरस्कार तो नहीं है?
29. यदि चित्रकारी गैर इस्लामिक है, तो एम.एफ हुसैन के खिलाफ फतवा क्यों नहीं जारी किया जाता जबकि वे अपनी चित्रकारी के द्वारा गैर इस्लामिक कार्य कर रहे हैं?
30. यदि गाना-बजाना और नाचना गैर इस्लामिक है, तो सिनेमा के क्षेत्र में शामिल खानों की भीड़ के विरुद्ध फतवा क्यों नहीं जारी किया जाता? क्या वे फतवा से अपनी कलाकारी छोड़ देंगे या इस्लाम?
31. क्या आप सोचते हैं, जब भारत में मुसलमान बहुसंख्यक हो जाएँगे, तो यहाँ धर्मनिरपेक्षता और लोकतंत्र कायम रहेगा?
32. जब दीपावली ह्वाइट हाउस (White House), हाउस आॅफ काॅमंस (House of Commons) और आस्ट्रेलिया की संसद में मनाई जा सकता है, तो भारतीय संसद में क्यों नहीं? क्या हम अमेरिका, इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया से अधिक धर्मनिरपेक्ष हैं?
33. यदि साम्प्रदायिक दंगे आर.एस.एस., वी.एच.पी और बजरंग दल के कारण ही होते हैं, तो बांग्लादेश, पाकिस्तान, सऊदी अरब, इराक, इरान, टर्की, अफगानिस्तान, इंडोनेशिया, चेचन्या, चीन, रूस, इंग्लैंड, फ्रांस स्पेन, साइप्रस इत्यादि देशों में साम्प्रदायिक दंगे क्यों होते हैं? वहाँ तो ये संगठन नहीं हैं।
34. यदि इस्लाम शांति प्रिय मजहब है तो कुरान की पढ़ाई और बंदूक चलाने का प्रशिक्षण साथ-साथ क्यों?
35. मुस्लिम मानसिकता के बारे में आप क्या कहेंगे? वे भारत, अमेरिका, इंग्लैंड व फ्रांस जैसे प्रजातंत्रिक देश में रहते हुए स्वतंत्रता का आनन्द उठा रहे हैं और फिर भी इन देशों को इस्लामिक देश बनाने की कोशिश में हैं जहाँ वे तमाम स्वतंत्रताओं से वंचित हो जाएँगे।

36. एक भू.पू. राष्ट्रपति, दो भू.पू. प्रधानमंत्री, बहुत से साधु एवं संतों ने काँची शंकराचार्य की गिरफ्तारी के खिलाफ प्रदर्शन किया। फिर भी मीडिया का कहना है कि किसी ने भी विरोध नहीं किया। क्या तोड़-फोड़ व हिंसा ही विरोध प्रदर्शन का एक मात्र मापदंड है?
37. कुरान बातचीत में विश्वास ही नहीं करता। कुरान काफिरों को युद्ध में परास्त करने में ही विश्वास करता है। फिर भी क्या आप सोचते हैं कि अयोध्या समस्या बातचीत से हल हो जायेगी?
38. क्या इस्लाम व ईसाइयत सर्वधर्म समभाव में विश्वास करते हैं? यदि हाँ, तो यह धर्म परिवर्तन क्यों?
39. क्या आप को विश्वास है कि इस्लाम और ईसाइयत राजनीतिक विचार धारा है जो देश को हथियाना चाहते हैं। वे अपने मुल्लाओं और फादरों के द्वारा स्थानीय लोगों का धर्म परिवर्तन और सांस्कृतिक मूल्यों का विनाश कर, वह करना चाहते हैं जो स्थल, जल और वायु सेना भी नहीं कर सकती।
40. क्या आप एक भी मुसलमान का नाम बता सकते हैं, जो ‘अल्ला ईश्वर तेरोनाम‘ का भजन गाता है?
41. क्या आप जानते हैं कि ‘धर्मनिरपेक्ष मुस्लिम‘ अपने आप में एक गलत शब्द प्रयोग है? एक आदमी या तो धर्मनिरपेक्ष हो सकता है या मुसलमान परन्तु दोनों एक साथ संभव नहीं है। मुसलमान वह है जो केवल अल्लाह में विश्वास करता है। वह अल्लाह के अतिरिक्त दूसरे भगवानों में विश्वास कर ही नहीं सकता।
42. संयुक्त राष्ट्रसंघ के कथनानुसार पूरी जनसंख्या के १० प्रतिशत से कम आबादी वाले लोग ही अल्पसंख्यक हो सकते हैं, तो भारत में १४ प्रतिशत मुसलमानों को अल्पसंख्यक कहना कहाँ तक उचित है?

43. चीन को सन् १९६२ का आक्रमणकारी न कहने वाले कम्युनिस्टों के देश प्रेम पर क्या आपको विश्वास है?
44. कम्युनिस्टों का सिद्धांत है कि भारत पुराने रूस की तरह एक राष्ट्र न होकर अनेक राष्ट्रों का समूह है। इसलिए भारत का विघटन हो कर रहेगा। क्या आप इससे सहमत हैं?
45. हिन्दू बहुल क्षेत्र में एक मुस्लिम परिवार अमन-चैन से रह सकता है। परन्तु मुस्लिम बहुल क्षेत्र में एक हिन्दू परिवार नहीं रह सकता। क्यों?
46. हिन्दू बहुल भारत, वर्षों से सेक्युलर है और मुस्लिम बहुल देश केवल इस्लामिक देश है और वहाँ अल्पसंख्यकों को कोई अधिकार भी प्राप्त नहीं है।
47. ईसाई मिशनरियाँ मुस्लिम बहुल क्षेत्रों में जाकर अपनी सामाजिक सेवाएँ क्यों नहीं शुरू करती? क्या इसलिए कि वहाँ उन्हें पर्याप्त प्रतिसाद नहीं मिलेगा?
48. क्या आपको मालूम है कि भारत के अतिरिक्त अन्य कोई दूसरा देश नहीं है जो बांग्लादेशियों की घुसपैठ को आश्रय देता है। बिहार, यू.पी और पश्चिम बंगाल की सरकारें उनको राॅशन कार्ड उपलब्ध करा कर वहाँ का वोटर भी बना देती है।
49. दंगे अधिकतर शुक्रवार की नमाज के बाद ही भड़कते हैं (जैसे मराड, केरल में) क्या इसका कारण इमामों की आग उगलने वाली तकरीरें तो नहीं है?
50. सभी हिन्दू बहुल क्षेत्रों में शांति रहती है। लेकिन जहाँ हिन्दू अल्प मत में हैं वहाँ अशांति व समस्याएँ ही समस्याएँ रहती है। जैसे जम्मू-कश्मीर, उत्तर पूर्वांचल इत्यादि। ऐसा क्यों?
51. केरल विधान सभा में एक सदस्य श्री सी.पी. शाजी ने कहा कि शरीयत के नियमों के साथ छेड़ छाड़ करने वाले हाथों को तत्काल कलम कर दिया जाएगा (मातृभूमि जुलाई, ३, १९८५)। क्या आप इससे सहमत हैं?
52. क्या आप इससे सहमत हैं कि सभी राजनीतिक दलों की नीतियाँ देश के लोगों को एकता व एकात्मता के सूत्र में बाँधने में असमर्थ हैं?
53. क्या आप को मालूम है कि भारत की लगभग २५ लोकसभा और १२० विधान सभा की सीटों में अवैध स्थान्तरित मुस्लिम जनसंख्या निर्णायक भूमिका में होती है; और वे एक दल के पक्ष में जो सरकार बनाने की स्थिति में होती है; चाहे वह काँग्रेस, आर.जे.डी., एस.पी., एम.एल या कम्युनिस्ट हो; थोक मतदान करते हैं।
54. के.पी.एस. गिल के कथनानुसार क्या आप को मालूम है कि कुछ गैर सरकारी संस्थाएँ व प्रचार-प्रसार संगठन भी आतंकवादी हैं? इन गैर सरकारी संस्थाओं व मानवाधिकारवादियों का उपयोग आतंकवादी हथियार के रूप में करते हैं।
55. क्या आपको मालूम है कि तथाकथित सेक्युलर मौलाना वहिदुद्दीन को जब कारगिल में लड़ रहे भारतीय जवानों की सुरक्षा के लिए प्रार्थना करने के लिए कहा गया तब उन्होंने ऐसा करने से इनकार कर दिया और कहा कि मुसलमानांे के खिलाफ लड़ने वालों के लिए मैं दुआ नहीं कर सकता। (ऐसे व्यक्ति की शव यात्रा में सोनिया और प्रियंका शरीक हुई थीं)।
56. जम्मू-कश्मीर की लड़की से शादी कर एक पाकिस्तानी भारतीय बन सकता है, परन्तु यदि वही लड़की जम्मू-कश्मीर के अतिरिक्त किसी भारतीय से शादी करती है तो उसकी जम्मू-कश्मीर की नागरिकता समाप्त हो जाती है। यह कैसा कानून है?
57. उच्चतम न्यायालय विश्व हिन्दू परिषद से अयोध्या के केस में उस केस से उसका क्या संबंध है, सवाल पूछ सकता है। परन्तु ठीक उसी प्रकार उच्चतम न्यायालय बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी या आॅल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लाॅ बोर्ड से वैसा सवाल नहीं पूछता। क्या यह उच्चतम न्यायालय का दोहरा मापदंड नहीं है?
58. अयोध्या विवाद में हिन्दुओं को कानूनी फैसले को मानने की सलाह दी जाती है। क्या आपको मालूम है कि उच्च न्यायालयों और उच्चतम न्यायालय के फैसले को निरस्त करने के लिए कई बार संविधान में संशोधन करना पड़ा है? शाह बानो और इंदिरा गांधी प्रकरण इसके उदाहरण हैं।
59. सामान्य घटनाओं के आधार पर नरेंद्र मोदी और उमा भारती से इस्तीफों की माँग की जाती है परन्तु जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग कभी नहीं की जाती है जहाँ हजारों सुरक्षाबल के जवानों को आतंकवादियों ने मौत के घाट उतार दिया और लगभग चार लाख हिन्दुओं को वहाँ से निकाल बाहर किया गया।
60. वाराणसी में शिया और सुन्नी मुसलमानो के बीच कब्रगाह भूमि के विवाद के केस में उच्चतम न्यायालय के सन् १९८६ के फैसले को कार्यान्वित करने में उ.प्र. सरकार ने इन्कार कर दिया है और कर्नाटक सरकार ने कावेरी जल विवाद पर उच्चतम न्यायालय के फैसले को अमान्य कर दिया। क्या यही न्यायालय के फैसलों का सम्मान है?
61. जब एक अकेला ग्राहम स्टैन मारा जाता है तो अंग्रेजी प्रेस उसकी खूब निन्दा करते हैं, परन्तु जब साबरमती एक्सप्रेस में ३० औरतों और बच्चों के साथ कुल ५८ हिन्दू जिन्दा जला दिए गए तो ये प्रेस वाले शांत रहे और जो इसमें मारे गए उनको ही दोषी ठहराते रहे। क्या पत्रकारिता का यही फर्ज है?
62. जम्मू-कश्मीर के भू.पू. मुख्यमंत्री फारूख अब्दुल्ला जिन्होंने क्रिश्चियन लड़की से शादी की है; अपने पुत्र उमर अब्दुला; जिनकी शादी एक हिन्दू लड़की से हुई; की शादी में खुशी-खुशी उपस्थित रहे। परन्तु जब उनकी लड़की ने एक हिन्दू लड़के के साथ शादी की तो उस शादी में वे शरीक नहीं हुए और उन्होंने अपनी नाराजगी व्यक्त की। क्या धर्म निरपेक्षता की यही पहचान है?
63. क्या आप कभी मुस्लिम मोहल्ले में गए हैं? यदि नहीं; तो कृपया आप मुंब्रा (मुंबई) या मल्लपुरम् (केरल) में एक बार जाकर जरूर वहाँ की स्थिति का अवलोकन करें। यदि आप सचमुच में सेक्युलरिस्ट हैं तो आप को बहुत अच्छा अनुभव होगा।
64. जब इस्लाम और धर्मनिरपेक्षता या प्रजातंत्र का आपस में कोई सामंजस्य नहीं है तो बेचारे हिन्दुओं को इस तथ्य के प्रति क्यों बरगलाया जाता है?
65. कानूनन मानव शरीर का कोई अंग चुनाव चिह्न के रूप में मान्य नहीं है, तो कांग्रेस को ‘हाथ‘ चुनाव चिह्न क्यों दिया गया? क्या यह कानून के खिलाफ नहीं है?
66. दिल्ली के शाही इमाम अब्दुला सैय्यद बुखारी सार्वजानिक घोषणा करते हैं कि मुसलमानों के लिए तालिबान एक आदर्श है और ओसामा बिन लादेन उनका हीरो है। क्या आप उनको धर्मनिरपेक्ष कह सकते हैं?
67. दिल्ली के शाही इमाम सैय्यद बुखारी ने अपने आंगन में शौकिया तौर पर एक काला हिरण पाल कर रखा है, जो कानूनन अपराध है। दिल्ली पुलिस जब वहाँ पहुँची तो उसे मालूम हुआ कि यह तो इमाम का घर है? तो वह चुपके से वापस आ गई। क्या इमाम कानून से ऊपर हैं?
68. यदि मुसलमान ‘समान नागरिक संहिता‘ नहीं चाहते तो क्या उन्हें कुरान की न्याय प्रक्रिया पसंद है, जिसमें आँख के बदले आँख, पैर के बदले में पैर, हाथ के बदले हाथ इत्यादि का प्रावधान है?
69. जम्मू-कश्मीर में दो लाख हिन्दू मतदाता संसदीय चुनाव में तो वोट देते हैं परन्तु विधानसभा चुनाव में उन्हें मताधिकार प्राप्त नहीं है। क्यों?
70. जम्मू-कश्मीर विधानसभा का कार्यकाल ६ वर्ष का है जब कि अन्य विधान सभाओं का ५ वर्ष। ऐसा क्यों?
71. क्या आप महाराष्ट्र के प्रतापगढ़ में अफजल खाँ; जो छत्रपति शिवाजी को मारने के लिए आया था, का स्मारक बनाना पसंद करेंगे?
72. क्या आप अयोध्या में बाबर के नाम पर मस्जिद के निर्माण का समर्थन करेंगे, जो एक लुटेरा और आक्रमणकारी था?

73. क्या आप १४ फरवरी को ‘वैलेंटाइन डे‘ (प्रेमी-प्रेमिका दिन) के रूप में मनाना, जो अपनी संस्कृति नहीं है; उचित समझतें हैं? जबकि इसके ठीक ९ महीने बाद अर्थात् १४ नवम्बर को आप ‘बालदिवस‘ के रूप में मनाते हैं।
74. नेहरू को बच्चे बहुत पसंद थे, इसमें क्या खास बात है? बच्चे तो सबको पसंद होते हैं। उनके ही जन्म-दिन को ‘बाल दिवस‘ के रूप में मनाना मूर्खतापूर्ण नहीं है? असली बाल-दिवस तो ‘गोकुलाष्टमी‘ ही है। जहाँ, कृष्ण और उनके बाल गोपाल साथियों ने ही वास्तविक बाल-लीला की थी।
75. बांग्लादेश में हिन्दू लड़कियों के साथ छेड़-छाड़ और सामूहिक बलात्कार किया जाता है। प्राय% प्रत्येक दिन मंदिरों को जलाया और नष्ट किया जाता है। सेक्युलरिस्ट और मानवाधिकार वादी संगठन उसके खिलाफ क्यों नहीं आवाज उठाते? क्या मानवाधिकार केवल मुसलमानों के लिए ही है?
76. क्या आपको मालूम है कि इस्लाम राष्ट्रीयता और राष्ट्र की सीमाओं में विश्वास नहीं करता। वह पूरे विश्व को इस्लाम के अंतर्गत अर्थात् दारूल हरब को दारूल इस्लाम बनाना चाहता है।
77. एक ६५ वर्षीय मुसलमान ने अपनी पहली तलाक शुदा पत्नी से ५४ वाँ बार पुन% शादी की। उन ५३ तलाकशुदा पत्नियों का क्या हुआ होगा? यह कैसा समाज होगा? आप सोच सकते हैं। क्या भारत में आप यही स्थिति लाना चाहते हैं?
78. मुसलमान स्कूल, काॅलेज न बनाकर मस्जिद और मदरसा ही क्यों बनाना चाहते हैं? क्या उनको लगता है कि मदरसा से ही वैज्ञानिक और इंजीनियर निकलेंगे?
79. मुहर्रम का जुलूस हिन्दू बाहुल्य मोहल्लों से जा सकता है। परन्तु हिन्दुओं के त्यौहारों का जुलूस मुस्लिम बाहुल्य मुहल्लों से नहीं जा सकता। क्यों? क्या यह साम्प्रदायिक भेद भाव को बढ़ावा नहीं देता?
80. एक जिला मजिस्ट्रेट या पुलिस आयुक्त हिन्दुओं के जुलूस को क्षेत्र के कुछ खास हिस्सों से गुजरने की परवानगी न देकर क्या उस हिस्से को अपने कृत्य से विदेशी भू-भाग नहीं साबित कर देते? ऐसा करके क्या वे अपने संविधान का उल्लंघन और साम्प्रदायिक भेद-भाव को बढ़ावा नहीं देते?
81. जम्मू-कश्मीर, पंजाब, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय, मिजोरम और नागालैंड में हिन्दू अल्पसंख्यक हैं। उन्हें अल्पसंख्यक अधिकार प्राप्त नहीं है। परन्तु दूसरे जो वहाँ बहुसंख्यक हैं, उन्हें अल्पसंख्यक का अधिकार प्राप्त हैं। क्या यह बेतुका नहीं है?
82. किस इस्लामिक राज्य में हिन्दुओं को विशेषाधिकार प्राप्त है; जो मुसलमानों को भारत में प्राप्त है? इसी प्रकार किस ईसाई राज्य में हिन्दुओं को विशेषाध्
ि ाकार प्राप्त है, जो ईसाइयों को भारत में प्राप्त है?
83. क्या आप को मालूम है कि मदर टेरेसा ने भारत को एक ऐसा देश बताया जहाँ अनाथ आश्रम के अभाव में मर जाते हैं। इसकी आड़ में उन्होंने विदेशों से खूब पैसा कमाया। क्या भारत की इस बदनाम छवि को उन्होंने सुधारने का प्रयत्न किया?
84. क्या आप सोचते हैं कि नेहरू परिवार ही एक मात्र परिवार था जो स्वतंत्रता के लिए लड़ा; या देश में और भी स्वतंत्रता सेनानी थे? जैसे भगत सिंह, चन्द्रशेखर आजाद, मदनलाल ढींगरा, वांचिनाधन, चाफेकर ब्रदर्स, वीर सावरकर, राजगुरु, सुभाष चन्द्र बोस, ऊधम सिंह इत्यादि।
85. गोधरा में कुछ जगह ऐसी है जहाँ विक्री कर, आयकर या बिजली विभाग के अधिकारी नहीं घुस सकते। पुलिस भी अकेले जाने में डरती है। हिन्दू बहुल मोहल्लों में तो यह स्थिति नहीं होती। इसका कारण आप बता सकते हैं?
86. मुंब्रा की एक ‘‘खूबसूरत‘‘ आतंकवादी महिला इशरत जहाँ जब अहमदाबाद पुलिस द्वारा गोली से मारी गई तो वहाँ के लोगों ने मुंब्रा बंद का आह्वान किया और उसकी शव यात्रा में शरीक हुए। क्या यह घटना आतंकवाद को बढ़ावा नहीं देती?
87. चीन अभी भी अरुणाचल प्रदेश को चीन का भू-भाग बता रहा है। क्या? कम्युनिस्टों से आप इसके प्रतिकार के लिए कहेंगे? वे इसका विरोध नहीं करते। वामपंथियों के लिए कामरेडी मित्रता प्रथम है, देश हित बाद की बात है। फिर भी क्या आप कम्युनिस्टों को देशभक्त कहेंगे?
88. विजय तेंदुलकर ने कहा है कि ‘‘जिन्हें मैं मारना चाहता हूँ, उनकी सूची लंबी है परन्तु यदि मुझे पिस्तौल मिल जाय तो मैं मोदी को सब से पहले गोली मारूँगा।‘‘ आखिर क्यों? क्या आप उन्हें मानवतावादी कहेंगे या आतंकवादी?
89. मल्लपुरम (केरल) के एक प्रसूति गृह में एक मुस्लिम परिवार की १३ वर्षीय लड़की, २६ वर्षीय उसकी माँ तथा ३९ वर्षीय उसकी नानी गर्भावस्था में प्रसूति के निमित्त दाखिल हुईं। क्या अभी भी आप सोचते हैं कि मुस्लिमों के लिए परिवार नियोजन अनावश्यक है?
90. न्यायपालिका ने जब लालू प्रसाद को गिरफ्तार करने का आदेश दिया, तो लालू ने अपने राजप्रासाद जैसे बंगले में रहकर ही उसे जेल और स्वयं को गिरफ्तार घोषित करा दिया। क्या यह न्यायपालिका के मुँह पर एक तमाचा नहीं है? अभी भी आप सोचते हैं कि कानून की नजर में सब बराबर हैं?
91. रामायण के रचयिता ऋषि वाल्मीकि (निम्न जाति के) एक लुटुरे थे। इसी प्रकार महाभारत के रचयिता वेद व्यास एक मछुआरे थे। दोनों ग्रंथ और उनके लेखक हिन्दू समाज में पूज्य हैं। क्या फिर भी आप सोचते हैं कि हिन्दुत्व जातियता का समर्थक है?
92. वर्ष २००२-०३ में कर्नाटक सरकार ने वहाँ के मंदिरों की दान पेटियों से प्राप्त ७२ करोड़ रुपयों में से ५० करोड़ मदरसों, १० करोड़ चर्चों और मात्र १० करोड़ मंदिरों के रख रखाव के लिए दिया। हिन्दुओं के धन से मदरसों (जहाँ आतंकवादी पैदा किए जाते हैं) और चर्चों का विकास क्यों किया जाता है?
93. जब तालिबानों ने अफगानिस्तान की भगवान बुद्ध की प्रतिमा को तोड़ा तो टाइम्स आॅफ इंडिया ने उसे बाबरी विध्वंस की प्रतिक्रिया के रूप में प्रचारित किया। क्या आप टाइम्स आॅफ इंडिया के इस दलील से सहमत हैं? ठीक है, यदि यह जैसे को तैसा के सिद्धान्त से सही है, तो वे गुजरात के दंगों की निन्दा क्यों करते हैं, जो गोधरा रेल कांड का प्रतिफल था?
94. गुजरात के दंगों को मीडिया ने ‘जिनोसाइड‘, ‘होलोकास्ट‘ के शब्दों से नवाजा। लेकिन क्या आपको मालूम है कि ‘जू‘ और पारसी पर हिन्दुओं ने कभी कोई अत्याचार नहीं किया। ये लोग भारत में सुख-शांति से रह रहे हैं और जीवन के हर क्षेत्र में फूल-फल रहे हैं। क्यों?
95. पांडिचेरी में एक मुस्लिम को दफनाया नहीं जा सका। क्योंकि उसने भगवान मुरुगन का एक मंदिर बनवाया था। क्या फिर भी आप सोचते हैं कि मजहब एक दूसरे को घृणा की दृष्टि से नहीं देखता?
96. मदर टेरेसा ने अपने ही देश अल्बेनिया में रहकर गरीबों की सेवा क्यों नहीं की? ग्राह्म स्टेन ने आस्ट्रेलिया में ही अभावग्रस्त लोगों की सेवा क्यों नहीं की? सोनिया गाँधी ने भारत के बदले इटली में ही रहकर गरीबों की सेवा क्यों नहीं की? फिर भी आप विदेशी लोगों, विदेशी मजहबों और विदेशी वस्तुओं के पीछे भागते हैं? क्या भारत आलतू-फालतू लोगों की धर्मशाला है?
97. क्या आपको मालूम है कि अगले चुनाव में चुनाव परिणामों को प्रभावित करने के लिए बांग्लादेशी घुसपैठियों को वहीं बसाया जा रहा है जहाँ से हिन्दू प्रतिनिधि थोड़े मतों के अंतर से जीतते हैं?
98. सन् १९८९ में चुनाव के समय राजीव गांधी ने कांग्रेस के चुनाव घोषणा पत्र में वादा किया था कि यदि मिजोरम की जनता ने कांग्रेस को सत्ता सौंपी; तो मिजोरम में बाइबल के नियमों के अनुसार सरकारी कारोबार होगा। क्या यह साम्प्रदायिकता नहीं?
99. विश्व मुस्लिम अल्पसंख्यक समुदाय के चेयरमैन कुवैत के शेख-अल सईद यूसुफ सईद हाशीम-अल रिफाई को बिना वीसा के केरल में उतरने दिया गया। उसे गिरफ्तार करने के बदले उसका राजसी सम्मान किया गया और उसे धर्मान्तरण किए जाने वाले जगहों पर सरकारी वाहन से पहुँचाया गया। क्या इससे राष्ट्रीयता उत्पन्न होगी?
100. अमेरिका और इंग्लैंड जैसे धर्मनिरपेक्षवादी देशों में एक मुसलमान एक से अधिक औरतों से शादी नहीं कर सकता; तो भारत में उन्हें एक से अधिक शादी करने की छूट क्यों है?
101. पोप को भारत यात्रा के लिए बुलाया गया था। परन्तु नेपाल नरेश को १९६५ में नागपुर के मकर संक्रांति उत्सव में सम्मिलित होने की अनुमति नहीं दी गई, क्यों?
102. हिन्दू कोड बिल के अनुसार जो मुस्लिम, ईसाई या पारसी नहीं है, वह हिन्दू है। यह परिभाषा अन्य सभी सिक्ख, जैन, बौद्ध इत्यादि को समेटते हुए, सबको सम्मिलित करते हुए एकता के सूत्र में पिरोती है। फिर आज के हमारे राजनीतिज्ञ हिन्दू समाज को छिन्न-भिन्न करने में क्यों लगे हैं? क्या आप इसके बारे में सोच सकते हैं?
103. टीपू सुल्तान पूरे दक्षिण भारत को इस्लाममय बना देना चाहता था। परन्तु अंग्रेजों के विरोध के कारण वह ऐसा नहीं कर सका। अंग्रेज उसके राज्य को हड़पना चाहते थे। अपने राज्य को अंग्रेजों के चंगुल से निकालने के लिए उसने अंग्रेजों के साथ युद्ध किया न कि भारत की स्वतंत्रता के लिए। ऐसी स्थिति में उसे स्वतंत्रता सेनानी कहना कहाँ तक ठीक है? यदि वह स्वतंत्रता सेनानी था तो बाबर, औरंगजेब, अफजलखाँ, गजनी इत्यादि कौन थे? क्या वे भी स्वतंत्रता सेनानी थे?
104. एक अंग्रेजी दैनिक ने आध्यात्मिक स्तंभ के अंतर्गत हिन्दुत्व पर सोनिया गांधी का वक्तव्य प्रकाशित किया। क्या यह हास्यपद और हिन्दुत्व का अपमान नहीं है? क्या पत्रकारों का दिमाग मात्र व्यवसायी हो गया है?
105. अशोक और कनिष्क का साम्राज्य अफगानिस्तान तक था। दुर्योधन की माँ गांधारी गांधार की थी, जो इस समय अफगानिस्तान में है। क्या यह साबित नहीं करता कि अफगानिस्तान भी कभी भारत का ही अंग था?
106. हमारा सनातन धर्म अनादि काल से चला आ रहा है। परन्तु भारत वर्ष का लगातार ईरान, अफगानिस्तान, बर्मा, नेपाल, भूटान, श्रीलंका, पाकिस्तान, बांग्लादेश के रूप में टुकड़े किए गए। आज भी कश्मीर सनातन धर्म के बदौलत नहीं बल्कि हमारे सुरक्षा बल के जवानों की बदौलत भारत में है। क्या आप सहमत हैं कि भारत को टुकड़े-टुकड़े करने वालों की नजर हमारे सनातन धर्म पर है?
107. आज से ६० वर्ष पूर्व त्रिपुरा (भारत) की बाप्टिस्ट चर्च का निर्माण न्यूजीलैंड की मिशनरियों के द्वारा हुआ। क्या आप सोचते हैं कि चर्च राष्ट्रीयता को बढ़ावा देगा?
108. पाकिस्तान के छात्रों को शुरू से ही यह पढ़ाया जाता है कि हिन्दू हमारे शत्रु हैं। हिन्दू कभी भी हमारे मित्र नहीं हो सकते, वे काफिर हैं और काफिरों की हत्या करनी चाहिए। फिर भी आप सोचते हैं कि पाकिस्तान के साथ हमारी मित्रता होगी?
109. धर्मनिरपेक्ष अमेरिका की सुरक्षा एजेंसियाँ विशुद्ध धार्मिक परंपरा के अनुसार प्रत्येक शुक्रवार को चर्च की सेवाएँ प्राप्त करती है और ईसाई प्रचारकों को सुरक्षा कर्मियों को संबोधित करने के लिए बुलाया जाता है। क्या आप सोच सकते हैं कि भारतीय सेनाएँ अपने यहाँ पूजा-पाठ का कार्यक्रम कर और शंकराचार्य को बुलाकर उनका प्रवचन सुन सकती है?
110. पाकिस्तान एक मुस्लिम देश है। लेकिन बाई पास-सर्जरी या कैंसर आॅपरेशन के लिए वहाँ के लोग भारत आते हैं। एक देश जो परमाणवी अस्त्र-शस्त्र बनाने में सक्षम है, वह अच्छा एक अस्पताल और विश्वस्तर का डाॅक्टर नहीं बना सका। इसका मतलब यह है कि पाकिस्तान बंदूक चलाने में ही अपनी प्रगति समझता है। वह भी विकास और स्वास्थ्य सेवाओं की कीमत पर?
111. कम्युनिस्ट लीडर स्टाॅलिन की लड़की स्वेतलाना दिनेश सिंह के भाई के साथ शादी कर भारत में बसना चाहती थी। हमारे कम्युनिस्ट मित्रों और इंदिरा गाँधी ने इसका विरोध किया। अब वे एक इटालियन महिला का समर्थन क्यों कर रहे हैं?
112. जब अमेरिका में ‘योगा‘ के आधार पर अरबों डाॅलर का उद्योग खड़ा हो सकता है; तो हमारी सरकार इस मानव विकास तकनीकी के प्रति उदासीन क्यों है? क्या इसलिए कि यह हिन्दू संस्कृति का एक हिस्सा है?
113. पूजा के समय ‘‘भारत वर्षे, भरत खण्डे‘‘ शब्दों से संकल्प की शुरुआत होती है। फिर भी आप सोचते हैं कि आध्यात्मिकता और राष्ट्रवाद अलग-अलग हैं या दोनों ही राष्ट्र की दो आँखंे हैं?
114. आध्यात्मिकता और राष्ट्रीयता भारत में अलग-अलग नहीं है। क्या आप नहीं सोचते कि आध्यात्मिकता के बिना भारत जिन्दा ही नहीं रह सकता?
115. जब हम अपने मजहब के अनुसार वेशभूषा बनाकर रहते हैं तो अन्य मजहब वालों की भावनाओं को ठेस क्यों लगती है? जबकि अन्यों का मजहब और वेशभूषा हमें जरा भी नहीं अखरता। क्या यह धार्मिक असहिष्णुता नहीं है?
116. क्या यह सत्य नहीं है कि १९२० में ही अंग्रेजों ने यह जानकर कि उनके शासन का अंत शीघ्र ही होने वाला है, ईसाई संगठनों को भूमि के बड़े-बड़े भूखंडों को दान में देना शुरू कर दिया; जिससे चर्चों के पास एक बड़ी सम्पति खड़ी हो गई।

117. काँची शंकराचार्य को पूजा करने और अपने मन पसंद भोजन करने की इजाजत नहीं है परन्तु पप्पू यादव को जेल में उनके पसंद की सारी सुविधाओं के साथ-साथ जेल मंत्री से बातचीत करने के लिए मोबाइल फोन भी उपलब्ध है। क्या यही सबके लिए समान कानून है?
118. मुस्लिम सजायाफ्ता अपराधियों को जेलों में नमाज और रोजा की सभी सुविधाएँ सुलभ हैं, तो शंकराचार्य जो वर्तमान में मात्र एक आरोपित अपराधी हैं को पूजा करने की सुविधा क्यों नहीं है?
119. अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री नील्ज आर्मस्ट्राँग १९६९ में चाँद पर उतरा। तब से बहुत से आंतरिक्ष यात्रियों ने चाँद पर पैर रखा। क्या आप अपने मुस्लिम मित्रों को यह बता सकते हैं और क्या वे यह सच मानने को तैयार हंै?
120. तमिलनाडु के मंदिर हमेशा भीड़-भाड़ से भरे रहते हैं। पश्चिम बंगाल में दुर्गापूजा धूमधाम से मनाया जाता है। तब भी दोनों राज्यों के आस्तिक लोग नास्तिकों को वोट देते हैं। क्यों?
121. हिन्दुओं में बहुत से समाज-सुधारक हुए हैं। अन्य मजहबों में ऐसे समाज -सुधारक क्यों नहीं पाये जाते? क्या उनमें सुधार की आवश्यकता नहीं? या फतवे का डर है?
122. मुंबई के राधाबाई चाल केस में निर्दाेष हिन्दुओं के नरसंहार के लिए जिम्मेदार लोगों को हाई कोर्ट ने बरी बर दिया। जब कि बड़ौद्रा बेस्ट बेकरी केस में सुप्रीम कोर्ट ने पूरे केस को गुजरात के बाहर स्थानांतरि कर अपनी न्यायप्रियता के प्रति बहुत अधिक उत्साह व्यक्त किया। क्या कानून की नजरों में मुसलमान हिन्दुओं की अपेक्षा ज्यादा महत्त्व रखते हैं?
123. जब एक मुसलमान अयोध्या में श्री राम मंदिर के निर्माण के संदर्भ में एक जनहित याचिका दायर करता है, तो सुप्रीम कोर्ट उसकी जनहित याचिका पर गम्भीरता से विचार करता है। परन्तु कांची शंकराचार्य के केस में, बी.पी. सिंघल की जनहित याचिका को सुप्रीम कोर्ट यह कहकर खारिज कर देता है कि याचिकाकर्ता का इस केस से कोई संबंध नहीं है। क्या यह न्याय का दोहरा मापदंड नहीं है।
124. तिस्ता शीतलवाड़ की गिरफ्तारी के संबंध में महाराष्ट्र का हाई कोर्ट पुलिस को तीन दिन पूर्व सूचना देने का निर्देश देता है। परन्तु हिन्दुओं के धार्मिक गुरु शंकराचार्य की गिरफ्तारी के बारे में यही सुविधा क्यों नहीं सुलभ कराई जाती? क्या शीतलवाड़ कानून की निगाह में अधिक अहमीयत रखती है?
125. मुसलमान एक समय चार पत्नी रख सकता है। और यह कानूनन संविधान सम्मत है। परन्तु एक हिन्दू यदि एक से अधिक पत्नी रखता है, तो वह असंवैधानिक है, और कानून के खिलाफ है। वह कानून भंग करने के लिए दोषी है। क्या यह कानून की दृष्टि में विरोधाभाष नहीं है?
126. क्या आप को मालूम है कि एक आर्क बिशप के ऊपर भारत के किसी भी न्यायालय में मुकदमा नहीं चल सकता। जब किसी व्यक्ति को आर्क बिशप बनाया जाता है वह स्वाभाविक रूप से वैटिकन नागरिक बन जाता है और उसे वैटिकन का पास पोर्ट मिल जाता है। क्या कानून के सामने सब बराबर है, का यही प्रमाण पत्र हैं?
127. कोलकता में शेख नजरुल ने अपनी पत्नी जहाँआरा बिबी को इसलिए तलाक दे दिया क्यों कि उसने ६ महीने के अपने पुत्र को पोलियों का टीका लगावा दिया। क्या पोलियों का टीका लगवाना इस्लाम में एक गुनाह है?
128. आप कहते हैं कि सभी मजहब एक हैं, तो आपको मंदिर की आवश्यकता क्या है? मंदिर में जाने के बदले आप और आपका परिवार चर्च या मस्जिद में क्यों नहीं जाता?

129. आप कहते हैं कि सभी मजहब एक ही है। तो आप गो-मांस भक्षक और गो पूजक को समान कैसे ठहरा सकते हैं? ईसाई जो सूअर का मांस खाते हैं उनकी बराबरी आप मुसलमानों से कैसे करेंगे?
130. आप कहते हैं कि सभी मजहब एक हैं तो क्या आप अपनी लड़की की शादी मुस्लिम लड़के से करेंगे?
131. क्या आपको मालूम है कि हिन्दू लड़कियों का मतान्तर कराकर उनसे शादी करने वाले ईसाई और मुस्लिम लड़कों को आर्थिक सहायता दी जाती है और उनके पुनर्वसन का प्रबन्ध किया जाता है।
132. हैदराबाद में एक साठ वर्षीय अरबी दस मिनट के अंदर अफ्रीन, फरधीन और सुल्ताना नामक तीन लड़कियों से शादी किया। यदि यह बलात्कार नहीं है, तो क्या है? क्या यह मवेशी खाना है?

133. यद्यपि भारत में ८२ प्रतिशत हिन्दू है फिर भी यहाँ एक भी ऐसा विश्वविद्यालय नहीं है जहाँ हिन्दुत्व पढ़ाया जाता है। जबकि पांच विश्वविद्यालय ऐसे हैं जहाँ ईसाइयत और पांच विश्वविद्यालय जहाँ इस्लाम पढ़ाया जाता है। क्या यह उचित है?
134. तुर्की सरकार की मजहबी विभाग ने तुर्की स्थित पचास विश्वविद्यालयों को कुरान को नया रूप देने में मदद करने का निर्देश दिया है। क्या आप नहीं सोचते हैं कि भारत में भी ऐसा होना चाहिए?
135. पटना का जिलाधिकारी लालू की तरफ से उप प्रधानमंत्री और गृहमंत्री लालकृष्ण आड़वाणी को भरी सभा में दस बजे रात्रि के पहले भाषण बंद करने का आदेश देता है। यदि यह गुण्डा राज नहीं है, तो क्या है?
136. यूपीए सरकार के बहुत से मंत्री राष्ट्र कार्य की अपेक्षा विरोधियों को उकसाने और चिढ़ाने में ज्यादा समय खर्च करते हैं जबकि मंहगाई आसमान छू रही है। क्या यह एक स्वस्थ परम्परा है?
137. श्रीमती सोनिया गांधी अभी भी इटली की नागरिक है और इटली में चुनाव लड़ सकती है। क्या अभी भी आप सोचते हैं कि उन्हें भारत का प्रधानमंत्री बनाना चाहिए?
138. जम्मू-कश्मीर की लड़की से शादी करके एक पाकिस्तानी भारत का नागरिक बन सकता है। क्या उसे भी आप प्रधानमंत्री बनायेंगे? यदि वह आदमी परवेज मुसर्रफ हुआ तो?
139. कोलकत्ता में मुख्यमंत्री ने विश्व हिन्दू परिषद की तुलना अल कायदा से की है। अलकायदा ने विश्व में लाखों निर्दोष लोगों की हत्या की है, जब कि विश्व हिन्दू परिषद ने निर्दोष लोगों की कौन कहे अपने एक भी शत्रुओं को भी अपना निशाना नहीं बनाया है। क्या उनका कथन हिन्दुओं को हिंसा के लिए उकसाता नहीं है?
140. सन् १९५० के बाद क्या एक भी मुस्लिम भारत से पाकिस्तान या बांग्लादेश में घुसपैठ किया? परन्तु लाखों मुसलमान आज भी दोनों देशों से भारत में क्यों आ रहे हैं? उन्हें कौन और क्यों बाहर निकाल रहा है? अत% सहिष्णु कौन है?
141. हाल ही में रेलवे स्टेशनों पर धार्मिक चित्रों पर लगे प्रतिबन्ध के विषय में क्या आपको पता है? यह पूर्णतया हिन्दू दूकानदारों को नैतिक पतन की ओर ले जाता है और उनकी अवमानना करता है।
142. आंध्र प्रदेश के ईसाई मुख्यमंत्री पिपुल्स वार ग्रूप के लोगों को अनुमति देते हैं कि दलितों को कहें कि वे हिन्दुत्व को नष्ट कर दें। क्या वे साम्प्रदायिक नहीं है? क्या वे हिन्दुओं को उकसा नहीं रहे हैं? इस प्रकार के विध्वंस के समय एक हिन्दू क्या करेगा?

143. ध्वनि प्रदूषण के कारण पुलिस ने मुंबई की लोकल ट्रेन में भजन गाने पर प्रतिबन्ध लगाया है। क्या इस तरह से वे अजान और रास्ते पर पढ़ी जाने वाली नमाज पर भी प्रतिबंध लगा सकते हैं?
144. गाँवदेवी के सामने बकरे की बलि दी जाती है और इसे बंद करना चाहिए; तो क्या गायों और भैंसों का कत्लखाने में कत्ल नहीं बंद होना चाहिए?
145. बहुत से हिन्दू साधु-संत उपदेश देते हैं कि सभी मजहब मनुष्य को एक ही ईश्वर के पास पहुँचाते हैं। यह कैसे सत्य हो सकता है जबकि एक मजहब का भगवान मूर्तिपूजक (हिन्दू) को कत्ल करने की इजाजत देता है।
146. ईसाई मिशनरियाँ इस्तिहारों और दूरदर्शन के माध्यम से यह घोषणा करती है कि वे हिन्दुओं को शैतान के चंगुल से छुड़ाना चाहती है। क्या आप इससे सहमत हैं कि हिन्दू शैतान पूजक हैं? क्या यह मजहबी विध्वंस को बढ़ावा नहीं देता?
147. जीसस क्राइस्ट को सताया गया था और आखिर में क्राॅस पर ठोंक कर मार डाला गया था फिर भी आप उसे भगवान मानते हैं। फिर तो काँची के शंकराचार्य जयेन्द्र सरस्वती भी भगवान ही हुए, जिन्हें सताया गया और जेल में ठूस दिया गया था। हमारे पापों के लिए उन्हें जेल जाना पड़ा था।
148. मक्का में हज यात्री धोती पहनते हैं, परिक्रमा करते हैं और मंदिर में शैतान पर पत्थर फेंकते हैं, औरतों को पूजा करने की इजाजत होती है। परन्तु ये सभी बातें मस्जिद में वर्जित है। इससे ऐसा नहीं लगता कि मक्का में पहले शिव का मंदिर था और पुरानी मान्यताएं अभी भी चालू है।
149. क्या आज के गुरु और बापू अपने आप को हिन्दू कहते हैं? यदि नहीं तो अपनी जागीर को स्थाई बनाने के लिए वे आपको राष्ट्र की मुख्यधारा हिन्दुत्व से अलग नहीं कर रहे हैं?
150. गाँधी टोपी का आप सम्मान करते हैं। क्या आप गाँधी टोपी पहने हुए गाँधी जी का कुछ चित्र दिखा सकते हैं? वे विरले ही यह टोपी पहनते थे।
151. भगवान कृष्ण ने गीता का उपदेश देकर अधर्म के विरुद्ध लड़ने के लिए अर्जुन को प्रेरित किया। तो फिर कुछ गुरु अपने शिष्यों को बरगलाकर हिन्दुओं को निराश क्यों कर रहे हैं?
152. सभी हिन्दू देवी-देवताओं के हाथों में शस्त्र है फिर भी आज हिन्दू इतने डरपोक क्यों बन गए हैं?
153. महाविद्यालयों में ‘पारम्परिक दिन‘ क्यों मनाया जाता है? क्या हम अपनी पारम्परिक पोशाक धोती, साड़ी, कुर्ता इत्यादि को भूल गए हैं, जिसे हमें साल के ३६५ दिनों में मात्र एक दिन के लिए याद करना पड़ता है?
154. इसी प्रकार मातृ दिन पितृ दिन और बाल दिन का उत्सव क्यों मानते हैं? क्या पाश्चात्य संस्कृति की तरह माता-पिता को साल में केवल एक ही दिन याद करना चाहिए?
155. विद्यालयों में ‘माता-पिता‘ या ‘पालक‘ की सही की मांग क्यों होती है? पालक की जरूरत पाश्चात्य देशों में होती है, जहाँ माता-पिता कुछ दिन एक साथ रहने के बाद एक दूसरे से अलग हो जाते हैं और बच्चे अनाथ हो जाते हैं। भारत में इस प्रथा को बढ़ावा क्यों दिया जाता है?
156. जब कुछ गड़बड़ हो जाता है तो एक नायिका शिकायत करती है कि फिल्म के डायरेक्टर ने तीन वर्षों में उसक साथ ५८ बार बलात्कार किया है। इस प्रकार के बहुत से चरित्रहीन अभिनेत्रियाँ दूरदर्शन के विशेष दृश्य पर प्रकट हो कर अच्छाई और सतीत्व पर व्याख्यान देती हैं। क्या आप ऐसा नहीं सोचते कि सती-सावित्री के देश में यह एक बहुत बड़ा षड़यंत्र है?
157. राजा दशरथ की तीन रानियाँ थी, परंतु श्री राम की केवल एक-सीता थी। हिन्दू श्री राम की एक पत्नी व्रता के रूप में पूजा करते हैं और दशरथ की नहीं। आप को इससे क्या सीख मिलती है?
158. ‘धर्मनिरपेक्ष‘ शब्द सन् १९७६ में ‘आपात काल‘ के समय संविधान में जोड़ागया। क्या आप सोचते हैं कि इसके पहले भारत धर्म निरपेक्ष नहीं था? इससंशोधन की आवश्यकता ही क्या थी? इंदिरा गांधी ने किसे बेवकूफ बनाया?
159. सन् १९७६ में आपात काल के समय संविधान में ‘मौलिक कर्तव्यों‘ के प्रति एकअलग से धारा जोड़ी गई। क्या आप किसी नागरिक को इन कर्तव्यों केउल्लंघन के लिए दंडित कर सकते हैं? (उल्लंघन विभिन्न कानूनों के द्वारादंडनीय है न कि संविधान के द्वारा) तो फिर संविधान के साथ यह छेड़-छाड़ क्यों?
160. भारत में ८२% हिन्दू की तुलना में अमेरिका में ८४% ईसाई है। परन्तु अमेरिकामें सब के साथ समानता का बर्ताव होता है और वहाँ अल्पसंख्यकों का तुष्टीकरण नहीं है। यह तुष्टीकरण भारत में ही क्यों?
161. पेरिस में २४% मुसलमान है और वे शरीयत के अनुसार नागरिक कानून के लिए आवाज उठा रहे हैं जैसा कि वे भारत के साथ% साथ अन्य देशों में कर रहे हैं। क्या यह वैश्विक समस्या नहीं है?
162. सभी मुसलमान आतंकवादी नहीं है। परन्तु मुंबई के नजदीक मुंब्रा की रमणीय आतंकवादी इशरत जहाँ के साथ-साथ सभी आतंकवादी मुसलमान ही है। क्यों?
163. कम्युनिस्ट और नकली इतिहासकार मुस्लिम शासकों को अच्छे अभिप्राय वाले, प्रगतिशील, उदार और सहिष्णु शासक के रूप में चित्रित करते हैं। क्या अयोध् या, मथुरा, काशी की घटनाएँ उनके इस सिद्धान्त से सही साबित होती है? क्या आप को ऐसा नहीं लगता कि वे आप को बरगला रहे हैं?
164. टाइम्स आॅफ इंडिया २९ जुलाई २००४ के अंक ने अपने सम्पादकीय में भारत में बांग्लादेशीय घुसपैठियों की वकालत करता है। क्या आप सोच सकते हैं कि न्यूयार्क टाइम्स या वाॅशिंग्टन पोस्ट अमेरिका में इस प्रकार के घुसपैठ को जायज ठहरा सकते है? सोचिए, टाइम्स आॅफ इंडिया की मजबूरी क्या है?
165. जब एक हिन्दू किसी अपराध के लिए गिरफ्तार किया जाता है, अंग्रेजी समाचार पत्र ‘‘हिन्दू गिरफ्तार‘‘ शीर्षक देकर इसे प्रमुखता से छापते हैं। परन्तु जब कोई मुसलमान किसी की हत्या करता है, तो वे उसे उसके मजहब को छिपाते हुए उसे एक ‘एशियन‘ शब्द से संबोधित करते हैं। क्यों? क्या वे केवल मुसलमान अपराधी से ही डरते हैं?
166. मानवाधिकार सबके लिए है। तो आप अल्पसंख्यक आयोग‘ की बात क्यों करते हैं? क्या बहुसंख्यक हिन्दू मानवाधिकार के लिए काबिल नहीं है?
167. जम्मू-कश्मीर में विधायक, मंत्री और न्यायाधीश राज्य के संविधान के प्रति सत्यनिष्ठा और राज्यभक्ति की शपथ लेते हैं न कि भारत के संविधान के प्रति। फिर भी आप धारा ३७० को तोड़ते नहीं है। क्यों?
168. अर्जुन सिंह ने एक बार कहा था, ‘‘हमें इन लोगों, (भाजपावालों) को सत्ता में नहीं आने देना चाहिए।‘‘ जैसे लगता है सत्ता कांग्रेसियों द्वारा खैरात के रूप में बाटी जाती है। क्या वे लोकतंत्रवादी है या तानाशाह?
169. अर्जुन सिंह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को बुरे से बुरा काम करने की चुनौति देते हैं और रा.स्वं.सं ने उत्तर दिया कि सभ्य लोग बुरे से बुरा काम यही कर सकते हैं उनके खिलाफ मुकदमा दायर कर सकते हैं। यहाँ, कौन ठग की तरह बात करता है?
170. अमेरिका, इंग्लैंड और यूरोप में चर्चें बिकाऊ हैं। वे खरीदे जाते हैं और मंदिर में तबदील हो रहे हैं। क्या आप सोचते हैं कि पश्चिम के शिक्षितों का मजहब के नाम पर बलात् मत प्रवर्तन हो रहा है?
171. पाश्चात्य देशों में वैज्ञानिक, डाॅक्टर, प्रोफेसर और इंजीनियर और उद्योगपति हिन्दुत्व और हिन्दू धर्माचार्यों के प्रति आकर्षित हो रहे हैं। परन्तु भारत में, मिशनरियाँ अशिक्षितों का मत प्रवर्तन कर उन्हें ईसाई बना रही है। क्या आप कह सकते हैं कि कौन किसे बेवकूफ बना रहा है?
172. काँचीपुरम पुलिस ने काँची के शंकराचार्य की गिरफ्तारी के विरोध में श्री एस. गुरुमूर्ति द्वारा लिखे गए एक लेख के कारण उनसे जवाब तलब किया। किसी भी अंग्रेजी समाचार पत्र ने अपने एक सहयोगी पत्रकार के समर्थन में आवाज नहीं उठाया। क्यों उन्होंने अपनी स्वतंत्रता को गिरवी रख दिया था?
173. क्या आपने नागरिकों को अपने देश और संस्कृति की आवमानना करते हुए कभी देखा है, जैसा कि छद्म धर्मनिरपेक्षवादी और साम्यवादी भारत में करते हैं? क्या यह उनकी माँ की अवमानना के समान नहीं है? क्या एक स्वस्थ मस्तिष्क ऐसा कर सकता है?
174. क्या आप एक भी ऐसी मुस्लिम इमारत का नाम बता सकते हैं जिसके नाम के साथ महल जुड़ा है। मुस्लिम हमेशा इसे मंजिल के नाम से पुकारते हैं। तो शाहजहाँ ने इसे ‘‘ताजमहल‘‘ नाम कैसे दिया? क्या इससे यह प्रमाणित नहीं होता कि यह वास्तव में ‘तेजोमहल‘ एक शिव मंदिर था?
175. मुमताज के अतिरिक्त बहुत से शवों को ताजमहल के अंदर दफनाया गया था। क्या आप इसे जानते हैं? यह केवल तेजोमहल मंदिर को अपवित्र करने के लिए किया गया था। जिससे हिन्दू राजा इसे वापस पाने के लिए युद्ध करना छोड़ दें।
176. एक मुसलमान सऊदी अरबिया, इरान या इराक की अपेक्षा अमेरिका, इंग्लैंड या सिंगापुर में बसना पसंद करता है। क्यों? जबकि वह दारूल इस्लाम को बहुत ज्यादा पसंद करता है।
177. बांग्लादेश और पाकिस्तान से करोड़ों मुसलमान भाग कर भारत आए हैं। क्या आपने कभी सुना है कि भारत से कोई मुसलमान भाग कर पाकिस्तान या बांग्लादेश जो दारूल इस्लाम है, गया है?

178. क्या आपको पता है कि विभाजन के समय यू.पी, बिहार के जो मुसलमान पाकिस्तान गये और वहाँ बसे, वहाँ उन्हें मुसलमान के रूप में मान्यता नहीं मिली है? क्या यही उनका भाईचारा है?
179. तीन करोड़ की ईसाई जनसंख्या को नियंत्रण में रखने के लिए लगभग १,२२,००० फादर्स और नन्स है। १५ करोड़ की मुस्लिम जनसंख्या को नियंत्रण में रखने के लिए लगभग ७०,००० मुल्ला-मौलवी है। १०० करोड़ हिन्दुओं में लगभग ७० लाख साधु और संत हैं, जो हिन्दुओं की नहीं बल्कि अपने को नियंत्रण में रखते हैं। आप हिन्दुत्व की तुलना एक पुस्तक पर आधारित मजहबों से कैसे कर सकते हैं?
180. क्या आप को मालूम है कि सऊदी अरबिया के लिए इस्लाम बड़े व्यापार का स्रोत है? यह पूरी दुनिया में इस्लाम के प्रचार-प्रसार पर बल देता है और पैसा खर्च करता है। जिसका लाभ इसे हज यात्रियों से मक्का की यात्रा के समय मिलता है।
181. क्या आप को मालूम है कि सामान्य मुसलमानों को गरीब और अशिक्षित रखने में मुल्लाओं की मन चाही इच्छा है, क्योंकि तभी वे उनके अधीन रह सकते हैं। यदि वे एक बार प्रबुद्ध हो गए तो वे मुल्लाओं से प्रश्न पूछने लगेंगे और बहस करने लगेंगे।
182. इस्लाम मुसलमानों को फोटों खिंचवाने से मना करता है। क्या आधुनियक सभ्य समाज में यह सम्भव है? जहाँ आपको पासपोर्ट, इलेक्शन कार्ड, पहचान पत्र इत्यादि के लिए आए दिन जरूरत पड़ती है। कमसे कम आप इतना तो सहमत होंगे कि इस्लाम को भी बदलने की जरूरत है।
183. यदि इस्लाम फोटोग्राफी के खिलाफ है, तो इस्लामिक देश टी.वी. चैनल कैसे चलाते हैं? भारत में कुछ स्थानों पर मुल्लाओं ने टी.वी. न देखने के लिए फतवा जारी किया है। इस आपसी विरोधाभाष को आप महसूस करते हैं?
184. जीसस कहते हैं कि जो उन्हें भगवान की एकमात्र संतान नहीं मानते उनका सर्वनाश होगा और वे नरक में जायेंगे। यह बात आपके धर्म के अनुसार कहाँ तक सही है?
185. बैंग्लोर स्थित जक्कुर एयर फिल्ड रक्षा विभाग का है, वहाँ दत्तजयंती मनाने के लिए अनुमति नहीं मिली। परन्तु यही मैदान बेनी हिन्न जैसे धोखेबाज ईसाई धर्म प्रचारक को कैसे उपलब्ध हो गया? क्या यही धर्मनिरपेक्षता है?
186. धर्मनिरपेक्षता की दुहाई देने वालों के पारिवारिक पृष्ठभूमि के बारे में क्या कभी आप जानकारी प्राप्त किए हैं? उनमें से अधिकांश अहिन्दू हैं। या हिन्दू संस्कृति से बाहर चले गए हैं। अपनी अधार्मिकता को छिपाने के लिए धर्मनिरपेक्षता की शरण लेते हैं। खुद तो कलंकित हुए ही दूसरों को भी कलंकित करना चाहते हैं। इंदिरा, सोनिया, मणिशंकर अय्यर, आनंद शर्मा, तीस्ता सीतलवाड़, सुनील दत्त, नटवर सिंह, इत्यादि।
187. मई २००४ में सोनिया गांधी ने ३४० सांसदों की सूची के साथ राष्ट्रपति के पास प्रधानमंत्री के पद की दावेदार के रूप में गई थी। उन्होंने राष्ट्रपति जी से मांग भी की थी कि शपथ विधि समारोह राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में हो जहाँ ३००० लोग बैठ सके। फिर भी आप सोचते हैं कि उन्होंने प्रधानमंत्री के पद का त्याग किया है?
188. सोनिया गांधी का जन्म सन् १९४४ में हुआ, ऐसा बताया जाता है। लेकिन ऐसा कहा जाता है कि उनके पिता, सिग्नाॅर स्टेफैनो माइनो तथाकथित १९४२ से १९४५ तक रूस में युद्ध बंदी थे। सही क्या है? क्या आप को नहीं लगता कि सोनिया गाँधी को अपना अतीत स्पष्ट बताना चाहिए।
189. उत्तर प्रदेश में सन् १९९१ से १९९८ तक जब भाजपा हिन्दुत्व के मुद्दे पर कायम रही, तो इसने ६० सीटें जीती। परन्तु अब हिन्दुत्व के मुद्दे से मुकर जाने पर इसे मात्र १० सीटें मिली। क्या आप यह नहीं सोचते कि हिन्दुत्व को छोड़ देने पर जातिवादिता और साम्यवादिता को बढ़ावा मिलता है?
190. भाजपा बैंग्लोर में बेन्नी हीन के प्रदर्शन पर प्रतिबंध की मांग करती है वहीं इसके बैंग्लोर के ईसाई सांसद सांगलियन इस प्रदर्शन में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहते हैं। क्या आप सहमत है कि भाजपा में भी बहुत से ऐसे सेक्युलर टाइम बाॅम भरे पड़ हैं?
191. क्या आपको मालूम है कि अमेरिका में झूठे आरोप के साथ आचार्य रजनीश को जेल में बंद कर दिया गया और जहर दे दिया गया। बेन्नी हीन, जिसका एक मात्र उद्देश्य भारतीयों को ईसाई बनाना ही है, को हमारे राज्यपाल, कांग्रेसी मुख्यमंत्री और मंत्री प्रोत्साहित कैसे करते हैं?
192. कांग्रेस के मुख्यमंत्री और मंत्री ऐसे जमावड़े का लाभ रा.स्वं.संघ और वि.हि. प को बदनाम करने के लिए करते हैं। क्या अपने देश की धर्मनिरपेक्षता को टिकाये रखने का यही साधन है।
193. एक भगवान को इतने विज्ञापनों की आवश्यकता क्यों है? क्या यह इसलिए कि बिना विज्ञापन के उनके अनुयायी उन्हें भूल जाएँगे?
194. पूरी दुनिया में नेहरू अकेले ऐसे पिता हैं जिन्होंने अपनी लड़की इंदिरा को अपनी मातृभाषा में नहीं बल्कि विदेशी भाषा अंग्रेजी में पत्र लिखा है। क्या यही राष्ट्रीय स्वाभिमान है या राष्ट्रभाषा से प्यार?
195. नेहरू के पूर्व और नेहरू के बाद में उनके परिवार में आज तक कोई स्नातक (Degree) नहीं हुआ। लगभग ९० वर्ष बीत चुके हैं। क्या इसी परिवार के नियति में हमारे देश का शासन चलाने को लिखा है?
196. राष्ट्रपति भवन में एक मस्जिद है। परन्तु यहाँ एक भी मंदिर नहीं है। फिर भी आप कहते हैं कि हमारा देश एक धर्मनिरपेक्ष देश है? क्या यह एक मुस्लिम देश की तरह दिखाई नहीं देता जो कानूनन धर्मनिरपेक्ष परन्तु व्यवहार में मुस्लिम देश है?
197. क्या आप को मालूम है कि आप राष्ट्रीय ध्वज को फूलों का हार नहीं पहना सकते न तो इसके सामने नारियल फोड़ सकते हैं? ऐसा करना अपराध है। यह नेहरू की धर्म निरपेक्षता है।
198. आंध्र प्रदेश में लगभग ४००० कम्युनिस्ट जो सन् १९४० में स्वतंत्रता संग्राम के विरुद्ध थे, उन्हें अब स्वतंत्रता सेनानी घोषित कर दिया गया है और वे सारी वृतभोगी सुविधाओं का लाभ ले रहे हैं। क्या यह देशद्रोहिता को पुरस्कृत करने के समान नहीं है?
199. आप कहते हैं कि हमारा देश धर्मनिरपेक्ष है। एक धर्मनिरपेक्ष देश के ध्वज में ‘‘अशोकचक्र‘‘ कैसे आया? क्या अशोक बुद्ध धर्म को बढ़ावा नहीं दे रहे थे?
200. बेन्नी हीन जो हिन्दू और हिन्दू देवी देवताओं को गाली देता है के सामूहिक धर्म प्रचार की सभा में कर्नाटक के मुख्यमंत्री और अन्य तथाकथित धर्मनिरपेक्षवादी नेता कैसे गए?
201. काँची मठ की तलाशी शिकारी कुत्तों के साथ ली गई, जबकि आई.एस.आई के विद्रोहियों को पकड़ने के लिए नडवा स्थित इस्लामिक स्कूल की तलाशी रद्द कर दी गई और केन्द्रीय मंत्री इस होने वाली तलाशी के लिए अली मियाँ के पास माफी मांगने के लिए भेजे गए थे। क्या यही समानता है?
202. यह कितना विचित्र है कि धर्मनिरपेक्ष विद्वान गोधरा के अपराधियों को छुड़ाने के लिए दबाव डाल रहे थे और इन में से कोई भी विजयेंद्र सरस्वती, जो जेल में थे, की चिंता नहीं कर रहे थे।
203. शहरों में, हिन्दुओं, जैनियों, सिक्खों और बौद्धों के लिए एक ही श्मशान भूमि है। परन्तु शिया, सुन्नी और बोहरा मुसलमानों के लिए अलग-अलग कब्रस्तान है। आर.सी और प्रोटेस्टेंट ईसाइयों के लिये भी अलग-अलग कब्रस्तान है। आप किस परम्परा में एकता देखते हैं?
204. क्या आपको मालूम है कि कुरान की आयतों के अनुसार मुसलमानों का यह मजहबी कर्तव्य है कि वे दारूल हरब देश भारत के ऊपर दारूल इस्लाम देश पाकिस्तान का आक्रमण होने पर पाकिस्तान का साथ दें।
205. एफ.आई.आर क्र. ९८/९३ दिनांक १४.५.९३ में दिल्ली पुलिस ने अहमद बुखारी को कोर्ट की बार-बार आदेश के बावजूद तीन साल तक कोर्ट में उपस्थित करने में सफलता पूर्वक बाधा डालती रही। आखिर में कोर्ट ने केस वापस ले लिया। क्या यही कानून सबके लिए बराबर है?
206. साउथ ब्लाॅक में प्रधानमंत्री के साथ बातचीत शुरू करने के पहले नेशनलिस्ट सोसलिस्ट काँउसिल आॅफ नागालिम ने हाव-भाव के साथ संगीतमय एक ईसई प्रार्थना की। क्या वे हिन्दुओं को भी इस प्रकार की प्रार्थना गाने की छूट दे सकते हैं?
207. जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के मोहन राव ने टाइम्स आॅफ इंडिया के २० अप्रैल २००६ के अंक में ‘सफ्राॅन डिमोग्राफी‘ नामक अपने लेख में हिन्दुओं के शाकाहारी होने पर चिढाते हुए अपना मत व्यक्त करते हैं कि हिन्दुओं की औरते अपनी वासनापूर्ति के लिए मांसाहारी मुसलमानों के पास जाती है। वे आगे लिखते हैं कि अतिशक्तिशाली मुसलमान पुरुषों की शरीरें हिन्दू औरतों को आकर्षित करती है, इत्यादि - इत्यादि। क्या वे और टाइम्स आॅफ इंडिया हिन्दुओं का अपमान नहीं कर रहे हैं?
208. जो बहुत से काफिरों को मारे वही गाजी है। इसलिए गाजियाबाद, गाजीपुर नामक स्थान क्या है? क्या ये हमें यह याद नहीं दिलाते कि यहाँ हिन्दुओं का सामूहिक नरसंहार हुआ होगा।
209. हैदराबाद नगर निगम की सदस्या सईदा मुमताज फातिमा बंजारा हिल रोड नं. ७ का नामकरण इस्लामी गणराज्य इरान के सांस्थापक अयातुल्ला खोमैनी के नाम पर करना चाहती है। खोमैनी क्या सेक्युलरिस्ट है या प्रजातांत्रिक?
210. कोइम्बटूर विस्फोट के अभियुक्त अब्दुल नासीर मदानी की रिहाई के लिए केरल की विधान सभा ने एक प्रस्ताव पास किया है। क्या किसी ने संसद या विधानसभाओं में कांची शंकराचार्य की गिरफ्तारी पर आवाज उठाई है?
211. कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने शिरडी साई बाबा और सिद्धि विनायक मंदिरों को आपस में बांट लिया है और वहाँ का पैसा ऐसे संगठनों के पास जा रहा है जो ईसाई और मदरसों से संबंधित है। वे चर्चों और मस्जिदों को अपने अधिकार में क्यों नहीं ले लेते और उन पैसों से ईसाइयों और मुसलमानों का जीवन स्तर ऊंचा उठाते।
212. नर्गिस (एक मुस्लिम, जो हिन्दू की तरह जीवन व्यतीत की थी) जब मरी तो सुनील दत्त उसके शव के दाह संस्कार के लिए तैयार थे, परन्तु उसके भाइयों ने एतराज किया और शव को दफनाने के लिए कब्रस्तान में ले गए और इस्लामिक रीति-रिवाज से उसे दफना दिया। यह जिद्द क्यों?
213. ईसाई बने अफगानिस्तान के एक मुसलमान अब्दुल रेहमान मृत्यु दंड की सजा का सामना कर रहे हैं। अन्तर्राष्ट्रीय ईसाई समुदाय के लोग चुप क्यों है?
214. अफगानिस्तान में एक मुसलमान अब्दुल रेहमान ईसाई बन गए हैं। मुल्ला-मौलवी उनकी जान लेना चाहते हैं। क्या मजहबी पादरियों, मुल्लाओं का संवेदनशीलता को भुनाने का यही तरीका है? यही उनकी दयालुता और सहिष्णुता का बर्ताव है?
215. अल्ला और इस्लाम के नाम पर बामियान स्थित विश्व प्रसिद्ध ऊँची भगवान बुद्ध की प्रतिमा को तालिबान ने बमों से विध्वंस कर दिया। इसके पीछे उत्तेजना क्या थी?
216. उड़ीसा में नजमाबीबी और सेर मोहम्मद के जोड़े को मुल्लाओं ने अलग-अलग रहने के लिए बाध्य कर दिया। पुलिस, एन एच आर सी और यहाँ तक कि उड़ीसा हाईकोर्ट भी उनकी मदद के लिए तैयार नहीं हुआ। अंत में सुप्रीम कोर्ट को दखल देना पड़ा। क्या पुलिस, एन.एच.आर.सी और हाई कोर्ट जो मानवाधिकार की रक्षा करते हैं, मुसलमानों से डरते हैं? हमारी धर्मनिरपेक्षता कहाँ चली गई?
217. जब सुप्रीम कोर्ट ने आइ.एम.डी.टी धारा को निरस्त कर दिया तो यू.पी.ए सरकार ने असम में बांग्लादेशी घुसपैठियों को आसानी से भारतीय नागरिकता सुलभ कराने के लिए विदेशीय धारा १९४६ में संशोधन किया। क्या यह मतदाताओं का आयात नहीं है?
218. मनुस्मृति का उपयोग हिन्दुओं के ऊपर प्रहार के लिए आसानी से किया जाता है। अब इसे विश्व हिन्दू परिषद और धर्माचार्यों ने काल बाह्य करार दिया है। क्या पादरी और मुल्ला भी बाइबल और कुरान की कुछ आयते जो काल बाह्य हो गई है उसे नकारने के लिए तैयार हैं?
219. क्या आप नहीं समझते कि तथाकथित इतिहासकार और सेक्युलरिस्ट हिन्दुओं के खिलाफ जो लेख लिखते हैं, उससे नाजीवादियों, माक्र्सवादियों और कट्टरवादियों की आत्मा को शांति मिलती है और वे उत्साहित होकर आगे चलकर आतंकवादी बन जाते हैं।
220. दिल्ली जामा मस्जिद के शाही इमाम सय्यद अहमद बुखारी प्रधानमंत्री आवास के बाहर पत्रकारों से हाथा पाई करते हैं ‘जी‘ टी.वी के पत्रकार यूसुफ अंसारी के एक प्रश्न से वह अपना आपा खो देते हैं। क्या ऐसे लोग मुसलमानों को शांति और सहिष्णुता की शिक्षा देने के योग्य हैं?
221. सिंगापुर में एक मुसलमान बाप अपनी पांच किशोरावस्था की लड़कियों के साथ बार-बार बलात्कार करता है। अपने इस दुष्कृत्य को वह कुरान की आयतो के अनुसार जायज ठहराता है। क्या मुसलमान कुरान की इन आयतों की व्याख्या करेंगे?
222. सोनिया गाँधी के नाम से हिन्दुस्थान में कोई घर नहीं है, पर इटली में उनका पुश्तैनी घर है और इसलिए वे भावनात्मक रूप से इटली से जुड़ी हैं। १८ वर्षों बाद वे भारत की नागरिक बनी, वह भी दबाव वश। क्या अभी भी आप को विश्वास है कि वे भारत से प्यार करती हैं?
223. जब सोनिया गांधी इटली की अधिवासी है परन्तु भारत की नागरिकता का प्रमाण पत्र उनके हाथ में है। क्या आप इससे अवगत हैं कि अन्तर्राष्ट्रीय कानून के अन्तर्गत अधिवासी यह निश्चित करता है कि व्यक्तिगत रूप से उसपर कौन-सा कानून लागू होगा। इसलिए कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गाँधी वैयक्तिक मामले में इटली के कानून के प्रति प्रतिबद्ध हैं न कि भारत के।
224. सोनिया गाँधी के पास भारत में घर नहीं है परन्तु दिल्ली में १० जनपथ पर एक सबसे बड़े और आरामदेय सरकारी बंगले में जिसकी कीमत लगभग १८० करोड़ है, रहती है और उसका उपयोग एकमात्र अपने लिए करती है। उनकी क्या विशेषता है कि उन्हें यह विशेष सुविधा जिसका भुगतान आयकर दाता करते हैं, उपलब्ध कराई गई है?
225. हमारे प्रधानमंत्री नेपाल के हिन्दू राजा को नेपाल में प्रजातंत्र की स्थापना की सलाह देते हैं। इसी प्रकार क्या वे तानाशाह मुसर्रफ जिन्होंने प्रजातांत्रिक रूप से चुने गए प्रधानमंत्री से सत्ता छीन ली है, को भी पाकिस्तान में प्रजातंत्र स्थापित करने की सलाह देंगे?
226. मणिशंकर अय्यर कहते हैं कि वे अपनी धार्मिक पुस्तक में शब्दश; विश्वास करने वाला एक सेक्युलर हैं। क्या एक सेक्युलर एक फंडामेन्टलिस्ट हो सकता है? या तो वे सेक्युलर होंगे या फंडामेंटलिस्ट, लेकिन दोनों नहीं।
227. अल्पसंख्यक समुदाय के तथाकथित वैयक्तिक कानून के अन्तर्गत, ईश्वर नहीं हस्तक्षेप कर सकता परन्तु हिन्दुओं के वैयक्तिक कानून में बिना किसी अड़चन के हस्तक्षेप कर सकता है। क्या यह सेक्युलरिज्म के आधारभूत सिद्धान्त का निर्लज्य उल्लंघन नहीं है?
228. आंध्र प्रदेश में सरकार मंदिर की जमीनों को बेंच रही है। चर्चों की सम्पत्तियों को वह क्यों नहीं बेंचती? सन् १९४० और १९४७ के बीच यह जानकर कि अ्रंग्रेजों का शासन अब समाप्ति की ओर है अंग्रेज सरकार ने हजारों एकड़ जमीन चर्चों संगठनों को खैरात में दे दिया।
229. अमेरिका के प्रत्येक सिक्के पर (In God We Trust) लिखा है। इंग्लैंड का राष्ट्रगान (God save the King) शब्द से शुरू होता है। वे “God” के बदले में  “Christ” शब्द का प्रयोग कर सकते हैं परन्तु नहीं करते। परन्तु ईश्वर से डरने वाले हम करोडों नागरिक कहते हैं, "We, The People of India” और हम पश्चिम को भौतिकवादी के रूप में जानते हैं।
230. हिन्दी पत्रिका के सम्पादक आलोक तोमर को मोहम्मद पैगंबर का कार्टून छापने के कारण गिरफ्तार किया गया और उन पर मुसलमानों की मजहबी भावनाओं को ठेस पहुँचाने का आरोप लगाया गया। क्या सरकार हिन्दू देवी देवताओं और भारत माता का नग्न चित्र बनाने वाले एम.एफ.हुसैन को गिरफ्तार करेगी? क्या वे हिन्दुओं और भारतीयों की धार्मिक भावनाओं को ठेस नहीं पहुँचा रहे हैं?
231. यदि हुबली में तिरंगा फहराने के कारण उमा भारती जेल जा सकती है और आड़वानी जी के ऊपर बाबरी मस्जिद केस चलाया जा सकता है, तो यूपी के मंत्री हाजी याकूब कुरैशी जिन्होंने व्यंग्यकार का सिर कलम करने के लिए ५१ करोड़ की राशि देने का वचन दिया था, को हिंसा भड़काने के जुर्म में क्यों नहीं?
232. कार्टून विवाद में तो यू.पी.ए सरकार बहुत सक्रिय रही परन्तु इस प्रकार की सक्रियता एम.एफ. हुसेन के केस में सरकार ने नहीं दिखाया। क्या मुस्लिम तुष्टीकरण इसमें नहीं झलकता?
233. उत्तर पूर्व में रोमन ईसाइयों के धर्म परिवर्तन को रोकने के लिए सरकार ने इजराइल सरकार से सिफारिश की परन्तु देश भर में हो रहे हिन्दुओं के धर्मान्तरण को रोकने के लिए सरकार ने कुछ नहीं किया। क्या यह ईसाइयों के तुष्टीकरण का स्पष्ट मामला नहीं है?
234. पाकिस्तान की शांति संस्था ने ऐसा प्रतिवेदन दिया कि पाकिस्तान में प्रत्येक दो घंटे में एक महिला के साथ बलात्कार होता है और प्रतिदिन तीन महिलायें स्टोव से जलकर मर जाती है। महिलाओं के अधिकारों की बात करने वाली संस्थाएँ जो भारत में तथाकथित दहेज के लिए जला दी जाने वाली दुलहनों के लिए गला फाड़ कर चिल्लाती है, कहाँ हैं?
235. लखनऊ में बुश-विरोधी प्रदर्शन बड़े पैमाने पर साम्प्रदायिक हिंसा के रूप में क्यों बदल गया जिसमें दो अव्यस्क हिन्दू मारे गए और बहुत से घायल हो गए। हिन्दुओं को अनावश्यक लक्ष्य क्यों बनाया जाता है?
236. कार्टून विवाद के चलते नार्वे के तेलवाहक जहाज पर एक मुस्लिम नाविक ने अपने साथी एक हिन्दू नाविक को मार डाला। फिर भी आप कहते हैं कि इस्लाम हिंसा में विश्वास नहीं करता।
237. पाकिस्तान में अहमदियों को मुसलमान नहीं मानते। वास्तव में बहुत से मुल्ला अपने अनुयायियों के पाकिस्तान से अहमदियों को भगा देने के लिए उकसाते हैं। क्या इस्लाम में यही भाईचारा है?
238. पाक जमाते इस्लामी अमीर और एम.एम.ए के अध्यक्ष काजी हुसेन अहमद ने वसंत उत्सव (पंतगोत्सव) को खूनी खेल में बदल दिया और इसे हिन्दू संस्कृति का भाग बताकर इस पर प्रतिबंध लगाने की मांग करने लगे। क्या ऐसी घृणास्पद संस्कृति से शांति सम्भव है?
239. के.पी.एस. गिल के अनुसार सभी राजनीतिक दल मानते हैं कि मुस्लिम मतों की प्राप्ति के लिए विप्लववादी मुसलमानों का समर्थन सुधारवादी मुसलमानों के समर्थन की अपेक्षा ज्यादा लाभकारी है। क्या यह प्रजातंत्र और धर्मनिरपेक्षता के लिए खतरा नहीं है?
240. ईसाइयों ने अकाल पीडित राष्ट्र नाइजेरिया में ६०,००० बाइबल की प्रतियाँ भेजी है। ईसाइयों का कहना है कि आओ, हमारे भगवान जीसस क्राइस्ट की शरण में और मजा करो। जहाँ रोटी की जरूरत वहाँ ईसाई लोग बाइबल देते हैं। क्या भूखे लोगों की सेवा इसी तरह से ईसाई करते हैं।
241. केरल की सुप्रसिद्ध कवियित्री और लेखिका कमला सुरय्या जो कुछ समय पूर्व ही इस्लाम मजहब स्वीकार कर ली थी, अब पछता रही है और अपने मुस्लिम मित्रों के विश्वासघाती व्यवहार और माया जाल को समझ रही हैं। इस्लाम औरतों के साथ कैसा व्यवहार करता है, उसे जानने के लिए इससे अच्छा उदाहरण क्या हो सकता है?
242. कुरान की ६२३६ आयातों, में से लगभग ३९०० आयतें प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से ‘काफिरों‘ से संबंधित हैं और जेहाद, कयामत, नरक और जिन्नत जैसे विषयों पर लिखी गई हैं। क्या शांति और सहिष्णुता का यही अर्थ है?
243. बडौद्रा बेस्ट बेकरी केस में बेचारी अशिक्षित लड़की जहीरा झूठी गवाही देने के लिए दंडित की गई, जबकि समृद्ध, शिक्षित, राजनीतिज्ञ तिस्ता शीतलवाड को छोड़ दिया गया, यद्यपि सुप्रीम कोर्ट के अनुसार दोनों की झूठ बोलने के अपराध में पूछताछ कर नी थी। क्या यह न्याय का दोहरा मापदण्ड नहीं है?
244. बहुत बार पर्याप्त साक्ष्य के अभाव में कोर्ट मुसलमानों को बरी कर देती है। तिस्ता शीतलवाड जैसे सेक्युलरिस्टों को तब न्याय पर सोचने का समय नहीं है। परन्तु जब हिन्दू बरी होते हैं, वे शोर मचाना शुरू कर देते हैं। क्यों उन्हें केवल मुस्लिमों का ही हित चिंतक नहीं कहा जा सकता?
245. हमारे प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति जी ने डेनमार्क में छपे मोहम्मद पैगंबर के विभत्स कार्टून पर अपना रोष प्रकट किया है। परन्तु अपने ही देश में एम.एफ हुसेन द्वारा बनाये गए हिन्दू देवी देवताओं के नग्न चित्र के प्रति वे उसके विरोध में एक शब्द भी नहीं कहे। क्या वे हिन्दू भावनाओं का सम्मान करते हैं?
246. आंध्रप्रदेश की वक्फ बोर्ड और हैदराबाद की पुलिस ने हैदराबाद स्थित मक्का मस्जिद के एक चबूतरे को तोड़ने का निश्चय किया। कुछ ही घंटो में मुख्यमंत्री सैम्युल रेडी ने वक्फ बोर्ड के उच्च अधिकारी सैय्यद अनवरूल हुदा का स्थानांतरण कर दिया। लेकिन यही ईसाई मुख्यमंत्री ने तिरुमला के १००० स्तंभो को निर्दयता से तोड़ दिया और अभी मंदिर के कुछ हिस्सों को तोड़ने की योजना बना रहे हैं। हिन्दुओं की भावनाओं की परवाह कौन करता है?
247. सुन्नी मुसलमानों ने शिया मुसलमानों द्वारा मुहर्रम के चालीसवें दिन पर निकाले जाने वाले जुलूस पर, यह कहते हुए कि यह कुरान के अनुसार गलत है, पाबंदी लगाने के लिए मुंबई हाई कोर्ट में केस किया है (मार्च २१. २००६)। हाई कोर्ट ने पुलिस को निर्देश दिया है कि आपस में सलाह-मशविरा करके मामला सुलझा लिया जाय। क्या यही सहिष्णुता है?
248. अपनी आय का अधिकांश भाग सुरक्षा पर खर्च करने वाले २० शीर्षस्थ देशों में से १४ इस्लामिक देश हैं। वे किससे डरते हैं? (भारत ४७ वें स्थान पर है) इस स्थिति से आपको कुछ मालूम पड़ता है या नहीं?
249. सी.आई.ए की रिपोर्ट के अनुसार बहुत से इस्लामिक देश अपनी कुल आय का १० और १५% के बीच सुरक्षा के हथियार खरीदने पर खर्च करते हैं। क्या यही कारण है कि अमेरिका में शस्त्र बनाने के कारखाने फल-फूल रहे हैं।
250. बहुत पहले कांग्रेस के शासन में उ.प्र. में बने लाभ के पद पर श्रीमती जया बच्चन विराजमान थी। परन्तु सोनिया गांधी जिस लाभ के पद पर है वह तो हाल ही में बनया गया था। इसलिए कौन ज्यादा दोषी है?
251. सन् २००६ के हमारे गणतंत्र दिवस समारोह में सऊदी के राजा मुख्य अतिथि थे। क्या यह एक विडम्बना नहीं है कि एक राजा एक गणतंत्र दिवस के उत्सव पर मुख्य अतिथि के रूप में विराजमान रहे? क्या राजा हिन्दुओं को सऊदी अरब में वही स्वतंत्रता देंगे जो मुसलमानों को भारत में मिल रही है?
252. सऊदी के राजा भारत में मदरसा चलाने और दिल्ली में जामा मस्जिद के पुनर्निमाण के लिए पैसा देना चाहते थे। क्या वे सऊदी अरब में कम से कम एक मंदिर बनाने की इजाजत देने में इसी प्रकार की उदारता का परिचय देंगे? (आजकल सऊदी अरब में हिन्दुओं को अपने घर में भी पूजा करने की इजाजत नहीं है।)
253. हार्वर यूनिवर्सिटी में संस्कृत के प्राध्यापक माइकल विजेल ने कैलिफोर्नियां की पाठ्य पुस्तकों में हिन्दुओं की अवहेलना और उपहास करते हुए बहुत से लेख लिखे हैं। उदाहरण के रूप में एक जगह उन्होंने लिखा है कि बंदरों के राजा हनुमान राम से इतना प्यार करते थे कि वे हमेशा राम के पास रहते थे। क्या यह हमारी अस्था का उपहास नहीं है?
254. राहुल गाँधी अमेरिका प्रवास को हमेशा टालते रहते हैं। क्योंकि उनके ऊपर वहाँ जो पुलिस केस है उसके एफ.आई.आर के आधार पर पुलिस उन्हें गिरय्तार कर सकती है। (वे अपनी गर्ल फ्रेंड के साथ बोस्टन हवाई अड़डे् पर दो लाख नकद अमेरिकी डालर के साथ सन् २००१ में पकड़े गए थे)।
255. बैंग्लौर के आतंकी हमले में मारे गए प्रोफेसर के समाचार को बी.बी.सी तोड-मरोड़ कर प्रसारित किया कि ‘‘इंडियन गन रेड में प्रोफेसर मरा‘‘। समाचार प्रसारण में ऐसा लगता है कि प्रोफेसर पर आतंकवादी हमला नहीं हुआ। क्या बी.बी.सी के दिमाग का दिवाला निकल गया है या वह आतंकवादियों से डरता है?
256. आई.आई.एस.सी बैंग्लौर पर हुए आतंकी हमले के बारे में एन.डी.टी.वी ने जल्दी में ऐसा समाचार दिया कि प्रोफेसरों और सुरक्षा कर्मियों में कुछ पहले का वैमनस्य था। क्या आप सोच सकते हैं कि वैयक्तिक झगड़ा क्या स्वचालित बंदूकों से सुलझाया जाता है?
257. शंकास्पद लश्करे तोईबा का आतंकवादी अब्दुल रहमान आई.आई.एस.सी केस के सम्बन्ध में पुलिस हिरासत में है। उसने १२ मौलवियों के नामों का खुलासा किया है जो देश के विभिन्न भागों में आतंक फैलाने का काम कर रहे हैं। उनमें से ११ कर्नाटक के ही है। पता नहीं भारत में कितने होंगे।
258. बहुत से कैथोलिक काडिर्नल ने इटली की महिलाओं को मुसलमानों से शादी करने के लिए चेतावनी दिया है। हमारे धर्मनिरपेक्षवादियों और सर्व पंथ समभाव के प्रचारकों का इस विषय में क्या कहना है?
259. पाकिस्तान में मुस्लिम लड़कियाँ कुरान से शादी कर रही है जैसा कि भारत में देवदासी रीति-रिवाज है। इसका तात्पर्य यह है कि पाकिस्तान की संस्कृ ति भी हिन्दू संस्कृति ही है। यद्यपि इस प्रथा का विरोध होना जायज है।
260. पाकिस्तान, बांग्लादेश के अतिरिक्त भारत में भी शांतिप्रिय हिन्दुओं की हत्या को समाचार माध्यम, सरकार, विभिन्न राजनीति दल, और मानवाधिकारवादी संगठन भारत में गंभीरता से नहीं लेते। क्यों? क्या वे केवल आतंक से डरते हैं?
261. हिन्दू मंदिरों, आध्यात्मिक गतिविधियों, योग, ध्यान, आयुर्वेद और हिन्दू संस्कृति का विरोध करना ही कम्युनिस्टों का कार्य और सिद्धान्त है। क्या आप सोचते हैं कि वे प्रजातंत्र के लिए उपयुक्त हैं?
262. मणिपुर की राजधानी इम्फाल में एक अवैध संगठन ने भाजपा के कार्यकर्ताओं को धमकी दिया था जिसके चलते भाजपा के नेताओं को नगर निगम के चुनाओं से दूर रखा गया। क्या यही प्रजातंत्र है?
263. कम्युनिस्टों ने कभी यह मांग नहीं की कि रोमन कैथोलिक चर्च में धर्मप्रचारक के पद पर महिला की नियुक्ति हो। इस्लाम में तो महिलाओं को कोई अधिकार ही नहीं दिया गया है। फिर भी कम्युनिस्ट इसके विरोध में आवाज नहीं उठाते। क्या वे सही अर्थों में सबके अधिकार के रक्षक हैं?
264. सऊदी अरब में मक्का में गैर मुसलमानों के प्रवेश पर रोक है। कैथोलिक पिछड़े देशों के बिशप को पोप नहीं बनाते। क्या हमारे कम्युनिस्ट और सेक्युलरिस्ट इस मामले को मानव अधिकारों की अहवेलना के अन्तर्गत उठाएँगे?
265. कम्युनिस्ट, ईसाई, मुस्लिम और कुछ कांग्रेसी नेताओं में कोई समानता नहीं है और वे प्राय% आपस में घृणा करते हैं फिर भी हिन्दुत्व और हिन्दू नेता के खिलाफ वे एक हो जाते हैं। ऐसा इसलिए होता है कि हिन्दुओं की एकता ही उनके कुरूप चेहरों को बेनकाब करती है।
266. फ्रांस का सुप्रसिद्ध पत्रकार फ्रांसिस गौटियर लिखते हैं कि ‘‘ब्रिटिशों ने भारत को नहीं जीता यह उन्हें हिन्दू राजकुमारों ने आपसी ईष्र्या के चलते बिना लड़े ही दे दिया।‘‘ क्या आप को नहीं लगता कि अर्जुन सिंह; मणिशंकर अय्यर और अन्य लोगों के द्वारा इतिहास पुन% दोहराया जा रहा है?
267. आरकाट के राजकुमार नवाब मोहम्मद अब्दुल अली ने हज सब्सीडी, जो इस्लाम के खिलाफ है, पर सवाल उठाया है । उन्होंने कहा कि हज एक अनिवार्य कार्य है न कि आरामदेय सफर या पिकनिक। उन्होंने कहा कि थोड़े से आर्थिक लाभ के लिए मुसलमान समाज इस्लाम के मूल्यों और सिद्धान्तों की बलि देने के लिए तैयार रहता है। मुल्लाओं की कोई प्रतिक्रिया इस पर है?
268. मूर्ति पूजा क्या है? आप एक चित्र की कल्पना करते हैं और उसे आकार दे देते हैं। मुसलमान मोहम्मद पैगंबर की कल्पना करते हैं और उनका आकार उनकी नकल करके दाढ़ी बढ़ाकर और गोल टोपी पहनकर देते हैं। मूर्ति पूजा से यह नकल की प्रक्रिया भिन्न कैसे हैं? वे मूर्तिपूजा के खिलाफ कैसे बोल सकते हैं?
269. बहुत से मानवाधिकारवादी संगठन महेश भट्ट के नेतृत्व में महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री से मिलकर शिकायत किए कि गिरफ्तार आतंकवादी के नाम के आगे ‘इमाम‘ शब्द जोड़ना ठीक नहीं है। जबकि वह एक इमाम था और मुंबई के हज हाउस से गिरफ्तार किया गया था। क्या ये लोग कांची शंकराचार्य के समय जो एक झूठे आरोप में गिरफ्तार थे, कुछ कहे? क्या यह साबित नहीं करता कि सभी मानवाधिकारवादी हिन्दू विरोधी हैं?
270. एक रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका के अस्पतालों में डाक्टरों की लापरवाही के चलते प्रत्येक वर्ष १८,००० रोगी मर जाते हैं उसके तीगुने या चैगुने लोग स्थाई रूप से विकलंग हो जाते हैं। इसका कारण यह है कि वहाँ के लोग लालच, पैसे की भूख, भ्रष्टाचार, हिंसक प्रवृत्ति और स्वार्थपरता के शिकार हो गए हैं। क्या अमेरिका में मानवता दम तोड़ रही है?
271. एक रिपोर्ट के अनुसार १५०,००० लोग ज्यादातर अमेरिका से पिछले साल भारत वैद्यकीय पर्यटन के लिए आए। यह आंकड़ा १५% प्रति साल के हिसाब से बढ़ने वाला है। क्या यह योग का प्रभाव हैं? इसका सब से अच्छा जवाब ब्रिंदा करात दे सकती है।
272. संजय जोशी की बनावटी सी.डी.कांड जो एक बिल्कुल व्यक्तिगत केस था, के बारे में बहुत शोर मचाया गया। क्या सेक्युलरिस्ट रोमन कैथोलिक के पादरियों के बारे में कुछ कहेंगे, जो ननों के साथ मौज मस्ती के साथ रहते हैं?
273. सेक्युलरिस्ट हमेशा आर.एस.एस और वि.एच.पी. की शिकायत करते हैं कि ये लोग साम्प्रदायिक आधार पर देश को बांटना चाहते हैं। जब कि सेक्युलर सिद्धान्त ही यह कार्य कर रहा है। देश के ८५% हिन्दुओं को संगठित करना देश का विभाजन कैसे कहा जायेगा?
274. ब्रिटिश हवाई कम्पनी ने सऊदी अरब के लिए उड़ान भरते समय बाइबल लेकर जाने और क्रास पहनने के लिए अपने कर्मचारियों पर प्रतिबंध लगा दिया है जिससे उस देश के मुसलमानों की भावनाओं की सुरक्षा हो सके। जब आप उनकी धार्मिक भावनाओं का खयाल रखते हैं, तो क्या आप यह अपेक्षा नहीं रख सकते कि वे भी आपकी भावनाओं का खयाल रखें? मानवाधिकार के लिए लड़ने की अपेक्षा वे इस्लामिक दबाव के आगे झुक जाते हैं?
275. ‘दि हिन्दू‘ ने शीर्षक देकर लिखा - ‘‘ब्रिंदा करात के ऊपर व्यक्तिगत आक्षेप के संदर्भ में १५० विद्वानों, अकादमी सदस्यों और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने उनके समर्थन में आगे आए।‘‘ क्या आप ‘दि हिन्दू‘ का तात्पर्य समझ सकते हैं? विकृत धर्मनिरपेक्षता की पहुँच कहाँ तक है, क्या आप उसकी कल्पना कर सकते हैं?
276. हिन्दुओं और ईसाइयों को पाकिस्तान में हेय दृष्टि से देखा जाता है। उनसे घटिया काम लिया जाता है और किसी भी क्षेत्र में उनकी प्रगति का अवसर नगण्य है। क्या यही कारण है कि पाकिस्तानी ईसाई क्रिकेटर युसूफ एहाना को इस्लाम स्वीकारना पड़ा?
277. भारत को जातियता के लिए बदनाम किया जाता है। फिर के.आर.नारायणन एक दलित को भारत का राष्ट्रपति कैसे बनाया गया। एक दलित महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री कैसे बन गया? क्या कभी एक काला आदमी अमेरिका का राष्ट्रपति बन सका?
278. ८० वर्ष से अधिक उम्र का मोहम्मद अहमद अल मार्फिया १०,००० रु. में २७ वर्षीय भारतीय दुल्हन को हैदराबाद से ले गया। काजी मेहमूद कुरेशी नामक मुल्ला ने निकाह कराया। ८० वर्ष से अधिक बूढ़े मुसलमान में यह पाश्विक प्रवृत्ति क्यों? काजी का उद्देश्य क्या रहा होगा?
279. पाकिस्तान में १४ वर्षीय लड़के ने कहा - ‘‘हम हिन्दुओं से घृणा करते हैं क्योंकि वे हिन्दुस्थानी है और इस्लाम और पाकिस्तान के नम्बर एक दुश्मन हैं। हम इसे पाकिस्तान अध्ययन पर प्रकाशित इतिहास के पाठय पुस्तक से जानते हैं।‘‘ आप दोनों देशों के बीच शांति और मित्रता की आशा कैसे करते हैं?
280. तिरुवनन्तपुरम में एक मुस्लिम लड़की रनबिनया और उसके पूरे परिवार को मुसलमानों द्वारा सताया जा रहा है, क्योंकि वह भरतनाटयम सीख रही थी। भारत की राष्ट्रीय एकता का पाठ मुसलमानों को कौन पढ़ायेगा?
281. आॅल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लाॅ बोर्ड के अनुसार मुस्लिम औरतों को आदमियों के साथ काम या शाॅपिंग माल में जाना नहीं चाहिए और आदमियों से मिलना नहीं चाहिए। क्या वे तालिबानियों से अलग हैं? हमारे मानवाधिकारीवादी इस पर चुप क्यों हैं?
282. धर्मनिरपेक्षता का अर्थ राज्य को धर्म से अलग रखना है। परन्तु भारत में, सरकार मंदिर के पैसों को हड़प कर मुल्ला-मौलवियों को वेतन देने पर खर्च करती है, जबकि मंदिर के पुजारी वेतन नहीं पाते हैं। यह किस प्रकार की धर्मनिरपेक्षता है?
283. पश्चिम बंगाल की जनसंख्या ८,०२,२१,१७१ है। परन्तु वहाँ ८,७५,१३,२८० राॅशन कार्ड वितरित किये गए हैं। तात्पर्य यह कि जितनी जन संख्या है उससे ७२,९२,१०९ खाने वाले लोग अधिक हैं। क्या उन्नतिशील पश्चिम बंगाल के कम्युनिस्ट इसका तात्पर्य बताएँगे?
284. कोलकता में हाथ गाड़ी का प्रचलन है। अर्थात् एक आदमी गाड़ी में बैठता है और उसे एक आदमी खींचता है, जबकि अहमदाबाद में केवल आटो रिक्शा ही चलता है, साइकल रिक्शा दिखाई भी नहीं देता। क्या आप कोलकता के कम्युनिस्टों की प्रगति की तुलना कम्युनलिस्ट मोदी के अहमदाबाद से कर सकते हैं?
285. साम्यवादी सरकार के असहयोग के बाद भी पश्चिम बंगाल में १० लाख बोगस वोटर की पहचान की गई जो मात्र एक अनायास प्रयास था। क्या आप इससे सहमत हैं कि साम्यवादी अप्रजातांत्रिक साधनों को अपना कर बार-बार सत्ता में वापस आ रहे हैं?
286. पश्चिम बंगाल में भेजे गए १९ पर्यवेक्षकों ने मुख्य चुनाव आयुक्त बी.बी.टंडन को यह विश्वास दिला दिया कि प्रजातंत्र और बंगाल साथ-साथ नहीं चल सकते। जानबूझकर स्वतंत्र और निपक्ष चुनाव में बाधा उत्पन्न करने की साम्यवादियों की प्रवृत्ति के लिए चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल की साम्यवादी सरकार की निंदा की है। क्या आप सोचते हैं कि प्रजातंत्र साम्यवादियों के हाथ में सुरक्षित रहेगा?
287. जम्मू कश्मीर की पुलिस ने ईसाई मिशनरियों के समूह को भूकम्प राहत कार्य का उपयोग मुसलमानों को ईसाई बनाने के अपराध में गिरफ्तार किया। क्या आपने भारत में इस प्रकार की कार्रवाई के विषय में कभी सुना है। भारत में गैर हिन्दुओं का धर्मान्तरण अवैध है परन्तु हिन्दुओं का धर्मांतरण सही है।
288. पाकिस्तान स्थित लाहौर में कुरान एक गटर में पड़ा मिला और इसके फलस्वरूप कुछ भीड़ ने बहुत से वाहनों और सम्पत्ति में आग लगा दिया। वे पुलिस से भी झगड़ा किए। क्या इस्लाम ने विरोध का केवल एक ही स्वरूप हिंसा है, सिखाया है?
289. क्या आप सहमत हैं कि जिस प्रकार सऊदी अरब गैर मुसलमानों के साथ जो व्यवहार करता है यदि उसी प्रकार का व्यवहार यूरोप और अमेरिका भी पूरी मुस्लिम आबादी के साथ करने लगे तो मुस्लिमों का क्या होगा?
290. एस.करुणाकरण ने कहा कि आल इंडिया कांग्रेस कमेटी आल इंडिया कैथोलिक कांग्रेस बन गई है। उदाहरण के तौर पर वे विंसेंट जाॅर्ज, मार्गेट अलवा, आस्कर, अजीत जोगी, राजशेखर रेड्डी, ओमन चण्डी और ए.के. अंथोनी के नामों को गिनाते हैं। आप की क्या राय है?
291. किसी भी भारतीय समाचार पत्र ने मोहमद साहब पर चर्चित कार्टून का प्रकाशन नहीं किया। फिर भी हिन्दुओं को इस्लाम के क्रोध का शिकार क्यों होना पड़ा? हिन्दू नाविक मारा गया, हैदराबाद में हिन्दू-मुस्लिम दंगा हुआ, लखनऊ में हिन्दू मारा गया और भाजपा के कार्यालय पर पत्थर फेंका गया, इत्यादि। क्या यह इस्लाम के कारण हुआ कि कोई भी काफिर काफिर ही है।
292. संसद में, संसदीय कार्यमंत्री कांग्रेस के सुरेश पचैरी जब डेनमार्क में प्रकाशित मोहम्मद साहब के कार्टून के अवसर निन्दा प्रस्ताव का समापन भाषण दे रहे थे तब उन्होंने एम.एफ. हुसेन के हिन्दू देवी-देवताओं के भारत में प्रकाशित विभत्स चित्रों के बारे में एक शब्द भी नहीं कहा। उनकी मजबूरी क्या थी?
293. सन् २००२ में अमेरिका के एक पादरी जेरी फाॅलवेल ने मोहम्मद पैगंबर पर एक आलेचनात्मक व्याख्यान दिया था। जिससे सोलापुर के मुसलमान भड़क उठे थे। उन्होंने अपना रोष हिन्दुओं पर उतारा। क्या यह इस्लाम के नियमों के अनुसार है कि सभी काफिर काफिर ही हैं। दूर का काफिर हाथ न लगे तो नजदीक के काफिर को ही मारो।
294. उ.प्र. के मंत्री हाजी याकूब कुरैशी डेनमार्क के कार्टूनिस्ट का सिर-कलम करने के लिए ५१ करोड़ के पुरस्कार की घोषणा करते हैं। उ.प्र. के मुख्य सचिव कहते हैं कि वह कार्टूनिस्ट भारत का नागरिक नहीं हैं। सरकार क्या करेगी जब अमेरिका के राष्ट्रपति जार्ज बुश जो भारत के नागरिक नहीं हैं के सिर कलम के लिए कोई मुस्लिम संगठन ऐसा ऐलान करता है तो?
295. साधु वासवाणी मिशन की स्थापना सबसे पहले पाकिस्तान स्थित हैदराबाद में सन् १९३३ में हुई थी। बंटवारे के समय पाकिस्तान ने उसे पुणे में भगा दिया आज पाकिस्तानी साधु वासवाणी मिशन से ही भारत में अपने उपचार के लिए मदद ले रहे हैं। क्या उनको इसका पश्चाताप है?
296. गत पांच वर्षों में आंध्र प्रदेश में हजारों चर्चों का निर्माण हुआ है। उनकी जन संख्या १९९१ में १.६% थी वह आज १०% हो गई है। २५.१% बी.एड काॅलेज ईसाई लोगों के नियंत्रण में चल रहे हैं। क्या आप निहित स्वार्थ वालों के तथाकथित इस सिद्धान्त से सहमत हैं कि भारत में ईसाइयों को उत्पीडि़त किया जा रहा है?
297. सऊदी अरब जैसे मुस्लिम देश, और ईसाइयों की वैटिकन सिटी में हिन्दुओं को शमशान भूमि के लिए जगह सुलभ नहीं है। परन्तु हिन्दुओं के पवित्र तीर्थस्थल तिरुपति में चर्च बनाने की अनुमति दी गई है। फिर भी हिन्दुओं को असहिष्णु कहा जाता है क्यों?
298. सऊदी अरब में मोहम्मद पैगंबर की मस्जिद को गिराकर वहाँ व्यापारी संकुलन बना दिया गया तो कानपुर के मुसलमानों ने विरोध प्रदर्शन किया। क्यों? क्या कानपुर के मुसलमान अरबी मुसलमानों से भी बढ़कर मुसलमान हैं?
299. अमेरिका में ईसाई पादरियों के अनैतिक यौन संबंधों से होने वाली बदनामी को दबाने के लिए चर्चों की कीमती सम्पत्ति को कौडि़यों के दाम बेचा जा रहा है। क्या आप सोचते हैं कि भारत स्थिति ईसाई पादरी क्या अमेरिकी पादरियों से कुछ कम है?
300. डाॅ. जाकिर नाईक कहते हैं कि यदि कोई गैर मुसलमान काफिर शब्द को गाली समझता है तो उसे इस्लाम मजहब स्वीकार कर लेना चाहिए, तब हम उसे काफिर नहीं कहेंगे। आप ऐसे लोगों को बुद्धिमान कहेंगे या ठग?
301. बुद्धिमान मुस्लिम एक निरथर्क शब्द है और इससे कुरान की बदनामी भी है। केवल एक स्वतंत्र विचारक ही बुद्धिमान हो सकते हैं। कुरान में चिंतन-मनन पर प्रतिबंध है। क्योंकि जो भी चिंतन करना चाहिए उसे मोहम्मद साहब ने करके कुरान और हदीश में लिख दिया है। तो एक मुसलमान कैसे चिंतन कर सकता है। वह मार्गदर्शन के लिए केवल कुरान का सहारा ले सकता है।
302. ‘हिन्दुस्तान टाइम्स‘ ने ‘‘गणेश चतुर्थी को मुंबई में विसर्जन को ‘‘आवेश‘‘ के रूप में बदल दिया। क्या यही हिन्दुस्तान टाइम्स मोहर्रम के जुलूस या गुड फ्राइडे के जुलूस को ‘‘आवेश‘‘ बता सकता है। उनकी कलम हिन्दुओं के ऊपर ही आवेश में उड़ सकती है।
303. केवल हिन्दू ही जातियता, सतीप्रथा और उनके ग्रंथों में उल्लिखित अन्य प्रथाओं, जो मनुष्यों के लिए ठीक नहीं है, को शीघ्रता से क्यों छोड़ रहे हैं? मुसलमान बाल विवाह और तलाक की प्रथा को क्यों नहीं छोड़ते?
304. मुल्ला-मौलवी, सानिया मिर्जा, गुडिया और इमराना के वैयक्तिक जीवन में दखल देते हुए उनके खिलाफ तुरन्त फतवा जारी करते हैं। परन्तु कोई मुल्ला-मौलवी आतंकवादियों के खिलाफ बोलने के लिए आगे क्यों नहीं आता? यह साहस की कमी है या आतंकवाद का समर्थन या दोनों?
305. गुजरात में पिछले नगरपालिका के चुनाव में भाजपा ने सभी नगरपालिकाओं में भरपूर जीत दर्ज की। परन्तु अधिकांश अंग्रेजी समाचार माध्यमों ने इस समाचार को दबा दिया। समाचार देने में वे ऐसा पक्षपात क्यों करते हैं?
306. बेन्नी हिन्न और राॅन वाट्स जैसे ईसाई पादरियों को सब जगह जाने की छूट क्यों है और उनका राज्य के अतिथि की तरह सत्कार क्यों होता है? जबकि उनकी अपने देश अमेरिका में अपराधिक मुजरिम के तौर पर तलाश है। यह चापलूसी क्यों?
307. मुल्लाओं ने बहुत से श्वसुरों को जिन्होंने अपनी बहू के साथ बलात्कार किया उनको पति और पतियों को उनका बेटा बना दिया। क्या आप सोचते हैं कि इस प्रकार की स्थिति सभ्य समाज का नेतृत्व कर सकती है?
308. कोट्यायम्-ईकमेली रेलवे लाइन जो सबरी मलाई की ओर जाती थी, का निर्माण कार्य रोक दिया गया है। क्योंकि यह बहुसंख्य ईसाई क्षेत्र से होकर जाती है। ईसाई मुख्यमंत्री ओमेन चण्डी ने इसे रोकने का आदेश दिया है। क्या ईसाई बहुल प्रदेश को विदेशी क्षेत्र समझा जाय?
309. बांग्लादेश के अजहर खाँ ने ४४ वीं शादी की है। उनकी ४४ वीं पत्नी उनके आधी आयु की है। उनके बच्चों की गिनती नहीं है न तो वे अपनी औरतों का नाम याद कर सकते हैं। क्या ये जंगली जानवर हैं?
310. ५०,००० भूकम्प पीडि़त पहाड़ों पर ठंड से सिकुड़ कर मरने की स्थिति में हैं क्योंकि एक मुल्ला ने फतवा जारी किया है कि घोर विपत्ति में अपनी जगह से पलायन गैर इस्लामिक है। कृपया चिंतन कीजिए कौन किसके लिए हैं - धार्मिक पुस्तकें लोगों की भलाई के लिए हैं या लोग धार्मिक पुस्तकों के लिए है?
311. एक फतवा कहता है कि योग इस्लामिक कानून का उल्लंघन है। क्योंकि यह हिन्दू तपस्वियों की एक साधना है। क्या योग से लाभान्वित मुसलमान इस फतवे का विरोध करेंगे? अच्छे स्वास्थ्य की प्राप्ति के साधन में एक मजहब को बाधक क्यों बनना चाहिए?
312. तमिलनाडु के कन्याकुमारी जिला के कोलचल क्षेत्र में मुसलमानों ने सुनामी लोगों की सेवा में रत आर.एस.एस के लोगों का विरोध किया। यद्यपि सामान्य मुसलमान उनकी सेवा से खुश थे। मुस्लिम नेता यहाँ आर.एस.एस की सेवा से भयभीत क्यों थे? कौन किसे विमुख कर रहा था?
313. देवबंद के मुल्लाओं ने उत्तरप्रदेश में मुस्लिम महिलाओं को नगरपालिका का चुनाव न लड़ने के लिए फतवा जारी किया है। क्योंकि यह इस्लाम के खिलाफ है। तो वे वोट भी क्यों देते हैं?
314. क्या आप सहमत है कि इस्लाम और वैज्ञानिक विकास आपस में परस्पर विरोधी है? एक भी इस्लामिक देश का नाम बताइए जिसने अच्छा वैज्ञानिक, डाॅक्टर, इंजीनियर, या किसी क्षेत्र में कुशल नागरिक दिया है।
315. चेन्नई से प्रकाशित होने वाला ‘दि हिन्दू‘ के पाठकों की संख्या ३.५ लाख है। वस्तुत% यह चीन की कम्युनिस्ट पार्टी का मुख पत्र बन गया है। कार्ड होल्डर कम्युनिस्ट पार्टी का कार्यकर्ता एन राम इसके सम्पादक हैं। भारत-चीन पत्रकार संघ की वे एक प्रमुख कड़ी हैं और पत्रकार के रूप में विदेशी दलालों के हमदर्द भी हैं। इसके पीछे रहस्य क्या हो सकता है।
316. महाराष्ट्र सरकार डाॅन्स बार पर प्रतिबंध लगाई, तो बार डाॅन्सर्स सोनिया गाँधी के पास गई और गुहार लगाई। क्या यह इसलिये कि एक बारगर्ल ही बार डांसरों की समस्याओं को अच्छी तरह समझ सकती हैं?
317. रास्ते के चैड़ीकरण में बरौडा में २० मंदिरों को डहा दिया गया। हिन्दुओं ने शांतिपूवर्क उसका प्रतिवाद किया। कुछ ने तो इस कार्य में मदद भी की। परन्तु जब एक दरगाह ढहाई गई तो मुसलमान दंगे पर उतारू हो गए और सुप्रीम कोर्ट ने ढहाने का काम रोक दिया। जब हजारों दुकानें दिल्ली में ढहा दी गई तो दुकानदारों ने शांतिपूर्वक अपना विरोध प्रकट किया। परन्तु सुप्रीम कोर्ट ने स्थगन आदेश देने से इन्कार कर दिया। क्या सुप्रीम कोर्ट हिंसा के सामने घुटने टेक दे रहा है या हिंसा को उकसा रहा है?
318. मुंबई, चेन्नई और मदुरैइ में फुटपाथों पर बने सैकड़ों मंदिरों को हाई कोर्ट के आदेशों से ढहा दिया गया। लेकिन बड़ौद्रा में जब एक दरगाह तोड़ी जाती है, तो यू.पी.ए सरकार गुजरात सरकार के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में जाती है। क्या यू.पी.ए सरकार केवल मुसलमानों के लिए ही है?
319. विश्व में सभी जगह कम्युनिज्म खतम हो रहा है। परन्तु यह हिन्दू नेपाल और भारत में पनप रहा है। क्या यह इसलिए कि हिन्दू बुद्धू हैं? इसमें कोई संदेह नहीं कि कम्युनिस्ट हिन्दुओं का उपहास कर रहे हैं।
320. आर.सच्चर समिति की रिपोर्ट के अनुसार मुसलमानों की केवल ३.१% जनसंख्या ही स्नातक और १.२% जनसंख्या स्नातकोत्तर है। इसके लिए कौन जिम्मेदार हैं। मुल्ला जो उन्हें मदरसा में पढ़ने के लिए दबाव डालते हैं या कांग्रेस सरकार जो देश पर शासन कर रही है? क्या आप नहीं सोचते कि मुस्लिम जनसंख्या को अनभिज्ञ रखने में दोनों का निजी स्वार्थ है?
321. १५ मई १९९९ को ए.पी.एच.सी के पूर्व अध्यक्ष भीखाज उमर फारूख ने श्रीनगर में कहा था कि ‘‘कश्मीर धरती का स्वर्ग है और इस स्वर्ग पर मूर्ति पूजक और गो पूजक और इस्लाम विरोधियों का कब्जा नहीं हो सकता। इसे हर कीमत पर उनसे स्वतंत्र रखना होगा।‘‘ क्या आप इसका अर्थ समझते हैं?
322. मुसलमान तलाक इत्यादि के मामले में सुप्रीम कोर्ट का भी आदेश नहीं मानते हैं। वे परिवार नियोजन का भी पालन नहीं करते। तब वे आरक्षण की मांग क्यों करते हैं? उन्हें आम के आम और गुठलियों के दाम कैसे मिल सकते हैं?
323. फ्रांस किसी व्यक्ति का मजहब नहीं पूछता है। इसका लाभ लेते हुए मुसलमान ज्यादा बच्चे पैदा करते हैं और अब उनकी आबादी पेरिस में २४% होकर मजबूत स्थिति में पहुँच गई है। मुसलमानों द्वारा पिछले साल पेरिस बहुत दिनों तक जलता रहा और हजारों कारे जला दी गई। क्या जेहाद के लिए इतना ही पर्याप्त है?
324. विश्व का एक भी मुसलमान ओसमा बिन लादेन को दोष नहीं देता कि उसने अमेरिका को उकसाकर अफगानिस्तान, इराक और अन्यत्र के लोगों के जीवन को नष्ट कर दिया। कारण यह है कि यह सब जेहाद था। महाराष्ट्र के मालेगांव में ओसामा की पूजा होती है। क्या ओसामा ही असली मुसलमान था?
325. कश्मीर विवाद को भारत में अक्सर इस्लामिक आतंकवाद का कारण बताया जाता है। परन्तु लश्करे तोयबा के पत्रक में लिखा रहता है कि ‘‘हम जेहाद इसलिए करते हैं कि भारत में इस्लामिक कानून स्थापित हो जाय।‘‘ उनकी नियति के बारे में कोई शंका है?
326. आप कहते हैं कि कश्मीर की समस्या मुस्लिमों से संबंध विच्छेद के कारण है। यह संबंध विच्छेद वास्तव में क्या है? इसकी जड़ में कौन है? क्या मुसलमान सचमुच बहुसंख्यकों के साथ मिलना चाहते हैं? क्या इसके लिए केवल हिन्दू जिम्मेदार हैं? विश्व में किसी भी जगह मुसलमान बहुसंख्यकों के साथ एकीकरण करना चाहते हैं?
327. दि. २९ अक्टूबर २००५ को दिल्ली में हुए बम. विस्फोट को लंदन का समाचार पत्र दी गार्जिन ‘‘आतिशबाजी‘‘ बताया था। इसे आतंकवादी आक्रमण बताने में क्या वह डरता था?
328. श्रीमती इंदिरा गाँधी कहती थीं कि भ्रष्टाचार जगत व्याप्त है। उनकी बात सही है। सोनिया गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस का भ्रष्टाचार वोल्कर, क्वात्रोची इत्यादि के रूप में अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर पहुँच गया है।
329. जब पोप जाॅन पाॅल मरे थे, केवल इटली और कनाडा ने इसे राष्ट्रीय शोक की संज्ञा दी थी। तीसरा भारत था। क्या आप नहीं सोचते कि सेक्युलर भारत ने कम्युनल इटली का अनुकरण किया?
330. पोटा हटाकर और आतंकवादियों के साथ बातचीत कर हिंसा को बढ़ावा देने के बदले सरकार को आतंकवादियों को आतंकित करना चाहता था। कांग्रेस ने जो काम १९४० में किया था जिसके कारण देश का बंटवारा हुआ उसी की पुनरावृत्ति वह अब भी कर रही है। क्या आप नहीं सोचते कि यही समय है आप को गहरी नींद से जागने का।
331. भगवान श्रीकृष्ण ने कहा है, धर्म की संस्थापना सज्जनों की रक्षा और दुर्जनों के विनाश से ही की जा सकती है। सभी सज्जनों की रक्षा की बात करते हैं। क्या आपने किसी को दुर्जनों के विनाश करने की बात करते हुए सुना है जिसके बिना धर्म की संस्थापना सम्भव ही नहीं है?
332. तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम. करुणानिधि राम और रामायण के अस्तित्व को नकारते हैं। परन्तु तमिलनाडु सरकार का पर्यटन विभाग विपुलमात्रा में सुलभ पानी पर तेरने वाले पत्थरों, जिससे रामसेतु का निर्माण हुआ है, को देखने के लिए पर्यटकों को निमंत्रित कर रहा है। इससे ऐसा लगता है कि उनकी खुद की सरकार उनके विचारों से सहमत नहीं है।
333. सन् 1972 में एम. करुणानिधि जब तमिलनाडु के मुख्यमंत्री थे तब उन्होंने रामनाथपुरम् भूगोल सम्बन्धी शब्दकोष की प्रस्तावना लिखते समय रामसेतु की उपस्थिति को मान्य किया है। फिर आज उसके अस्तित्व को नकारने का क्या तुक है? क्या यह सही है कि तमिलनाडु में डी.एम.के की सरकार जेहादियों को खुश करने के उद्देश्य से अयोध्या में बाबरी ढाँचा को ढहाने का बदला रामसेतु को तोड़कर चुकाना चाह रही है?
334. इस्लाम की तथाकथित अवमानना करने वाली किताब की लेखिका तसलीमा नसरीन को एक राज्य से दूसरे राज्य में छिपाया गया। परन्तु हिन्दू देवी-देवताओं का नग्न चित्र बनाने वाले अश्लील चित्रकार एम.एफ. हुसैन को पुरष्कृत किया गया। जबकि एफ.एम. हुसैन पर व्यथित हिन्दुओं ने मुकदमा दायर किया हुआ है। शांतिप्रिय धार्म के नेताओं ने नसरीन पर आक्रमण कर उसे शारीरिक क्षति पहुँचाई है।
335. भारत पिछड़ा हुआ है, सही? तो अमेरिका, इंग्लैंड, जर्मनी, कनाड़ा इत्यादि जैसे देश भारतीय डाॅक्टरों, इंजीनियरों, वैज्ञानिकों, प्रोफेसरों, आई.टी. व्यवसायिओं की मांग क्यों करते हैं? इससे ऐसा लगता है कि वे ही पिछड़े हुए हैं। क्या ऐसा नहीं हैं?
336. जम्मू कश्मीर के भूतपूर्व मुख्यमंत्री डाॅ. फारूख अब्दुल्ला ने हाल ही में ऐसा दावा किया है कि उनके पिता शेख अब्दुल्ला के नेतृत्व में जम्मू कश्मीर का भारत में विलय एक भूल थी। वास्तव में जम्मू कश्मीर का भारत में विलय महाराजा हरि सिंह की पहल से हुआ। क्या डाॅ. अब्दुल्ला झूठा श्रेय नहीं ले रहे हैं? या वे आतंकवादियों को खुश करने की चेष्ठा कर रहे हैं?
337. हाल ही में सम्पन्न गुजरात विधानसभा (2007) के चुनाव में कुछ मुस्लिम गाँव चुनाव प्रचार से वंचित रह गए थे। कांग्रेस सोचती रही कि कांग्रेस के अतिरिक्त वे और किसी को वोट देंगे ही नहीं, और भाजपा सोचती रही कि वे उसे वोट देंगे ही नहीं, तो अपने ताकत का अपव्यय क्यों किया जाय। इस राजनीतिक उदासीनता के लिए उत्तरदायी कौन है? मोदी तो हो ही नहीं सकते, क्योंकि वे तो 5.5 करोड़ गुजरातियों की बात करते हैं।
338. कांग्रेस पार्टी के अन्तर्गत कुछ हिन्दुओं ने ‘कांग्रेस हिन्दू फ्रन्ट‘ नामक एक मंच की स्थापना की है। क्या वे उस निष्कर्ष पर पहुँचे हैं कि इटालियन ईसाई सोनिया गाँधी के नेतृत्व में हिन्दुओं को दुर्लक्ष्य किया जा रहा है? यही तो वह बात है जिसे हिन्दू नेता बहुत पहले से कहते चलें आ रहे हैं।
339. सिमी (Student Islamic Movement of India) एक आतंकवादी संगठन को राजग सरकार ने प्रतिबंधित कर दिया था। सोनिया गाँधी ने इस प्रतिबंध का विरोध किया था। उत्तर प्रदेश में उनकी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष सलमान खुर्सीद कोर्ट में सिमी की तरफ से प्रतिबंध उठाने की वकालत कर रहे थे। अब ऐसे लोग आतंकवाद को नियंत्रित कैसे कर सकते हैं?
340. राष्ट्रीय सुरक्षा संस्थान खडकवासला में अनवर अली नामक एक प्रोफेसर सैनिकों को भारतीय नागरिकों की सुरक्षा का प्रशिक्षण देते थे, वे सिमी के सदस्य निकले। अप्रैल 2008 मुलुण्ड में हुए बम विस्फोट में उनका हाथ था, उन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।
341. अश्लील चित्रकार एम.एफ. हुसैन ने औरतों को जानवरों के साथ संभोग करते हुए चित्रित किया है। क्या यह कामुकता नहीं है? औरतों के अधिकारों के लिए लड़ने वाले संगठन इसके खिलाफ अपनी आवाज क्यों नहीं उठा रहे हैं?
342. दिल्ली की जामिया मिलिया इस्लाम यूनिवर्सिटी ने अश्लील चित्रकार एम.एफ. हुसैन को डाॅक्टरेट कि उपाधि दी है। एक आर्ट गैलरी का नामकरण भी उनके नाम पर हुआ है। हिन्दुओं का हमेशा उपहास उड़ाने वाले चित्रकार को यह सम्मान देना, क्या हिन्दुओं का अपमान नहीं है?
343. सोनिया गाँधी की लड़की प्रियंका ने हिमाचल प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्र में प्रेसिडेन्ट सम्मर रीट्रिट के पास 4.5 एकड़ जमीन खरीदी है। यह हिमाचल प्रदेश के वर्तमान कानून के अन्तर्गत अवैध है। वही वहाँ जमीन खरीद सकता है जो वहाँ का रहने वाला है। इसकी तुलना अमिताभ बच्चन से कीजिए जिन्हें खेती की जमीन खरीदने के अपराध में प्रताडि़त किया गया।
344. चुनाव आयोग ने (गुजरात 2007) के दंगों को दिखाने के लिए आजतक चैनल को नोटिस जारी नहीं किया है। इसको देखते हुए आप विचार कर सकते हैं कि इसी चुनाव आयोग ने गोधरा में साबरमती एक्सप्रेस में लगी आग को दिखाने वाले पोस्टर पर प्रतिबन्ध लगा दिया था। ऐसा दोहरा मापदण्ड क्यों?
345. संप्रग सरकार को अपने नियंत्रण में रखते हुए सोनिया गांधी ने दो रुपये के सिक्के पर से भारत माता के चित्र को निकालवाकर ईसाइयों के चिह्न क्राॅस को लगवा दिया है। भारत माता की जगह क्राॅस प्रस्थापित करने की चाल की महत्ता को क्या आप समझते हैं?
346. सन् 2002 के गुजरात दंगें को विकृत मीडिया द्वारा सामूहिक कत्लेआम के रूप में बताया गया। यद्यपि 50000 हिन्दू भी शरणार्थी शिविरों में पनाह लिए हुए थे। और 254 हिन्दू पुलिस की गोली के शिकार भी हुए थे। परन्तु पश्चिम बंगाल की वामपंथी सरकार ने नन्दीग्राम में जो किया क्या वह सामूहिक नरसंहार नहीं था? परन्तु हमारे सेक्युलरिस्ट मीडिया और नेता लोग नन्दीग्राम की घटना पर चुप क्यों हैं?
347. छद्म सेक्युलरिस्टों की तरह कांग्रेस पार्टी ने अब छद्म शंकराचार्य को मैदान में उतारा है। वे इस स्तर तक गिर गए हैं और कह रहे हैं कि रामसेतु भाजपा का राजीतिक एजण्डा है। यद्यपि यह कांग्रेस के नेतृत्व में चल रही संप्रग सरकार का कार्य है, जो रामसेतु को तोड़ रही है।
348. अपने आपको बुद्धिवादी और ज्ञानी बताने वाले डाॅ. जकीर नाईक के विषय में खुशवंत सिंह ने कहा है - ‘‘डाॅ. नाईक आप पश्चिमी समाज के विषय में कुछ नहीं जानते हैं और हवा में बात करते हैं।‘‘ क्या डाॅ. नाईक को इसके अतिरिक्त किसी अन्य प्रमाण पत्र की जरूरत है।
349. बांग्लादेशी लेखिका तसलीमा नसरीन इस्लामिक फतवे के अन्तर्गत भारत में रह रही है। परन्तु अश्लील चित्रकार एम.एफ. हुसैन अपने आपको स्वयं निर्वासित घोषितकर भारतीय न्यायालयों में उनके खिलाफ दाखिल याचिकाओं से बचने के लिए विदेशों में रह रहे हैं। इन दोनों की तुलना कैसे की जा सकती है?
350. अतीत में हमारे सैनिकों को “Cannon Fodder” कहा जाता था परन्तु आज भारतीय सैनिको को बली का बकरा कहा जाता है। धूर्त मानवाधिकारवादी संगठन और सरकार हमारे सैनिकों को मानवाधिकार को कुचलने वाला और अपने कर्तव्यों के प्रति उदासीन बता रहे हैं। क्या कोई भी देश अपने सैनिकों की इतनी निन्दा करता है?
351. त्रिवेन्द्रम में एक विज्ञापन बोर्ड पर ऐसा लिखा है कि सभी मजहब प्रिय स्त्रियों को बुरका पहनना चाहिए। वास्तव में उनका इशारा यह है कि ‘‘सभी मजहब प्रिय स्त्रियों को बुरके में छिप जाना चाहिए।‘‘ क्या आप यह समझते हैं कि इस्लाम एक अरबी राष्ट्रीय आन्दोलन है और अरबी आदिवासी परम्परा और विश्वास पर आधारित एक मजहब है। इस तरह के विज्ञापनों से क्या ऐसा नहीं लगता कि वे भारत पर अरबी रीति-रिवाज को थोपना चाह रहे हैं?
352. क्या आप यह जानते हैं कि हाल के वर्षों में पोलियो से ग्रसित 70 प्रतिशत रोगी मुस्लिम बच्चे हैं जबकि भारत की पूरी जनसंख्या में मुसलमानों का प्रतिशत लगभग 13.4 प्रतिशत ही है। यह इसलिए है कि मुल्ला-मौलवी मुसलमानों को सलाह देते हैं कि वे अपने बच्चों को पोलियो की दवा न पिलायें। यद्यपि हमारी सरकार पोलियो उन्मूलन आन्दोलन पर करोड़ों रुपये खर्च करती है।
353. क्या आप जानते हैं कि भारत के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री सन् 2007 में दीपावली के पावन पर्व पर भारतीयों को शुभेच्छा नहीं दिये थे। ऐसी भूल वे ईद और क्रिसमस के समय नहीं करते। ऐसे देश में जहाँ 90 प्रतिशत लोग दीपावली का त्योहार मानते हैं, उस देश के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री का यह व्यवहार अति घृणित निर्लज्जता का द्योतक नहीं है?
354. मुसलमान “God” शब्द को मान्यता नहीं देते हैं। वे हमेशा "अल्ला" ही कहते हैं। साधारण बोल चाल में हम कहते हैं "God knows” लेकिन वे कहते हैं ‘‘। "Allah Knows”। ऐसी स्थिति में हमारा उच्चतम न्यायालय 12 केरल के मुस्लिम विधायकों द्वारा अल्ला के नाम पर शपथ लेने के केस में ऐसा कैसे निर्णय देता है कि God और Allah एक दूसरे के पर्याय हैं?
355. पश्चिम बंगाल के जलपाइगुडी में 38 वर्षीय मुसलमान अफजुद्दीन ने अपनी 15 वर्षीय लड़की के साथ शादी किया और उसे गर्भवती बना दिया (सन् 2007)। अपनी इस कामवासना को उसने अल्ला की मर्जी बताया। मुल्ला और मौलवी इस घटना पर चुप हैं। क्या इसका यही कारण है कि इस्लाम में औरतें मर्दों की सम्पति हैं?
356. गुजरात पुलिस ने जब आतंकवादी शोहराबुद्दीन शेख को मुठभेढ़ में मार गिराया तो सेक्युलरिस्ट और मीडिया वालों ने बड़ा चिल्लपों मचाया। परन्तु जब महाराष्ट्र पुलिस ने मोहम्मद युनूस को पुलिस मुठभेढ़ में मारा तो अपना प्रलाप बंद ही रखे। क्या ऐसा इसलिए हुआ कि वे कांग्रेस से डरते हैं?
357. कुख्यात इतिहास लेखक रोमिला थापर कहती हैं कि राम एक काल्पनिक पात्र हैं, परन्तु जिसस और मोहम्मद यथार्थ हैं। क्योंकि उनका जीवन वृत्तान्त पूर्णतया स्वीकृत है। क्या वे यह कहती हैं कि रामायण हिन्दुओं द्वारा पूर्णरूपेण स्वीकृत नहीं है? वे किसे मूर्ख बना रही है?
358. बाबरी विध्वंस के समय उद्वेलित कार्यकर्ताओं ने जब कुछ पत्रकारों के साथ हाथापाई किया तो सेक्युलर गैंग भाजपा कार्यकर्ताओं को चैराहे पर फाँसी देने की मांग करने लगे। परन्तु जब पश्चिम बंगाल के नन्दीग्राम में बहुत से पत्रकारों पर हमला हुआ तो यही सेक्युलर गैंग चुप है। मीडिया ने भी इन खबरों को छिपा दिया। क्या वे एकाएक अपनी हिम्मत खो दिये?
359. उपराष्ट्रपति श्री हमीद अंसारी ‘‘पश्चिम एशिया की सुरक्षा‘‘ नामक दिल्ली में हुए एक सम्मेलन के अवसर पर बोलते हुए अमेरिका पर आतंकवाद को बढ़ावा देने का अक्षेप लगाया। क्या आप नहीं सोचते कि इसकी आड़ में श्री अंसारी इस्लामिक आतंकवाद के ऊपर पर्दा डाल रहे हैं?
360. भाजपा की केन्द्रीय कार्यकारिणी ने सच्चर समिति की रिपोर्ट को ठुकरा दिया है लेकिन इसके महामंत्री गोपीनाथ मुंडे और महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष नितिन गडकरी उसका समर्थन कर रहे हैं। दोनों लोग नागपुर में 22.11.2007 को एम.एल. सी. पाशा पटेल द्वारा आयोजित ‘‘न्याय दो‘‘ रैली में सम्मिलित होकर रिपोर्ट के कार्यान्वयन की मांग कर रहे थे। क्या यह केन्द्रीय नेतृत्व की अवहेलना नहीं है?
361. ऐसी सूचना है कि ऐतिहासिक खोज के लिए बनी भारतीय सलाहकार समिति ने रोमिला थापर और दूसरांे को 25,000 रु. प्रति माह का अनुदान देने का निश्चय किया है। क्या उन्हें राम और रामायण को काल्पनिक बताने की कीमत तो नहीं दी जा रही है? वे तो पहले से ही भारतीय इतिहास को विकृत बनाने और हिन्दुत्व को नष्ट करने में लगी हुए हैं।
362. नरेन्द्र मोदी के पत्रकार सम्मेलन में उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष सलमान खुर्शीद की पत्नी ने एक पत्रकार की हैसियत से पूछा कि क्या यह सही है कि पिछले चुनाव में भाजपा को वोट देने वाले लोगों की संख्या पूरी जनसंख्या की 50 प्रतिशत से कम है? संप्रग सरकार कैसे बनी? अब आप सोचिए कि हमारे बुद्धिवादियों का स्तर कितना गिर गया है?
363. 60 वर्षों के बाद अमेरिका ने खोज की है कि बांग्लादेश में अल्पसंख्यक संकट में है। वास्तव में पाकिस्तान में भी अल्पसंख्यक संकट में है, यह पता लगाने के लिए 60 वर्ष भी उनके लिए पर्याप्त नहीं है। क्या अमेरिका से भी बेईमान देश कोई और हो सकता है?
364. अमेरिका में कुछ मुस्लिम मेडिकल छात्रों ने आल्कोहल या स्त्री-पुरुष के सम्बन्ध से उत्पन्न रोगों के ऊपर व्याख्यानों में सम्मिलित होने या इन से सम्बन्धि विषयों पर पूछे गए प्रश्नों का उत्तर देने से इसलिए इन्कार कर दिया है कि इससे उनकी मजहबी आस्था पर चोट पहुँचती है। यदि इन रोगों से सम्बन्धित रोगी उनके पास इलाज के लिए आयेंगे तो वे क्या करेंगे?
365. पश्चिम बंगाल के मालदा जिले में एक 14 वर्षीय मुस्लिम लड़की की शादी एक 75 वर्षीय मुस्लिम आदमी से कर दी गई। परन्तु जब लड़की ने बूढ़े आदमी के साथ रहने से इनकार कर दिया तो उसे जाति-बिरादरी से निकाल दिया गया। स्थानीय सी.पी.एम के लोग और मानवाधिकारवादियों ने यह कहकर अपने को अलग कर लिया कि ‘‘यह सामाजिक समस्या है‘‘। यदि वे हिन्दू होते तो ये लोग कौन-सा व्यवहार करते?
366. संयुक्त राष्ट्र ने दो अक्टूबर 2007 को अन्तर्राष्ट्रीय अहिंसा दिन के रूप में घोषित कर दिया। सोनिया गांधी ने संयुक्त राष्ट्र को संबोधित भी किया। क्या महात्मा गाँधी और अंटोनियो माइनो (सोनिया गांधी) में कोई सम्बन्ध है? जिससे उन्होंने अपने आपको सोनिया गांधी कहा।
367. संसद पर हमला करने वाला प्रोफेसर जिलानी कुख्यात वकील राम जेठमलानी और शांतिभूषण की पैरवी से दोष मुक्त हो गया। सलमान खुर्शीद ने प्रतिबंधित संगठन सिमी (SIMI) की तरफ से उच्चतम न्यायालय में पैरवी किया था। वे सोचते हैं कि यह उनका पवित्र कर्तव्य है। इनकाउंटर विशेषज्ञ वनजारा जिसने सोहराबुद्दीन को मार गिराया था की ओर से वे अदालत में खड़ा होना क्या पाप समझते हैं?
368. एक सीनियर पुलिस आॅफिसर के अनुसार भारत में 90 प्रतिशत अपराध पूरी आबादी में 14 प्रतिशत मुसलमानों के द्वारा होते हैं। फिर भी संप्रग सरकार वोट की लालच में उन अपराधियों को दण्डित नहीं करना चाहती है। भारत की बहुसंख्यक जनता की शांति के प्रति सरकार की यह लापरवाही नहीं है?
369. धारा 25-30 अल्पसंख्यकों को विशेष अधिकार प्रदान करती है। देश विभाजन के समय भारत के तिहाई भू भाग को मुसलमानों को दे दिया गया। इतने पर भी भारत में बचे हुए मुसलमानों को विशेष अधिकार प्रदान करना कहाँ तक उचित है? क्या यह दोहरा लाभ नहीं है?
370. मलेशिया में हिन्दुओं के साथ भेद-भाव और उनका निरादर किया जाता है, परन्तु भारत में मुसलमानों को विशेष सुविधा और सम्मान दिया जाता है। यदि मुसलमान मानवाधिकार में विश्वास करते हैं, तो मलेशिया में हिन्दुओं के प्रति होने वाले अन्याय के विरोध में कितने भारतीय मुसलमानों ने आवाज उठाई है? जैसा कि उन्होंने डेनमार्क में एक व्यंग चित्रकार के प्रति किया है।
371. औद्योगीकरण के फलस्वरूप छत्तीसगढ़ और उड़ीसा में 14 लाख लोग विस्थापित हो गए हैं। प्रधानमंत्री ने इन गैर कांग्रेसी राज्य सरकारों को निर्देश दिया है कि वे उनके पुनर्वसन की समस्या को नक्सलवादियों की धमकी समझकर सख्ती से निपटाएँ। परन्तु यही प्रधानमंत्री इस्लामिक आतंकवादियों के साथ नरमी से पेश आने की सलाह देते हैं।
372. संप्रग सरकार की साम्प्रदायिक बजट में ग्यारहवीं पंचवर्षीय योजना का 15 प्रतिशत अल्पसंख्यकों के लिए निर्धारित किया गया है। इसे आप मुस्लिम को अपनी आबादी बढ़ाने के लिए सानुग्रह अनुदान नहीं मानते? अधिक बच्चे वे पैदा करेंगे और बंटवारा में उन्हें और अधिक हिस्सा मिलेगा।
373. मध्यप्रदेश के उज्जैन में चलने वाले मदरसों ने दोपहर में दिये जाने वाले भोजन का इसलिए बहिष्कार कर दिया कि भोजन ‘इस्कान‘ द्वारा तैयार किया जा रहा था। तो वे भारत सरकार द्वारा दी जाने वाली हज सब्सीडी को क्यों स्वीकार करते हैं जबकि इसका कुछ अंश मंदिरों के दान से प्राप्त होता है?
374. बैनिडिक्ट XVI (सोलह) का कहना है कि कैथोलिक धार्मिक संगठनों में कार्यरत कर्मचारियों को धार्मिक आस्था के साथ ईसाइयत का भी प्रचार-प्रसार करना चाहिए। इसका मतलब यह हुआ कि दिखावटी सेवा की आड़ में ईसाइयत का प्रचार करना चाहिए। अर्थात उनका कार्य ही ईसाई धर्म का प्रचार-प्रसार करना है।
375. बोडोलैण्ड टेरिटोरियल कौंसिल के प्रधान कार्यकर्ता हागराम मोहिलरी के यहाँ शादी में अकूत पैसा खर्च किया गया था। इस फिजूल खर्ची को ‘‘असमिया प्रतिदिन‘‘ नामक एक असमी समाचार पत्र ने अपने अंक में प्रकाशित कर दिया। फलस्वरूप उसका प्रकाशन बन्द हो गया है। क्या भारत की मीडिया असमिया समाचार पत्र के समर्थन में खड़ी होगी? नहीं, क्योंकि यह उनके सेक्युलर धर्म के खिलाफ है।
376. भारत में आतंकवादी अफजल गुरु जिसे भारत की उच्चतम न्यायालय ने फाँसी की सजा सुना चुकी है, की रक्षा की जा रही है और पाकिस्तान में भारत के सर्बजीत सिंह जिसने गलती से पाकिस्तान की सीमा में चला गया है, उसे फाँसी दी जाने वाली है। ऐसा विभेद क्यों? इसमें कोई संदेह नहीं है कि भारत सभी प्रकार के अपराधियों और देशद्रोहियों के लिए पनाह पाने की अच्छी जगह है?
377. हमारे महान मानवतावादी प्रधानमंत्री डाॅ. मनमोहन सिंह उस समय नहीं सो सके जब आस्ट्रेलिया में हनीफ से उसकी आतंकवादी गतिविधियों के बारे में पूछताछ की जा रही थी। परन्तु जब हमारे भोलेभाले सर्बजीत सिंह को पाकिस्तान में फाँसी के फंदे तक ले जाया जा रहा है तो हमारे प्रधानमंत्री गहरी नींद में क्यों हैं? दूसरे मानवतावादी समूहों का भी क्या कहना है जिन्होंने अफजल के बारे में हमदर्दी दिखाई है?
378. मुस्लिम विघुर्स में चीन आतंकवादी मुठभेड़ की आड़ में मुसलमानों को कुचल रहा है और उनका दमन कर रहा है। भारत में हमारे कम्युनिस्ट और सेक्युलरिस्ट उस दमनचक्र के विरोध में क्यों नहीं मुँह खेल रहे हैं? भारत में तो वे भारतीय मुसलमानों के दुखदर्द के खिलाफ खूब बोलते हैं।
379. आतंकवादी संगठन जे.के.एल.एफ का मुखिया यासिन मलिक को इंडिया टुडे 2008 की सभा में भाषण देने के लिए बुलाया गया था। विषय था - ‘‘इक्कीसवीं शताब्दी का नेतृत्व‘‘। क्या भारत को इस कुख्यात आतंकवादी से नेतृत्व का गुण सीखना चाहिए? यह आतंकवाद को बढ़ावा नहीं है? इंडिया टुडे के व्यवस्थापकों का यह व्यवहार निंदनीय नहीं है?
380. जब होली का त्यौहार आता है तो गैर सरकारी और मानवाधिकारवादी संगठन ‘‘पानी बचाओ‘‘ की पुकार करने लगते हैं। क्या कभी वे ‘‘रक्तपात मत करो‘‘ ‘‘जीवन रक्षा करो‘‘ ‘‘पशुओं की रक्षा करो‘‘ की आवाज बकरीद पर लगाते हैं?
381. दीपावली के पर्व पर गैरसरकारी और मानवाधिकारवादी संगठन ‘‘गरीबों के लिए धन संग्रह करो‘‘ का नारा देते हैं। परन्तु ‘क्रिसमस‘ के समय जब पूरी दुनिया के ईसाई शराब और नाचगाने पर फिजूल पैसा खर्च करते हैं तो वे यही आग्रह ईसाइयों से क्यों नहीं करते हैं?
382. मनुष्य की प्रकृति का अध्ययन करने वालों से क्या आपने कभी 31 दिसम्बर और 1 जनवरी की रात को यह कहते हुए सुना है कि युवकों की रक्षा करो। जबकि इस रात को लगभग अधिकांश हिन्दू युवक शराब और लड़कियों के लोभ में अपने-आपको गवा देते हैं? वास्तव में वे खुश होते हैं कि हिन्दू युवक शिष्टाचार छोड़कर स्वेच्छाचारी बनते हैं। फिर भी वे मानवतावादी की बात करते हैं।
383. केरल स्थित कन्नूर में सी.पी.एम कार्यकर्ताओं द्वारा भाजपा और आर.एस.एस के कार्यकर्ताओं की हत्या के विरोध में आर.एस.एस और भाजपा के कार्यकर्ताओं ने सी.पी.एम के दिल्ली स्थित कार्यालय के सामने शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन किया तो डी.एम.के और अन्य संप्रग सरकार की सहयोगी पार्टियों ने बहुत शोर मचाया। परन्तु इसी डी.एम.के कार्यकर्ताओं ने तमिलनाडु में भाजपा, आर. एस.एस, वी.एच.पी और हिन्दू मुन्नानी के कार्यालयों पर कुछ महिने पहले हमला किया था। आर.एस.एस और भाजपा की निन्दा करने का नैतिक अधिकार क्या डिएमके को है?
384. हमारे सेक्युलरिस्टों और हमारी मीडिया ने अश्लील चित्रकार एम.एफ.हुसैन द्वारा बनाई गई हिन्दू देवी-देवताओं के चित्रों का कला की आड़ में बचाव किया है। परन्तु फ्रैंकोइस गौतियर्स की औरंगजेब के विषय में की गई ‘‘औरंगजेब अपने रेकार्ड के अनुसार‘‘ पेंटिग का विरोध किया है। किस अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की रट वे लगाते हैं?
385. बड़ौदा विश्वविद्यालय में लगी हिन्दू देवी-देवताओं की विभत्स प्रदर्शनी का जब हिन्दुओं ने विरोध किया तो पूरी मीडिया अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर हिन्दुओं के विरोध की निन्दा करने लगी। परन्तु चेन्नई में फ्रैंकोइस गौतियर्स की पेंटिग प्रदर्शनी का मुसलमानों ने विरोध किया और प्रदर्शनी बंद करा दी गई, तो किसी भी मीडिया वाले को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की चिंता नहीं हुई। सभी चुप हो गए। क्या मीडिया मुसलमानों की नौकरी करती है और पैसा लेती है क्या?
386. आर.एस.एस-भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा दिल्ली में सी.पी.एम के कार्यालयों पर पथराव करने के सम्बन्ध में हमारे सेक्युलरिस्टों ने कहा कि निर्जीव आफिस पर आक्रमण करना बुरा है; तो केरल स्थिति कन्नौर में सी.पी.एम कार्यकर्ताओं द्वारा आर.एस.एस और भाजपा के कार्यकर्ताओं की निर्मम हत्या क्या है? हमारे सेक्युलरिस्ट पहली घटना की तो निन्दा करते हैं परन्तु दूसरी घटना के सम्बन्ध में कुछ नहीं बोलते।

387. मुस्लिम बहुल देशों में कम्युनिस्ट अपनी पार्टी का निर्माण सपने में भी नहीं सोच सकते। परन्तु हिन्दू बहुल भारत में वे अपनी गतिविधियाँ जोर-शोर से शुरू कर देते हैं और स्वतंत्रता, धर्मनिरपेक्षता की बात करके हिन्दुओं को बरगलाते हैं और हिन्दुत्व का नाश करते हैं।
388. यद्यपि हिन्दुत्व बुद्ध और बौधित्व का सम्मान करता है और अपना समझता है, जबकि दलित, विशेषकर उनके नेता हिन्दू और हिन्दुत्व से घृणा करते हैं। उनका कहना है कि भारत में हिन्दुत्व ने बोधित्व पर शासन किया हैैै। क्या वे कभी कम्युनिस्टों और साम्प्रदायिकों से भी घृणा किए हैं? चीन कभी भगवान बुद्ध का प्रबल समर्थक देश था। परन्तु आज वह नास्तिक बन गया है। कम्युनिस्टों ने उसे दबोच लिया है।
389. जब लोग अफजल खाँ जिसने शिवाजी को मारने का षडयंत्र रचा था, की प्रशंसा करते हैं और उसका स्मारक बनाते हैं तो क्या आप ऐसा नहीं समझते कि वे शिवाजी का तिरस्कार करते हैं? क्या आप सोचते हैं कि भारत में शिवाजी का नामो निशान मिट जाय और अफजल खाँ का नाम उजागर हो जाय?
390. राजनीति में 49% अल्पसंख्यक और 51% बहुसंख्यक माना जाता है। अल्पसंख्यक कौन है? और कितने प्रतिशत तक हैं? क्या वे जब तक 49% हैं तब तक अल्पसंख्यक माने जायेंगे और सभी सुख-सुविधा का उपयोग करें और जब वे 51% हो जायेंगे अर्थात बहुमत में आ जायेंगे तो शरीयत का कानून लागू कर हिन्दुओं पर शासन करेंगे?
391. अपने संविधान के बारे में आप क्या सोचते हैं; जिसकी प्रस्तावना में समानता की बात कही गई परन्तु इसकी उपधाराओं में अल्पसंख्यकों को विशेष सुविधा देने की बात कही गई है। अल्पसंख्यक कौन है कि परिभाषा दिये बिना कही गई है। यह विवाद राजीतिज्ञों और न्यायालयों के बीच लटक रहा है। क्या यह बुद्धिवादियों का काम है?
392. मुम्बई पुलिस फरवरी 2007 में अश्लील चित्रकार एम.एफ हुसैन से कही थी कि वे ‘चलो-चले मुम्बई को सुदृढ़ बनाने‘‘ विज्ञापन वाले बैनर जगह-जगह पर लगाने के लिए बनायें। हिन्दू-देवी देवताओं के नग्न चित्र बनाने के केस में उनके ऊपर सैकड़ों एफ.आई.आर दर्ज हैं। उनके ऊपर पुलिस कार्यवाही करने के बदले मुम्बई पुलिस उनसे दोस्ती कर रही है। क्या इससे यह नहीं प्रमाणित होता कि पुलिस उनके ऊपर कोई कार्यवाही ही नहीं करना चाहती है?
393. यू.पी.ए सरकार ने ‘दा विंसी कोड‘ ‘तालिबान से बचो‘ चलचित्रों पर प्रतिबन्ध लगा दिया है। ईसाइयों और मुसलमानों को खुश करने के लिए यह प्रतिबन्ध लगा है। परन्तु ‘वाटर‘ और परजानियाँ चल चित्रों पर जिससे हिन्दुओं की आस्था पर चोट पहुँचती है, उसे छोड़ दिया गया है। क्या यह दोहरा मापदंड नहीं है?
394. जनवरी 2007 में इलाहाबाद पुलिस ने 6 गोस्पाल एशिया मिशनरियों को अर्द्ध कुम्भ मेले में जासूसी करते, और ईसाई पत्रक बाँटते हुए गिरफ्तार किया। क्या कोई हिन्दू साधु ईसाइयों की प्रार्थना स्थल या चर्च में जाकर कोई हिन्दू धर्मग्रन्थ बांटता है। हिन्दू धर्म स्थानों में जाने की उनकी हिम्मत कैसे हुई? फिर भी वे कहते हैं कि हिन्दू उन्हें दबाते हैं।
395. अखिल भारतीय मुस्लिम त्योैहार कमेटी ने घोषणा कर दी है कि मशहूर क्रिकेट खिलाड़ी नबाब मंसूर अली पटौदी अब मुसलमान नहीं है क्योंकि वे शराब पीतें है और सिनेमा में काम करते हैं। क्या यह सलमान खान, शाहरूख खान, अमीर खान, इत्यादि के लिए लागू नहीं है? पटौदी ने अपने खिलाफ घोषित फतवा की मौलवियों से शिकायत की है। क्या फतवा ब्लैक मेलिंग का साधन बन गया है?
396. पाकिस्तान स्थित लाहौर में एक मुसलमान ने पंजाब सोसियल वेलफेयर मंत्री जैले हुमा उस्मान को खुली अदालत में 21.02.2007 को गोली से उड़ा दिया क्योंकि इस्लाम की स्वीकृति और अल्लाह की शिक्षा के विपरीत महिला होते हुए वे मंत्री के पद पर थी। इसके विरोध में कोई प्रतिक्रिया? मौलवी चुप हैं।
397. केरल में कस्टम और पुलिस अधिकारियों ने जनवरी 2007 में पानी की जहाज से 817 पेटियों में आए हुए कनसाइनमेंट से 35 पिस्तौल और 47 एयरगन बरामद किया। आश्चर्य की बात तो यह है कि प्रत्येक पेटियों में बंदुक के साथ-साथ कुरान की एक-एक प्रति भी मिली। कुरान का बंदुक से क्या सम्बन्ध है?
398. प्रयाग में 12 वर्षों के अन्तराल में लगने वाले कुम्भ और अर्द्धकुम्भ मेले में लगभग 13 से 15 करोड़ हिन्दू श्रद्धालु पवित्र स्नान के लिए इकठ्ठे होते हैं। वे विभिन्न जाति के विभिन्न भाषा के और विभिन्न सामाजिक पृष्ठभूमि और सम्प्रदाय के होते हैं। जरा कल्पना कीजिए - क्या उन्हें कोई संगठन वहाँ बुलाता है? उनको बुलाने के लिए क्या कोई विज्ञापन निकाला जाता है? क्या वहाँ किसी से किसी का झगड़ा होता है? वहाँ शांति, सौमनस्य, सहिष्णुता और भाईचारे का सम्बन्ध सबके साथ बना रहता है। क्या यह एक हिन्दू चमत्कार नहीं है?
399. 31 दिसम्बर 2008 को गेट वे आॅफ इंडिया पर कुछ मुस्लिम युवकों ने एक हिन्दू लड़की के साथ छेड़छाड़ किया। 31 दिसम्बर को मुसलमान लड़के वहाँ क्या कर रहे थे जबकि 31 दिसम्बर की रात से मुसलमानों और इस्लाम का कोई सरोकार नहीं है। ऐसे अवसरों पर मुस्लिम लड़कों द्वारा हिन्दू लड़कियों के साथ छेड़छाड कर उनको फंसाना और अपने आपको माॅडर्न बताने के पीछे क्या कोई मुस्लिम संगठन का षड़यंत्र तो नहीं है?
400. सुप्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी स्वातंत्र्य वीर सावारकर की लड़की का लड़का प्रफुल माधव चिपलुणकर, एक आई.आई.टी. स्नातक जनवरी 2007 में पुणे की गलियों में भीख मांगते हुए मिला। सरकार नहीं परन्तु भाजपा उसकी मदद के लिए आगे आई। सावरकर के पौत्रों और पौत्रियों की स्थिति की तुलना उनके समकालीन नेहरू-गांधी के पौत्रों-पौत्रियों से आप कर सकते हैं?
401. कुछ हिन्दू विरोधी नये बने भव्य मंदिरों का विरोध करते हैं और कहते हैं कि यह पैसे का अपव्यय है। परन्तु क्या वे कभी पूरे भारत भर में बने भव्य मस्जिदों और चर्चों के प्रति भी विरोध करते हैं? मस्जिदों की जगह स्कूल के साथ यदि बहु मंजिली इमारत बनती तो वहाँ बहुत से मुसलमानों को बसेरा मिलता। सब कुछ के बाद मस्जिद तो केवल पुरुषों के लिए ही है जबकि मकान-स्कूल तो पूरे मुस्लिम परिवार के स्तर को ऊचा उठाते हैं।
402. आप को मालूम है कि जम्मू और कश्मीर का संविधान (आप में से बहुतों को नहीं मालूम है कि जम्मू और कश्मीर के लिए एक अलग संविधान है) जम्मू-कश्मीर में ‘‘श्रीमद्भगवद ्गीता‘‘ का धर्मोपदेश देने की अनुमति नहीं देता। जम्मू-कश्मीर में गीता का पठन-पाठन असंवैधानिक है।
403. क्या आपको मालूम है कि पश्चिम बंगाल में लगभग 8000 गाँवों में एक भी हिन्दू नहीं बचे हैं। इसके अतिरिक्त करीब 20,000 गाँवों में हिन्दुओं की जन संख्या 30% से भी कम है। इसमें कोई आश्चर्य नहीं है कि हिन्दू जब दीपावली, होली इत्यादि त्यौहार मनाते हैं तो उन पर हमला होता है।
404. आज से लगभग 20 वर्ष पहले डेनमार्क में एक भी मुसलमान नहीं था। आज वहाँ मुसलमानों की आबादी लगभग दो लाख है जबकि वहाँ की पूरी आबादी 5.40 करोड है। परन्तु डेनमार्क में किसी भी मुसलमान को शव को दफनाने की अनुमति नहीं है। शव को उसके जन्म स्थान को भेज दिया जाता है। (25. 03.2008 सामना)
405. म्यान्मार देश में बुद्धिस्ट राजा का शासन है। इसलिए वहाँ धर्मान्तरण पर रोक है। ईसाई मिशनरियाँ वहाँ प्रजातंत्र स्थापित करने के लिए संघर्ष कर रही है जिससे वे वहाँ धर्मान्तरण का कारोबार कर सकें, जैसा नेपाल में हुआ है।
406. क्या आपको मालूम है कि अरुणाचल प्रदेश ने अपने यहाँ से सभी बांग्लादेशियों को निकाल दिया है। परन्तु जिन बांग्लादेशियों को अरुणाचल प्रदेश ने अपने यहाँ से निकाल दिया है उन्हें असम की कांग्रेस सरकार ने 99 वर्ष के पट्टे पर जमीन देकर असम में बसा दिया है।
407. लन्दन में एक महिला मुस्लिम पुलिस आॅफिसर ने अपने से वरिष्ठ पुरुष पुलिस आॅफिसरों से हाथ मिलाने से इनकार कर दिया क्योंकि ऐसा करना इस्लाम के खिलाफ है। यदि पुरुष अपराधियों को उन्हें पकड़ना हो, तो वे क्या करेगी? क्या उन्हें भाग जाने देगी?
408. इंग्लैंड में मुसलमान अपेक्षित ‘एन्टी-बैक्टिरियल डिस्इन्फेक्टेन्ट‘ से अपने हाथों को धोने से इन्कार कर रहे हैं। क्योंकि इसमें आलकोहल है, जो गैर इस्लामिक है। एन्टी-बैक्टिरियल डिस्इन्फेक्टेन्ट से हाथ न साफ कर मुस्लिम कर्मचारी क्या रोगियों के जीवन के लिए खतरा नहीं पहुँचा रहे हैं?
409. लंदन स्थित मुसलमान क्रोयडन के एक सुप्रसिद्ध सार्वजनिक तालाब में नहाने के लिए एक शर्त रखे हैं कि वही मुसलमान इस तालाब में स्नान कर सकता है जो सिर से पैर तक उनके रीति रिवाज के अनुसार कपड़े से ढंका रहे। जबकि भारत के साथ साथ दुनिया के अन्य देश राष्ट्रीय एकता की बात करते हैं, ऐसी स्थिति में मुसलमानों का अपना एक विशेष पहचान बनाये रखना और राष्ट्र की मुख्य धारा में न मिलना, क्या इस बात का द्योतक नहीं है कि पूरे विश्व में मुसलमान किसी के साथ भी घुल-मिलकर नहीं रह सकते?
410. पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले के कानपुर गांव में पिछले कई वर्षों से गाना-बजाना या टी.वी देखना मना है। वहाँ एक फतवे से गाना-बजाना या टी.वी देखना बंद है। फतवा, शादी में सार्वजनिक स्थानों पर नाचने के लिए भी इजाजत नहीं देता। आप तक और आपके गांव तक ऐसे फतवे को पहुँचने में कितनी देर लगेगी?
411. अहमद हुसैन, उत्तर प्रदेश के परिवार नियोजन मंत्री ने जनवरी 2007 में घोषणा की है कि मुस्लिम स्त्रियाँ जितना चाहें उतना बच्चा पैदा कर सकती हैं और राज्य सरकार प्रत्येक बच्चे की देखभाल के लिए 1,400 रु देगी। इससे ऐसा लगता है कि परिवार नियोजन केवल हिन्दुओं और ईसाइयों के लिए ही है और मुसलमानों को अधिक बच्चा पैदा करने के लिए अनुदान दिया जा रहा है, जिससे वे प्रजातांत्रिक रूप से सत्ता को प्राप्त कर लें।
412. पाक सरकार ने ‘‘छोटा परिवार सुखी परिवार‘‘ के नारे को स्वीकार कर लिया है। इसने 22,000 मौलवियों और 6,000 महिला विद्वानों की नियुक्ति परिवार नियोजन और नियोजित संभोग के प्रचारार्थ साहित्यों के वितरण और उससे होने वाले लाभों को समझाने के लिए किया है। परन्तु भारतीय मुसलमान क्या कह रहे हैं जरा इस पर विचार कीजिए। वे हिन्दुओं को अल्पमत में करने के लिए अपनी आबादी बढ़ाने का प्रयत्न कर रहे हैं।
413. रियाद के दो व्यापारी (अल दोसरी और अल काहतनी) जो आपस में एक दूसरे के सहयोगी थे 70 वर्ष के उम्र में एक दूसरे की 17-19 वर्षीय लड़कियों से व्यापार की घनिष्टता बढ़ाने के लिए शादी कर लिए। अल काहतनी की पहले से ही तीन औरते हैं। उनका कहना है कि यह एक इस्लामिक सिद्धान्त है। कोई प्रतिक्रिया?
414. अमेरिका के एक हिन्दू वाॅइस के ग्राहक ने हमें US$20 (बीस डाॅलर) का एक चेक भेजा है। चेक किर्टलैण्ड फेडरल क्रेडिट यूनियन बैंक का है। "के लिये”(For) के काॅलम में जिसमें लिखा जाता है कि यह पैसा किसके लिए है, उसमें ग्राहक ने हिन्दी में लिखा है ‘‘जय श्रीकृष्ण‘‘। चेक में ‘‘हिन्दुत्व सबसे अधिक वैज्ञानिक है‘‘ भी छपा है। क्या भारत का कोई बैंक ऐसा कर सकता है? क्या हमारे सेक्युलरिस्ट ऐसे बैंकों को कम्युनल बैंक नहीं कहेंगे? अमेरिका के बहुसंख्यक ईसाई यह समझ रहे हैं कि हिन्दुत्व क्या है? पर हिन्दू बहुसंख्य भारत नहीं समझ रहा है। जबकि दोनों अपने आप को सेक्युलर प्रजातांत्रिक कहते हैं।
415. अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम अपने अन्य सामानों के साथ श्रीमद्भगवद् गीता की एक प्रति और भगवान गणेश की एक प्रतिमा भी लेकर अन्तरिक्ष में गई। ईसाई धर्म से ओतप्रोत एक देश अमेरिका सुनीता को ऐसा करने दिया। क्या भारत जैसे हिन्दू बाहुल्य देश में कभी ऐसा होना सम्भव है?
416. प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह कहते हैं कि हमारे संसाधनों पर मुसलमानों का हक पहला है। संविधान बराबरी की बात कहता है। क्या वे संविधान की अवहेलना नहीं कर रहे हैं? क्या वे केवल मुसलमानों के प्रधानमंत्री हैं? क्या वे पाकिस्तानी प्रधानमंत्री की तरह नहीं बोल रहे हैं?
417. पाकिस्तान के राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ, एक तानाशाह ने , 9 दिसम्बर 2007 को कहा कि पाकिस्तान में हिन्दुओं को बराबर का अधिकार प्राप्त है। परन्तु प्रजातांत्रिक रूप से निर्वाचित हमारे प्रधानमंत्री कहते हैं कि मुसलमानों का हक संसाधनों पर पहला है। तानाशाह कौन है?
418. आंध्र प्रदेश की सरकार ने ईसाइयों को तीर्थयात्रा करने के लिए सब्सीडी स्वीकृत किया है। इस तरह से हिन्दू करदाताओं के पैसों से ईसाई और मुसलमान सब्सीडी प्राप्त कर अपनी धार्मिक यात्रा कर रहे हैं जबकि हिन्दू अपनी तीर्थ यात्रा के लिए अपनी सम्पत्ति बेचकर पैसा इकठ्ठा करते हैं।
419. ऐसा कहा जाता है कि तमिलनाडु एक ऐसा राज्य है जहाँ ई.वी. रामास्वामी नायकर का नास्तिकता का सिद्धान्त सफल है। नवम्बर 2007 में एक तिहाई पुलिस बल व्रत रखा था और सबरीमलााई गया था। उनका कहना है कि ऐसा करने से उनके मन को शांति मिली और उनके शरीर में नई शक्ति का संचार हुआ। क्या आप सोचते हैं कि तमिलनाडु में ई.वी. रामास्वामी नायकर का नास्तिक वाद सफल हो गया?
420. तमिलनाडु में ही डी.एम.के. सरकार ने त्रिची में सुप्रसिद्ध श्रीरंगम मंदिर के सामने नास्तिक ई.वी. रामास्वामी नायकर की प्रतिमा प्रस्तापित करने की अनुमति दे दी है। ई.वी. रामास्वामी नायकर ने कहा कि ‘‘जो ईश्वर की पूजा करते हैं वे बेवकूफ हैं‘‘। क्या आप नहीं सोचते कि ऐसा करना हिन्दुओं को अपमानित करना है? क्या हिन्दुओं को ऐसा अपमान सहन करना चाहिए?
421. डी.एम.के. और डी.के कार्यकर्ताओं का कहना है कि त्रिची में श्रीरंगम मंदिर के सामने नास्तिक ई.वी. रामास्वामी नायकर की प्रतिमा लगाना सही है। क्या वे चर्च और मस्जिदों के सामने भी इस प्रतिमा को लगाने का साहस करेंगे?
422. गुजरात उच्च न्यायालय ने 9 दिसम्बर 2007 को तिस्ता सीतलवाड से कहा - ‘‘तथ्य के आधार पर आप का कोई केस ही नहीं है। इसलिए आप मीडिया के द्वारा न्यायालय पर दबाव बनाना चाहती है। सच्चे सामाजिक कार्यकर्ता मीडिया के पास नहीं जाते। आपको केवल सस्ती प्रसिद्ध चाहिए। इसीलिए आप मीडिया के पास पहले पहुँचती है‘‘। क्या उन्हें अपनी प्रमाणिकता के लिए कोई और प्रमाण पत्र चाहिए?
423. हमारी आबादी में 14% मुसलमान है, जो परिवार नियोजन की बात नहीं मानते। जबकि 2.5% ईसाई और 0.07% पारसी परिवार नियोजन का समर्थन करते हैं। क्या यही कारण नहीं है कि मुसलमान पिछड़े हुए हैं? फिर भी मुल्ला-मौलवी मुसलमानों को परिवार नियोजन की प्रेरणा देने के बजाय अधिक बच्चा पैदा करने की सलाह देते हैं। अधिक वोट मुल्ला मौलवियों को अधिक राजनीतिक शक्ति प्रदान करता है।
424. सन् 1947 से आज तक मुसलमानों को लगभग 10,000 करोड रु. की हज सब्सीडी दी गई। यदि इतनी रकम से मुसलमानों के लिए स्कूल या आवासीय इमारत बनवाकर उन्हें दी जाती तो उनका जीवन स्तर ऊँचा उठ सकता था। यह क्यों नहीं किया गया? मुसलमानों के पिछड़ेपन का उत्तरदायी कौन है?
425. कोई भी धार्मिक पुस्तक अपने अनुयायियों में आर्थिक और सामाजिक विकास की प्रेरणा देती है। परन्तु इस्लाम में ठीक इसके विपरीत होता है। मजहब मुसलमानों का जीवन स्तर ऊँचा उठाने के बजाय उन्हें सलाह देता है कि इस्लाम की रक्षा के लिए मर मिटो। सभी धर्म जीवन में विश्वास करते हैं परन्तु इस्लाम मरने में विश्वास करता है।
426. महिला-बाल विकास मंत्रालय कानून में संशोधन कर ऐसा प्रवधान बना रहा है कि जहाँ कहीं भी सती की घटना घटे वहाँ के लोगों को सामूहिक दण्ड दिया जाय हिन्दुस्तान टाइम्स (12.11.06)। लेकिन गृहमंत्रालय में कोई भी ऐसा नहीं सोचता कि आतंकवादियों का समर्थन और संरक्षण देने वाले लोगों के पूरे समाज को दंडित किया जाय।
427. महाराष्ट्र में मुसलमानों की आबादी 10.6% है। परन्तु जेलों में वे 32.4% हैं। गुजरात में उनकी आबादी 9.06% है और जेलों में वे 25% हैं। इसी तरह कर्नाटक में वे 12.23% और 17.15% हैं। जेलों में मुसलमानों की संख्या इतने बड़े पैमाने पर क्यों है?
428. सुप्रीम कोर्ट में दायर एक शपथ पत्र में (नवम्बर 2006) संप्रग सरकार ने औरंगजेब द्वारा लगाये गये ‘जाजिया कर‘ को यह कहते हुए बचाव किया है कि यह एक ‘विशेष कर‘ था। क्या वे यह प्रमाणित करना चाहते हैं कि औरंगजेब का कानून हिन्दुओं के हित में था?
429. सुप्रीम कोर्ट में दायर एक शपथ पत्र में (नवम्बर 2006) संप्रग सरकार ने शरीयत न्यायालयों का बचाव यह कहते हुए किया है कि शरीयत न्यायालयों का प्रसार देश के न्याय व्यवस्था में कोई दखल नहीं देता है। जबकि मौलवियों का कहना है कि वे सेक्युलर न्याय को नहीं पसंद करते। ऐसी स्थिति में केन्द्र सरकार ऐसा कैसे कहती है? क्या चाटुकारिता का कोई हद है?
430. मंसूर अली नामक एक स्थानीय डाकू ने चार बच्चों की माँ को बच्चों के सामने ही बलात्कार किया। मुस्लिम पंचायत ने उस महिला की शादी को अवैध करार दिया और कहा कि वह अपने पति के साथ नहीं रह सकती और वह मुस्लिम बहुसंख्य गाँव में नहीं प्रवेश कर सकती। बलात्कारी स्वच्छन्द विचरण कर रहा है और बलात्कार की शिकार महिला को दण्डित किया जा रहा है। यह कैसा न्याय है।
431. कम्युनिस्ट, जो यह सोचते हैं कि भारत स्वतंत्र राज्यों का एक समूह है, और एक देश नहीं है। अब कह रहे हैं कि ‘‘हिन्दुत्व एक उपासना पद्धति‘‘ है। ये वही कम्युनिस्ट हैं जिन्होंने मदानी आतंकवादी का समर्थन किया था और अब वे मोहम्मद अफजल को मुक्त कराने के लिए अग्रसर हैं। आज वे पिछली सीट पर बैठकर सरकार चला रहे हैं।
432. अमेरिका में अरुंधती राय ने कहा कि भारत का प्रजातंत्र एक स्वांग है। उन्होंने यह भी कहा कि मोहम्मद अफजल का पूरा केस गलत प्रमाण पत्रों और बनावटी कहानियों से भरा हुआ है, किसी को किसी अपराध के लिए जो उसने किया ही नहीं फाँसी दे देना ठीक नहीं है। वे किसके हित में काम कर रही है? भारत के हित में तो बिलकुल ही नहीं।
433. आर्य समाज के नेता स्वामी श्रद्धानन्द को अब्दुल रशीद नामक एक मुस्लिम युवक ने गोली से उड़ा दिया। महात्मा गांधी ने अब्दुल को अपना भाई कहा और स्वामी जी को एक दूसरे के प्रति घृणा की भावना फैलाने का दोषी करार दिया। हमारे प्यारे गांधी जी की अनुयायी कांग्रेस भी उनकी तरह ही अपराधी को अपराध मुक्त कर मोहम्मद अफजल को क्षमा दान देना चाहती है। कुछ भी हो अफजल अपना भाई है। क्या ऐसा नहीं है?
434. पटियाला हाउस कोर्ट के एडिशनल सेशन जज रविन्द्र कौर जिन्होंने मोहम्मद अफजल को मौत की सजा सुनाई थी, उन्होंने ऐसा कहा है कि उनकी जान को खतरा है। यदि जजों को उनकी जान का खतरा लगने लगा तो क्या वे आतंकवादियों से संबंधित मुकदमों के सम्बन्ध में भयमुक्त होकर फैसला सुना सकते हैं? अपने देश में भय के इस वातावरण के लिए कौन जिम्मेदार है?
435. फ्री प्रेस जर्नल 15 अक्टूर 2006 के अंक में फारूख अब्दुल्ला ने चेतावनी दी है कि मौत अफजल को फांसी की सजा सुनाने वाले जजों का पीछा करेगी। सुप्रीम कोर्ट ने उसे मौत की सजा दी है फिर भी वे कहते हैं कि अफजल निर्दोष है। ऐसा कह कर क्या वे जजों को घुमा रहे हैं और कोर्ट की अवहेलना नहीं कर रहे हैं? लेकिन उन्हें दंड कौन देगा?
436. कुछ महिला वकीलों ने सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका दाखिल की है और मांग की है कि महिलाओं को भी सबरी मलाई जाकर स्वामी अय्यप्पा की पूजा करने की छूट दी जाय। क्या वही महिला वकील मुस्लिम औरतों के लिए भी इसी तरह की मांग कर सकती हैं कि उन्हें मस्जिदों में जाकर मुस्लिमों के साथ नमाज पढ़ने की छूट दी जाय?
437. मल्लापुरम में रमजान के दौरान एक मुस्लिम ने एक प्यासे हिन्दू को पानी पीने के कारण बहुत मारा। यदि मुसलमान उपवास करते हैं तो हिन्दुओं को पानी नहीं पीना चाहिए? हिन्दुओं को दण्ड देने का तात्पर्य क्या है? कुछ नहीं। केवल यही वे दिखाना चाहते हैं कि सेक्युलर भारत में वे जो चाहें करेंगे।
438. पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी जिले में बहुत से स्थानों पर हिन्दू रमजान के महीने में खाना नहीं पका सकते। मुस्लिम गुण्डे आकर उनपर हमला कर सकते हैं। क्या आप ऐसा नहीं सोचते की भारत का भी तालिबानी करण हो रहा है?
439. अन्तर्राष्ट्रीय खातमा नाबुआत आन्दोलन के बैनर तले बांग्लादेश में मुस्लिम यह मांग कर रहे हैं कि सरकार अहमदियाज सम्प्रदाय को गैर मुस्लिम घोषित करें। वे नखलपारा में अहमदियाज मस्जिदों पर कब्जा जमा रहे हैं और सामूहिक आंदोलन कर रहे हैं। उनका कहना है कि यह सम्प्रदाय नास्तिक है और इस्लाम में विश्वास नहीं करती है। क्या यही उनका भाईचारा है?
440. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य राम माधव की अमेरिका के राज्य अधिकारियों के साथ हुई पहली मुलाकात को सेक्युलरिस्टों ने बहुत खतरनाक बताया। आश्चर्य की बात तो यह है कि यही तथाकथित सेक्युलररिस्ट नक्सलियों को बढ़ावा देते हैं और मोहम्मद अफजल को फाँसी के फंदे से बचाने के लिए प्रयत्नशील हैं। क्या यही इनकी राष्ट्र भक्ति है?
441. अमेरिका की सरकार ने गुजरात के प्रजातांत्रिक रूप से निवार्चित मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी को विसा देने से इनकार कर दिया। लेकिन अप्रजातांत्रिक रूप से सत्ता का अपहरण कर राष्ट्रपति बने तानाशाह मुशर्रफ के लिए अमेरिका स्वागत के लिए तैयार है। ईरान के राष्ट्रपति को भी अमेरिका विसा देने में आनाकानी करने की हिम्मत नहीं रखता। ऐसे अमेरिका के बारे में हम कहते हैं कि अमेरिका मानवाधिकार का समर्थक हैं।
442. मुसलमानों का कहना है कि यदि तुम्हें मुस्लिम देशों में रहना है तो हमारा (मुसलमानों का) रीति रिवाज अपनाकर रह सकते हो। परन्तु हम इस्लामिक रीति रिवाजों और परंपराओं के साथ तुम्हारे देश में रहेंगे। यदि तुम विरोध करेंगे तो तुम्हें....। पूरी दुनिया इससे त्रस्त है। जार्ज बुश कहते हैं कि इस्लाम शांति प्रिय मजहब है और टोनी ब्लेयर इसे स्वीकार भी करते हैं। क्या यह इस्लाम की जीत नहीं है?
443. ‘हिन्दू‘, ‘संस्कृति‘, ‘संस्कार‘, ‘भारत‘, ऐसे कुछ शब्द हैं जिनसे केरल में मुस्लिमों को आपत्ति है। अनिल कुमार जो संस्कृत भारत के सक्रिय सदस्य है जिन्होंने इन शब्दों के साथ-साथ बहुत से राष्ट्रीय नारों को अपने रिक्शा पर लिखा था। मनमोहन नायर यातायात कन्ट्रोलर पुलिस आॅफिसर ने इन शब्दों और नारों को आटो रिक्शा पर से मिटवा दिया। यह उसी केरल में हो रहा है जहाँ ईसाई नारों और मुस्लिम कुरान की पक्तियाँ लिखी मिलेंगी जो धर्मान्तरण का बढ़ावा देती है।
444. असम गण परिषद के अनुसार बहुत से पाकिस्तानी आई.एस.आई असम सामाजिक विकास संस्था में नियुक्त किए गए हैं। असम गण परिषद के महामंत्री दिलीप सैकिया के अनुसार 300 नियुक्तियों में से 250 मुस्लिम हैं उनमें से कुछ आई.एस.आई के एजेन्ट हैं। (सितम्बर 2006)
445. नई दिल्ली में (17 सितम्बर 2006) वंदे मातरम् शताब्दी समारोह के अवसर पर सोनिया गांधी की अनुपस्थिति से पूरे देश के कांग्रेसी हतप्रभ रह गए। कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने यह कहते हुए सोनिया का बचाव किए कि राष्ट्रगान किसी को भी उपस्थित होने के लिए बाध्य नहीं करता न किसी को गाने के लिए मजबूर करता है। इसलिए राष्ट्र गीत को गाने से इनकार करना उनके लिए कोई माने नहीं रखता। एक अच्छी प्रजातांत्रिक भावना है।
446. इंग्लैंड में कामकाजी मुसलमानों में 31% के पास कोई योग्यता नहीं है जबकि ईसाइयों का प्रतिशत 16 और हिन्दुओं का 13 है। इस तरह से सभी जगह समान परिस्थिति है। मदरसा की शिक्षा से ही आज मुसलमान गैर रोजगारी के शिकार हैं और उपेक्षित हैं। इसलिए उनके उपेक्षितपन के लिए कौन जिम्मेदार है?
447. भारत में बहुत से आई.आई.टी. और आई.आई.एम शिक्षण संस्थाएँ है लेकिन किसी ने ऐसा नहीं सुना है कि पाकिस्तान और बांग्लादेश में भी ऐसी महत्वपूर्ण शिक्षण संस्थाएँ हैं। सभी जगह आपको मदरसा और मस्जिद ही मिलेंगे। अन्य इस्लामी देशों में भी इससे कोई भिन्न स्थिति नहीं है। ऐसे इस्लामिक देशों में किस प्रकार की बुद्धिमत्ता वाले लोग आप को मिलेंगे?
448. मुरादाबाद में (अगस्त 2006) 200 मुस्लिम दम्पतियों ने अहरौली गांव में अपनी शादी की शुद्धि की। इसका कारण यह था कि इन बरेलवी सुन्नी मुसलमानों को कब्रस्तान में ऐसे मौलवी ने नमाज पढ़ा दी थी जो उनके विरोधी देवबंद सम्प्रदाय का था। इसलिए जो लोग उस नमाज के समय उपस्थित थे वे काफिर बन गये थे। ऐसा है इस्लामिक भाईचारा?
449. अक्टूबर 2006 में जामा मस्जिद के शाही इमाम ने कहा, ‘‘हमने 800 वर्षों तक भारत पर शासन किया है, इंशा अल्ला हम फिर इस पर शासन करेंगे‘‘। क्या आप नहीं सोचते कि इस्लामिक जनसंख्या वृद्धि को देखते हुए यह बिल्कुल सम्भव है। यही कारण है कि मुसलमान अधिक से अधिक बच्चा पैदा करने की कोशिश में हैं।
450. प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और एन.राम (बहुतों के साथ) नेशनल फाउंडेशन आॅफ इंडिया नामक एक एन.जी.ओ. जिसे तथाकथित शांति दूत हर्ष मंडार चलाते हैं, के ट्रस्टी हैं। ट्रस्ट के दान दाताओं में अमेरिका के राॅकफेलर फाउंडेशन और फोर्ड फाउंडेशन का भी नाम शामिल है। हर्ष मंडार आतंकवादियों और नक्सलवादियों के बचाव के लिए कुख्यात है। पश्चिमी देशों के ऐसे एन. जी.ओ. को आर्थिक मदद देने और समर्थन करने से पश्चिमी शक्तियाँ भारत को राजनीतिक और आर्थिक रूप से प्रभावित करती है। क्या आपको याद है, जी.पी.एस गिल ने एक बार कहा था कि कुछ एन.जी.ओ. आतंकवादी संगठनों के निर्माण में युद्ध स्तर पर कार्यरत हैं?
451. अरुन्धती राय कहती है कि ‘‘भारत अतिक्रमण करने में सबसे आगे है और इसने जम्मू और कश्मीर तथा उत्तर-पूर्व राज्यों का अतिक्रमण किया है। आगे वह यह भी कहती हैं कि भारत एक राष्ट्र नहीं है। मीडिया और सेक्युलरिस्टों की निगाह में वे एक बुद्धिवादी और सद्भावना रखने वाली महिला हैं। इसमें शक नहीं है! उन्हें विदेशों से बहुत सा पुरस्कार मिला है।
452. क्या मुंबईकरों ने मुसलमानों को कोई नुकसान पहुँचाया? फिर भी सैकड़ों मुंबईकर 11 जुलई 2006 को रेल बम विस्फोट में मौत के शिकार हो गए। कैसी उत्तेजना हैं। क्या इस्लामिक आतंकवाद को किसी उत्तेजना की जरूरत है। हिन्दुओं और ईसाइयों की इस पृथ्वी पर उपस्थिति ही उनके लिए उत्तेजक है।
453. कार्डिनल वेर्की, केरल, कहते हैं कि ‘‘20 वर्षों में केरल एक इस्लामिक राज्य बन जाएगा। उनकी शिकायत है कि ‘‘मुसलमानों को एक से अधिक पत्नियों को रखने और 6 से अधिक बच्चा पैदा करने के लिए कहा जाता है‘‘। क्या चर्च आज वही नहीं कह रहा है जिसे हिन्दू बहुत पहले से कहते आ रहे हैं? क्या सेक्युलरिस्ट कार्डिनल की बातों को नकार सकते हैं?
454. गृहमंत्री शिवराज पाटील कहते हैं कि मदरसा ज्ञान प्राप्त करने और मानवता की सेवा के लिए बच्चों को तैयार करने की जगह है। लेकिन गृह विभाग की सुरक्षा बलों ने मदरसा से जो हथियार प्राप्त किये उससे गृहमंत्री का बयान बिलकुल विपरीत लगता है। उदाहरणार्थ अधिकांश मदरसा आतंकवाद को बढ़ावा देते हैं और आतंक का प्रशिक्षण केन्द्र हैं तथा भारत का सैकड़ों टुकड़ा करना चाहते हैं। कौन-सा सही है?
455. जमाते उलमा ऐ हिन्द के उपसभापति मौलाना मसूद मैदानी कहते हैं कि शाही इमाम अहमद बुखारी भारत के एक सबसे बड़े आतंकवादी हैं। वे कहते हैं कि देश में हुए बम विस्फोटें के पीछे बुखारी का मास्तिष्क काम करता है और उनका सम्बन्ध असामाजिक तत्वों से है। सरकार उन्हें गिरफ्तार क्यों नहीं करती? ऐसा उनका कहना है।
456. एक प्रकल्प को पोप आर्थिक मदद देते हैं जो यह प्रमाणित करना चाहता है कि मदुराई मीनाक्षी मंदिर वास्तव में एक ईसाई महल है। परन्तु नागपटनम में सुप्रसिद्ध वेलनकणी चर्च वास्तव में एक देवी का मंदिर है। क्या हिन्दुओं ने कभी इसे मंदिर साबित करने के लिए गुप्त षड़यंत्र किया है? और हिन्दुओं ने अभी तक इस पर आधिपत्य नहीं किया है।
457. गोवा में न तो शरीयत का चलन है न तो हिन्दू कोड बिल का। वहाँ आज तक सामान्य पुर्तगीज सिविल कोड ही लागू है। यदि गोवा काॅमन सिविल कोड लागू कर सकता है, तो पूरे भारत में क्यों नहीं?
458. मुस्लिम बहुल मोहल्ले में पुलिस स्टेशन के निर्माण का विरोध मुस्लिम क्यों करते हैं? इसी का परिणाम है कि जब मुंबई पुलिस भिवंडी के मुस्लिम बहुल क्षेत्र में पुलिस स्टेशन का निर्माण कर रही थी, तो मुसलमानों ने इसका विरोध किया और वे दो पुलिसवालों को जान से मार डाले जो वहाँ पहरा दे रहे थे। क्या हिन्दू कभी ऐसा कर सकते हैं?
459. पश्चिमी देशों में रहने वाले हिन्दू अपने आपको ‘एशियन‘ पुकारा जाना पसंद नहीं करते जिसमें पाकिस्तान और बांग्लादेश भी शामिल है। वे चाहते हैं कि पश्चिमी देश उन्हें केवल हिन्दू के नाम से पुकारें। ‘‘एशियन‘‘ शब्द मुस्लिम अपराधियों का द्योतक बन गया है। पश्चिम के लोग हिन्दू अपराधी को हिन्दू बताने में भूल नहीं करते परन्तु जब अपराधी मुसलमान होता है, तो उसे ‘‘एशियन‘‘ अपराधी के नाम से पुकारते हैं।
460. आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री जाॅन हारवर्ड ने उन मुसलमानों को जो शरीयत के अनुसार जीना और रहना चाहते हैं आस्ट्रेलिया छोड़कर जाने के लिए कह दिया है। उन्होंने कहा है कि आस्ट्रेलिया यद्यपि सेक्युलर स्टेट होते हुए एक ईसाई देश है और बाहर से आने वालों को यहाँ का कानून मानना होगा। यदि उन्हें यह स्वीकार न हो, तो वे देश छोड़कर जा सकते हैं। परन्तु भारत अरबी आदिवासी सभ्यता जो इस्लाम के नाम से जानी जाती है के सामने नतमस्तक होने के लिए तैयार हैं। क्या हम राष्ट्रवादी हैं?
461. भारत में लगभग 2.5 करोड़ ईसाई हैं। अर्थात कुल जनसंख्या की 2.5% ईसाई है। फिर भी आज (अगस्त 2006 में) पाँच ईसाई मुख्यमंत्री - नागालैंड, मिजोरम, मेघालय, केरल और आंध्र प्रदेश में हैं। सोनिया गांधी के नजदीकी राजनीतिक सलाहकार और कार्यकर्ता आस्कर फर्नाडीज, मार्गेट अलवा, अंबिका सोनी, ए.के. अंथोनी, वालसन थम्पू, जाॅन दयाल, कांचा इल्लया ईसाई हैं। अन्त के तीनों खासकर हिन्दू द्रोही हैं। क्या भारत पर ईसाइयत का वर्चस्व हो जायेगा?
462. मुंबई के नजदीक भिवंडी में जुलाई 2006 में मुसलमानों ने दो पुलिसवालों की निर्मम हत्या कर दी। किसी भी अंग्रेजी मीडिया के समाचार पत्रों ने इस खबर को प्रमुखता से नहीं छापा। मारे गए पुलिसवालों की स्त्रियों और बच्चों की भी खोज खबर अंग्रेजी मीडिया ने नहीं ली, परन्तु इसी मीडिया वाले फिल्मी हीरो की दूसरी, तीसरी या चैथी शादी की खबरों को कितनी प्रमुखता के साथ छापते हैं, इसे आप देख सकते हैं। हमारे कानून के रक्षकों के प्रति अंग्रेजी मीडिया की यही सद्भावना और सम्मान है?
463. जयललिता जब तमिलनाडु की मुख्यमंत्री थी तो उन्होंने गृहसचिव सैय्यद मुनीर होडा को कोयम्बतूर विस्फोट के अपराधी आतंकवादी मधानी को विशेष सुविधा देने के अपराध में निलम्बित कर दिया था। परन्तु जब एम. करुणानिधि मुख्यमंत्री बने तो उन्होंने होडा को अपना सचिव नियुक्त किया। क्या आप सोचते हैं कि इस प्रकार के व्यवहार से आतंकवाद थम सकता है? यह और बात है कि इसी मधानी को करुणानिधि के मुख्यमंत्री बनने के बाद केरल के मुख्यमंत्री की मदद से न्यायालय ने दोष मुक्त कर दिया।
464. सरदार पटेल, राजाजी, राजेन्द्र प्रसाद, मौलाना अब्दुल कलाम आजाद, या सुभाष चन्द्र बोस जैसे स्वतंत्रता सेनानियों के कितने लड़कों और पौत्रों को नेहरू-गाँधी के लड़कों और पौत्रों की तरह घर, सुरक्षा और लाभ प्रदान किए गए है? ऐसे देशभक्तों के नाम नेहरू गांधी की तुलना में कितने स्मारक बने हैं या मार्गों का नामकरण किया गया है?
465. जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने अमरनाथ तीर्थ यात्रियों को सलाह देते हुए एक फरमान जारी किया है कि वे यात्रा में ‘‘भारत माता की जय‘‘ की घोषणा न करें। क्योंकि इससे आतंकवादी चिढ़ते हैं और उत्तेजित होते हैं। रघुनाथ मंदिर, वाराणसी मंदिर, मुंबई रेल, मालेगांव, हैदराबाद मस्जिद, अक्षरधाम मंदिर इत्यादि विस्फोटों में आतंकवादियों को किसने उत्तेजित किया? क्या न्यूयार्क टावर उन्हें उत्तेजित किया था? क्या इस्लामिक आतंकवाद के लिए किसी उत्तेजना की सचमुच जरूरत है?
466. तमिलनाडु के विल्लुपूरम में 11 जून 2006 को मुसलमानों के एक समूह ने एक नाबलिग मुस्लिम लड़की जो कल्लकुरिची गांव के एक हिन्दू लड़के से प्यार करती थी, के सिर का बाल मुंडन कर दिया। यद्यपि लड़की का पूरा परिवार शादी के लिए तैयार था। पर मीडिया ने मुस्लिमों की इस नैतिक पुलिसगिरी की जरा भी निंदा नहीं की जैसा कि वे हिन्दुओं के बारे में करते हैं। क्या मीडिया जो अपनी निडरता की डींग मारता है, मुसलमानों से डरता है?
467. सिमी SIMI जैसे आतंकवादी संगठन पर लगे प्रतिबंध को उठाने के लिए संप्रग सरकार राज्य सरकारों की राय मांग रही है। क्या सरकार उन राज्य सरकारों का नाम बता सकती है जिसने इसका समर्थन या विरोध किया है? भारत के नागरिकों को इसे जानने का अधिकार है। क्या ऐसा नहीं है?
468. भारत के मुसलमान अमेरिका के राष्ट्रपति जाॅर्जबुश के भारत आगमन का विरोध करते हैं। परन्तु वे मुशर्रफ जैसे एक तानाशाह के स्वागत के लिए उत्सुक हैं। महाराष्ट्र के मालेगांव के मुसलमान ओसमा बिन लादेन के लिए लालायित हैं, क्योंकि वे उनके आदर्श हैं। शांतिप्रिय हिन्दू भारतीयों के लिए वे कौन-सा संदेश भेज रहे हैं?
469. भारत के मुसलमान विशेष सुविधा की भंग कर रहे हैं। विश्व में करीब करीब 57 मुस्लिम देश है। भारतीय मुसलमान इन देशों में रह रहे हिन्दू भाइयों के लिए भी उन देशों में उन्हें विशेष सुविधा मिले, की मांग क्यों नहीं कर रहे हैं? क्या किसी मुल्ला, मौलवी या मुस्लिम नेता ने पाकिस्तान और बांग्लादेश में रह रहे हिन्दुओं और ईसाइयों के लिए मानवाधिकार की मांग की है?
470. प्रमोद महाजन की चिता में जब उनके पुत्र राहुल ने अग्नि प्रज्वलित की तब वे जिन्स पैंट और कमीज पहने हुए थे और उनकी कमर में चमड़े का बेल्ट भी था। उस समय सुदर्शन जी, अटल जी, आडवाणी जी और राजनाथ सिंह जैसे लोग वहाँ उपस्थित थे परन्तु किसी ने भी यह सलाह नहीं दी कि अपनी संस्कृति को तोड़ो मत। क्या होगा हिन्दू संस्कृति का? ऐसी कहावत है कि ‘‘दुर्जन सक्रिय हैं, क्योंकि सज्जन निष्क्रिय हैं‘‘।
471. यदि Pro, Conके विपरीत है, तो क्या आप ऐसा नहीं सोचते कि Progress भी Congress के विपरीत है। जी, हाँ कांग्रेस का लगभग 50 वर्षों का नेहरू के समाजवाद का शासन ही भारत की प्रगति को अवरुद्ध कर दिया है।
472. जून 2006 में अपनी फिल्म को पाकिस्तान में रिलीज करते हुए फिरोज खाँ ने कहा, ‘‘हमारे भारत में एक मुसलमान राष्ट्रपति और एक सिख प्रधानमंत्री है। परन्तु पाकिस्तान में मुसलमान मुसलमान को मार रहे हैं‘‘। इस पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए महेश भट्ट ने कहा ‘‘हम अत्यन्त व्यथित हैं.......‘‘ असलियत से महेश भट्ट को व्यथित क्यों होना चाहिए? क्या वे चाहते हैं कि फिरोज को झूठ और आधा सच बोलना चाहिए था, जैसा वे कर रहे हैं?
473. दा विंसी कोड फिल्म मेघालय, पंजाब, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में प्रतिबंधित है क्योंकि इससे तथाकथित रूप से ईसाइयों की संवेदना पर चोट पहुँचती है। यह कैसी बात है कि ईसाई देशों में जहाँ यह फिल्म दिखाई जा रही है वहाँ के ईसाइयों की संवेदना पर यह फिल्म चोट नहीं पहुँचा रही है। क्या भारत सरकार अपने आप को सबसे अधिक ईसाई हित चिंतक बताने का प्रयत्न कर रही है?
474. 70 वर्षीय राधा नामक एक हिन्दू महिला का शव लाहौर में सड़ रहा था। क्योंकि श्मशान घाट के अभाव में उसे दहन करने के लिए कोई आगे नहीं आ रहा है (जून 2006)। देश विभाजन के समय लाहौर में 11 श्मशान केन्द्र थे। उन श्मशान घाटों का क्या हुआ? क्या हिन्दुओं के साथ-साथ वे भी अदृश्य हो गए? पाकिस्तान में हिन्दुओं की दयनीय दशा की क्या आप कल्पना कर सकते हैं? क्या इसकी तुलना आप भारत में मुसलमानों को मिल रही सुख-सुविधाओं से कर सकते हैं?
475. बहुमंजली व्यापारिक इमारत बनाने के राह में रोड़ा बना लाहौर स्थित एक मात्र कृष्ण मंदिर को पाकिस्तान ने ढहा दिया है। फिर भी हम पाकिस्तान के साथ सद्भावना बनाये रखने के लिए प्रयत्नशील हैं। हम जानते हैं, उस समय क्या हुआ जब आक्रामक बाबर द्वारा अयोध्या स्थित राम जन्मभूमि पर बनवाया हुआ एक पुराना और अनुपयोगी ढाँचा को राम मंदिर बनाने के लिए तोड़ दिया गया।
476. बांग्लादेश के मुसलमान चाहते हैं कि ढाका शहर के बीचो-बीच में स्थित ढाकेश्वरी देवी के मंदिर को वहाँ कहीं अन्यत्र स्थापित कर दिया जाय। 12 वीं शताब्दी में बने ढाकेश्वरी देवी के इस मंदिर के नाम पर यह शहर ढ़ाका के नाम से प्रसिद्ध हुआ। यह वही मंदिर है जहाँ से बंगबंधु शेख मुजिबूर रहमान ने बांग्लादेश को पाकिस्तान के चंगुल से छुड़ाने का आह्वान किया था। भारत ने बांग्लादेश की पाकिस्तान से मुक्ति में सहायता की। बांग्लादेशियों के जैसा कृतघ्न क्या आपको कहीं मिलेगा?
477. अलकायदा आतंकवादी अबु मुसाब अल-जरकवी, जो जुलाई 2006 में अमेरिका-ईराक हवाई युद्ध में मारा गया था, उसे लखनऊ निवासी बताया गया है। हमारे उ.प्र. के मुख्य सचिव एन.सी. वाजपेयी ने यह पता लगाने के लिए लखनऊ के कलेक्टर को निर्देश दिया है कि उसे स्थाई निवास प्रमाण पत्र किसने दिया? क्या इसके अन्दर भयंकर कोई राज छिपा हुआ है?
478. चुनाव आयुक्त के सामने अपना शपथ पत्र सुपुर्द करते हुए सोनिया गांधी ने कहा है कि उनके पास उनकी खुद की कार नहीं है और उनका बचत बैंक केवल 20,000/- रु. है (जून 2006)। परन्तु वे जिस बंगले में रहती है उसकी कीमत 100 करोड़ रुपये हैं। प्रश्न यह है कि भारत उनका और उनके परिवार के बोझ को क्यों ढो रहा है और कर दाताओं के पैसों को पानी की तरह क्यों बहा रहा है? उनकी योग्यता और अनुभवों को देखते हुए ऐसा नहीं लगता कि वे इसके लायक हैं। भारत के प्रति उनका योगदान क्या है?
479. जब चीन पाकिस्तान को आणविक (बीज संबंधी) उपग्रह सम्बन्धी सहायता दे रहा है, तो प्रकाश करात और उनके सी.पी.एम मित्र चुप हैं। जब भारत ने पाकिस्तान की गुप्तचरी के लिए इजराइली उपग्रह को लगाया तो वे लोग सरकार से पूछ रहे हैं कि ऐसा क्यों किया गया? क्या वे अपने मालिक चीन और मुसलमानों की खुशामद कर रहे हैं?
480. भारत में सामान्य नागरिक पाकिस्तान के चुनाव के प्रति उदासीन रहता है। परन्तु बड़े लोगों के लिए काम करने वाले टी.वी चैनल वहाँ के त्रस्त हिन्दुओं के समाचार के लिए एक मिनट भी समय नहीं देते। वे इसकी भी खोज नहीं करते कि कैसे वहाँ रहने वाले 24% हिन्दू समाज वहाँ से अदृश्य हो गया।
481. बेल्जियम सरकार सोनिया गांधी को आॅर्डर आॅफ लिओपोल्ड पुरस्कार से सम्मानित करती है जो संप्रग सरकार को मंजूर है। परन्तु फ्रांस की सरकार जब तस्लीमा नसरीन को सम्मानित करती है, तो वह सम्मान संप्रग को स्वीकार नहीं है। संप्रग सरकार फ्रांस की सरकार को सलाह देती है कि वह तस्लीमा को सम्मानित न करे। यह कैसा दोहरा मापदण्ड है?
482. सेतुसमुद्रम परियोजना के निर्माण का ठेका टी.आर.वी सेलवम कम्पनी के नाम से विख्यात मारिशस कम्पनी को दिया गया। इस कम्पनी ने सब कन्ट्राॅक्ट के रूप में यह काम ड्रेजिंग कारपोरेशन आॅफ इंडिया जो भारत सरकार का उपक्रम है, को दिया। टी.आर.बी सेलवम कम्पनी का मालिक टी.आर.बी सेलवम केन्द्रीय मंत्री टी.आर.बालू के पुत्र है। अब आप उन सम्बन्धों का रहस्य समझ गयें होंगे। अब आप समझ गये होंगे कि केन्द्रीय मंत्री टी.आर.बालू इस परियोजना के क्रियान्वयन के लिए क्यों उत्सुक हैं?
483. वास्तव में जैसा पाकिस्तान में हो रहा है वैसा जम्मू-कश्मीर में भी हिन्दू मंदिरों को गैर कानूनी तरीके से बेचा जा रहा है। कश्मीरी पंडित संघर्ष समिति ने जम्मू स्थित मेट्रो लाॅजिकल डिपार्टमेंट के सामने 200 वर्ष पुराने शिव मंदिर जिसकी सम्पति 300 करोड़ की है, जिसे एक प्रभावशाली मुस्लिम को सरकारी आॅफिसरों के दबाव में बेचा जा रहा है, के बचाव के लिए सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दाखिल किया है। राष्ट्रीय मीडिया को तो इसके बारे में कुछ पड़ी ही नहीं है, स्थानीय मुस्लिम बाहुल्य मीडिया भी चुप हैं।
484. मिश्र की एक अदालत ने कुरान की आयत का मजाक उड़ाते हुए (मजहब में कोई बाध्यता नहीं 2.256) आज (30 जन. 2008) घोषणा की है कि ‘‘मुसलमान अपना मजहब नहीं बदल सकता।‘‘ यह फैसला उस समय सुनाया गया जब एक ईसाई बने मुसलमान ने अपना नाम और मजहब बदलने के लिए अदालत से प्रार्थना किया था।
485. संप्रग सरकार ने आतंकवादियों के आश्रितों को आर्थिक मदद देने का फैसला किया है। क्या आप नहीं सोचते कि यह आर्थिक मदद हमारे वीर जवानों को मारने के उपलक्ष्य में आतंकवादियों को दिया जाने वाला एक सरकारी पुरस्कार है? विशेष रूप से जबकि बहुत से बहादुर सैनिकों का परिवार घोषित क्षतिपूर्ति को भी अभी तक नहीं प्राप्त कर सका है।
486. मौलाना आजाद कालेज की इतिहास (आनर्स) की एक छात्रा नाजिया तबस्सुम दिसम्बर 2007 में राँची स्टुडेंट यूनियन की सह सचिव चुनी गई, तो लोगों की निगाह में आ गई। अब उसकी जान खतरे में है। उसे अंजुमन इस्लामिक संस्था से धमकी मिल रही है। उसे वे धमका रहे हैं कि उसने पुरुषों के अधिकार क्षेत्र में अतिक्रमण किया है, तो उसे इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा। हमारे मानवाधिकार वादी लोग चुप क्यों हैं?
487. डी.जी.एस. दिनकरण, ‘‘जीसस काल्स‘‘ के संस्थापक लंबी बीमारी के चलते एक अस्पताल में भर्ती थे और अंत में दि. 22.02.2008 को इस दुनिया से चल बसे। वे ‘‘फेथ हिलींग मीटिंग‘‘ का आयोजन करते थे और हजारों हिन्दुओं को ईसाई बनाते थे। उनके पुत्र पौल दिनकरण भी वही करते हैं। वे ‘‘फेथ हिलींग‘‘ के द्वारा अपने पिता को क्यों नहीं अच्छा कर सके? क्या यह एक धोखा नहीं है?
488. ‘‘तिस्ता सीतलवाड कौन है? उनकी औकात क्या है? यदि वे इन लोगों (गोधरा के अभियुक्तों) का प्रतिनिधित्व करती है तो हम उन्हें सुनना नहीं चाहते...... क्या वे इन लोगों की प्रवक्ता हैं या निवेदक हैं‘‘? ऐसा प्रश्न सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के.जी. बालकृष्णन के नेतृत्व में गठित बेंच ने 18 फरवरी 2008 को उनसे पूछा। समाचार पत्रों में ऐसी उपहासास्पद बनी तिस्ता को कोई शर्म नहीं है। उनके चरित्र के विषय में क्या आपको और किसी प्रमाण पत्र की जरूरत है?
489. यदि डी.एम.के या जे.डी. (यू) को हिन्दुत्व से घृणा थी तो वे राजग में शिवसेना को कैसे सहन किए? यह यही साबित करता है कि सभी सहयोगी लोग अपने-अपने सिद्धान्तों को तिलांजलि देकर मंत्री पद पाने के लिए तैयार रहते हैं। क्या ऐसा नहीं है?
490. सी.पी.एम. के कार्यकर्ता जिन्हें स्थानीय कारखानों में नौकरी नहीं मिली तो सी. पी.एम के पार्टी कार्यालय में तोड़फोड किये और नेताओं को मारे पीटे। बाद में उन्हें दुर्गापुर स्थित सागरभंगा की एक दुकान में कैद कर दिया गया (18.2. 2008)। सी.पी.एम के कार्यालय से निरोध और शराब की बोतले मिली। और किसी पार्टी में भी इस तरह की घटना होती है, क्या आपने कभी सुना है?
491. हमारे सूचना प्रसारण मंत्री प्रियरंजनदास मुंशी कहते हैं कि मुस्लिमों की आस्थाओं को चोट पहुँचाने के लिए तस्लीमा को माफी मांगनी चाहिए। क्या कभी उन्होंने हिन्दुओं की आस्थाओं को चोट पहुचने के लिए एम.एफ. हुसैन को भी ऐसी सलाह दी है? राम और रामायण के अस्तित्व को नकारने के लिए क्या उन्होंने अपनी सरकार को कहा है कि वह हिन्दुओं से माफी मांगे? ऐसे पाखण्डियों के पास दोहरी जबान होती है!
492. अश्लील और विकृत चित्रकार एम.एफ. हुसैन जिन्होंने हिन्दू देवी देवताओं और भारत माता का नग्न चित्र बनाया था, को भारत रत्न से सम्मानित करने के लिए एन.डी.टी.वी ने बहुत प्रचार प्रसार किया। एन.डी.टी.वी के अनुसार भारत रत्न पुरस्कार एक अश्लील चित्रकार को देना उचित लगता है। क्या यह सही है?
493. रामसेतु बचाओ आंदोलन के विरोध में डी.एम.के प्रमुख एम. करुणानिधि ने पार्टी कार्यकता्रओं को (दिसम्बर 2007 में) सलाह दिया कि वे रामसेतु तोड़ने के समर्थन में एक आन्दोलन शुरू करें। परन्तु इसका कुछ परिणाम नहीं हुआ। जब उन्होंने इसकी जाँच पड़ताल की तो उन्हें पता चला कि उनके बहुत से अनुयायी डी.एम.के के कार्यकर्ता नीली और काली धोती में सबरीमलाई के भक्त मिले।
494. मीडिया में बुद्धिजीवी के नाम से विख्यात करण थापर नरेन्द्र मोदी की एकाएक समाप्ति की कामना करते हैं (हिन्दुस्तान टाइम्स का लेख 29.12.08)। क्या उनकी बात से ऐसा नहीं लगता कि वे मोदि की हत्या की वकालत करते हैं? यदि ऐसा नहीं तो क्या है? वे एक तालिबानी अपराधी की तरह बोल रहे हैं, न कि एक पत्रकार की तरह। क्या मीडिया आतंकवाद का समर्थन ओर प्रजातंत्र का विरोध करने के लिए ही है?
495. राष्ट्र चिह्न के नीचे लिखा गया ‘सत्यमेवजयते‘ को बहुत से सरकारी लेखन सामग्री से निकाल दिया गया है। एक अप्रवासी भारतीय के अनुसार लगभग 400 जगहों से ‘सत्यमेवजयते‘ को निकाल दिया गया है। क्या ऐसा इसलिए किया गया है कि संप्रग सरकार इन शब्दों में विश्वास नहीं करती कि सत्य की ही विजय होती है।
496. उड़ीसा के कंधमाल में कार्यरत एक नि% स्वार्थ हिन्दू संयासी स्वामी लक्ष्मणानन्द सरस्वती पर जब ईसाइयों ने हमला किया और उन्हें घायल कर दिया, तो मीडिया ने इस समाचार को दबा दिया। इसके परिणाम स्वरूप जब हिन्दुओं ने कुछ चर्चों को जलाया, तो मीडिया ने इस समाचार को खूब प्रसारित किया। यह ठीक है कि मीडिया उसी समय चेतना में आती है जब अल्पसंख्यकों पर आक्रमण होता है। जब हिन्दू प्रतिक्रिया स्वरूप कुछ करते हैं तो इसे धर्मनिरपेक्षता की याद आती है।
497. जब कंधमाल में हिन्दुओं ने चर्चों में तोड़ फोड़ किया तब मीडिया को मजबूरन यह समाचार देना पड़ा। एन.डी.टी.वी ने जलते हुए क्राॅस का चित्र दिखाया। वहाँ के संवाददाता ने कहा कि स्वामी लक्ष्मणानन्द का वाहन तोड़ा गया, परन्तु किसने तोड़ा यह नहीं बताया। रिपोर्ट सब झूठी थी और अर्द्ध सत्य थी। लोगों को लग रहा था कि यह समाचार प्रसारण है या मिशनरियों द्वारा पैसा प्राप्त विज्ञापन।
498. मेरे एक मुसलमान मित्र का कहना है कि ‘‘मेरे मौलाना ने मुझसे कहा है कि प्रजातंत्र में हम भारत को वोट के आधार पर एक विशुद्ध मुस्लिम देश बना सकते हैं और ऐसा हम करेंगे। शायद आज नहीं, परन्तु कुछ दिन बाद हमारे बच्चे शासन करेंगे यह निश्चित है। हमें कोई रोक नहीं सकता‘‘ कितना सत्य है यह?
499. गुजरात और हिमाचल प्रदेश के चुनावों में कांग्रेस बुरी तरह हारी। कांग्रेसियों की तो बात ही मत कीजिए, किसी भी समाचार पत्र ने कांग्रेस की इस पराजय के लिए गाँधी परिवार के नेतृत्व की विफलता को जिम्मेदार ठहराने का साहस नहीं दिखाया। क्या आप समझ सकते हैं, ऐसा क्यों?
500. गुजरात में 46 विधानसभा सीटों पर मुसलमानों का वर्चस्व है। इनमें से 35 सीटों पर भाजपा की जीत हुई। वहाँ चार सीटें ऐसी हैं, जहाँ मुसलमान पूर्णतया बहुमत में हैं की यहाँ जिसे वे चुनाव जितवाना चाहते हैं, जितवाते हैं। और इन चारों सीटों पर भाजपा विजयी हुई है। यह एक आश्चर्यजनक तथ्य नहीं है?
501. सी.पी.एम के गुण्डे अपने विरोधियों - कांग्रेस, तृनमूल कांग्रेस, भाजपा और आर. एस.एस के कार्यकर्ताओं की हत्या पश्चिमबंगाल स्थित संगरूर और नन्दीग्राम में तथा केरल के कन्नूर में सब जगह कर रहे हैं। चुनाव में धांधली कर वे बार-बार चुनाव जीत जा रहे हैं। वे अपने चीनी आकाओं जो हमारे अरुणाचल प्रदेश पर अपना अधिकार बता रहे हैं, से आदेश प्राप्त करते हैं। क्या आप सोचते हैं कि ऐसी देशद्रोही पार्टी को अपने देश में कार्य करने की अनुमति दी जा सकती है?
502. काले मुसलमानों को मुसलमान नहीं माना जाता और उन्हें हज करने की अनुमति नहीं दी जाती क्योंकि वे अपने संस्थापक इली जाह मोहम्मद को इस्लाम के संस्थापक के बराबर समझते हैं। यह वैसा ही है जैसा अहमदिया और आगा खान इस्माइलीज को समझते हैं। क्या यही उनका भाईचारा है?
503. कम्युनिस्ट मुस्लिम बाहुल्य कश्मीर के लिए अधिक से अधिक स्वायतता देने की मांग करते हैं परन्तु बुद्धिस्ट तिब्बत की स्वायत्तता की बात नहीं करते। जबकि कश्मीरियों और भारतीयों की एक ही जाति हैं, तिब्बती चीनियों से भिन्न है और उनका धर्म भी अलग है। तिब्बती हजारों साल पहले से स्वतंत्र है जबकि जम्मू और कश्मीर (पाकिस्तान और बांग्लादेश के साथ-साथ) भारत का ही अंग है।
504. हमारे कम्युनिस्ट मित्र निर्वासित फिलिस्तनियों के बारे में बहुत चिंता करते हैं और कहते हैं कि उन्हें इजराइल में बसाने की व्यवस्था होनी चाहिए। परन्तु कश्मीरी पंडित जो कश्मीर से भगा दिये गये हैं और दिल्ली में रह रहे हैं उनके बारे में कुछ क्यों नहीं बोलते हैं? क्या ऐसा इसलिए कि फिलिस्तिनी मुसलमान हैं और कश्मीरी हिन्दू है?
505. ऐसा क्यों है कि किसी भी मुस्लिम शासित देश में कम्युनिस्ट पार्टी कार्यरत नहीं है। इसी तरह से किसी भी कम्युनिस्ट शासित देश में भारत जैसी इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग पार्टी कार्यरत नहीं है। इससे उनके आपसी अच्छे सम्बन्ध का पता चलता है!
506. सुप्रसिद्ध उर्दू कवि फैज अहमद फैज पाकिस्तान निर्माण के समय वहाँ कम्युनिस्ट पार्टी का नेतृत्व करने के लिए गए परन्तु पुन% वे भारत आ गए। मगर भारत में कम्युनिस्ट और मुस्लिम एक दूसरे के हम जोली हैं। क्या इसे एक दूसरे की विवसता के कारण शादी नहीं कह सकते?
507. भारत के कम्युनिस्ट अल्पसंख्यक समुदाय के बहुत शुभचिंतक हैं - अल्पसंख्यक आयोग, अल्पसंख्यक शिक्षण संस्थान, अल्पसंख्यक वृत्त संस्थान, अल्पसंख्यक मंत्रालय इत्यादि की बातें करते रहते हैं। परन्तु चीन, क्यूबा, वियतनाम जैसे कम्युनिस्ट देशों के साथ-साथ पाकिस्तान और बांग्लादेश में अल्पसंख्यक जैसा शब्द ही नहीं सुनाई देता। क्या भारत के कम्युनिस्ट इन देशों में बसे अल्पसंख्यकों के बारे में भी अपनी आवाज उठायेंगे?
508. यद्यपि कम्युनिस्ट पार्टी और आर.एस.एस जिससे जनसंघ और बाद में भाजपा का जन्म हुआ का निर्माण एक ही समय में हुआ परन्तु इस देश में कम्युनिस्ट का वोट प्रतिशत 8 से अधिक कभी नहीं हुआ वह भी ज्यादातर पश्चिम बंगाल और केरल में ही है। जबकि पूरे देश में भाजपा का वोट लगभ 24% हैं और पूरे देश में फैला हुआ है। क्या आप ऐसा नहीं सोचते कि भारतीयों ने कम्युनिस्टों को नकार दिया है या उनकी संख्या सीमित कर दी है?
509. यद्धपि संप्रग सरकार की सभी नीतियाँ पूरी तरह से मुसलमानों के हित में होती हैं फिर भी देवबंद की दारूल उलूम ने सरकार को उसकी मुस्लिम विरोधी नीतियों के कारण भला बुरा कहा है। वे चाहते हैं कि जनता सरकार की इस पक्षपातपूर्ण व्यवहार को समझे! उनको लगता है कि बेवकूफ हिन्दू इसे स्वीकर करेंगे।
510. जब नरेन्द्र मोदी एक टी.वी साक्षात्कार से बाहर निकल आए, तो मीडिया ने बहुत शोर मचाया और उन्हें अपमानित किया। परन्तु जब वित्तमंत्री पी. चिदम्बरम ने सी.एन.एन.आई.बी.एन के एक जीवन्त टी.वी वार्ता में एकाएक उठकर जल दिये तो किसी की हिम्मत नहीं हुई कि उनके इस व्यवहार के लिए कोई एक शब्द भी बोल दे। क्या टी.वी चैनल वाले अपने विचाराधीन प्रस्ताओं की सुरक्षा के लिए वित्तमंत्री से दुश्मनी मोल लेना नहीं चाहते हैं? यह दोहरा मापदण्ड है या स्वयं का स्वार्थ?
511. तमिलनाडु स्थित उल्लूंदूरपेत के पास इरैयुवर गांव में ईसाइयों के दो समूह वन्नियर और दलितों में चर्च को लेकर झगड़ा हो गया। दलितों का कहना है कि उन्हें अस्पृश्य समझा जाता है और वन्नियर के साथ उन्हें प्रार्थना नहीं करने दिया जाता। झगड़ा इतना बढ़ गया कि पुलिस को गोली चलानी पड़ी और दो वन्नियर की मृत्यु हो गई। ईसाइयों का कहना है कि उनमें जातियता नहीं होती?
512. 9 दिसम्बर 2007 को आर.एस.एस के कुछ कार्यकर्ता 16 हरिजन युवकों को लेकर बिना किसी तामझाम के परन्तु प्रगाढ़ भक्ति से सुप्रसिद्ध चिदम्बरम नटराज मंदिर में गये। मंदिर के पुजारी ने सभी के माथे पर विभूति लगाया और प्रसाद के रूप में मीठा लड्डू दिया। आनंदित हरिजन युवकों को शहर में एक व्यापारी स्वयंसेवक के घर भोजन कराया गया। यह वही मंदिर है जहाँ कुछ दिन पहले द्रवीड़ कजगम के ठग हिन्दुओं में विभेद उत्पन्न करना चाहते थे।
513. मार्च 2008 में भाजपा नेता डाॅ. मुरली मनहर जोशी को कोलकाता प्रेस क्लब ने सरस्वती पूजा में सम्मिलित होने के लिए आमंत्रित किया था। परन्तु जब वे मानव संसाधन मंत्री के रूप में विज्ञान भवन में सरस्वती पूजा के अवसर पर अध्यक्षता कर रहे थे, तो बंगाल में इसकी बड़ी आलोचना हुई थी। वामपंथियों का कहना था कि यह धर्मनिरपेक्षता के खिलाफ है।
514. मलेशिया स्थित भारतीय मुसलमान युवक अपने आपको भारतीय कहलाने की अपेक्षा मलाया कहलाना पसन्द करते हैं क्योंकि उनके सारे रीति-रिवाज मलाया (मुस्लिम) से मिलते-जुलते हैं। परन्तु मलेशिया के हिन्दू अपने आपको भारतीय मूल के हिन्दू कहलाना पसंद नहीं करते हैं। धर्मान्तरण का क्या परिणाम होता है, इसे आप समझ सकते हैं।
515. तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम. करुणानिधि नें आदेश दिया है कि हिन्दू मंदिरों में पूजा-पाठ करने के लिए सभी जाति के हिन्दुओं को छूट दी जाय। आदेश बहुत अच्छा है। क्या वे इसी प्रकार ऐसा भी आदेश दे सकते हैं कि औरतों को बिशॅप और मस्जिदों में नमाज पढ़ाने के लिए भी नियुक्त किया जाय? क्या वे ऐसा आदेश देंगे कि मुस्लिम औरते नमाज पढ़ाएँ? स्त्रियों के साथ इस्लाम और ईसाइयत में इतना भेदभाव क्यों है?
516. वैटिकन ने कैथोलिज्म में किसी भी प्रमुखपद पर महिलाओं को बिठाने से यह कहकर मना कर दिया है कि गाॅड हमारा पिता (पुरुष) होता है। कुछ सेक्युलर महिला वकील यह मांग लेकर कोर्ट में गई थी कि महिलाओं को भी सबरीमलाई में जाने की छूट होनी चाहिए। क्या वे महिलाओं के अधिकार की मांग वैटिकन से भी कर सकती हैं?
517. हिन्दुओं के कुछ मंदिर पुरुषों के लिए बने हैं। इसी प्रकार कुछ मंदिर महिलाओं के लिए हैं। मंदिरों में देवी और देवता दोनों हैं। हिन्दुत्व में लिंग भेद-भाव कहाँ है? कया आप ऐसा नहीं सोचते कि तथाकथित लिंग भेदभाव के नाम पर कम्युनिस्ट और सेक्युलरिस्ट हिन्दू समाज को बांटना चाहते हैं?
518. भारत के दो सुप्रसिद्ध और जाने माने पत्रकारों को अपमानित किया गया। एम. वी.कामत को प्रसार भारती के अध्यक्ष पद से जबर्दस्ती हटाया गया और एम.जे अकबर को एशियन एज और डेक्कन क्रोनिकल के सम्पादक के पद से जबर्दस्ती त्याग पत्र लिया गया। उनका सत्य प्रचार संप्रग को क्षति पहुँचाता था। इसके बारे में अभी तक किसी भी पत्रकार या सम्पादक ने कुछ नहीं लिखा है।
519. थाइलैंड और कम्बोडिया की सीमा पर एक विशाल मंदिर है जिसका एक द्वार थाइलैंड में और दूसरा द्वार कम्बोडिया में खुलता है। दोनों देशों के बीच सीमा विवाद बहुत पुराना है। मंदिर को तोड़े बिना सीमा रेखा का निर्धारण असम्भव है। मंदिर को बचाने के लिए दोनों देश राष्ट्र संघ में अपील किये हैं कि मंदिर को विश्वधरोहर के रूप में मान्यता दी जाय। एक प्राचीन मंदिर को बचाने के लिए दोनों देश अपने सीमा विवाद को भूलने के लिए तैयार है। लेकिन हमारे देश में संप्रग सरकार एक लाखों वर्ष पुराने और राष्ट्रीय धरोहर के रूप में प्रसिद्ध रामसेतु को तोड़ने के लिए तैयार है। कितना विरोधाभाष है?
520. हमारे मुसलमान भाई कहते हैं कि इस्लामिक किताबों को कोई छू नहीं सकता। लेकिन टर्की ने कुरान और हदीश के पुनरावलोकन के लिए आध्यात्मवादियों की एक समिति नियुक्त की है। टर्की को ऐसा लगता है कि कुछ विशेष आयतें मोहम्मद साहब के मुँह से कभी नहीं निकली है। और उसमें से कुछ की अब पुन% व्याख्या करने की जरूरत है। उनको ऐसा भी लगता है कि मोहम्मद साहब की मृत्यु के बाद सैकड़ों आयतों को स्वार्थ के लिए जोड़ दिया गया है।
521. संप्रग सरकार में स्वास्थ्य और परिवार कल्याण राज्यमंत्री पी लक्ष्मी कहती हैं कि गोमुत्र कैंसर निरोधक दवाइयाँ के निर्माण में बहुत उपयोगी है। उनको आज यह मालूम हुआ है, परन्तु हिन्दू तो इसे कई दशक पहले से कह रहे हैं। यदि ऐसा है, तो संप्रग सरकार गायों की सुरक्षा के लिए गोहत्या पर प्रतिबंध क्यों नहीं लगा रही है?
522. महाराष्ट्र सरकार ने प्रतापगढ़ में अनधिकृत रूप से बनी मुगल सरदार अफजल खाँ की जर्जर मकबरे को कोर्ट के आदेश के बावजूद तोड़ने का कोई प्रयास नहीं किया। आज वह जर्जर मकबरा तेईस आलिशान कमरों का मकबरा बन चुका है। हिन्दुओं के देश में राम जन्मभूमि पर एक मंदिर नहीं बन सकता पर अफजल खाँ का मकबरा बन सकता है?
523. राष्ट्र संघ की तथाकथित विशेष प्रतिनिधि आसमा जहाँगीर (पाकिस्तान की मानवाधिकारवादी कार्यकर्ता) अपने 18 दिन की भारत प्रवास के बाद कहती है कि ‘‘गुजरात का वातावरण अभी भी मुसलमानों के विरोध में है। केरल में कोई राजनीतिक तनाव नहीं है। भारत में ईसाइयों को सताया जाता है।‘‘ इत्यादि। परन्तु कश्मीर के पंडितों और गुजरात के हिन्दू विस्थापित के बारे में एक शब्द भी उन्होंने नहीं कहा। किस तरह के मानवाधिकारवाद की बातें वे करती हैं? क्या उन्होंने पाकिस्तान और बांग्लादेश में बसे हिन्दुओं और ईसाइयों की दयनीय स्थितिपर कभी विचार किया है?
524. 60 वर्ष पहले पाकिस्तान से आकर जम्मू-कश्मीर में बसे 50000 हिन्दू परिवार आज भी शक की नजर से देखे जाते हैं और बाहरी समझे जाते हैं। वे संसदीय चुनाव में मतदान तो करते हैं परन्तु विधान सभा के चुनाव में उन्हें वोट देने का अधिकार नहीं प्राप्त है। क्योंकि उनका जन्म स्थान और स्थायी निवास स्थान का प्रमाण पत्र जो जम्मू कश्मीर राज्य का आधार भूत दस्तावेज है, उनके पास नहीं है। इसलिए वे नौकरी, स्कूलों में प्रवेश, व्यावसायिक संस्थानों में प्रवेश, इत्यादि से वंचित है। हमारी यू.पी.ए सरकार को जो मुसलमानों को भारत में विशेष सुविधा प्रदान करती है उसे जम्मू-कश्मीर में बसे इन हिन्दुओं की मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति की भी चिंता नहीं है।
525. हर बार उपग्रह प्रक्षेपण के समय इसरो की मास्टर कंट्रोल फैकल्टी ;डब्थ्द्ध के प्रमुख उपग्रह के नमूने को मंजुनाथेश्वरा मंदिर में ले जाकर पूजा अर्चना करते हैं और प्रसाद के रूप में उसे लेकर आते हैं। इसके बाद उपग्रह का प्रक्षेपण करते हैं। यह प्रथा 20 वर्षों से चालू है। क्या यह हमारे वैज्ञानिकों की ईश्वरवादी निष्ठा का प्रतीक नहीं हैै?
526. जयपुर के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट दिनेश गुप्त ने हाॅलीवुड स्टार रिचर्ड गेरी को गिरफ्तार करने का आदेश दिया। उन्हे ‘एड्स से बचो‘ नामक एक सार्वजनिक प्रदर्शन में शिल्पा शेट्टी का चुम्बन ेलेने के अपराध में यह आदेश दिया गया है। हमारे बहुत से सेक्युलरिस्ट जो अन्य अवसरों पर यह कहते नहीं थकते कि ‘कानून अपना काम करेगा‘ अब इस मामले में कोर्ट को कोस रहे हैं और कह रहे हैं कि इस छोटी-सी घटना पर कोर्ट अपना मूल्यवान समय बर्बाद कर रहा है। एड्स से बचो का प्रचार चुम्बन लेकर? हाँ चुम्बन उनके लिए एक मामूली घटना है।
527. अफगानिस्तान की संसद ने हाल ही में एक कानून पास कर दूरदर्शन पर प्रसारित नृत्य-संगीत से सम्बन्धित सभी कार्यक्रमों को प्रतिबन्धित कर दिया है। क्योंकि ऐसा कार्यक्रम गैर इस्लामिक है। अफगानों में हमारा हिन्दी कार्यक्रम बहुत लोकप्रिय है। भारतीय सीरियलों को दिखाते समय अफगान का टी.वी हिन्दू देवी-देवताओं की और कलाकारों के गर्दनों और कन्धों को ढंक कर दिखाता है।
528. डीएमके मुख्यमंत्री एम करुणानिधि और द्रवीड़ कडगम के ठग चाहते हैं कि तमिलनाडु के मंदिरों में संस्कृति में बोले जाने वाले मंत्रों और श्लोकों को तमिल में बोला जाय। क्या वे इस तरह की अपेक्षा मुसलमानों और ईसायइयों से भी करेंगे कि वे भी तमिल में ही अपनी प्रार्थना करें। यदि उन्हें तमिल से इतना ही प्रेम है तो वे अरबी और ईसाइयत संस्कृति को तमिलनाडु में फैलने से क्यों नहीं रोक रहे हैं?
529. जब क्रिकेट टीम खराब प्रदर्शन करती है तो कैप्टन बदलने की मांग जोर-शोर से होती है। जब कोई पार्टी चुनाव में हार जाती है तो नेता के इस्तीफे की मांग की जाती है। लेकिन कांग्रेस में ऐसी चलन नहीं है। जब उत्तरप्रदेश, गुजरात और हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस बुरी तरह से हारी तो कोई भी कांग्रेसी, नेता बदलने की बात सोच भी नहीं सकता था। क्यों?
530. जब राजा वीरेन्द्र नेपाल की राजगद्दी पर विराजमान थे, उस समय प्रधानमंत्री राजीव गाँधी सोनिया गाँधी के साथ नेपाल गये थे। मूलाकात के दम्र्यान सोनिया गाँधी ने आक्रामक मुद्रा में राजा वीरेन्द्र से उन 90 मिशनरी कार्यकर्ताओं को छोड़ने के लिए कहा जो नेपाल में धर्मान्तरण करने के कार्य में अपराधी के रूप में जेलों में कैद थे। क्या आप उनकी मंशा समझते हैं?
531. श्रीमती ग्लैडीज स्टेन्स को पिछले साल पद्मश्री से सम्मानित करने की संप्रग सरकार के निर्णय के पीछे श्रीमती सोनिया गांधी की ईसाइयत के प्रति जो निष्ठा है वह प्रमाणित होती है। ग्लैडीज स्टेन्स का भारत के प्रति क्या योगदान है जिसके लिए वे पद्म श्री प्राप्त करने की लायकियत रखती हैं? वास्तव में ऐसा प्रश्न पूछना ही व्यर्थ हैं जबकि हम यह भी नहीं जानते कि देश के लिए सोनिया का क्या योगदान है?
532. सन् 1947 में त्रिपुरा में कोई ईसाई नहीं था। आज वहाँ उनकी संख्या 120,000 है। 1991 से आज तक उनकी आबादी में 90% की वृद्धि हुई है। 1961 में अरुणाचल प्रदेश में ईसाइयों की जनसंख्या 1710 थी जबकि आज उनकी आबादी 1.2 मिलियन है और चर्चों की संख्या 780 है। नागालैण्ड की स्थिति भी इससे भिन्न नहीं है। और वे क्रिस्तान की मांग कर रहे हैं।
533. नई दिल्ली पाकिस्तान के नागरिकों को जो जम्मू-कश्मीर आने की इच्छा रखते हैं, सभी सुविधा और दस्तावेज सुलभ कराने के लिए तत्पर है। परन्तु एक भी कश्मीरी हिन्दू जो पाकिस्तान अनिधिकृत कश्मीर में स्थित पवित्र शारदा पीठ जाना चाहता है, को कोई सुविधा और दस्तावेज सुलभ नहीं कराया गया है। यद्यपि वहाँ जाने के लिए हजारों प्रार्थना पत्र सरकार के पास भेजे गए हैं। यह क्या प्रमाणित करता है?
534. पाकिस्तानी नागरिक जो क्रिकेट मैच देखने (उदाहरणार्थ-मोहाली, पंजाब) या सूफी साहब के दर्शन के लिए टूरिस्ट विसा लेकर भारत में आये वे सभी अदृश्य हो गए हैं। वे भारत में घुलमिल गए हैं। क्या आप ने कभी सुना है कि (हिन्दुओं को छोडि़ए) मुस्लिम पाकिस्तान गए और पाकिस्तानी समाज में घुलमिल गए? इस अदृश्यता के पीछे नैतिक कहानी क्या है?
535. जम्मू-कश्मीर में बसे पांच लाख हिन्दुओं की जनसंख्या घटकर 6000 हो गई है। 1981 की जनगणना के अनुसार ईसाइयों की जनसंख्या वहाँ मात्र 650 थी, आज वह बढ़कर 13,000 हो गई है। इसका कारण मात्र मुस्लिमों का धर्मान्तरण ही है। जब मुसलमानों को विशेष सुख-सुविधा वहाँ प्राप्त है, तो वे ईसाई क्यों बन रहे हैं? क्या यह सोनिया गाँधी का स्थायी उद्गार पाश्चात्य मुद्दा है?
536. राहुल गाँधी का कहना है कि उनके पिता (राजीव) ने उनकी माँ (सोनिया) से कहा था कि बाबरी विध्वंस के समय वे विध्वंस रोकने के लिए बाबरी के सामने खड़े हो जाते। बाबरी ढाँचा 6 दिसम्बर 1992 को तोड़ा गया। परन्तु राजीव गाँधी 1991 में ही मार दिये गये थे। फिर राजीव ने ऐसा कैसे कहा? क्या राहुल छोटे बच्चों की तरह शेखी नहीं बघार रहे हैं? क्या राहुल बतायेंगे कि सन् 1984 में जब 3000 सिखों का कत्ल किया गया तो राजीव ने उसे क्यों नहीं रोका?
537. जेनिवा में यूरोपियन सेंटर फार रीसर्च इन प्रैक्टिकल फिजिक्स के प्रवेश द्वार पर दो मीटर ऊँची नटराज शिव की प्रतिमा प्रस्थापिक की गई है। प्रतिमा के बगल में एक फलक पर शिव के इस बिख्यात नृत्य की महिमा का वर्णन लिखा है। पश्चिमी दुनिया जब हिन्दुत्व के विज्ञान को समझने में इतनी तत्पर है, तब हमारी सरकार हिन्दुत्व को मिटा देने के लिए कोशिश कर रही है।
538. क्या आप दुनिया में एक भी ऐसे देश का नाम बता सकते हैं जहाँ मदनी, मोहम्मद अफजल, सोहराबुद्दीन इत्यादि जैसे राष्ट्रविरोधी और आतंकवादी का बचाव किया जाता है, परन्तु आई.जी वनजारा जिन्होंने सोहराबुद्दीन को इनकाउंटर में मार गिराया, जैसे पुलिसवालों और राष्ट्रवादियों को सताया जाता है? हाँ, भारत।
539. क्या आप दुनिया में एक भी ऐसे देश का नाम बता सकते हैं जहाँ सीमी, एन. डी.एफ, मुस्लिम लीग इत्यादि जैसे आतंकवादी और राष्ट्र विरोधी संगठनों का बचाव किया जाता है और रा.स्वं.संघ, विहिप जैसे संगठनों की सेक्युलरिस्ट और बुद्धिवादी कहे जाने वाले लोगों द्वारा निंदा की जाती है? हाँ, भारत।
540. क्या आप एक भी ऐसा देश बता सकते हैं जहाँ विदेशी भाषा और संस्कृति के प्रचार-प्रसार के लिए आर्थिक अनुदान दिया जाता है? हाँ भारत। केन्द्र की यू.पी.ए सरकार और केरल की सरकर ऐसा ही कर रही है। वे अरबी भाषा और अरबी संस्कृति के संवर्धन में सब कुछ करने के लिए तैयार हैं परन्तु अपनी संस्कृति की अवहेलना करते हैं।
541. सच्चर समिति की रिपोर्ट यह बताती है कि भारत की जेलें ज्यादातर मुस्लिम अपराधियों से भरी हुई है। यदि मुस्लिम अपराधियों को इस्लामिक कानून के अन्तर्गत सजा दी जाती तो शायद उनके बीच से कम अपराधी निकलते। मुसलमान जो अपने लिए शरीयत कानून की मांग जोर-शोर से करते हैं, क्या उन्हें शरीयत के अनुसार दंडित किया जाय?
542. 12 दंगाइयों को तीन कांग्रेसी विधायकों (डब्ल्यू ब्रजबिधु सिंह, के मेघ चन्द्रा सिंह और विजय कोइजाम) और एक भूतपूर्व विधायक (सोवा किरन) के घर से मणिपुर स्थित इंम्फाल में 17.8.2007 को गिरफ्तार किया गया। विधायकों के घरों से बडी मात्रा में हथियार और गोला बारूद बरामद किये गये। क्या कांग्रेस हत्यारों को अपने यहाँ आश्रय देती है?
543. कांग्रेस की अध्यक्षा सोनिया ने अपने अनुग्रहकारी प्रधामंत्री की मदद से नवीन चावला को 205 सांसदों के विरोध के बावजूद भी चुनाव आयुक्त बनवा दिया। बदले में चुनाव आयुक्त सुप्रीम कोर्ट में सोनिया गाँधी के विदेशी मुद्दे पर सोनिया का बचाव करते रहे। कहानी का सार यह है कि चोर-चोर मौसेरे भाई।
544. कोइम्बटूर बम ब्लास्ट का मास्टर माइंड अब्दुल नासीर मधानी था। बम ब्लास्ट में मरने वाले में से एक 15 वर्ष का लड़का भी था। क्षतिपूर्ति के रूप में लड़के के पिता को एक सरकारी अस्पताल में सहायक की नौकरी दी गई। दुर्भाग्य से उसे अस्पताल में भर्ती अपने पुत्र के हत्यारे मदनी की सहायता का काम सौंपा गया। क्या आप इस बेचारे बाप की स्थिति की कल्पना कर सकते हैं? फिर भी उसने अपने पुत्र के हत्यारे की सेवा अच्छी तरह से की। प्रशासन की विलक्षणता अजीब है।
545. चेन्नई स्थित कलाक्षेत्र फाउंडेशन की उसके हिन्दू विरोधी कार्यों के लिए हिन्दू वाॅइस द्वारा आलोचना की गई तब एन.डी.टी.वी ने अपने दि.01.08.2008 की रिपोर्ट में कलाक्षेत्र फाउंडेशन को साॅफ्ट टार्गेट बताया। अब यदि कलाक्षेत्र फाउंडेशन साॅफ्ट टार्गेट है, तो हार्ड टार्गेट कौन-सा है? क्या एन.डी.टी.वी आतंकवादियों की भाषा बोल रहा है? या हिन्दू आतंकवादी का अन्वेषण कर रहा है?
546. कलाक्षेत्र फाउंडेशन की संचालिका लीला सैम्सन और एन.डी.टी.वी का कहना है कि भरतनाट्यम एक कला है न कि धर्म। आप कैसे कह सकते हैं कि एक ऐसा नृत्य जो भगवान शिव से सम्बन्धित है, वह हिन्दुत्व से सम्बन्धित नहीं है। क्या वे भरतनाट्यम को उसके हिन्दू आधार से अलग नहीं कर रहे हैं? क्या यह हमारे बौद्धिक सम्पदा की चोरी करने का षडयंत्र नहीं है?
547. लीला सैम्सन ने अपनी शिष्याओं के दल को दिसम्बर 2006 में श्री श्री रविशंकर के आर्ट आॅफ लीविंग कार्यक्रम के स्वागत में यह कहकर नहीं भेजा कि आर्ट आॅफ लीविंग का आयोजन हिन्दू धर्म से सम्बन्धित है। परन्तु उन्होंने अपनी शिष्याओं के साथ भारत में 7 नवम्बर 1999 को पोप के सम्मुख सम्पन्न पोपल मास में शामिल हुई थीं। लीला सैम्सन और एन.डी.टी.वी के लिए पोप सेक्युलर हैं और श्री श्री रविशंकर कम्युनल हैं।
548. अंग्रेजों के आने के पहले मुसलमानों ने शताब्दियों तक भारत पर शासन किया परन्तु आॅक्सफोर्ड और कैम्ब्रिज जैसी यूनिवर्सिटी देश में नहीं बनवाया। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, ओसमानियाॅ और जामिया मीलिया इस्लामिक की स्थापना अंग्रेजी शासन आने के बाद ही हुआ। क्या इससे यह प्रमाणित नहीं होता कि मुस्लिम समाज आधुनिक शिक्षा के विपरीत है?
549. मुगल शासक भारत पर कई शताब्दियों तक राज किये। परन्तु उनमें से कोई भी हज यात्रा पर नहीं गया। कारण ढूँढने के लिए बहुत प्रयत्न नहीं करना पड़ेगा। उन दिनों हज यात्रा पर जाने-आने में 6 महीने लगते थे। इस दौरान उनकी गद्दी उनके लड़के, भाइयों या सम्बन्धियों द्वारा हड़प ली जा सकती थी।
550. फितर संस्कृत ष्शब्द पित्र का अपभ्रंश है। श्राद्ध पक्ष में हिन्दू अपने पित्रों (पूर्वजों) को याद करते हैं जबकि मुसलमान रमजान में रोजा रखते हैं जो श्राद्धपक्ष का ही नमूना है। वे अपने पूर्वजों की कब्रों पर जाते हैं और दान इत्यादि देते हैं। संस्कृत शब्द ‘इद‘ का अर्थ प्रार्थना या पूजा होता है। इसलिए ‘‘इदुलफितर‘‘ का अर्थ होता है पित्रों की प्रार्थना। रमजान शब्द की उत्पति ‘रामदान‘ जिसका मतलब राम% दान या ईश्वर के लिए दान होता है।
551. एक गैर सरकारी संस्था अग्नी AGNI ने मुंबई हाई कोर्ट में याचिका दायर की है कि मुंबई स्थित घाटकोपर और मुलुण्ड में हुए बम विस्फोट के विरोध में भाजपा और शिवसेना ने जो मुंबई बंद का एलान किया था, उसके दण्ड के रूप में 20 लाख रुपये का जुर्माना दोनों पार्टियों पर लगाया जाय। लेकिन जब सुप्रीम कोर्ट ओबीसी के आरक्षण के विरोध में फैसला देता है और फैसले के विरोध में करुणानिधि बंद का एलान करते हैं, तो AGNI करुणानिधि के विरोध में कोर्ट में क्यों नहीं जाता है?
552. तिस्ता सीतलवाड और फिल्म निर्माता महेश भट्ट ने कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी को पत्र लिखा है कि विलास राव देशमुख को मंत्री पद से न हटाया जाय। क्योंकि ऐसा करने से श्रीकृष्ण आयोग की रिपोर्ट के कार्यान्वयन में बाधा पहुँचेगी। क्या ये लोग कांग्रेस पार्टी के सदस्य है? यदि ऐसा नहीं है तो इन महानुभावों को कांग्रेस के आन्तरिक मामले में पड़ने की क्या जरूरत है?
553. नासा NASA अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम ने 28 सितम्बर 2007 को अहमदाबाद में कहा - ‘‘जब मैंने नौ सेना अकादमी में पदार्पण किया तो मैंने अपने आपको सेना के अनुशासन के अनुसार ढाल लिया। आर.एस.एस की अनुशासन संस्कृति मेरे परिवार में थी क्योंकि मेरे पिता जी आर.एस.एस से जुड़े थे। इसके चलते मुझे अपने आपको सैनिक अनुशासन में ढालने में कोई कठिनाई नहीं हुई। कांग्रेस ओर सेक्युलरिस्टि हर बात में आर.एस.एस की निन्दा करते हैं। यहाँ एक महिला साहस पूर्वक दृढ़ता और नि%संकोच से आर.एस.एस की तारीफ करती है। यह तो निश्चित है कि वह झूठ नहीं बोलेंगी।

554. कश्मीर के बहुत बड़े मौलाना मुफ्ती बशीर उद्दीन ने अक्टूबर 2007 में जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद को, उनके वक्तव्य के लिए जिसमें उन्होंने कहा है कि दुनिया की भलाई गाँधी दर्शन से ही सम्भव है, प्रायश्चित करना पड़ेगा। यदि वे ऐसा नहीं करते तो उनको गैर इस्लामिक घोषित कर दिया जायेगा। महात्मा गाँधी की तारीफ करना क्या गैर-इस्लामिक है? हमारे गाँधीवादी कांग्रेसियों का इस संदर्भ में क्या कहना है?
555. क्या आप जानते हैं कि रामसेतु तोड़ने के लिए बनी सेतु समुद्रम परियोजना के विषय में अध्ययन करने के लिए संप्रग सरकार ने जो विशेषज्ञों की समिति बनाई है उसमें से कोई भी मरीन आर्कियोलाॅजी, मर्चेंट नेवी, तटीय सुरक्षा, भारतीय नौ सेना, पर्यावरण, समुद्री जीव जंतु, सुनामी इत्यादि से सम्बन्धित नहीं है। क्या ऐसे लोगों से सही निर्णय की अपेक्षा की जा सकती है?
556. ईसाई मिशनरियाँ कहती है कि श्री कृष्ण चरित्रहीन था और 16,000 गोपिकाओं से उसने शादी किया था। लाखों नने कहती हैं कि उन्होंने जिसस क्राइस्ट से शादी की है। (नन बनने के समय उन्हें शपथ लेनी पड़ती है कि उन्होंने जिसस क्राइस्ट से शादी कर ली है) आप सोचिए इनमें से कौन चरित्रहीन है - कृष्ण या नन।
557. थाइलैण्ड अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का नाम ‘‘स्वर्णभूमि एयरपोर्ट‘‘ है। प्रवेश द्वार पर हिन्दू धर्म ग्रन्थों में वर्णित समुद्र मंथन का चित्र है। चित्र में देवताओं और असुरों द्वारा समुद्र को मथते हुए विभिन्न रंगों में रोचक ढंग से दिखाया गया है। क्या भारत में भी आप इसी तरह के हिन्दू धर्म ग्रन्थों में वर्णित दृश्यों को अपने यहाँ के हवाई अड्डों पर देखने की सोच सकते हैं? बिलकुल नहीं।
558. ईसाइयों की आबादी लगभग 2.5% है। फिर भी कम से कम केवल केरल में 63 ईसाई पादरियों पर हत्या, हत्या का प्रयास, बलात्कार, व्यभिचार, छेड़छाड अपहरण, चोरी और ठगी के मामले दर्ज है। इसकी जानकारी अक्टूबर 2007 में राइट टू इन्फार्मेशन के अन्तरगत प्राप्त हुई है। हिन्दू और ईसाई अपराधियों की तुलना कीजिए।
559. चीन की सरकार ने स्वामीनारायण ट्रस्ट को चीन में स्थित फोहसन प्रदेश में नोएडा और गाँधीनगर की तरह अक्षरधाम मंदिर के निर्माण के लिए अमत्रित किया है। कम्युनिस्ट भारत में रामजन्मभूमि पर राम मंदिर निर्माण का विरोध क्यों कर रहे हैं? वे रामसेतु को क्यों तोड़ना चाहते हैं? वे हिन्दू और हिन्दुत्व को मिटाने में क्यों लगे हैं?
560. चेन्नई के एक पादरी का कहना है कि दफनाने की अपेक्षा दाह संस्कार करना स्वास्थ्यवर्द्धक है। कोलकाता में बहुत से ईसाई दफनाने की अपेक्षा जलाना ज्यादा पसन्द करते हैं। अमेरिका में भी बहुत से ईसाई दाह संस्कार पसंद करते हैं। एक अनुमान के अनुसार अमेरिका में 2010 तक दाहसंस्कार करने की इच्छा रखने वाले ईसाइयों का प्रतिशत 40 के आसपास हो जायेगा। वे मृत्यु में भी हिन्दुओं की नकल कर रहे हैं।
561. विमान में अपहृत 180 भारतीयों को बचाने के लिए भाजपा द्वारा 3 आतंकवादियों को छोड़ना कांग्रेस और कम्युनिस्टों के लिए शर्मनाक घटना है। परन्तु कश्मीर में अपने कांग्रेसी मंत्री की मात्र एक कन्या (रुबिना सईद) को अपहृतों के चंगुल से छुड़ाने के लिए (जो मात्र एक राजनीतिक नाटक था) 4 आतंकवादियों को छोड़ना उनके लिए ठीक लगता है। यह कैसा दोहरा मापदंड है?
562. यदि भाजपा राजस्थान और गुजरात के स्कूलों में योगाभ्यास का कार्यक्रम शुरू करती है तो वह कार्यक्रम कांग्रेसियों और कम्युनिस्टों के लिए कम्युनल लगता है। परतु यदि कांग्रेस शासित राज्य यही कार्यक्रम करते हैं तो वह शारीरिक शिक्षण कहलाता है।
563. मुम्बई स्थित वडाला में जब पुलिस एक स्थानीय मुस्लिम नागरिक को दादागिरी के केस में उससे पूछताछ करने के लिए (अक्टूबर 2007 में) ले जा रही थी तो लगभग 4000 मुसलमानों के समूह ने पुलिस पर प्रत्यक्ष हमला बोल दिया। क्या आपने सुना है कि हिन्दुओं ने पुलिस पर कभी हमला किया है जब वह अपने कार्य में तत्पर हो? अपराधियों की सहायता करने के लिए मुसलमान क्यों आगे आते हैं?
564. तहलका, जो नरेन्द्र मोदी के विरुद्ध आॅपरेशन कलंक के लिए कुख्यात है, का तीन बार दिवाला निकल चुका है। यद्यपि अक्टूबर 2007 के प्रति की छपाई की किमत लगभग 50/-रु प्रति कापी है फिर भी पत्रिका की कीमत 10/-रु मात्र है। सभी आश्चर्य चकित है कि बिना विज्ञापन के तहलका अपनी पत्रिका छपाई पर खर्च होने वाले रुपयों की भरपाई कैसे कर पाता है। क्या यह सब खर्च बड़े पैमाने पर किए जाने वाले स्टिंग आपरेशन से ही तो नहीं प्राप्त होते है? शायद वहाँ काम करने वाले कर्मचारी हवा-पानी पर ही जीवित है।
565. तहलका सिखों के नरसंहार, कश्मीरी हिन्दुओं को योजनापूर्वक कश्मीर से भगाने, श्रृंखलाबद्ध बम विस्फोट, बोफोर्स, बांग्लादेशी मुसलमानों का भारत में घुसपैठ इत्यादि के बारे में कोई भी स्टींग आॅपरेशन नहीं संचालित करता। नरेन्द्र मोदी के खिलाफ आॅपरेशन कलंक के पीछे कांग्रेस का हाथ है, क्या आप को ऐसा नहीं लगता?
566. अहमदाबाद में दंगे का समाचार जब फरवरी 2002 में एन.डी.टी.वी पर प्रसारित हो रहा था तब टी.वी पर दिखाया जा रहा था कि एक साइकल रिक्शा चालक को किस तरह बजरंग दल के लोग पीट रहे हैं। जबकि अहमदाबाद में साइकल रिक्शा चलता ही नहीं है, तब एन.डी.टी.वी को यह चित्र मिला कहाँ से? क्या यह मनगंढत समाचार दंगे की आग में ज्वलनशील पदार्थ डालने जैसा नहीं है? एन.डी.टी.वी का उद्देश्य क्या था?
567. सेक्युलरिस्टों का कहना है कि अहमदाबाद में सेना 28 को पहुँची और मोदी ने सेना को पहली तारीख से जगह-जगह पर तैनात किया। अर्थात 3 दिन बाद। परन्तु उनके कहने के पीछे क्या तर्क छिपा है। यह 28 तारीख फरवरी महीने की थी और दूसरे दिन मार्च की पहली तारीख थी। कहने का तात्पर्य यह है कि सेना की तैनाती में एक दिन की भी देर नहीं हुई थी। क्या आप समझते हैं कि वे आपको किस प्रकार मूर्ख बनाते हैं?
568. राम विलास पासवान और लालू प्रसाद यादव ने बिहार में चुनाव प्रचार के लिए ओसमा बिन लादेन की तरह दिखने वाले एक व्यक्ति को चुना। पासवान चाहते थे कि बिहार का मुख्यमंत्री कोई मुसलमान हो। बिहार में चुनाव प्रचार के दौरान मतदाताओं को पैसा बाँटते हुए लालू प्रसाद को पकड़ा गया। चुनाव आयुक्त ने पासवान और लालू के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं किया?
569. हमारे सेक्युलर गिरोह कहाँ थे, जब उत्तर प्रदेश में मुलायम सरकार के मंत्री हाजी याकूब ने डेनमार्क के व्यंगचित्रकार का सिर काटने या उसकी हत्या करने वाले को 50 करोड़ रु. देने की सार्वजनिक घोषणा की? हत्या करने के लिए उकसाने के अपराध में उन्हें दण्डित क्यों नहीं किया गया?
570. क्या आपको मालूम है कि अमेरिका में गुड़ फ्राइडे की छुट्टी नहीं मिलती जबकि वह एक ईसाई बाहुल्य देश है। परन्तु भारत जहाँ मुश्किल से 2.5 प्रतिशत ईसाई है, यह एक सार्वजनिक अवकाश है। क्या यह हमारे चापलूसी का द्योतक नहीं है?
571. राजग सरकार ने छ% प्रदेशों में ए.आई.आई.एम.एस की स्थापना की घोषणा की, इन छ% राज्यों में से चार राज्यों में कांग्रेस की सरकारें थी। लेकिन संप्रग ने अपने चार साल के शासन में मध्य प्रदेश, राजस्थान, उड़ीसा, बिहार और उत्तराखण्ड में ए.आई.आई.एम.एस की आधार शिला रखने के लिए एक ईंट भी नहीं रखा। क्योंकि यहाँ राजग की सरकारें हैं। उनके पक्षतापूर्ण व्यवहार को देखिए।
572. मई 2004 में मोहम्मद जाफर याकूब हुसैन अल जोरानी नामक एक बूढ़ा व्यक्ति मोतियाबिंद के आपरेशन के लिए शारजाह से हैदराबाद आया था। 7 मई 2004 को उसने हसीना बेगम नामक एक 19 वर्षीय लड़की से शादी किया ओर दो दिन के बाद वह उसे तलाक दे दिया। 24 मई 2004 को उसने 16 वर्षीय दूसरी लड़की रुक्साना बेगम से शादी किया। उसने रुक्साना को भी तलाक दे दिया और तीसरी लड़की से शादी किया। शारजाह में उसकी दो पत्नियाँ और 13 बच्चे हैं। इस्लाम में यह सब आम बात है।
573. तीन गाँधी - महात्मा गाँधी, इंदिरा गाँधी और राजीव गाँधी - गोलियों से मारे गए। फिर भी कांग्रेस ने आतंकवाद से कुछ नहीं सीखा। वे संसद को बम से उड़ा देने वाले आतंकवादियों के सरगना मोहम्मद अफजल को फाँसी देने से इनकार कर रहे हैं। वे आतंकवादियों के साथ नरमी और दया का बर्ताव कर रहे हैं।
574. सी.पी.एम. पश्चिम बंगाल के संेगूर और नन्दीग्राम तथा केरल स्थित कन्नूर में हत्या का आनन्द ले रही है। वे आर.एस.एस और भाजपा के अतिरिक्त बहुत से कांग्रेसी कार्यकर्ताओं का भी संहार कर चुके हैं। परन्तु कांग्रेस आँख बंद कर अन्धी बनी हुई है। क्योंकि वह केन्द्र में राज करने के लोभ में मस्त है। सत्ता के लिए कार्यकर्ताओं को कांग्रेस बलि का बकरा बना रही है।
575. क्या कांग्रेस को भारत छोड़ो आन्दोलन के दौरान सी.पी.आई की भूमिका का पता है? यूनाइटेड कम्युनिस्ट पार्टी की तत्कालीन पत्रिका ‘पिपुल्सवार‘ ने भारत छोड़ो आन्दोलन का मजाक उड़ाया था। महात्मा गाँधी ने आन्दोलन के समय जो ‘करो या मरो‘ का नारा दिया था उसको नीचा दिखाया था। उस पत्रिका ने उस समय कांग्रेस को फासिस्ट संगठन कहा था। और अब कांग्रेस और कम्युनिस्ट हनीमून मना रहे हैं।
576. 1942 के दौरान कम्युनिस्ट किंग आॅफ इंग्लैण्ड से भी ज्यादा अंग्रेजों के हिमायती थे। वे गाँधी जी, सुभाष चन्द्र बोस ओर जयप्रकाश नारायण द्वारा चलाये गये भारत छोड़ो आन्दोलन का मजाक उड़ाते थे और कहते थे कि इनके पास और कोई मुद्दा नहीं बचा है। अर्थात मुद्दों के अभाव में यह आन्दोलन चल रहा है। सन् 1962 के भारत-चीन संघर्ष के दौरान कम्युनिस्ट चीन के साथ थे। आज वे केन्द्र में परोक्ष रूप से शासन कर रहे हैं।
577. अंग्रेजों का कृपा पात्र बनने की खुशामद में कम्युनिस्ट पार्टी आॅफ इंडिया के नेता पी.सी जोशी ने सरकार के पास 120 पृष्ठ की एक रिपोर्ट प्रस्तुत की थी कि कैसे कम्युनिस्ट पार्टी आॅफ इंडिया ने भारत छोड़ो आन्दोलन को विफल बनाने के लिए प्रयत्न किया था। उनका दावा था कि भारत छोड़ो आंदोलन को दबाने के लिए अंग्रेजों की अपेक्षा कम्युनिस्टों ने अधिक जोर शोर से प्रयत्न किया था। क्या अब वे बदल गये हैं?
578. सन् 1960 के दशक में मुंबई पर कम्युनिस्टों का वर्चस्व था। यह शिवसेना ही थी जिसने उनके ही तरीके से उन्हें मुंबई के बाहर फेंक दिया। आज मुंबई कम्युनिस्टों से मुक्त है। क्या आप नहीं समझते कि कम्युनिस्ट केवल डंडे की भाषा ही समझते हैं ओर वे दया के पात्र नहीं है।
579. सन् 1962 में चीन-भारत युद्ध के दौरान सी.पी.एम ने चेयरमैन माओ को अपना चेयरमैन घोषित किया था और उन्हें समर्थन भी दिया था। आज भी वे नहीं मानते की चीन भारत पर आक्रमण किया था। यह वही पार्टी है जो आज पीछे के बैंचों पर बैठकर सरकार चला रही है और राष्ट्र को बर्बाद करने पर तुली हुई है।
580. सन् 1835 में कलकत्ता (कोलकाता) के मुसलमानों को जब मालूम हुआ कि अंग्रेज सरकार सभी स्कूलों में अंग्रेजी की पढ़ाई शुरू करने वाली है तब 8,000 मौलवियों ने इसके विरोध में हस्ताक्षर अभियान चलाया था और कहा था कि अंग्रेजी सीखने से इस्लाम की बर्बादी होगी। लगभग 50 वर्ष बाद अर्थात 1885 में स्नातक परीक्षा में बैठने वाले 705 और 235 लाइसेंसियेट परीक्षा में बैठने वाले विद्यार्थियों में मुसलमान विद्यार्थियों की संख्या क्रमश% 8 और 5 थी। उस समय एक भी मुसलमान न तो स्नातक था न डाक्टर। एम.ए में 326 छात्रों में मुसलमानो की संख्या 5 थी और बी.ए में 1,343 छात्रों में मुसलमानों की संख्या 30 थी।
581. उपयुक्र्त तथ्यों को समझते हुए हिन्दुओं ने क्या निश्चय किया जब 1824 में सरकार ने कोलकाता में संस्कृत महाविद्यालय शुरू करने की योजना बनाई तो हिन्दू नागरिकों ने राजाराम मोहन राय के नेतृत्व में मांग की कि संस्कृत के बदले अंग्रजी महाविद्यालय शुरू किया जाय। आज इंग्लैण्ड में बच्चों को अंग्रेजी पढ़ाने के लिए भारतीयों की बहुत मांग है। बेचारा मैकाले आज कब्र में करवट बदल रहा होगा।
582. इंडोनेशिया एक मुस्लिम बहुल देश है। लेकिन उसे अपने हिन्दू अतीत पर गर्व है। वे गर्व से कहते हैं कि इंडोनेशिया संस्कार से हिन्दू है, धर्म से मुसलमान है ओर राष्ट्रीयता से इंडोनेशियन है। उनका एयरलाइन गुरुड़ एयर लाइन के नाम से जाना जाता है। उनके सिक्कों पर गणेश का चित्र है। क्या भारत के मुसलमानों को अपने हिन्दू अतीत पर गर्व है?
583. केरल की पुलिस ने अलुवा स्थित पणइकुलम में आतंकवादी भर्ती केन्द्र पर छापामारा और 18 मुस्लिम युवको को गिरफ्तार किया (अप्रैल 2008)। पुलिस ने वैमनस्य फैलाने वाली घृणास्पद साहित्य और सी.डी जब्त किया। इस प्रकार पुलिस ने दूसरे केन्द्रो पर छापा मारा और सीमी के कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया। अन्त में जेहादी दोस्तों वाली सरकार ने पुलिस के इन छापों को मुसलमानों के धार्मिक अधिकारों में हस्तक्षेप बताकर पुलिस की निन्दा की। क्या यही तरीका है आतंकवाद को रोकने का?
584. केरल में बहुत से ईसाई कम्युनिस्ट कार्यकर्ता हैं जो मंत्री भी बन गए हैं। लेकिन मनथवडी डिओसेज के बिशप जोस पोरुन्नेडम ने घोषणा की है कि सच्चा ईसाई कम्युनिस्ट हो ही नहीं सकता। उन्होंने चेतावनी दी है कि माओ और क्राइस्ट में एक साथ विश्वास करने की अपेक्षा चर्च से दूर रहना ही अच्छा है। अब हमारे ईसाई कम्युनिस्ट बेचारे क्या करेंगे?
585. वे दिन लद गए जब हम भारत में ब्रिटिशों के आर्थिक विनियोग पर आश्रित थे। अब तो भारत की बारी है। यू.के में आर्थिक विनियोग करने वाला अमेरिका के बाद भारत दूसरे नम्बर पर है।
586. कश्मीर में तथाकथित मानवाधिकार के उल्लंघन के विरोध में सी.पीएम आवाज उठा रही है। परन्तु तिब्बत के सम्बन्ध में प्रकाश करात शोर मचा रहे हैं कि मानवाधिकार की आड़ में राष्ट्रीय सुरक्षा को दाव पर नहीं लगाया जा सकता। सी.पी.एम कश्मीरियों के आत्म निर्णय की वकालत करती है। परन्तु तिब्बत के लिए आत्म निर्णाय का अधिकार पैरों तले रौंद दिया जाता है। करात अपने मास्टर मालिक चीन की भाषा बोल रहे हैं।
587. पाकिस्तान में एक 22 वर्षीय लड़के जुगदेश को मोहम्मद साहब को पाखण्डी कहने के कारण उसके साथी कामगारों ने पीट-पीटकर मार डाला (अप्रैल 2008)। क्या आपने कभी सुना है कि किसी हिन्दू लड़के ने अपने दोस्त को हिन्दू देवी-देवताओं को पाखण्डी कहने के अपराध में मारा-पीटा है? (एम. एफ.हुसैन को याद कीजिए) यह हत्या की प्रवृत्ति क्यांे?
588. दि. 4.03.2007 को जब हिन्दू पश्चिम बंगाल के 24 परगना जिला के सरबेरिया गांव के काजल हलधर के घर में होली मना रहे थे, तब एकाएक लगभग 50 मुस्लिम सी.पी.एम कार्यकर्ता शाहजहाँ आर्कुज के नेतृत्व में बिना किसी कारण घर पर आक्रमण कर दिये। मार-पीट करने के बाद उन्होंने चेतावनी दिया कि कोई भी स्थानीय डाॅक्टर घायलों की चिकित्सा नहीं करेगा। क्या आप ऐसा नहीं सोचते कि दूसरी बार आपका गाँव या घर भी इस गुण्डा गर्दी का शिकार नहीं बनेगा?
589. हिमाचल प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने मार्च 2007 में एक धर्म परिवर्तन विरोधी कानून यह कह कर बनाया कि इससे समाज में साम्प्रदायिक सौहार्द बना रहेगा। लेकिन यही कांग्रेस ऐसे ही एक कानून का जिसे गुजरात, राजस्थान और मध्यप्रदेश की सरकारों ने बनाया है, का विरोध कर रही है। ऐसा इसलिए कि ये राज्य भाजपा द्वारा शासित हैं?
590. ईसाई मिशनरियों और पादरियों ने सोनिया गाँधी से अपील की है कि वे हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री को बर्खास्त करें क्योंकि राज्य ने धर्मान्तरण विरोधी कानून पास किया है। क्या आप नहीं सोचते कि सोनिया के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी ईसाई कांग्रेस पार्टी के रूप में पहचानी जाती है।
591. केन्द्र सरकार ने पोटा कानून को हटा दिया है। परंतु कांग्रेस शासित महाराष्ट्र और हिमाचल प्रदेश की सरकारों ने पोटा जैसा ही कठिन कानून बनाया है। जब भाजपा शासित गुजरात और राजस्थान की विधान सभाओं ने आतंकवादियों से निपटने के लिए ऐसा ही कानून बनाया तो राज्यपाल कानून के क्रियान्वयन के निमित सही नहीं कर रहे हैं। संप्रग की यह पक्षपातपूर्ण नीति नहीं है?
592. मध्य प्रदेश की सरकार ने जब योगाभ्यास का वर्ग चालू किया तो कांग्रेसी और वामपंथी इसका बहुत विरोध किये। परन्तु मानव संसाधन विकास मंत्रालय की स्थायी समिति ने जिसमें कांग्रेस और सीपीएम के सदस्य साथ-साथ है, स्वीकृति दिया कि योगाभ्यास का वर्ग सभी स्कूल-कालेजों में शुरू किया जाय। यह कैसा नाटक है?
593. केरल के मंत्री इलम्मरम करीम जो खुद एक मुसलमान है, ने मुस्लिम माँ-बाप को चेतावनी दिया है कि वे नियमित सुबह की प्रार्थना के लिए मस्जिद जाने वाले अपने लड़कों पर नजर रखें। क्योंकि घर लौटते समय उनकी जेब में बम हो सकता है। और आगे चलकर वे एन.डी.एफ आतंकवादी बन सकते हैं। क्या आपको और प्रमाण की जरूरत है कि मस्जिद आतंकवादियों का प्रशिक्षण केन्द्र बन गए हैं?
594. नेपाली नागरिक मोनी कुमार सुब्बा असम के तेजपुर से कांग्रेसी सांसद बनने में सफल रहे। वे नेपाल में दोष सिद्ध अपराधी थे और 1971 से 1973 तक जेल में कैद थे। अब पिछले तीन दशक में वे भारत सरकार के विभिन्न पदों पर विराजमान रहे। क्या कांग्रेस एम.एल.ए और एम.पी का टिकट विदेशियों को भी देने लगी है?
595. पाकिस्तान-अमेरिका गठबंधन द्वारा समर्पित एक प्रदर्शनी जो संदीप पाण्डेय द्वारा स्थापित ए.आई.डी ‘पीस मार्च‘ की सहायता के लिए आयोजित की गई थी, में एक बैनर पर लिखा था कि ‘अल्लाह आतंकवादी देश भारत को खत्म कर देगा‘। पाकिस्तान को तो छोड़ दीजिए, हमारे संदीप पाण्डेय और अरुन्धती राय जैसे सेक्युलरिस्ट भी क्या यह चाहते हैं कि भारत खत्म हो जाय? क्या आप इनका इरादा समझते हैं?
596. उ.प्र. के महमुदाबाद के राजा, बेगम अइजाज रसूल, पीरपुर के राजा, मौलाना हसरत माहंथी, बिहार के सईद हुसेन इमाम, मौ. मुहम्मद, मद्रार के इस्माइल इत्यादि लोग मुस्लिम लीग के कार्यकर्ता थे। परन्तु भारत विभाजन के समय पाकिस्तान जाने की अपेक्षा भारत में रहना पसंद किए यद्यपि इन लोगों ने पाकिस्तान निमार्ण में बढ़ चढ़कर भाग लिया था। वे दारूल इस्लाम में न जाकर काफिर के देश में रहना पसंद क्यों किए?
597. न्यायमूर्ति राजेन्द्र सच्चर, मनमोहन सिंह, कुलदीप नायर के साथ-साथ ज्योतिबसु और बुद्धदेव भट्टाचार्जी जैसे कुछ सेक्युलर योद्धाओं ने सन् 1947 में पाकिस्तान के निर्माण के बाद वे पाकिस्तान न रह कर जीवन रक्षा के लिए भारत में आ गए। और अब ये सेक्युलर योद्धा ने पूरी तरह से प्रयत्न कर रहे हैं कि भारत दारूल इस्लाम बन जाए।
598. लगभग 40 की संख्या में मुसलमान राजकोट में एक भाजपा नेता जी.टी. मेहता के घर में घुसकर धारदार हथियारों से उनके ऊपर हमला किये (मार्च 2007)। कारण यह था कि मेहता ने एक मुस्लिम लड़के को, जिसने लड़कियों के साथ छेड़ छाड़ कर रहा था, को धमकी दिया था। और आप हमारे सेक्युलरिस्टों से सुनते हैं कि गुजरात में मुस्लिम सुरक्षित नहीं है।
599. केरल जैसे सुशिक्षित प्रदेश के एक सुप्रसिद्ध मलयालम दैनिक ने मार्च 2007 के अंक में ‘‘एक मुस्लिम किडनी की मांग है‘‘ के नाम से एक विज्ञापन छापा था। क्या अब मुसलमान ‘‘मुस्लिम खून‘‘, ‘‘मुस्लिम हृदय‘‘, ‘‘मुस्लिम आँख‘‘ इत्यादि से अखबारों में विज्ञापन छपवायेंगे? इतने पर भी मुसलमान चिल्लाते हैं कि हमें समाज से अलग किया जा रहा है।
600. भारत में करोड़ों बांग्लादेशी घुसपैठ कर चुके हैं और राॅशन कार्ड प्राप्त कर चुके हैं तथा मतदाता बन चुके हैं। परन्तु तसलीमा नासरीन जो भारत में सही तरीके से आई थी, उसे निकाला जा रहा है। भारत की पूरी मीडिया भी इस पर चुप है और रूढि़वादी उसकी जान के पीछे पड़ गये हैं। इसका अर्थ हुआ कि घुसपैठियों का स्वागत करो और विस्थापितों का विरोध करो।
601. अप्रैल 2007 में पूरी ब्रिटिश मीडिया ने सबका ध्यान केन्द्रित किया था कि किस प्रकार इंग्लैण्ड में मुसलमान हिन्दू लड़कियों को अपना शिकार बनाते हैं। ब्रिटिश प्रेस ने इस मुद्दे पर विस्तृत प्रकाश डाला था। परन्तु पूरी भारतीय मीडिया इस पर चुप थी। क्या ऐसे समाचारों को छापना उनके सेक्युलर धर्म के खिलाफ है? क्यों कि हिन्दू ही इसके शिकार बने थे।
602. सुषमा स्वराज्य जब सूचना प्रसारण मंत्री थी तो उन्होंने एफ.टी.वी के बारे में प्रस्ताव रखा था तब मीडिया ने चिल्ला-चिल्लाकर कहा कि श्ैजवच उवतंस च्वसपबपदहश्ण् अब प्रियरंजन दास मुंशी ने थ्ज्ट को बंद कर दिया है। अब मीडिया वाले और मानवाधिकार वादी संगठनवाले चुप हैं। एन.डी.ए पर आक्रमण करने में वे तेज है पर कांग्रेस पर चुप्पी साध लेते हैं?
603. बहुत सी केन्द्रीय सरकार की इमारतें, दिल्ली का गोल्फ क्लब, जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम, केन्द्रीय सरकार के कार्यालय और बड़ी-बड़ी इमारते लोधी-रोड के आसपास की इमारतें, सी.बी.आई का मुख्य कार्यालय, ओबेराॅय इन्टरकनेनेंट होटल और बहुत से संस्थान वक्फ की जमीन पर है और गैर कानूनी है। तीन दिन के अन्तर्राष्ट्रीय सेमिनार में मुसलमानों ने इसके बारे में चर्चा की। कुछ सम्पतियाँ ही क्यों पूरे भारत पर मुसलमानों का अधिकार होना चाहिए!

604 “Islam – A Concept of Political World Invasion by Muslims” नामक एक किताब जिसे सुप्रीम कोर्ट के वकील आर.वी. बसीन ने लिखा है, पर प्रतिबन्ध लगा दिया गया है (अप्रैल 2007)। प्रिंट और इलॅक्ट्रानिक मीडिया इस घटना पर चुप हैं। उनका उद्देश्य क्या हो सकता है?
605. दिल्ली मेट्रो का मार्ग कुतुबमीनार को बचाने के लिए बदल दिया गया। ताज कोरिडोर स्कीम से ताजमहल को खतरा हो सकता था इसलिए सुप्रीम कोर्ट ने उसे रोक दिया। राम सेतु के लिए यही सिद्धान्त क्यों नहीं अपनाया जाता? क्या ऐसा इसलिए कि रामसेतु हिन्दू संवेदना से जुड़ा है?
606. पंजाब और हरियाणा के उच्च न्यायालय ने सन् 1993 में अपने ऐतिहासिक फैसले में कुरुक्षेत्र स्थित ब्रह्मसरोवर को एक प्राचीन स्मारक और ऐतिहासिक निर्मिति घोषित किया। रामसेतु के केस में भी इतिहास, संस्कृति और बचाव के संदर्भ में इसी भावना का खयाल क्यों नहीं रखा जाय।
607. उड़ीसा राज्य के राज्यस्तर का गीत ‘वंदे उत्कल जननी‘ का उड़ीसा के मुल्ला मौलवियों ने विरोध किया और इसे राज्यस्तर का गीत मानने से इनकार किया क्योंकि इस गीत में माँ उत्कल की वंदना की गई है। एफ फतवा जारी किया गया है कि इसे न गाया जाय। क्या आप नहीं समझते कि मुसलमान हमेशा शत्रुता का भाव रखते हैं और वे राष्ट्र की मुख्यधारा में मिलना नहीं चाहते।
608. पाक पर्यटन मंत्री निलोफर बख्तियार इस्लामिक धर्मगरुओं के गुस्से की शिकार बन गई हैं। क्योंकि वे एक विदेशी व्यक्ति के आलिंगन में आ गई थी। जब वे पैराशूट से नीचे उतर रही थी तो सहायता के लिए वह आदमी आगे आया और दुर्घटना से बचाने के लिए उस आदमी ने निलोफर को अपने आलिंगन में ले लिया। मौलवियों ने पाक सरकार से कहा है कि उन्हें मंत्री परिषद से हटा दिया जाय क्योंकि वे एक विदेशी के आलिंगन में आ चुकी हैं, जो इस्लाम के खिलाफ है। हमारे स्त्रियों के हमदर्द कहाँ है?
609. संप्रग सरकार ने एक सऊदी निवेशक अनीस इकबाल को महाराष्ट्र में कसारा के पास 50 एकड़ के प्लाॅट पर 1000 करोड़ की पूँजी से एक नई फिल्म सिटी बनाने की अनुमति दी है। सऊदियों को भारत में अपनी संस्कृति के प्रचार-प्रसार की अनुमति क्यों दी जानी चाहिए जबकि वे अपने देश में रहने वाले गैर मुस्लिमों को मानवाधिकार से वंचित रखते हैं?
610. राष्ट्र संघ के 205 देशों में से एक भी देश के संविधान में ऐसा प्रावधान नहीं है कि विदेशों में जन्मा हुआ व्यक्ति उस देश के राष्ट्रीय पार्टी का अध्यक्ष या कोई भी राजनीतिक आफिस का प्रमुख बन सकता है। फिर भारत में ही ऐसी छूट क्यों? क्या हमारे कांग्रेसी इतने अधिक चापलूस हो गए हैं?
611. रिचर्ड ग्लैडस्टोन जो ब्रिटिश प्रधानमंत्री थे कुरान की प्रति अपने हाथ में लेकर और उसे सभी बैठे हुए सांसदों के सामने लहराते हुए एक बार कहे थे कि जब तक यह किताब रहेगी तब तक विश्व में शांति नहीं रहेगी। क्या वे मूर्ख थे?
612. राजस्थान की राज्यपाल और संप्रग की ओर से प्रस्तावित राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार प्रतिभा पाटिल ने जून 2007 में कहा कि पर्दा प्रथा का प्रचलन भारत में स्त्रियों को मुगल आक्रमणकारियों से बचाने के लिए हुआ। मुस्लिम नेताओं को उनके इस कथन से चोट पहुँची और वे कहने लगे कि वे संघ की भाषा बोल रही है। परन्तु सत्य तो सत्य है। नहीं तो पर्दा प्रथा कहां से उभरी?
613. मोहम्मद साहब ने अपने अनुयायियों से कहा था कि आज मैं जो कह रहा हूँ उसका 10 प्रतिशत भी तूने करने से छोड़ दिया, तो इस्लाम नष्ट हो जायेगा। एक समय ऐसा आयेगा जब तुम मेरे कहने के अनुसार 10 प्रतिशत भी करोगे, तो इस्लाम कायम रहेगा। इन शब्दों पर विचार करने के बाद मन में ऐसा आता है कि वह सचमुच में एक फरिस्ता था?
614. एक दम्पति मोहम्मद इशाक और बिस्मिल्ला को 23 वाँ बच्चा पैदा हुआ। (नुह, हरियाणा June 2007)। मजे की बात यह है कि इनके तीन बड़े बच्चों की शादियाँ हो गई है और उनके बच्चे भी इनकी ही उम्र के हैं। संप्रग सरकार इन्हें विशेष सुविधा देना चाहती है। परिवार नियोजन का क्या हुआ?
615. एक ईसाई शांतिदूत के.ए. पाॅल अमेरिका में रहता है जिसने हजारों हिन्दुओं को आंध्र प्रदेश में अपने मिशन के अन्तर्गत ईसाई बनाया है। उसने आंध्र प्रदेश के ईसाई मुख्यमंत्री वाई.एस. रेड्डी के ऊपर आरोप लगाया है कि उनसे उसकी जान को खतरा है। ऐसा इसलिए हुआ कि उसने मुख्यमंत्री रेड्डी को उनकी मांग के अनुसार 50 लाख डाॅलर चुनाव के खर्च के लिए नहीं दिया। एक धोखेबाज दूसरे को धोखा दे रहा है।
616. मुंबई की दो लड़कियाँ - समीना (19) और जरीना (18) बम्बई हाई कोर्ट से प्रार्थना की हैं कि उनको उनके पड़ोसियों की प्रताड़ना से बचाया जाय। उनके पड़ोसी नहीं चाहते कि वे ऊँची शिक्षा प्राप्त करें जो गैर इस्लामिक है (जून 07)। फिर भी आप कहते हैं कि इस्लाम एक प्रगतिशील मजहब हैं।
617. कश्मीर के महान मुफ्ती, मुफ्ती मोहम्मद बशीर उद्दीन ने एक फतवा जारी किया है कि मस्जिदों और मजारों के पुनर्निमाण के लिए भारतीय सेना से आर्थिक मदद न लें। क्योंकि यह इस्लाम के खिलाफ है। वे हज सब्सीडी के खिलाफ फतवा क्यों नहीं जारी करते जो हिन्दू कर दाताओं के पैसों और मंदिर की दानपेटियों से दी जाती है।
618. स्विट्जरलैण्ड एक सेक्युलर देश है जिसने मीनार पर प्रतिबन्ध लगा दिया है। क्योंकि मीनार राजनीतिक और आक्रामक इस्लाम का प्रतीक है। जैसे ही मीनारें बनना शुरू होती है इस्लाम वहाँ के लोगों पर छा जाता है। स्विट्जरलैण्ड को निश्चित मालूम है कि इस्लाम का सेक्युलरिजम से कोई लेना-देना नहीं है और दोनों एक दूसरे के विरुद्ध है। हम क्यों नहीं समझ पा रहे हैं?
619. जुलाई 2007 में अमेरिका की उच्च सदन का कार्यारम्भ राजन झेद द्वारा हिन्दू वैदिक मंत्रोच्चार के साथ शुरू हुआ। तब से अमेरिका के बहुत से राज्य अपनी विधान सभाओं का शुभारम्भ हिन्दू प्रार्थनाओं से करते हैं। वेदों और हिन्दुत्व की धरती भारत में क्या कभी ऐसा हो सकता है?
620. क्या लार्ड माउन्टबेटन की पत्नी ऐडविना के कहने से पंडित नेहरू कश्मीर समस्या को राष्ट्र संघ में ले गये? ऐडविना की लड़की पामेला का ऐसा ही कहना है ‘‘उनका (ऐडविना) और जवाहर लाल नेहरू का सम्बन्ध इतना मधुर था कि वे एक दूसरे पर छाये रहते थे‘‘ पामेला ने अपनी किताब में ऐसा लिखा है। दूसरे देशों में ऐसे व्यक्ति को देशद्रोही कहा जायेगा। परन्तु भारत में वे आधुनिक भारत के निर्माता हैं।
621. पश्चिम बंगाल के डायमण्ड हारबर में 15 जुलाई 2007 की रात में शाहजहाँ शेख और मतियार रहमान मुल्ला एक नेपाली हिन्दू के घर का दरवाजा तोड़कर घुस गये। उन्होंने बड़ी लड़की के साथ बलात्कार किया। जब माँ उसे बचाने के लिए गई तो वे माँ के साथ भी बलात्कार किये। जब माँ पुलिस स्टेशन गई और वहाँ से वापस आई तो उसने देखा कि उसकी छोटी लड़की भी बलात्कार की शिकार बन गई थी (आनन्द बाजार पत्रिका और टाइम्स आॅफ इंडिया 17 जुलाई 2007)। काफिरों के साथ बलात्कार करना इस्लाम में पुरस्कृत है।
622. हमारे प्रधानमंत्री और गृहमंत्री का कहना है कि आतंकवाद का कोई धर्म नहीं है। ठीक है। तब वे मालेगाँव मस्जिद में बम विस्फोट के समय हिन्दू कट्टरपंथियों के बारे में क्यों बोलते हैं? आतंकवाद की तरह रूढवादिता का भी कोई धर्म नहीं है। क्या वे कभी मुस्लिम रूढ़वादिता के बारे में कुछ कहेंगे?
623. पुरस्कार वितरण समारोह में (सितम्बर 2007) पाकिस्तान के कप्तान शोयब मलिक ने कहा, ‘‘मैं पाकिस्तान और दुनिया के मुसलमानों को धन्यवाद देता हूँ। आपको बहुत-बहुत धन्यवाद।‘‘ विश्व हिन्दू परिषद का प्रेस बयान था ‘‘अद्भुत विजय के उपलक्ष्य में खिलाडियों और देशवासियों के प्रति आभार।‘‘ अपने दल में भी मुस्लिम थे। इस पर विचार करते हुए आप सोच सकते हैं कि किसका उद्गार उत्तेजक और साम्प्रदायिक है?
624. इलाहाबाद हाई कोर्ट ने ऐसा सुझाव दिया कि प्रत्येक नागरिक को गीता में बताये हुए मार्ग पर चलना चाहिए (सितम्बर 2007)। केन्द्रीय कानून मंत्री एच. आर भारद्वाज ने कहा, ‘‘प्रत्येक धर्म के पास अपना धर्म शास्त्र है।‘‘ क्या इस्लाम और ईसाइयत धर्म हैं? क्या वे धर्म और रिलिजन में जो अन्तर है, उसके बारे में भ्रम नहीं पैदा कर रहे हैं?
625. रामसेतु के प्रति हिन्दुओं की जो आस्था है उसके प्रति सेक्युलरिस्टों ने प्रश्न चिह्न लगाया। क्या वे ऐसा पूछ सकते हैं कि श्रीनगर स्थित दरगाह में जो हजरत मोहम्मद साहब का बाल है, उसका क्या प्रमाण है? जब वे हिन्दुओं की आस्थाओं पर प्रश्न चिह्न लगा सकते हैं, तो मुसलमानों की आस्थाओं पर प्रश्न चिह्न लगाने में डरते क्यों हैं? क्या ऐसा इसलिए कि हिन्दू सहिष्णु हैं?
626. यदि रामसेतु मात्र समुद्री चट्टानों की श्रेणी है, तो संप्रग सरकार ने इसे सेतु समुद्रम जहाज परिवहन मार्ग प्रकल्प का नाम क्यों दिया? सेतु शब्द का अर्थ ही पुल है। तो सरकार पुल की उपस्थिति को कैसे इनकार कर सकती है?
627. एक नास्तिक व्यक्ति सभी धर्मों का विरोध करता है। परन्तु डी.एम.के, डी.के और कम्युनिस्ट ईसाइयत या इस्लाम के मुद्दे पर सभी भाई-भाई हो जाते हैं। वे इफ्तार पार्टियों और ईसाई सम्मेलनों में भी शामिल होते हैं। वे केवल हिन्दुत्व का ही विरोध करते हैं। क्या वे छली नहीं है?
628. श्रीनगर में 6 दिसम्बर 2007 को एक तेंदुआ एक मुस्लिम लड़की को घायलकर मार डाला। जब पुलिस वाले लड़की को मृत अवस्था में उसके गांव माचिपुरा में लाये तो स्थानीय मुसलमानों ने पुलिस पर धावा बोल दिया। अब पुलिस की इसमें क्या गलती है जिसके कारण शांति के मजहब के अनुयायी पुलिस पर धावा बोल दिये?
629. जब संप्रग सरकार राम और रामायण के अस्तित्व को नकार रही है तो भारत और अमेरिका स्थित व्यापारिक स्कूलों और आई.आई.एम के पाठ्यक्रमों में नेतृत्व, व्यवस्था और प्रशासनिक गुणों के विकास और शिक्षण के लिए ऐसे पाठों का चयन किया गया है जो रामायण से संकलित किए गए हैं। यही तो हिन्दुत्व की विशेषता है। जितना ही आप उसे दबाने का प्रयत्न करेंगे उतना ही तेजी से इसका विकास होगा।
630. मुम्बई स्थित एक मुस्लिम संगठन ‘‘दारूल-इफ्ता-मंजर-ए-इस्लाम‘‘ ने गणेश पूजा में सम्मिलत होने के विरोध में सलमान खान के विरुद्ध एक फतवा जारी किया है कि इस्लाम में मूर्ति पूजा वर्जित है। और आप गाते हैं - ‘‘मजहब नहीं सिखाता आपस में बैर करना‘‘ और सभी धर्म एक ही है।
631. सी.पी.एम जनरल सेक्रेटरी प्रकाश करात ने पूछा है कि तिब्बतियों के आंदोलन को दबाने के लिए चीन ने जो कार्यवाही की है उसके खिलाफ बोलने का भारत के पास क्या नैतिक अधिकार है? और आगे कहा है कि क्या भारत सरकार जम्मू-कश्मीर या नागालैण्ड को स्वतंत्र करने की गतिविधियों को वहाँ चलने देगी? भारत के प्रति उनकी (अ)निष्ठा को आप समझ सकते हैं। और आज ऐसे लोग ही सरकार चला रहे हैं? क्या ऐसे हाथों में देश सुरक्षित है?
632. पाक स्थित कराची में एक हिन्दू फैक्ट्री कामगार जगदीश (22) को उसके साथ काम करने वाले कामगारों नें मोहम्मद साहब की निन्दा करने के कारण उसे पीट-पीटकर मार डाला। फैक्ट्री के मैनेजर ने लगभग 40 हिन्दू कार्यकर्ताओं को काम पर से निकाल दिया है। उस क्षेत्र में रहने वाले लगभग 2,000 हिन्दुओं को अपनी जान का खतरा है। जरा आप तुलना कीजिए कि कैसे भारत मुस्लिमों के प्रति व्यवहार करता है और कैसे पाकिस्तान हिन्दुओं के प्रति व्यवहार करता है। फिर भी हमें असहिष्णु कहा जाता है।
633. ‘हर-हर महादेव‘, ‘जय श्रीराम‘, ‘भारत माता की जय‘ इत्यादि घोषणाएँ मुसलमानों द्वारा धमकी समझी जाती हैं। और कृतज्ञसरकार हिन्दुओं से कहती है कि ऐसी उत्तेजक घोषणाएँ न की जाय। इसी तरह क्या हिन्दू कह सकते हैं कि ‘‘अल्लह-हो-अकबर‘‘ यह एक युद्ध घोषणा है? जो वास्तव में है भी?
634. उत्तर प्रदेश, गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधान सभाओं के चुनाव प्रचार में राहुल गाँधी ‘स्टार प्रचारक‘ थे। परन्तु तीनों चुनाओं में कांग्रेस की हार हुई। फिर भी उन्हें कांग्रेस का जनरल सेक्रेटरी बनाया गया। यह क्या दर्शाता है? अवनति के बदले प्रगति?
635. मुंबई में कुछ वर्ष पहले जब शिवसेना प्रमुख बाला साहब ठाकरे ने कथित साम्प्रदायिक बात कही थी तो चुनाव आयुक्त ने उन्हें 6 साल के लिए मताधिकार से वंचित कर दिया था। परन्तु मुख्यमंत्री करुणानिधि ने राम को शराबी कहा, तो चुनाव आयुक्त और हमारे सभी सेक्युलरिस्ट इस मुद्दे पर चुप हैं? क्या यही उनका सेक्युलर धर्म है?
636. जब भाजपा ने लखनऊ में एक सी.डी निकाली तो सभी सेक्युलर पार्टियाँ इसकी मान्यता रद्द कर देने के लिए चिल्लाने लगी। परन्तु जब डी.एम.के के गुण्डों ने तमिलनाडु में ऐलान किया कि भाजपा वि.हि.प और हिन्दू मुन्ननी के कार्यकर्ताओं को गलियों और सड़कों पर घूमने नहीं दिया जायेगा तो किसी ने भी इसकी निन्दा नहीं की। इसकी मान्यता रद्द करने की बात तो छोडि़ए। क्या यह उनके सेक्युलर धर्म के विपरीत है?
637. सुप्रीम कोर्ट ने समुद्र में स्थित रामसेतु की पूजा पर सवाल उठाया (15 अप्रैल 2008)। सूर्य देवता जो आकश में हमसे करोड़ों मील दूर हैं, हिन्दुओं द्वारा रोज पूजे जाते हैं। इसी प्रकार भगवान शिव का निवास स्थान कैलाश पर्वत भी हमसे बहुत-बहुत दूर है, फिर भी करोड़ों हिन्दू दूर से ही उसकी पूजा करते हैं। तब रामसेतु की पूजा पर ही सुप्रीम कोर्ट क्यों संदेहास्पद प्रश्न पूछता है?
638. इस समय बहुत से अन्तर्राष्ट्रीय अपराधी गिरोह हैं। इस गिरोह का कोई व्यक्ति गिरोह से अपना संबंध विच्छेदकर सम्मानित जीवन जीने की कोशिश करता है तो तुरन्त गद्दार घोषित कर दिया जाता है और उसकी हत्या कर दी जाती है। ऐसा ही इस्लाम में होता है। इस्लाम को मजहब कहा जा सकता है क्या?
639. सुप्रीम कोर्ट ने पूछा - ‘‘ऐसा मत कहिए की लोग वहाँ जाते हैं और पूजा करते हैं। कौन कहता है यह (रामसेतु) पूजा स्थल है?‘‘ इसी सांस में क्या वे पूछेंगे - ‘ऐसा मत कहिए लोग (मुस्लिम) वहाँ जाते हैं और पूजा करते हैं। कौन कहता है यह (रामजन्मभूमि) मुसलमानों की पूजा स्थली है?‘ ऐसा वे कभी नहीं कहेंगे। क्योंकि हिन्दुओं की संवेदनाओं को ठेस पहुँचाना और मुसलमानों की खुशामद करना ही सेक्युलरिज्म है।
640. 13 मई 2008 को जयपुर में हुए श्रृंखलाबद्ध बम विस्फोट के संदर्भ में गृहमंत्री कहते हैं कि केन्द्र राज्य सरकार को सभी सहायता मुहैया करायेगा। यूपीए सरकार ने राजस्थान सरकार द्वारा बनाये गये अपराध नियंत्रक कानून पर हस्ताक्षर करने से इनकार कर दिया है। इसी प्रकार से गुजरात सरकार द्वारा बनाये गए कानून को भी केन्द्र सरकार ने दो साल से रोककर रखा है। आतंकवाद से लड़ने के लिए राज्य सरकार की मदद में केन्द्र सरकार का यह बर्ताव निश्चित रूप से सहायक नहीं है।

641. भारत में पितृपक्ष के दादाजी मातृपक्ष के नानाजी से ज्यादा महत्व रखते हैं। नेहरू परिवार में ऐसा कैसे हुआ जहाँ मातृपक्ष के नानाजी की ही चर्चा होती है अपेक्षाकृत पितृपक्ष के दादाजी की। राजीव गाँधी और राहुल गाँधी के दादाजी कौन थे?
642. जर्मनी भारत को उन भारतीय काला पैसा धारकों की सूची बताना चाहता है जिनका पैसा आस्ट्रिया के समीप एक छोटा देश लाइचटेन्स्टीस के गुप्त बैंक खाते में जमा है (टाइम्स आॅफ इंडिया 21 मई 2008)। परन्तु वित्तमंत्री और प्रधानमंत्री के कार्यालय ने इसमें कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई। क्या ऐसा इसलिये किया जा रहा है कि उस सूची में इनके सम्बन्धियों का भी नाम हो सकता है?
643. कराची स्थित 100 वर्ष पुराने एक मंदिर का उपयोग एक पठान द्वारा आॅटो वर्कशाॅप के रूप में किया जा रहा है (टाइम्स आॅफ इंडिया 7 मई 2008)। क्या आप कल्पना कर सकते हैं कि भारत स्थित किसी मस्जिद में ऐसा किया जा सकता है? हमारे सेक्युलरिस्टों के ऊपर आसमान टूट पड़ेगा। परन्तु वे पाकिस्तान और बांग्लादेश में रह रहे हिन्दुओं के बारे में कभी नहीं सोचते।
644. गृहमंत्री शिवराज पाटिल ने मोहम्मद अफजल की फांसी और सरबजीत सिंह की फाँसी को समानन्तर बताया है। ऐसा लगता है कि उनका बौद्धिक दिवाला निकल गया है। हमारी संसद को उड़ा देने के षडयंत्र की तुलना गलती से पाक क्षेत्र में प्रवेश कर गये घुसपैठी से की जा सकती है? या वे प्रमाणित तो नहीं कर रहे हैं कि सरबजीत वास्तव में एक खुफिया था।
645. लालू, मुलायम, करुणानिधि, जयललिता, भाजपा अध्यक्ष इत्यादि सभी चुनाव में हुई पराजय की जिम्मेदारी स्वीकारते हैं। क्या सोनिया या राहुल कभी पराजय की जिम्मेदारी अपने ऊपर लेते हैं? वे हमेशा इसके लिए बलि का बकरा ढूँढ़ते हैं। विजयोत्सव में वे फूलों की माला स्वीकारने के लिए दौड़ पड़ते हैं, परन्तु पराजय के समय वे भाग खड़े होते हैं। वे किस तरह के नेता हैं?
646. सन् 2001 में राजग सरकार 500 करोड़ का नुकसान और 1 वर्ष की देरी को बर्दाश्त करते हुए एक मुस्लिम गैर सरकारी संगठन की शिकायत पर कि मेट्रो रेलवे मार्ग के निर्माण से कुतुबमीनार के समीप बनी तीन कब्रों में दरार पड़ सकती है, दिल्ली मेट्रो रेलवे के मार्ग को बदल दिया। परन्तु संप्रग सरकार ने रामसेतु को न तोड़ने के लिए 35 लाख हस्ताक्षरकर्ताओं की अपील को दुर्लक्ष्य किया।
647. क्या आप को मालूम है कि तमिलनाडु के लगभग 40 पंचायतों में मुस्लिमों का बाहुल्य है? उन्होंने हिन्दुओं को पानी, स्कूल, कचरा हटाओं जैसी नागरिक सुविधाओं की आपूर्ति करना बंद कर दिया है। वे उर्दू में सूचनायें दे रहे हैं कि यदि लोगों को ये सुविधाएँ चाहिये तो उन्हें मुसलमान बनना पड़ेगा। करुणानिधि जो तमिल संस्कृति पर गर्व करते हैं, इन धमकियों को अनसुना कर रहे हैं।
648. मुस्लिम लीग के कार्यकर्ता नें करीपुर एयरपोर्ट पर चढ़ गये, अपने राष्ट्र ध्वज को हटा कर मुस्लिम लीग का झंडा फहरा दिये। अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है। मुस्लिम लीग नेता ई. अहमद हमारे विदेश राज्य मंत्री हैं।
649. अहमदिया जो अपने आपको मुस्लिम बताते हैं, मुसलमान उन्हें मुस्लिम होने की मान्यता प्रदान नहीं करते। पाकिस्तान, बांग्लादेश और इंडोनेशिया में वे सुन्नी मुसलमानों द्वारा सताये जाते हैं। परन्तु भारत में दलितों को उनके नेता अपने राजनीतिक लाभ के लिए उन्हें अपने आपको हिन्दू न कहने के लिए दबाव डालते हैं। हाँ, हिन्दू समाज को बांटना उनके लिए लाभ दायक है।
650. एक सिंह के द्वारा हजारों बकरे जीवन रक्षार्थ भागने के लिए विवश कर दिये जाते हैं। क्या हिन्दू बकरे बन गए हैं? ऐ हिन्दुओं, आओ और यह सिद्ध कर दो कि तुम बकरे नहीं बल्कि सिंह हो। वास्तव में आप वह है भी।
651. हमारे संविधान की प्रस्तावना में ऐसा लिखा गया है कि हम भारत के लोगनिष्ठापूर्वक इसे अंगीकृत कर और इसके नियमों में बंधकर इस संविधान को अपनेआप को सुपुर्द करते हैं. इसे भारत के लोगों द्वारा कब अंगीकृत किया गया था?क्या कभी इसे भारतीय जनता के सामने प्रमाणित (ratification) करने के लिएप्रस्तुत किया गया था? यदि ऐसा नहीं किया गया था, तो क्या यह भारत के लोगोंके साथ एक छल नहीं है?
652. क्या आप जानते हैं कि मुमताज शाहजहाँ की सात पत्नियों में से चैथी पत्नी थी.मुमताज से शादी करने के लिए शाहजहाँ ने उसके पति की हत्या कर दी थी. अपनी 14 वीं सन्तान को जन्म देते समय मुमताज की मृत्यु हो गई. फिर शाहजहाँने उसकीबहन से शादी की. इस तरह से क्या इसे ही प्यार कहते हैं? क्या ताजमहल सचमुचप्रेम का प्रतीक है?
653. भारत में आदिनाथ मस्जिद, सीता की रसोई मस्जिद, अटलादेवी मस्जिद, विजयमंदिर मस्जिद हमें देखने को मिलता है. क्या ये सभी मस्जिदें हिन्दू मंदिरों को तोड़कर नहीं बनाई गई है? मस्जिदों के निर्माण के लिए इतने वृहद पैमाने पर मंदिरोंको तोड़ा गया कि मुस्लिम आक्रान्ताओं ने उनके नाम बदलने की भी चिन्ता नहींकी. यह कैसे हुआ?
654. चुनाव के समय भड़काऊ भाषण देने के जुर्म में वरुण गाँधी को यूपी में जेल में बंदकर दिया गया. डॉ. प्रवीण तोगड़िया को त्रिशूल वितरण और देश द्रोह के लिए राजस्थान सरकार ने गिरफ्तार कर लिया. अरुन्धती राय अलगाववादी भाषण देती है और गृहमंत्री साहब कहते हैं कि यह कोई अपराध नहीं है. क्या है राष्ट्रीयता?
655. 21 अक्टूबर 2010 को दिल्ली में कश्मीरी हिन्दू भारत माता की जय और वंदेमातरम का नारा लगा रहे थे. पुलिस ने उनपर लाठी चार्ज किया और जेल भेजदिया. ऐसा उन्होंने अलगाववादी एस.ए.एस जिलानी, एस.आर.ए.गिलानी और अन्य पृथकतावादी लोगों को खुश करने और उनकी सुरक्षा में किया जो पाकिस्तान जिन्दाबाद का नारा लगा रहे थे. क्या आप ऐसा नहीं सोचते कि हम किस विचित्र देश में रह रहे हैं ?
656. 21 अक्टूबर 2010 को दिल्ली में आयोजित एक सेमिनार में अरुन्धती राय ने कहा कि कश्मीर को भूखे नंगे भारत से अलग होने की जरूरत है. यदि भारत भूखा-नंगा है तो वह भारत की नागरिकता त्याग कर पाकिस्तान में क्यों नहीं शरण ले लेती?
657. देश में कहीं भी छोटे से दंगों के समय देखते ही गोली मारने का आदेश दियाजाता है. परन्तु अलगाववादी जो भारत से अलग होने के लिए लोगों को भड़कातेहैं और पुलिस पर पत्थर फेकते हैं उनके ऊपर गोली-चलाने से पुलिस बल को रोका जाता है और उन्हें अलगाववादियों की पत्थर की मार सहने और कश्मीर में पाकिस्तान जिन्दाबाद का नारा सुनने के लिए विवश किया जाता है. देशद्रोहियों से निपटने का क्या यही तरीका है?
658. कश्मीरी हिन्दू जो देशभक्ति दिखाते हैं और भारत के संविधान के प्रति निष्ठावान हैं,उनके साथ शत्रुवत व्यवहार किया जाता है और जो लोग भारत से अलग होने की बात करते हैं और देशद्रोह भड़काते हैं उनके साथ राज्य अतिथि की तरह व्यवहार किया जाता है. क्या आप सोचते हैं कि इस तरह के व्यवहार से कश्मीर समस्या का समाधान हो जायेगा?
659. कश्मीर में आजादी की मांग कौन कर रहा है - सुन्नी या शिया - क्योंकि पाकिस्तान, इरान, अफगानिस्तान इत्यादि देशों में सुन्नी शिया की हत्या कर रहे हैं. और वे दोनों मिलकर अहमदिया मुसलमानों की हत्या कर रहे हैं. अतः इस आजादी का आनंद कौन उठायेगा? सुन्नी, शिया या अहमदिया?
660. क्या कोई हमें बता सकता है कि कश्मीर में वास्तविक समस्या क्या है? कश्मीर में ऐसी कौन-सी समस्या है जो भारत के दूसरे प्रदेशों में नहीं है? कश्मीर की वास्तविकसमस्या इस्लाम है जिसे सभी जानते हैं परन्तु कोई इसे स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं है. इस मूल कारण को समझे बिना कोई भी इस समस्या का समाधान कैसे निकाल सकता है? क्या कोई डॉक्टर रोगी की जाँच पड़ताल किये बिना रोगी काइलाज करेगा?
661. कम्प्युटर में सॉफ्टवेयर के अनुसार ही आप को आउट पुट प्राप्त होता है. हार्डवेयरकेवल-दिखाने के रूप में रहती है. इसी तरह कश्मीर में हार्डवेयर (जेहादी) उसी तरहसे काम करते हैं जैसे साफ्टवेयर (इस्लाम) उन्हें करने की सलाह देता है. जब तकहम इस सम्बन्ध को समझेंगे नहीं तब तक क्या हम कश्मीर की समस्या कासमाधान ढूँढ पायेंगे?
662. लगभग 60 दलित परिवार कश्मीर में भंगी का काम करने के लिए बुलाये गये. वेवहाँ बसाये गये और वहां के नागरिक भी बन गये हैं. आज उनकी संतान डॉक्टर,इंजीनियर और वैज्ञानिक बन गये हैं. परन्तु आज भी कश्मीर सरकार उन्हें भंगी का काम करने के लिए ही कहती है, क्योंकि वे इसीलिए वहाँ बसाये गये हैं. इतनी उच्चशिक्षा प्राप्त करने के बाद भी उनकी संतानों को दूसरा काम नहीं करने दिया जाताहै. यह कहाँ का न्याय है?
663. नाथूराम गोडसे ने गाँधीजी की हत्या की. कांग्रेसी अभी भी संघ को दोष देते हैं जब कि गोडसे कभी भी संघ से सम्बन्धित नहीं था. न्यायपालिका ने भी इस तथ्यको प्रमाणित कर दिया है. इसी पैमाने के अन्तर्गत न्यूयार्क स्थित वल्र्ड ट्रेड सेन्टर पर बमबारी के लिए भला कांग्रेस इस्लाम पर दोषारोपण कर सकती है? ओसमा बिन लादेन ने तो इस्लाम के हित में ही यह बमबारी की थी. परन्तु गोडसे ने तो संघ के हित में यह काम किया ही नहीं था. संघ एक संगठन है. किसी व्यक्तिद्वारा किये गये अपराध के लिए कांग्रेस संघ को बदनाम करती है. क्या यही नीति अपना कर कांग्रेस मुस्लिम आतंक के लिए इस्लाम को भी दोषी ठहरा सकती है?
664. गुजरात के कांग्रेस के पूर्व मंत्री मोहम्मद सूरती और पूर्व नगरसेवक इकबालवाडीवाला अक्टूबर 2008 में टाडा कोर्ट द्वारा दोषी ठहराये गये. ऊपर वर्णित पैमाने के अन्तर्गत क्या हम कांग्रेस को आतंकवादियों का संगठन कह सकते हैं और उस पर प्रतिबन्ध लगाने का मांग कर सकते हैं?
665. डॉ. ए.पी.जे अब्दुल कलाम दयानन्द पाण्डेय के नाम से विख्यात स्वामी अमृतानन्ददेव तीर्थ जो मालेगाव बम काण्ड के अन्तर्गत एक अभियुक्त के रूप में दूसरी अभियुक्त साधवी प्रज्ञा सिंह के साथ जेल में बंद हैं मिले थे. किसी का इस तरह सामान्य रूप से मिलना क्या कोई अपराध है? ऐसे तथा कथित अपराधियों से मिलने के बाद डॉ. कलाम को अपराधियों से सम्बन्धित बताना क्या हास्यास्पद नहीं है? इसी तरह इन्द्रेश कुमार को स्वामी अमृतानन्द देव तीर्थ से मिलना अपराध कैसे हो सकता है?
666. सरकारी वकील अजय मिसर ने कहा कि 29 सितम्बर 2006 को हुए मालेगांव विस्फोट में जो मोटर साइकल का उपयोग किया गया था, वह साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर की थी. कितनी साध्वियाँ मोटर साइकल की सवारी करती हैं? कोई नहीं. परन्तु ए.टी.एस के लिए यह एक मुख्य प्रमाण है कि वे विस्फोट में सहभागी थी!
667. जैसे-जैसे रामजन्मभूमि केस में फैसले का दिन अर्थात 30 सितम्बर 2010 नजदीक आने लगा वैसे-वैसे टी.वी चैनलों द्वारा जोर-शोर से प्रचार करवाया गयाकि हमें न्यायालय के फैसले को स्वीकार करना चाहिए. परन्तु जैसे ही न्यायालयका फैसला सुनाया गया स्वीकृति की सारी अपील शून्य में मिल गई. वे न्यायालयके फैसले मे दोष ढूँढने लगे. क्या पत्रकारिता की यही जिम्मेदारी है?
668. फैसला दिन 30 सितम्बर 2010 के ठीक पहले भारत सरकार ने सभी समाचार पत्रोंमें बड़ा-बड़ा विज्ञापन छपवाया और लोगों से शांति बनाये रखने की अपील की. प्रधानमंत्री और गृहमंत्री ने टी.वी के पर्दे पर आकर लोगों से शांति बनाये रखनेकी गुहार लगाई. वायु सेना के हेलीकाप्टर और रैपिड एक्शन फोर्स को भी तैयाररहने के लिए कहा गया. पूरे देश में एक भय का वातावरण निर्माण किया गया. 30 सितम्बर को बहुत से कार्यालय एक दिन के लिए बंद रखे गये. सड़क, बसस्टॉप, रेलवे स्टेशन और बाजार विरान नजर आ रहे थे. ऐसी स्थिति तब थी जबकि दोनों दावेदार शांति बनाये रखने के लिए तैयार थे. फैसला आ चुका है. अपने कथानुसार हिन्दू और मुसलमान दोनों शान्त हैं. प्रश्न यह है कि क्या भारत सरकार यह सोचती है कि उसके नागरिक स्वभाव से अपराधी और बाधा उत्पन्न करनेवाले लोग हैं? किस उपद्रवी तत्वों से वे डरे हुए थे? आम आदमी समझता है कि फैसले के बाद भारत सरकार का मुँह-काला हो गया है. लोगों ने अपनी समझदारी का भरपूर परिचय दिया, परन्तु सरकार ऐसा न कर सकी.
669. बाबर एक शिया-मुसलमान था और बाबरी ढांचा एक शिया ढांचा था. शिया मुसलमान अयोध्या में राम मंदिर बनाने के पक्ष में हैं. वे इसके लिए आर्थिक मदददेने के लिए भी तैयार हैं. केवल जिद्दी सुन्नी मुस्लिम ही इसका विरोध कर रहे हैं.जब शिया और सुन्नी पाकिस्तान, इराक, अफगानिस्तान इत्यादि जगहों पर एक दूसरे की हत्या कर रहे हैं, तो सुन्नी मुसलमान यह अनावश्यक मदद क्यों दे रहे हैं. क्या इस समस्या को जिवन्त रखने के लिए वे ऐसा कर रहे है?
670. रामजन्मभूमि केस में इलाहाबाद हाई कोर्ट का फैसला जो लग भग 8500 पृष्ठों का था 30 सितम्बर 2010 को सुनाया गया. किसी भी निपुण वकील को फैसला पढ़ने में कई दिन लगेंगे. परन्तु एक दिन में ही अर्थात पहली अक्टूबर 2010 को ही एक हिन्दू विरोधी गैर सरकारी संस्था - सहमत - 61 लोगों के हस्ताक्षर के साथ फैसले में दोष निकालते हुए सामने आई. ऐसा कैसे सम्भव हो सकता है?
671. अपने विषयात्मक वक्तव्य में, सहमत अपने आप में विरोधाभास व्यक्त कर रहा है. एक जगह वह कह रहा है कि फैसले में ए.एस.आई के खोज के प्रति दुर्लक्ष्य कियागया है. दूसरी जगह वह ए.एस.आई को ही दोष दे रहा है कि इसकी खोज सहीनहीं है. इस तरह वे ए.एस.आई की खोज को विवादस्पद बता रहे है. क्या यहहास्यास्पद नहीं है?
672. मंगलौर मैं राम सेना ने जब एक शराब के अड्डे पर जाकर तोड़ फोड़ किया तो मीडिया ने नैतिकता के नाम पर बहुत दिनों तक इसकी निन्दा की. अक्टूबर 2010 को मंगलौर में जब एक मुस्लिम महिला प्रार्थना के लिए मस्जिद में जा रही थी,तो उसे जबर्दस्ती मस्जिद में जाने से रोका गया. पुलिस भी दर्जनों लोगों को गिरफ्तार कर ली. परन्तु इस समाचार के बारे में इलेक्ट्रॉनिक मीडिया ने कुछ नहीं बताया. क्या भारतीय मीडिया की कोई नैतिकता है?
673. राहुल गाँधी ने आर.एस.एस की तुलना सिमी से की है. क्या आर.एस.एस राष्ट्रविरोधी है? यदि ऐसा है, तो पं.नेहरू ने 1962 में चीन के साथ युद्ध में आर.एस.एस की मदद से प्रभावित होकर 26 जनवरी 1963 की गणतंत्र दिवस की परेड में शामिल होने के लिए आर.एस.एस को क्यों आमंत्रित किया? सन् 1965 में पाकिस्तान के साथ युद्ध के समय तत्कालीन प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने आर.एस.एस पर विश्वासकर दिल्ली में यातायात की व्यवस्था उसके कंधों पर सौंपी थी. क्यों?
674. कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु संघवी को कांग्रेस हाई कमान ने प्रवक्ता पद से हटा दिया था, क्योंकि उन्होंने केरल हाईकोर्ट में एक लॉटरी माफिया की तरफ से वकील के रूप में बहस की थी. परन्तु राम जेठमलानी जिन्होंने संसद भवन पर बम विस्फोट केस में अभियुक्त एस.आर.ए गिलानी की तरफ से वकालत की थी और केस से मुक्तकरवाया था, उन्हें भाजपा ने राज्य सभा में चुनकर भेज दिया. क्या भाजपा की कांग्रेस से अलग की यही पहचान है?
675. कोलकाता के चिंगीपोटा के श्री प्रशांत दास ने अपने बंगले के गेट पर भगवान हनुमान की बड़ी मूर्ति स्थापित की है. एक पुलिस ऑफिसर इस मूर्ति को वहां से तुरन्त हटाने की मांग कर रहा है. क्योंकि इसके समीप एक मस्जिद है और नमाज के समय मूर्ति से मुसलमानों की मजहबी भावना पर ठेस लगती है. क्या यही धार्मिक सहिष्णुता है?
676. यद्यपि कॉमन वेल्थ गेम्स ऑर्गनाइजेशन कमेटी को तैयारी के लिए दस वर्ष का समय था. अंत में सेना को उत्तरदायित्व संभालना पड़ा और नुकसान की भरपाई करनी पड़ी. आर्गनाईजेशन कमेटी 10 वर्षों तक सोई क्यों रही? क्या सेना ठेकेदार मजदूर है?
677. केरल सरकार ने मलयाली कमान्डो ऑफिसर मेजर संदीप उन्नीकृष्णन जिन्होंने आतंकवादी हमले से मुंबई को बचाने के लिए अपना जीवन न्यौछावर कर दिया,को 3 लाख रूपये दान के रूप में दिया. यही सरकार मल्लापुरम शराब-हादसे में मारे गये लोगों को 5 लाख रूपये सहायता के रूप में दी. क्या राष्ट्र के लिए जीवन न्यौछावर करना लाभदायक है?
678. भारत सरकार के राज्य गृहमंत्री मुल्लाप्पली रामचन्द्र ने हाल ही में केरल मे ऐसी घोषणा की है कि केरल में रह रहे पाकिस्तानी जिनकी अवधि समाप्त हो गई है,उन्हें घबराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि पासपोर्ट में आवश्यक फेर बदल कर उन्हें केरल में रहने की सुविधा प्रदान की गई है. इसी तरह पाकिस्तानी आतंकवादी,मिशनरी और घुसपैठी बांगलादेशी को डरने की जरूरत नहीं है. क्या भारत अनाथालय है?
679. राजदीप सरदेसाई सन् 2008 में CNN-IBN शुरू किए और 2007 में पदमश्रीपुरस्कार प्राप्त कर लिये. वहीं आर.के. लक्ष्मण को पद्मश्री पुरस्कार पाने में 10 वर्ष लगे और विनोद दुआ को यह पुरस्कार पाने में 30 वर्ष लगे. कांग्रेस का हाथ राजदीप के साथ!
680. अयोध्या स्थित राममंदिर मे रखे दानपत्रों से प्रति महीने 1.50 लाख रुपये की प्राप्ति होती है. परन्तु मुख्य पुजारी को प्रति महीने रु 43,000 का चेक पूजा अर्चना,भोग के लिए और पांच कर्मचारियों को वेतन, भुगतान करने के लिए मिलता है. इतने बडे खर्च के लिए इतने थोड़े से रुपया में कैसे व्यवस्था होती होगी? रामलला पर पूरी रकम क्यों नहीं खर्च कर दी जाती?
681. स्वामी अग्निवेश कश्मीरी अलगाववादियों से मिले और उनके विचारों से सहमती प्रकट की कि भारतीय सेना और अर्द्ध सैनिक बल के जवान कश्मीरी मुसलमानों के साथ बर्बरता पूर्ण व्यवहार कर रहे है तथा जानबूझकर भोले-भाले कश्मीरीमुसलमानों को मार रहे हैं. क्या आप उनके विचारों से सहमत हैं? क्या वे देशद्रोही नहीं हैं?
682. केरल के आई.ए.एस अधिकारी पी.जे. थॉमस जिन्हें मुख्य विजिलेंस कमीश्नर नियुक्त किया गया था, वे अभी भी पामोलियन आपात केस में एक अभियुक्त है.वे 2जी स्पेक्ट्रम घोटाले में भी शामिल है. क्या वे इस पद के योग्य हैं? उनकी नियुक्ति में कोई विशिष्ठ उद्देश्य नीहित है?
683. तमिलनाडु के त्रिची के एक ईसाई दफनभूमि में एक विभाजक दीवार खड़ी है.उसके एक तरफ दलित तथा दूसरी तरफ उच्च जाति के मृत ईसाई दफनायें जाते हैं. तमिलनाडु में ही उडुमलयिपेठ में एक चर्च जातीय झगड़े के कारण बंद है. फिरभी पादरी और फादर कहते हैं कि ईसाइयत में जाति प्रथा बिल्कुल नहीं है?
684. कश्मीर में तीन महीने के अन्दर 64 भोले-भाले नागरिकों की हत्या कर दी गई. बहुत से राज्यों में बहुत से अपराधी इनकाउनटर में मार डाले गये. इनकी कोई गणना नहीं. परन्तु एक खुंखार आतंकवादी पुलिस की गोली से गुजरात में मार डाला गया, तो यूपीए सरकार नरेन्द्र मोदी के पीछे पड़ी है. क्या आप उनके दोहरे मापदण्ड से परिचित हैं?
685. नोएडा और गाँधीधाम में बने अक्षरधाम मंदिर के ट्रस्टी को चीन की सरकार ने,वैसा ही मंदिर चीन स्थिति फेहसन राज्य में बनाने के लिए, आमंत्रित किया है. फिर भारत के कम्युनिस्ट आयोध्या में राम मंदिर निर्माण का विरोध क्यों कर रहे हैं ?(अक्टूबर 2010)
686. दिसम्बर 08, 2010, आई.पी.एस ऑफिसर गीता जौहरी ने सितम्बर 2010 में सुप्रीम कोर्ट में एक जनहिज याचिका दायर की है कि सीबीआई भाजपा शासित गुजरात की पुलिस को जानबूझकर निशाने पर ले रही है जबकि कांग्रेस शासित आंध्र प्रदेश के सात पुलिस कर्मियों जिन्होंने सोहराबुद्दीन इनकाउन्टर में मदद की थी को बचा रही है. इतने पर भी आपको कुछ और प्रमाणों की जरूरत है कि सीबीआई पक्षपात नहीं कर रही है?
687. प्रिसेप्ट स्टेशन से टाटा स्टेशन तक रेल लाइन बिचाने की योजना के 9 सितम्बर 2010 के उद्घाटन अवसर के विज्ञापन में रेलमंत्री ममता बेनर्जी हिजब पहनकर नमाज पढ़ रही थी. विज्ञापन में इस्लामिक प्रतीक चाँद और तारा और मस्जिद भी था. नीचे ’ईद का उपहार’ भी लिखा था. कोई कम्युनलिज्म की बात नहीं करता,क्यों? क्या यह सेक्युलरिज्म है?
688. सितम्बर 05, 2010 को मंगलौर स्थित कृष्णपुरम् मंदिर के श्री सरला धूमावती देवस्थान में एक इफ्तार पार्टी का आयोजन किया गया था. क्या मुसलमान अपनी मस्जिदमें कोई हिन्दू त्यौहार का आयोजन करते हैं? क्या इस्लाम में सहिष्णुता है?
689. 22 सितम्बर 2010 को गुजरात के बोरसाद में 23 गणेश मूर्तियों के जुलूस परनगिना मस्जिद क्षेत्र के मुसलमानों ने पथराव किया. जबकि कुछ मुसलमान नेताओंने जुलूस का स्वागत भी किया. कुछ मुसलमानों ने अचानक जुलूस पर आक्रमणभी कर दिया. फिर भी हमारी मीडिया दिन-रात चिल्लाती है कि गुजरात में मुसलमान डरे हुए हैं?
690. सितम्बर 04, 2010 को मुंबई स्थित मरीन ड्राइव पुलिस स्टेशन ने 30 वर्षीय कोठारी को जिसने अपनी कार से स्कूटर पर सवार दो लोगों को घायल कर दिया था, मजिस्ट्रेट के सामने यह कहकर रिमाण्ड पर लेने की दलील दी कि यदि इसे रिमाण्ड पर नहीं दिया जायेगा तो दंगा हो जाने की सम्भावना है. क्योंकि स्कूटर सवार दोनों मुसलमान हैं. मजिस्ट्रेट ने पुलिस को डांटा कि यह एक दुर्घटना है इसमें हिन्दू-मुस्लिम की दृष्टि से विचार करना गलत है. हम सोचते हैं कि पुलिस सेक्युलर है.
691. 11 सितम्बर 2010 को अमेरिका के एक पादरी ने कुरान को जलाने का कार्यक्रम बनाया था. किसी भी मुस्लिम देश ने इसका विरोध नहीं किया. परन्तु जम्मू-कश्मीर के मुसलमान उपद्रव करने लगे. पुलिस की गोली से चार लोग मर भी गये और 20 लोग घायल हो गये. ऐसा लगता है कि कश्मीर के मुसलमान मक्का मदिना के मुसलमान से भी कुरान के प्रति अधिक वफादार हैं. क्या ऐसा नहीं है?
692. जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा कि कश्मीर भारत का अंग कभी नहीं था और उन्होंने पूछा कि ऐसी स्थिति में कश्मीर को भारत का अविभाज्य अंग कैसे कहा जा सकता है? वे कांग्रेस विधायकों के समर्थन से मुख्यमंत्री बने हैं. ऐसा करके क्या कांग्रेस देश की एकता अखण्डता का विरोध नहीं कर रही है?
693. 6 नवंबर 2010 को अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा मुंबई आये तो उन्हें होली होम हाई स्कूल और सेंट जेवियर कॉलेज ले जाया गया. दिल्ली में उन्हें हुमांयू जिसने हजारों हिन्दुओं का कत्ल किया था और हिन्दू औरतों तथा बच्चों को गुलाम बना दिया था, का मकबरा दिखाया गया. हिन्दुओं से सम्बन्धित स्थान जैसे दिल्ली स्थित स्वामी नारायण मंदिर इत्यादि क्या उन्हें दिखाने के लायक नहीं थे?
694. जब अमेरिका की संसद की कार्यवाही ॠग वेद के श्लोकों से शुरू होती है तोयू.पी.ए सरकार ने बरॉक ओबामा को श्री.श्री.रविशंकर, बाबा रामदेव या स्वामी दयानन्द सरस्वती से क्यों नहीं मिलवाया जो हमारी संस्कृति के बारे में कुछ विशेष जानते हैं. क्या यूपीए सरकार हमारी हिन्दू संस्कृति के बारे में दुर्लक्ष्य करती है?
695. सोनिया गाँधी ने कहा (1) नरेन्द्र मोदी आईएसआई के दलाल है. (2) मोदी मौतके सौदागर है. (3) वाजपेयी देश के गद्दार है, इत्यादि. इसकी कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई. परन्तु जब के एस. सुदर्शन ने कहा कि सोनिया सी.आई.ए की दलाल है, तो लोगों ने आसमान सिर पर उठा लिया. कांग्रेस प्रवक्ता ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं कोसंघ के कार्यालय पर तोड़-फोड़ करने के लिए उकसाया और कांग्रेस ने संघ को आतंकवादी कहा. आतंकवादी का परिभाषा क्या है?
696. ऐसी कहावत है कि अरब के भगवान अल्ला अपने अनुयायी इब्राहिम की परीक्षा लेने के लिए उनसे कहा कि वे अपने पुत्र इस्माइल की बलि चढ़ा दे. बलि चढ़ाते समय पुत्र बकरा बन गया और पुत्र के बदले उसकी बलि चढ़ा गई. मुसलमानों की इस विश्वसनीयता पर कोई हिन्दू प्रश्न नहीं खड़ा करता, पर अयोध्या के सम्बन्ध में कुछ लोग जिसमें हिन्दू और मुसलमान दोनों सम्मिलित हैं यह शंका क्यों करते हैं कि श्री राम का जन्म क्या अयोध्या में हुआ था?
697. बकरीद के कुछ दिन पहले पूरे देश में कुर्बानी के नाम पर बड़े पैमाने पर बकरों की बिक्री होती है. परन्तु आश्चर्य की बात यह है कि मंदिरों में पशुबलि के विरोध में चिल्लाने वाले पशु-प्रेमी बकरीद के अवसर पर चुप क्यों हो जाते हैं? जानवर प्रेमी मेनका गाँधी चुप क्यों हो जाती हैं?
698. रतन टाटा ने कहा कि पूर्व मंत्री सी.एम इब्राहिम ने उन्हें एविएशन सेक्टर में जानेसे रोक दिया. ऐसी रिपोर्ट है कि इब्राहिम ने जो एक मुसलमान है इसलिए किया कि ईस्ट-वेस्ट एयरवेज को फयदा हो, जिसका मालिक कथित रूप से दाऊद है. इब्राहिम देवगौडा के जनतादल (सेक्युलर) के सदस्य हैं. मजहबी सोच विचार के आधार पर एक मुस्लिम मंत्री कैसे काम कर सकता है?
699. वाई.एम.सी.ए एक ईसाई संगठन है. वाई.एम.सी.ए लन्दन ने एक दानदाताओं की सूची प्रकशित की है. इसमें लिखा है कि सन् 1951-52 में भारत सरकार ने उसे 30,000 पौंड, बम्बई सरकार ने 2500 पांउड, पश्चिमबंगाल सरकार ने 1500 पौंड इत्यादि मदद के रूप में दिया है. एक धर्मनिरपेक्ष सरकार ने लोगों के पैसों को ईसाई संगठनों को जो अपने धर्म के प्रचार-प्रसार में खर्च करता है क्यों दिया? नेहरू ने सोमनाथ मंदिर जिर्णोद्धार के समय सरकारी मदद देने से रोक दिया था
700. क्या आपको मालूम है कि नेहरू काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के नाम से हिन्दू शब्द को हटा देना चाहते थे. परन्तु अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय नाम उनके लिए उचित था. वे कैसे और किस प्रकार के सेक्युलर थे? वे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर प्रतिबन्ध लगाना चाहते थे परन्तु मुस्लिम लीग पर नहीं.
701. मार्च 2010 में राहुल गाँधी ने कहा कि सुरक्षा बल में सम्मिलित बिहारियों ने 26/11 के जेहादी हमले से मुंबई को बचाया, इसलिए बिहारियों को मुम्बई में रहने देना चाहिए. ठीक. इसी सिद्धान्त के अनुसार सुरक्षाबल में शामिल गैर कश्मीरी भारतीयों, जो कश्मीर को आतंकवादियों से रक्षा कर रहे हैं, कश्मीर में रहने देना चाहिये ना? क्या राहुल धारा 370 को समाप्त कर ने की सिफारिश करेंगें?
702. जरा देखिये, कैसे पश्चिमी और भारतीय मीडिया तोड़-मरोड़कर समाचार प्रसारित करते हैं. ‘पंजाब का राज्यपाल अपने एक सुरक्षाकर्मी द्वारा मारा गया‘. परन्तु वह पश्चिमी पंजाब का राज्यपाल था, जो पाकिस्तान में है. उसे हम पंजाब का राज्यपाल क्यों कहें यद्यपि कि यह अपना पंजाब है?
703. हम सुनते है कि जम्मू-कश्मीर की पुलिस दुर्गानाथ मंदिर, चिनार मंदिर और श्रीनगर स्थित हनुमान मंदिर में इसलिए घुसी कि कहीं 26 जनवरी 2011 को गणतंत्र दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा लहराने वाले हिन्दू इन मंदिरों में छिपे न हों. परन्तु इस समाचार को मीडिया में दबाया गया. क्या वर्दी में हमारे ये अधिकारी चर्चों और मस्जिदों में आतंकवादियों की खोज में घुसने की हिम्मत करेंगे? और क्या मीडिया ऐसे समाचारों को दबाने का साहस करेगी?
704. आतंकवाद को न रोकने के लिए पाकिस्तान को आतंकवादी देश कहा जाता है.भ्रष्टाचार न रोक पाने के लिए क्या मनमोहन सिंह को भ्रष्टाचारी नहीं कहा जासकता? क्या इसमें कोई अन्तर है?
705. यूपीए के शासनकाल में सत्यं, शिवं, सुन्दरम, की जगह परिवादवाद और भष्ट्राचार ने ले लिया है. क्या आप इस परिभाषा से सहमत हैं?
706. जब किसी की शादी होती है, तो लोग सुखी वैवाहिक जीवन की शुभेच्छा देते हैं. लेकिन इंडियन एक्सप्रेस के चेन्नई अंक ने वरुण-यामिनी को शुभेच्छा देने के बदले छिछोरापन से हिन्दुत्व, चुनाव इत्यादि की बात की. लगता है उसका संवाददाता हिन्दुत्व फोबिया से ग्रस्त हैं. ऐसे समाचार कैसे प्रकाशित होते हैं.
707. 2जी स्पेक्ट्रम घोटाले में अरुण शौरी ने बार-बार कहा कि वे सी.बी.आई के सामने उपस्थित होने के लिए तैयार है. वास्तव में वे स्वेच्छा से 9 फरवरी 2011 को सी.बी.आई के समक्ष उपस्थित होने के लिए तैयार थे जिसे नामंजूर कर दिया गया. फिर भी जब उन्हें 10 तारीख को सी.बी.आई ने बुलाया तो मीडिया ने कहा किसी.बी.आई ने उन्हें तलब किया है. क्या मीडिया अपनी सोच गंवा चुकी है?
708. छत्तीसगढ़ पुलिस ने विनायक सेन को नक्सलियों को बढ़ावा देने के जुर्म में 14 मई 2007 को गिरफ्तार किया. परन्तु 25 दिसम्बर 2007 मुम्बई के एस.एन.डी.टी.यूनिवर्सिटी मे उन्हें उनकी समाज सेवा को देखते हुए योजना आयोग के सदस्य डॉ. बी.एन मुंगेकर की उपस्थिति में इंडियन सोशल साइंस कांग्रेस द्वारा आर.आर केतन गोल्ड मेडल पुरस्कार प्रदान किया गया. क्या तथाकथित बौद्धिक संस्थान एस.एन.डी.टी यूनिवर्सिटी छत्तीसगढ़ कोर्ट के निर्णय को प्रभावित करना चाहता था?इसके बाद भी छत्तीसगढ़ कोर्ट ने उन्हें आजीवन कारावास की सजा दी है. छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने उनकी जमानत की अर्जी अस्वीकार कर दी. इसके पूर्व 10 दिसम्बर 2007 को सुप्रीम कोर्ट ने भी उनकी जमानत की अर्जी अस्वीकार कर दी थी.
709. जब छत्तीसगढ़ कोर्ट ने विनायक सेन को उनकी माओवादी समर्थन कृत्य के लिए आजीवन कारावास की सजा सुनाई, तो पूरी सेक्युलर और तथाकथित बुद्धिजीवी गैंग ने गरीबों और वनवासियों की आड़ में फैसले का विरोध करना शुरू कर दिया. परन्तु जब वही माओवादी एक नौजवान कलेक्टर का अपहरण कर लिया जो गरीबो और वनवासियों की मदद करता था, तो इसी मीडिया और बुद्धिजीवी ने चुपी साध ली. क्या यह इनका दोहरा मापदण्ड नहीं है?
710. जब छत्तीसगढ़ कोर्ट ने डॉ. विनायक सेन की जमानत अर्जी नामंजूर कर दी, तो उनकी पत्नी एलिना ने कोर्ट को कंगारू कोर्ट की संज्ञा देकर कोर्ट को बदनाम किया. क्या यह कोर्ट की मानहानि नहीं है. बुद्धिजीवी और सेक्युलर गैंग चुप क्यों हैं? मीडिया भी मौन है. क्या एलिना कानून से ऊपर है?
711. विनायक सेन के फैसले के बाद मीडिया के लोगों ने निम्न प्रकार अपना उद्गारव्यक्त किया. (1) भ्रष्टाचारी स्वतंत्र, एक डॉक्टर को सजा मिली (2) धक्कादायक(3) गुण्डे छत्तीसगढ़ में राज कर रहे हैं. क्या ये मीडिया के लोग विनायक सेन के समर्थन में शामिल हैं? अथवा वे भी इसमें संलग्न हैं?
712. ऑल इंडिया क्रिश्चियन कौंसिल और यूनाइटेड क्रिश्चियन फॉरम के अध्यक्ष जॉनदयाल ने डॉ. विनायक सेन के आजीवन कारावास सजा का जोरदार विरोध तथा उनके माओवादी समर्थक विचार का समर्थन किया है. श्री दयाल सोनिया गाँधी के नेशनल इंटिग्रेशन कौंसिल के भी सदस्य है. क्या उनके इन हरकतों से और कम्युनिस्ट, माओविष्ट, टेरस्स्टि सिद्धान्तों से भारत की एकता कायम रहेगी?
713. विनायक सेन को आतंकवादियों को समर्थन देने के जुर्म में कोर्ट ने दिसम्बर 2010 में अपराधी घोषित किया है. किंतु उनके समर्थन में सन् 2008 में एक नहीं बल्कि 9 जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के स्टॉफ ने हस्ताक्षर किये. जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय देश का एक विश्वसनीय संस्थान है. इन बुरे काम का असर विश्वविद्यालय की विश्वसनीयता के साथ-साथ छात्रों और वे बुद्धिजीवी लोगों पर कितना बुरा असर पड़ेगा, कहाँ नहीं जा सकता.
714. सी.बी.आई-एम.एल की कविता कृष्णन ने भी ऊपर वर्जित याचिका पर हस्ताक्षर किया है. उन्होंने कश्मीर घाटी में पत्थर बाजी का समर्थन किया है. कम्युनिस्टों के उपद्रवों का समर्थन करने वाला आज कल पाकिस्तान और सऊदी अरेबिया से प्रेरित आतंकवादियों के समर्थन में भी उठ खड़ा हुआ है. इससे अपनी मातृभूमि भारत को कितना खतरा है, क्या इसका अनुमान आप लगा सकते हैं?
715. सन् 2007 में पत्रकार प्रफुल बिदवई ने आतंकवादी समर्थक विनायक सेन का समर्थन किया था. वही बिदवई सन् 2008 में कथित भगवा आतंकवाद पर टूट पड़े थे. इसका मतलब यह हुआ कि जो पत्रकार भगवा आतंकवाद पर जोर-शोरसे चिल्लाते हैं वही लाल आतंकवाद का समर्थन करते हैं.
716. कोर्ट द्वारा निर्दोष घोषित किये जाने के बाद भी मीडिया नरेन्द्र मोदी को दोषी ठहरा रहा है. परन्तु कोर्ट के द्वारा दोषी ठहराये जाने के बाद भी मीडिया विनायक सेन को निर्दोष घोषित कर रहा है. क्या मीडिया के लोग इतने स्वार्थी हो गए हैं?
717. साउथ एशिया पोर्टल के अनुसार सन् 1989 से आज तक माओवादी आतंकवादीने 5961 नागरिकों और 2086 सुरक्षाबलों के जवानों की हत्या कर चुके हैं. ऐसे आतंकवादियों के समर्थन में डॉ. विनायक सेन उठ खड़े हुए हैं. फिर भी उन्हें पीड़ित बताया जाता है. यह विचार हमारे सेक्युरिस्टों और मीडिया के लोगों का है. कितने दुख की बात है.
718. सेन के समर्थकों का कहना है कि डॉ. विनायक सेन गरीबों की मदद कर रहे थे. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से सम्बन्धित संस्था सेवा भारती भी छत्तीसगढ़ आदिवासियोंकी सेवा में संलग्न है. उन लोगों से माओवादी आतंकवादी क्यों नहीं मिले? केवल डॉ.सेन ही ऐसे खूँखार माओवादी आतंकवादियों से क्यों मिले? इसका उत्तर सेक्युलर गैंग के पास है?
719. कर्नल पुरोहित एक कम्युनल आतंकवादी है जबकि विनायक सेन एक सेक्युलर आतंकवादी है. पहले को सजा नहीं सुनाई गई है, परन्तु मीडिया उसे दोषी ठहरा रही है. परन्तु दूसरे को सजा सुना दी गई है और कोर्ट ने उसे दोषी ठहरा दियाहै. फिर भी मीडिया के लोग उसे निर्दोष बता रहे हैं. इस सिद्धान्त के अनुसार एक स्कूटर बेचने के लिए साध्वी प्रज्ञा एक हिन्दू आतंकवादी है. पर विनायक सेन एक क्रिश्चियन आतंकवादी नहीं है, जिसने आतंकवादी नारायण सन्याल से जेल में 33 बार मुलाकात की. मीडिया का क्या यह दोहरा चरित्र नहीं है?
720. मीडिया और सेन के समर्थक इसका कोई जवाब नहीं देते कि एलिना सेन(विनायक सेन की पत्नी) जो रूपान्तर नाम की एक गैर सरकारी संस्था चलाती हैं, उसको आर्थिक मदद कौन देता है? उनके बैंक एकाउण्ट में 40 लाख रुपये है जिसका कोई आयकर नहीं भरा गया है. यह पैसा कहाँ से आया? क्या कांग्रेसी इस पर कार्रवाई करेंगे?
721. डॉ. प्रवीणभाई तोगड़िया एक डॉक्टर है. वह भी कैंसर के सर्जन हैं. जब उन्हें छोटे-मोटे मुद्दे पर गिरफ्तार किया गया तो इन्हीं कम्युनिस्ट गैंगो ने कहाँ तो क्या हुआ, वे एक फासिस्ट हैं. वही गैंग अब कह रहा है कि एक डॉक्टर (विनायक सेन) का जेल में जाना एक धक्कादायक घटना है. उनकी सोच क्या हास्यास्पद नहीं है?
722. डॉ. विनायक सेन की जमानत की अर्जी नामंजूर कर दी गई तो नेशनल कोंसिल ऑफ चर्चेस इन इंडिया की अंजना मसीह ने कहा - यह दुर्भाग्यपूर्ण है. कैथोलिक बिशप कान्फ्रेंस ऑफ इंडिया के सचिव फादर चाल्र्स इरुदयम ने कहा कि इस फैसले से लोगों के ऊपर बुरा असर पेड़ेगा. लोगों के मन में ऐसी धारणा बनेगी कि राज्य सरकार कुछ भी गलत-सही कर सकती है उसे रोकनेवाला कोई नहीं है. चर्च को कम्युनिस्टों का समर्थन क्यों करना चाहिये? क्या ईसाई-कम्युनिस्ट धुरी देश को अस्थिर करने में जुट गई है?
723. जब गोधरा का फैसला सुनाया गया, कांग्रेसी, सेक्युलररिस्ट और टी.वी. चैनल यह प्रसारित कर रहे थे कि फैसला बड़ा कठोर है. परन्तु इनमें से किसी ने भी दुर्घटना में मरे 59 हिन्दू स्त्रियों और बच्चों के दर्द के प्रति सहानुभूति नहीं प्रकट की. क्या हिन्दू इतने सस्ते हैं?
724. राज्यसभा में प्रश्न काल के समय प्रधानमंत्री ने कहा कि मंत्रिमण्डल को Antrix-Devas विषय में कोई सूचना कभी नहीं मिली. परन्तु उसी दिन राज्यमंत्री वीनारायण स्वामी ने सदन को बताया की समझौते को रद्द करने का निर्णय जुलाई 2010 में ही ले लिया गया था. यदि समझौते की सूचना ही नहीं थी या मंत्रिमण्डलकी जानकारी नहीं थी, तो समझौते को रद्द करने का निर्णय क्यों और कैसा किया गया? हमारे प्रधानमंत्री हम से सत्य क्यों छिपा रहे हैं?
725. मुस्लिमों के लिए बनी अल्पसंख्यक शिक्षण संस्थान के अध्यक्ष न्यायमूर्ति एम.ए.सिद्दि की के अनुसार जामिया मुस्लिमों द्वारा मुस्लिमों के हित में स्थापित की गई थी. इसका मुस्लिम अल्पसंख्यक स्वरूप हमेशा कायम रहा. यदि जामिया मुसलमानों द्वारा मुसलमानों के हित में एक संस्थान है, तो केन्द्रीय सरकार इसकी मदद हिन्दू करदाताओं के पैसों से क्यों करती है?
726. ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने 31 जनवरी 2011 को एक प्रस्ताव पास किया कि युवक मोबाइल फोन का उपयोग न करें. लड़कियों के लिए विशेष रूपसे चेतावनी दी गई. उनके माता-पिता से कहा गया कि वे लड़कियों को मोबाइलफोन का उपयोग न करने दें. क्योंकि यह फोन उन्हें बेहया बनाता है. क्या सेक्युलर और तथा कथित बुद्धिजीवी गैंग से इसके विरोध में उठ खड़ा होने की अपेक्षा आप कभी कर सकते हैं?
727. जम्मू-कश्मीर के विषय में मध्यस्थता करने वालों की सलाह पर केन्द्र सरकार ने अन्य प्रदेशों को आदेश दिया है कि वहाँ रहने वाले कश्मीरियों से पूछताछ नरमी के साथ की जाए? जिससे उनको किसी प्रकार की ठेस न लगे. यह कश्मीरी मुसलमानों के बचाव में एक आदेश है. क्या केन्द्र सरकार जम्मू-कश्मीर सरकार को भी ऐसा ही आदेश दे सकती है कि वह वहाँ के हिन्दुओं को परेशान न करे. कश्मीरी मुसलमानों ने 5 लाख हिन्दुओं को कश्मीर की घाटी से क्यों निकाल दिया?
728. बलूचिस्तान स्थित कलात शहर में काली माता मंदिर के पुजारी 82 वर्षीय लक्कीचन्द गारजी को तालिबानियों ने 21 दिसम्बर 2010 को अपहृत कर लिया था. वे आज तक लापता हैं. यदि भारत में एक इमाम का अपहरण हो जाए, तो सोचिए क्या होगा?
729. केरल हाई कोर्ट ने केरल में इस्लामिक बैंक खोलने की अनुमति दे दी है, जबकि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के नियमानुसार जाति के आधार पर कोई बैंक कीस्थापना नहीं की जा सकती. शरीयत के आधार पर कोई बैंक कैसे खोला जासकता है? क्या यह तुष्टीकरण की नीति नहीं है?
730. प्रतिभा पाटिल राष्ट्रपति बन गई. क्योंकि उन्होंने इंदिरा गाँधी के लिए तब खाना बनाया और कपड़ा धोया जब उन्हें सन् 1977 के चुनाव में प्रधानमंत्री की कुर्सी से उतार दिया गया था. राजस्थान के पंचायती राज मंत्री अमीन खान ने उपयुक्त बाते बताई. ऐसा कहकर उन्होंने कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं को उत्साहित किया कि गाँधी परिवार अपने कार्यकर्ताओं का कितना ख्याल रखता है और उन्हें किस प्रकार पुरस्कृत करता है. यदि वे भी प्रतिभा पाटिल का अनुकरण करेंगे तो ऊँचे-से-ऊँचे पदों पर वे भी पहुँच सकते हैं. क्या देश सेवा का यही मार्ग है?
731. 66 वर्षीय वृद्ध ईसाई जियोना चना जो एक स्थानीय ईसाई सोसाइटी के प्रमुख हैं, उनकी 39 पत्नियाँ, 94 संतानें, और 33 प्रपौत्र हैं. वे सभी मिजोरम प्रदेश के एक पर्वतीय गांव में चार मंजिल की बिल्डिंग में जिसमें 100 कमरे हैं, रहते हैं. इस ईसाई सोसाइटी की स्थापना जून 1942 में हुई. इसकी ऐसी मान्यता है कि पूरी दुनियाशीघ्र ही ईसाई शासित हो जायेगी. क्या यह इस्लाम की प्रतिस्पर्धी संस्था है?
732. न्यायमूर्ति सोम शेखरन आयोग ने कर्नाटक में 'चर्चोंं पर हमला' केस में राष्ट्रीयस्वयंसेवक संघ और कर्नाटक सरकार को क्लीन चिट दे दिया है. इससे ईसाई और मीडिया नाखुश हैं. इसका अर्थ यही हुआ कि संघ, भाजपा को निर्दोष प्रमाणित करने वाला किसी भी आयोग का फैसला कांग्रेस, ईसाई और मीडिया को स्वीकार नहीं होगा?
733. ईसाई समूह दुष्टता पूर्वक एक दूसरे के विरुद्ध लड़ रहा है और प्रत्येक चर्च अपने-अपने दलालों को ईसाई धर्म परिषद में प्रवेश दिलाने का प्रयत्न कर रही है.इन समूहों में एक दूसरे के प्रति शत्रुता, ईष्र्या और घृणा अपरमपार है. आश्चर्यजनक बात यह है कि जब वे अपनी बात प्रस्तुत करते हैं तो वे कैथोलिक चर्च के नेताओं का सहारा लेते हैं. क्योंकि आर.सी चर्च विश्व में बहुत शक्तिशाली और समृद्ध है तथा इसका राजनीतिक वर्चस्व भी है.
734. अब सुप्रीम कोर्ट भी केन्द्रीय सरकार के सेक्युलर अर्थप्राय के प्रति संदिग्ध है. 9 फरवरी 2011 को सुप्रीम कोर्ट ने केन्द्रीय सरकार से पूछा कि क्यों हिन्दू व्यक्तिगतकानून को ही श्रेणीवद्ध क्यों किया जा रहा है. हिन्दू समाज को ही उसकी सहिष्णुता के कारण बार-बार लक्ष्य बनाया जाता है. लेकिन अन्य मजहब के व्यक्तिगत कानूनके साथ ऐसा नहीं किया गया क्यो?. अब तक जो विभिन्न हिन्दू संगठन कहते आ रहे हैं, उसे सुप्रीमकोर्ट भी कह रहा है.
735. मुंबई में एक तरफ पुलिस में भर्ती के लिए जो परीक्षा हो रही है वह उर्दू में भी हो रही है. वहीं दूसरी तरफ भारत सरकार संस्कृत भाषा को मृतभाषा घोषित कर रही हैं. भारत सरकार हमारे हिन्दू पहचान को मिटाने के लिए भरपूर कोशिश कर रही है.
736. छद्म अंग्रेज जो इस समय देश पर शासन कर रहे हैं उनके लिए ब्रिटिश और मुगल कालीन इमारते जो हमारे पूर्वजों की इच्छा के विरुद्ध और उनको दबाकर बनाई गई थी, यादगार हैं. परन्तु जो हमारे पूर्वजों द्वारा बनाई गई, इमारत़े और भाषा, इत्यादि रद्दी की टोकरी में डालने लायक हैं. जब हम अपने पूर्वजों और अपनी पहचान की इतनी अवहेलना करेंगे और लज्जा महसूस करेंगे तो हम पर कौन विश्वास करेगा?
737. 11 फरवरी 2011 को United Nations युनाइटेड नेशनस राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद में भाषण देते समय हमारे विदेश मंत्री एस.एम कृष्णन सर्व प्रथम तीन मिनट तक पुर्तूगाल के विदेशमंत्री का भाषण पढ़ते रहे जब तक कि उनको अपनी गलती मालूम नहीं हुई. हमारे विदेशमंत्री कितने असावधान है जो सुरक्षा परिषद में इतनी बड़ी भूल कर बैठे. क्या यह राष्ट्रीय शर्म की बात नहीं है?
738. अरूणाचल प्रदेश के कांग्रेसी सांसद निनांग इरिंग ने 19 फरवरी 2011 को एक आम सभा में योग गुरु स्वामी रामदेवजी को Bloody Indian Dog (हरामी भारतीय कुत्ता) कह कर संबोधित किया. वह ईसाई है और उत्तर पूर्व पर्वतीय चर्च परिषद के विभिन्न समीतियों से जुड़ा हुआ है. इसका अर्थ यह हुआ कि वे अपने आपको भारतीय नहीं समझता? कांग्रेस ऐसे देश विरोधी लोगों को टिकट क्यों देती है? आश्चर्य की बातयह है कि कांग्रेस ने अभी तक इस सांसद के विरुद्ध कोई कार्यवाही नहीं की है.
739. श्रीमती सोनिया गाँधी ने श्री लालकृष्ण आडवाणी को पत्र लिखा कि भाजपा द्वारा नियुक्त कालाधन का टॉस्क फोर्स का रिपोर्ट के आक्षेप बिल्कुल गलत है. उनके पत्र का जवाब में आडवाणी ने बिना किसी भाजपा नेता की सहमति से क्षमा मांग ली. कांग्रेस तो सोनिया की पारिवारिक पार्टी है. परन्तु भाजपा के बारे में क्या कहा जाय? क्या आडवाणी को इसके सम्बन्ध में भाजपा के नेताओं से मिलकर परामर्श नहीं करना चाहिये था? सोनिया और आडवाणी के बीच में यह क्या पक रहा है.
740. ईसाई, मुसलमान और झूठे इतिहासकार चारों तरफ झूठा प्रचार कर रहे हैं और वे ऐसी अपेक्षा कर रहे हैं कि कोर्ट भी उनके इस झूठ को अपने फैसले से सत्य में बदल दे. परन्तु कोर्ट के फैसले से जब सत्य बाहर आता है, तो वे फैसले का विरोध कर नई-नई खोज दुनिया के सामने लाते हैं. रामजन्मभूमि फैसला, विनायक सेन फैसला और अब गोधराकाण्ड फैसला इसका उदाहरण है. सत्य यह है कि अब ये झूठे लोग सबके सामने गलत साबित हो चुके हैं और शर्म से इधर-उधर भाग रहे हैं.
741. गोधरा रेल दुर्घटना केस में अहमदाबाद की विशेष अदालत ने 11 लोगों को फांसी और 20 लोगों को अजीवन कारावास की सजा सुनाई है. लालू द्वारा रचित बनर्जी आयोग ने अपने निष्कर्ष में कहा था कि आग दुर्घटना वश लगी थी और बाहरी लोग इसमें सक्रिय नहीं थे. क्या यह फैसला बनर्जी आयोग को झूठा नहीं साबित करता? क्या लालू यादव और श्री बनर्जी इसके लिए क्षमा मांगेगे.
742. न्यायमूर्ति वी.के कृष्णा अयर, न्यायमूर्ति बी.बी.सावंत न्यायमूर्ति होस्बेत सुरेश, के.जी.कन्णबीराम, अरुणा राय, के.एस. सुब्रह्मणियम, प्राध्यापक घनश्याम शाह और प्राध्यापक तनिका सरकार सदस्य थे और तीस्ता सीतलवाड Concerned Citizens Tribunal Gujrat 2002 की सेक्रेटरी थी. CrimeAgainstHumanity नामक अपने प्रकाशन में लिखा है कि आग अन्य डिब्बों में नहीं पहुंची इससे ही पता चलता हैकि आग इसी डिब्बे में लगाइ गई थी. इससे यह मालूम पड़ता है कि सेवा निवृत्तजज राजतनीतिज्ञों के हाथ की कठपुतली बन गये हैं. वे कितने अधीन हो गये हैं.
743. 26 जनवरी 2011 को सभी भारतीय टी.वी. चैनलों ने गर्व से कहा कि लाल चौक में तिरंगा फहराने में भाजपा असफल रही. पाकिस्तान भी इस समाचार पर खुश होकर प्रचारित कर रहा था कि भाजपा कश्मीर के लाल चौक पर भारतीय राष्ट्रध्वज तिरंगा नही फहरा सकी. जरा सोचिये हम कहाँ खड़े हैं? क्या हम (मीडिया,यूपीए और जम्मू-कश्मीर की सरकार परोक्ष रूप से स्वीकार नहीं करते कि जम्मू-कश्मीर भारत का अविभाज्य अंग नहीं हैं.
744. राजदीप सरदेसाई लिखते हैं कि सलमान तासीर (पाकिस्तान स्थित पंजाब के मुख्यमंत्री जिनकी हत्या तालिबान ने की है) अपनी विस्की (शराब) और औरतों से प्रेम करता था और स्वतंत्र विचार का था, वह मुझे भी शराब पिलाता था. क्या स्वतंत्र विचार रखने वालों की यही पहचान है? क्या राजदीप सरदेसाई भी अपनी विस्की और औरतों के साथ स्वतंत्रत विचार रखने वाले व्यक्ति हैं? सागरिका घोष सावधान!
745. जनवरी 2011 को मेघालय में सभा और गारो नामक दो ईसाई समूहों के झगड़ेमें एक ईसाई पादरी मारा गया और लगभग तीन हजार लोग बेघर हो गये. परन्तुन तो भारत के सेक्युलर न्यूज चैनलों ने और न तो ईसाई संगठनों ने इसके विरुद्ध आवाज उठाई. क्या वे ईसाइयों में व्याप्त जातीयता को छिपाना चाहते थे.
746. जनवरी 2011 में मेघालय के पर्वतीय जिला पूर्वी गारो में ईसाइयों ने 4 हिन्दुओंको मार गिराया और उनका घर लूट लिया है. गारो ईसाई ग्रुप के ईसाई इस लूटमें सम्मिलित थे. 25 हजार से भी अधिक सभा आदिवासी जो हिन्दू थे, को अपना गांव छोड़ने के लिए विवश किया गया. वे असम में शरणार्थी हैं. ईसाई मेघालय सरकार द्वारा हिन्दुओं को दबाने की बात क्या इससे नहीं प्रमाणित होती.
747. क्या मेघालय एक ईसाई प्रदेश है? आर.टी.आई के अन्तर्गत एक जवाब में श्री हरिश्चन्द्र पवार को श्रीमती मणि जो सूचना और जन सम्पर्क विभाग की सचिव है तथा ग्रामीण विकास विभाग ने भी अपने जवाबी पत्र में बताया कि हमारा प्रदेश एक ईसाई प्रदेश है, इसलिए यहां रविवार को छुट्टी रहती है. सेक्युलर गैंग की इस पर क्या प्रतिक्रिया है.
748. सेना ने सुरक्षा मंत्रालय के माध्यम से छत्तीसगढ़ सरकार से यह स्पष्टीकरण मांगा है कि यदि माओवादी हमारी सैनिक टुकड़ी पर हमला करते हैं तो उनके साथ हम कैसा व्यवहार करे? सेना के लिए यह कितनी दयनीय स्थिति है? यदि माओवादी सेना पर हमला करते है तो उन पर गोली चलाने के लिए सरकार की अनुमति की आवश्यकता है. यदि सेना को अनुमति नहीं दी जाती तो उन्हें मरना ही है. सरकारी अहिंसा जिन्दाबाद.
749. CJP की प्रमुख तीस्ता सीतलवाड जिनेवा स्थित मानवाधिकार कार्यालय में गुजरात दंगा केस के साथियों की सुरक्षा हेतु पहुंची और मानवाधिकार की मांग की. जनवरी 2011 को सुप्रीम कोर्ट ने उनकेइस विदेशी पहुंच के सम्बन्ध में उन्हें बहुत फटकारा. और पूछा-आपका इरादा क्या है? क्या तीस्ता सीतलवाड को भारतीय न्यायालयों पर भरोसा नहीं है?
750. . ग्राहम स्टेन के केस में जनवरी 2011 को सुप्रीम कोर्ट के फैसले में ऐसा लिखा है कि - ग्राहम स्टेन को उसकी धार्मिक गतिविधियों के लिए एक सीख देने का इरादा था क्योंकि वह गरीब आदिवासियों को ईसाई बना रहा था. बाद में कोर्ट ने फैसले के इस पैराग्राफ को बदल दिया. क्या ऐसा इसलिए हुआ कि कोर्ट पर मिशनरियों का दबाव पड़ा? सत्ता में बैठे माफिया कितने सक्रिय है. कुछ भी हो, दारा सिंह की स्टेन से कोई सम्पति का मामला तो नहीं था.
751. . 26 जनवरी 2011 की एकता यात्रा में भाग लेने और श्रीनगर स्थित लाल चौक में राष्ट्र ध्वज फहराने के लिए जा रहे भाजपा कार्यकर्ताओं को लेकर एक रेलगाड़ी बैंगलोर से दिल्ली जा रही थी. उस गाड़ी को आधे रास्ते से आधी रात को वापस बैंगलोर भेज दिया गया. यह भारत सरकार का गैरकानूनी कृत्य नहीं है?
752. . दिल्ली विकास प्रधिकरण ने दक्षिण-पूर्व दिल्ली स्थित जंगपुरा ब्लॉक की एक मस्जिद को ढहा दिया. अपनी सेक्युलर छवि को पुनः प्राप्त करने के लिए शीला दीक्षित ने दक्षिण दिल्ली स्थित पुष्पा विहार मंदिर को गिराने के लिए एक बुलडोजर भेज दिया और कुछ ही क्षणों में मंदिर गिरा दिया गया. इसके बाद तुरन्त उन्होंने मस्जिद के पुनर्निमाण का वादा किया. परन्तु मंदिर के पुन र्निमाणके बारे में कुछ नहीं कहा. क्या तुष्टीकरण की कोई सीमा है?
753. . जब अलगाववादी नेता यासीन मलिक और दूसरे लोग लाल चौक में काला झण्डा लेकर पहुंचे तो पुलिस ने उन्हें गरम-गरम चाय और सिगरेट पीने के लिए दी? परन्तु जब एकता यात्रा वहाँ राष्ट्रध्वज फहराने के लिए 26 जनवरी 2011 को पहुंची, तो उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया. जब उन्होंने पानी मांगा तो पुलिस ने उन्हें पेशाब पीने के लिए दिया. अलगाववादियों और राष्ट्रवादियों के साथ व्यवहार करने का क्या यही तरीका है?
754. . जनवरी 26, 2011 को मीडिया वाले और कांग्रेसी लाल चौक में राष्ट्रध्वज फहराने में असफल रहे भाजपा कार्यकर्ताओं की असफलता पर जश्न मना रहे थे. कुछ भाजपा कार्यकर्ता लाल चौक पर पहुंचने में सफल जरूर रहे जिन्हें पुलिस ने मारा-पीटा. राष्ट्रीय झण्डा को उनके हाथों से छीन लिया गया और फाड़ दिया गया. तो क्या वे भारत की आस्था का उपहास नहीं कर रहे थे?
755. . भूतपूर्व हुर्रियत कान्फेंस के अध्यक्ष अब्दुल गनी बट ने स्वीकार किया है कि दो अलगाववादी नेताओं और उनके भाई को उनेक लोगों ने ही मारा है न कि सुरक्षा बल के सिपाहियों ने. फिर भी वे साफ साफ नहीं बता रहे हैं कि किसने उन्हें मारा है. क्या वे भी सच बोलने में डरते हैं? या वे और उनके आदमी यह समझा रहे हैं कि यदि उन्होंने मुंह खोला तो सीमा पार के लोग उनका मुँह बंद कर देंगे.
756. . 03 मई, 2010 को हसन अली कांग्रेसी नेताओं के साथ-साथ कांग्रेस अध्यक्ष के राजनीतिक सचिव के साथ एक मीटिंग कर रहा था. महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष ने इसकी तरफ इशारा किया. बाद में महाराष्ट्र पुलिस ने भी जांच के बाद इस मीटिंग की बात कबुली. प्रश्न यह है कि अहमद पटेल किसका प्रतिनिधित्व करते थे? यदि वे अली से अपने लिए मिले तो सोनिया गाँधी उन्हें बर्खास्त क्यों नहीं करती? यदि उन्होंने कांग्रेस का प्रतिनिधित्व किया तो सोनिया गाँधी क्यों नहीं बताती की देश के इतने बड़े घोटालेबाज से मिलने का तात्पर्य क्या था?
757. . दारूल उलेमा देवबन्द के नये उपकुलपति मौलाना गुलाम मोहम्मद वस्तनवी साहब ने कहा कि गुजरात में मुसलमानों के साथ कोई दुर्व्यवहार नहीं हो रहा है. और गुजरात विकास के पथ पर बढ़ रहा है. हाँ, सत्य को नकारा नहीं जासकता. यह ईमानदारी और एकता की बात थी जिसका उल्लेख मौलाना वास्तनवी ने अपने भाषण में कहा. परन्तु सेक्युलर गैंग को यह बात अच्छी नहीं लगी बल्कि उन्हें धक्का पहुंचा.
758. . अपमानित अमेरिकी अरबपति मार्क मैडोफ को अमेरिकन कोर्ट ने 150 साल कीसजा सुनाई है, क्योंकि उसने बहुत-सा आर्थिक घोटाला अमेरिकीय ईमानदार पूंजीपतियों के साथ किया है. परन्तु हमारे पास आर.राजू, मधु कोडा, कलमाडी जैसे बहुत से लुटेरे हैं जो मार्क वैडोफ को भी मात देने वाले है. परन्तु वे मौज-मस्ती में जी रहे है और स्वतंत्र विचरण कर रहे हैं. जबकि दोनो देश अपने-आपको सेक्युलर कहते हैं.
759. . यदि सऊदी अरबिया में मुसलमानों को आतंकवादी कहा जाये तो कहने वाले की हत्या कर दी जाती है. परन्तु राहुल गाँधी जिन्हें भारत के बारे में कोई जानकारी नहीं है और वे हिन्दुत्व के बारे में भी कुछ नहीं जानते हैं, वे हिन्दू आतंवाद की बात करते हैं. और हम हिन्दू इस लफंगे लड़के की बात सहन करते है. क्या यह हमारा दुर्भाग्य है?
760. . दिसम्बर 04, 2010 के दिन यूपीए सरकार ने भारतीय सेना के उत्तरी कमांडर को कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला की आलोचना करने के जुर्म में उमर अब्दुल्ला से मांफी मांगने के लिए विवश किया. उमर अब्दुल्ला ने कश्मीरियों के मन में सेना द्वारा डर पैदा करने की बात कहकर सेना को आगे भी जलील किया. उमर अब्दुल्ला को लगता है कि देश को तोड़ने या बांटने के कार्य में भारतीय सेना ही आड़े आती है, इसलिए वे सेना के पीछे पड़े है. हमारे सुरक्षा बलों को अपमानित करने के लिए यूपीए सरकार किसी को सहारा क्यों देती है?
761. . दिग्विजय सिंह के इस कथन पर कि "आर.एस.एस देशभक्ति के नाम पर मुसलमानों को उसी प्रकार लक्ष्य बनाती है जिस प्रकार नाजियों ने जू लोगों को बनाया था" इज्राइल के दूतावास ने एक वक्तव्य प्रचारित किया है. वक्तव्य में कहा गया है कि इसकी तुलना नाजियों के नरसंहार से करना उचित नहीं है क्यांकि नाजियों ने 60 हजार जू लोगों को इसलिए हत्या कर दी कि वे सभी जू थे. क्या यह दिग्विजयसिंह के गाल पर एक तमाचा नहीं है?
762. . हिन्दुस्तान टाइम्स में अपने लेख के प्रकाशन के एक दिन पूर्व अर्थात 19 जून 2009 को नीरा राडिया वीर संघवी से फोन में मिली. लेख में लिखा था - संघवीकहते हैं "I have dressed up in a piece" नीरा राडिया उत्तर देती हैः "very nice, lovely Thanks you vir" संघवी आगे कहते हैं - "It is dressed up as a plea to Manmohan Singh" क्या पत्रकारिता का यह चमत्कारी कार्य है?
763. . दिग्विजय सिंह का कहना है कि उन्होंने महाराष्ट्र ए.टी.एस प्रमुख हेमंत करकरे से उनके मृत्यु के दो घंटे पूर्व बात किया था. महाराष्ट्र के गृहमंत्री आर.आर.पाटिल ने 15 दिसम्बर 2010 को महाराष्ट्र विधान सभा में कहा - दिग्विजय सिंह और मारे गये पुलिस ऑफिसर हेमंत करकरे की फोन पर बातचीत का कोई प्रमाण नहीं है. करकरे की पत्नी ने भी इस बातचीत का खप्डन किया है और कहा है कि उनके पति ने किसी भी कांग्रेसी नेता से बातचीत नहीं किया था. मतलब साफ है दिग्विजय सिंह झूठ बोल रहे हैं.
764. . एक सब डिविजनल मजिस्ट्रेट ने मध्य प्रदेश स्थित पंचमढ़ी में सन् 1990 में बने अरुंधती राय के बंगले को गैर कानूनी ठहरा दिया है. यह प्लॉट नोठिफाइड फारेस्ट एरिया में है, जहाँ जमीन खरीदने और बेचने पर प्रतिबन्ध लगा है. अरुंधती राय ने भारत को भूखा-नंगा के नाम से पुकारती हैं. उन्होंने यह बंगला हिल स्टेशन पर क्यों और कैसे बनाया?
765. . राजीव गाँधी की हत्या करने वाली महिला से जेल में मिलने का प्रियंका गाँधी ने एक बड़े शो के रुप में प्रचार किया. उन्होंने अपने आपको एक बड़ी ही दयालु महिला के रूप में प्रदर्शित किया. परन्तु उन्होंने अपने भाई वरुण गाँधी की शादी में सम्मिलित होना जरूरी ही नहीं समझा. वास्तविकता यह है कि सोनिया और उनका परिवार राजनीतिक हितों के लिए राजीव गाँधी के हत्यारी को माफ कर सकता है, परन्तु पारिवारिक झगड़े को कभी नहीं भूल सकता. यह कैसी दयालुता है?
766. . फरवरी 2011 में प्रस्तुत बजट में वित्तमंत्री प्रणब मुखर्जी ने भारत में अरबी भाषा के प्रचार-प्रसार के लिए सौ करोड़ रुपये का प्रावधान कि है. वास्तविकता यह है कि सरकार संस्कृत को मृत भाषा घोषित करने का प्रयत्न कर रही है. क्या हम भारत में रह रहे हैं या एक अरबी देश में?
767. . मुस्लिम राइट्स आर्गनाइजेशन के संस्थापक नेता एम.आई.एम मोहिदीन ने 5 मार्च 2011 को श्रीलंका में कहा कि श्रीलंका में बसे तमिल मुसलमानों को अपनी मातृभाषा के रूप में अरबी स्वीकार कर लेना चाहिये और धीरे-धीरे तमिल और अंग्रेजी भाषा को छोड़ देना चाहिये. उन्होंने कहा कि मुसलमानों को केवल अरबी भाषा ही संगठित रख सकती है. क्या आप इससे सहमत है कि इस्लाम कोई धर्म नहीं बल्कि अरब की राष्ट्रीयता है?
768. . क्या आप सोच सकते हैं कि एक आईएसआई आत्मघाती विस्फोट के नायक जुल्फिकार अहमद का इलाज नई दिल्ली स्थित गंगाराम अस्पताल में हो रहा है? पाकिस्तान के उच्चायोग के कहने पर उसे इस अस्पताल में भर्ती किया गया है. उसके मेडिकल बिल का भुगतान भी उन्हीं के द्वारा किया जा रहा था.अस्पताल के नेफ्रोलाजी विभाग में उसे 1 नवम्बर 2007 को भर्ती किया गया. 15दिन बाद उसकी मृत्यु हो गई. शायद किडनी की खराबी से ही उसकी मृत्यु हुई.
769. . दिसम्बर 18, 2010 को शुक्रवार के दिन मुसलमानों के दो समुदाय - देवबंद और बरेलवी - कानपुर स्थित कालेनगंज पुलिस स्टेशन की सीमा में स्थित बाजेरिया मुहल्ले में आपस में भिड़ गये. यह झगड़ा राज्य सभा के सदस्य महमूद मदनी के कथित अभद्र आक्षेप पर भड़का था. वे एक दूसरे पर पत्थर फेंकने लगे और गुण्डागर्दी तथा आगजनी पर उतर आये. क्या इस्लाम का यही भाईचारा है? क्या यही उनकी सहिष्णुता है?
770. . 22 वर्षीय मुस्लिम अभिनेत्री अफशाने आजाद जिसने ब्लॉकबस्टर फिल्म में हैरी पोटर के साथ कक्षा की सह पाठी की भूमिका की है, उसके घर वाले उसे कथित रूप से कोस रहे हैं कि उसने एक हिन्दू लड़के के साथ सम्बन्ध कायम कर लिया है. उसके परिवार वाले उसे कथित रूप से मार-पीट और उसकी जान लेने की धमकी दे रहे हैं, क्योंकि वह गैर मुस्लिम लड़का के साथ सम्बन्ध रखा है.(दिसम्बर 2010) आप गाते हैं - मजहब नहीं सीखाता आपस में बैर रखना?
771. . मुम्बई स्थित कुर्ला पुलिस स्टेशन ने 20 दिसम्बर 2010 को एक बहुत बड़ा पारिवारिक ड्रामा देखा. एक 17 वर्षीय लड़के ने पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्जकराई कि उसकी माँ उसके पिता को मार रही है. 41 वर्षीय अयूब शेख कोउसकी पत्नी सरोजा शेख घर से बाहर खींच कर उसे मार रही थी. जब सरोजा को मालूम पड़ा कि शेख अपनी चैथी शादी की व्यवस्था कर रहा है, तो उसने शेख को पीटना शुरू कर दिया. सरोजा ने कहा कि शेख भोलीभाली लड़कियों के साथ शादी करता है फिर उन्हें दूसरों के अधिकार में सौंप कर दूसरी लड़की के शिकार में लग जाता है. क्या आप जानते हैं कि इस्लाम में शादी एक सिविल कान्ट्रॉक्ट (Civil Contract) है जिसमें स्त्री का परित्याग कभी भी सम्भव है.
772. . दिसम्बर 19, 2010 - 36 वर्षीय अतीक शेख की चार पत्नियाँ और 28 बच्चे हैं.वे सभी मुंबई स्थित गोवंडी के शिवाजी नगर में अलग-अलग घरों में रहते हैं और घरेलू कामकाज कर अपने भरण-पोषण करते हैं. अतिक एक अभियुक्त है.कम से कम 6 पुलिस स्टेशनों की पुलिस उसकी तलाश में है. उसकी पत्नियाँ और उसके बच्चे उसे सलाह देते हैं कि वह अब अपराध करना छोड़ दे.
773. . करारी, उत्तर प्रदेश, 24 दिसम्बर 2010, इमदादुल-जामिया-ऊलूम मदरसा के सैकड़ों छात्र कुरान से उद्धृत बिस्मिला अल-रहमान अल-रहीम शब्द को सुनकर दिन के पउन-पाठन की शुरूआत योग से करने के लिए मैदान में उपस्थित हो जाते है. उनका योग शिक्षक कुलदीप खरे हिन्दू है. योग की शिक्षा यहाँ 19 दिसम्बर 2010 से चालू है. इस इस्लामिक स्कूल के प्रिंसिपल मोहम्मद इमरान है.क्या उनके खिलाफ एक फतवा जारी होगा?
774. . डीएमके और कांग्रेस के बीच हुए राजनीतिक सौदे में NDTV के बरखा दत्त द्वारा दलाली की बात जग जाहिर है. उसने नीरा राडिया से पूछा कि क्या (कांग्रेस से) कहलवाना चाहते हैं? मुझे बताइये, मैं उनसे बात करूँगी. इसी प्रकार वीर संघवी और प्रभु चावला भी राडिया से बात करते हैं. क्या ऐसे मीडिया के लोगों से ईमानदारी की अपेक्षा कर सकते हें, जो दलाली जैसे निक्रिष्ट काम करते हैं?
775. . अक्टूबर 18, 2010 को आई.आई.टी रुड़की में एक अद्वितीय सांस्कृतिक मेले काआयोजन किया. लड़के अपने मुँह में लिपिस्टिक पकड़कर सामने की लड़की के होठ पर लगा रहे थे. एक भारी चुम्बन का दृश्य था. उनके होठों को केवल लिपिस्टिक ही अलग कर रहा था. उत्तराखण्ड की सरकार ने जाँच का आदेश दिया है. परन्तु केन्द्र की सरकार इस सांस्कृतिक मेले पर चुप है. क्या यह मानव संसाधन मंत्री अर्जुन सिंह की प्रस्तावित काम शिक्षा है?
776. . नवम्बर 2010 प्रमोशन ऑफ वर्चू एण्ड प्रिवेन्सन ऑफ वॉइस के लिए बनी सऊदी कमेटी ने सात पवित्र स्थानों को नष्ट कर देने का निश्चय किया है. क्योंकि यह सात पवित्र स्थान मूर्ति पूजा की याद दिलाते हैं, जो गैर इस्लामिक है. इन सात पवित्र स्थानों में एक मोहम्मद साहब का जन्म स्थान और दूसरा उनकी माँ अमीना वित्तवाहब्र की समधि भी है, जिन्हें ढहा देने की तैयारी है. क्या इससे भारतीय मुसलमानों की आस्था पर आघात नहीं लगता है?
777. . नवम्बर 2010 अमित शाह सुबह 10.30 बजे जमानत पर छूटा था. सी.बी.आई ने तुरन्त लगभग 10.30 बजे रात में एक याचिका दाखिल कर दी कि शाह प्रमाण के साथ छेड़-छाड़ कर सकता है. सुप्रीम कोर्ट ने तुरन्त शाह को गुजरात छोड़ने और अगले आदेश तक गुजरात न लौटने का आदेश दे दिया. ठीक है. 2जी स्पेक्ट्रम केस में 18 महीने से सी.बी.आई सुप्रीम कोर्ट को जवाब दे रही है और राजा दूरसंचार मंत्री के रूप में कार्यरत है. क्या राजा प्रमाण के साथ छेड़-छाड़ नहीं किया होगा? सुप्रीम कोर्ट राजा को दिल्ली छोड़ने और अगले आदेश तक दिल्ली न लौटने का आदेश क्यों नहीं दे रहा है?
778. . डी.एम.के ए.राजा को 2 जी स्पेक्ट्रम घोटाले में 1.76 लाख करोड़ रुपये के लेन-देन में गड़बड़ी करने के कारण गिरफ्तार किया गया था. इसी पार्टी अर्थात डी.एम.के. के ही टी.आर.बालू को 800 करोड़ रुपये के नुकसान के लिए क्यों नहीं गिरफ्तार किया गया? सेतु समुद्रम शिपिंग कैनाल प्रोजेक्ट (रामसेतु को तोडना) के नाम पर उन्होंने इतनी बड़ी रकम समुद्र में डूबा दी. ऐसा उन्होंने अपने लड़के के मॉरिशस स्थित कम्पनी के लाभ के लिए किया.
779. . नवम्बर 12, 2010 को एक कुवैती पल्ैगशिप वेसल सी.जी.एम एवरेस्ट जिसे पाकिस्तानी कैप्टन सईद हैदर करांची बंदरगाह से जवाहरलाल नेहरु बंदरगाह पर लाकर 12 पेज की हिन्दी में लिखा पमफ्लेट वांट रहा था. जिसमें लोगों से अपील की गई थी कि वे हिन्दुत्व को छोड़कर उससे अच्छा धर्म इस्लाम को स्वीकार करलें. उसे गिरफ्तार कर लिया गया था. यदि इस्लाम अच्छा धर्म है तो वह वाद-विवाद के मैदान में क्यों नहीं उतरता? क्या मुसलमान वाद-विवाद के लिए तैयार हैं?
780. . नवम्बर 12, 2010 को कोलकता के उच्च न्यायालय ने अपने फैसले में गौ हत्या पर प्रतिबन्ध लगाने का आदेश दिया है. परन्तु गौहत्या पुलिस की सुरक्षा में कोलकता में चालू है. 17 नवम्बर 2010 को सुबह 9.45 बजे हिन्दुस्तान बेकरी के पास पीरतता और दक्षिण 24 परगना जिला स्थित दोगाचा गांव में गाय की हत्या की गई. क्या न्यायालय के सम्मान का यही तरीका है?
781. . नवम्बर 2010 चेन्नई महानगरपालिका ने मई 2010 में दो मंदिरों को गिराकर वहाँ मछली का स्टॉल खड़ाकर दिया. श्रीमती राधा राजन की याचिका पर विचार करते हुए मद्रास हाई कोर्ट ने आदेश दिया कि मछली का स्टॉल वहां से हटा दिया जाय. न्यायालय ने दूसरे किसी मंदिर को इसी तरह से न गिराया जाय ऐसा भी आदेश दिया है. मंदिर को गिराकर मछली का स्टॉल खड़ा करना कितना आश्चर्य जनक है? क्या दुनिया में कही ऐसा हो सकता है?
782. . 'कौन बनेगा करोड़पति' कार्यक्रम में 22 नवम्बर 2010 को राहत तस्लीम ने एक करोड़ रुपये जीती. 50 लाख रुपये के लिए उन्से 11 वाँ प्रश्न जो पूछा गया कि किस यूरोपीय देश ने बुरके पर सर्वप्रथम प्रतिबन्ध लगाया? उन्होंने सही उत्तर दिया- बेल्जियम. एक करोड़ के लिए उनसे अगला प्रश्न पूछा गया कि किस अफ्रीकीय देश ने सबसे पहले एक महिला राष्ट्रपति का चुनाव किया? इसका उत्तर भी उन्होंने सही दिया-लीबिरीया. मुल्ला और मौलवी जो महिलाओं को अंधेरे में रखना चाहते हैं, वे कौन बनेगा करोड़पति के इस कार्यक्रम और अमिताभ बच्चन पर चिढ़ गये होंगे!
783. . नवम्बर 22, 2010 को 'कौन बनेगा करोड़पति' कार्यक्रम में अमिताभ बच्चन ने 10 प्रतिस्पर्धियों और दो विशिष्ठ अतिथियों का परिचय कराया. इन दो विशिष्ठ अतिथियों में से एक मनोविज्ञान चिकित्सक डॉ. हरीश शेट्टी थे. डॉ. शेट्टी हिन्दू वॉइस पत्रिका के आजीवन सदस्य है. हिन्दू वॉइस को ऐसे प्रबुद्ध और तीक्षण बुद्धिवाले अपने पाठकों पर गर्व है. क्या आप हिन्दू वॉइस पत्रिका के आजीवन सदस्य बन गये हैं?
784. . नवम्बर 16, 2010 कुख्यात पुलिस ऑफिसर प्रेम कुमार जिसने जयललिता के कहने पर कांची शंकराचार्य को गिरफ्तार किया था उसकी मृत्यु हो गई है. वह किडनी की खराबी और कुछ अन्य बीमारियों और मधुमेह से पीडित था. सन् 2006 में जब डी.एम.के सत्ता में आई तब से प्रेम कुमार अपने पुलिस ऑफिसरके पद से निलंबित था और बाद में उसे सेवा से निकाल दिया गया था. अभी वह मात्र 55 वर्ष का था. क्या यह दैवी प्रतिकार है?
785. . अक्टूबर 28, 2010 20 सूत्री कार्यक्रम को प्रमुखता से क्रियान्वित करने वाले तीन राज्य हैं जो भाजपा शसित हैं. उनमें से श्री नरेन्द्र मोदी का गुजरात पहले क्रमांकपर है. इसके बाद कर्नाटक, झारखण्ड, पंजाब और उत्तर प्रदेश का नाम आताहै. सबसे खराब प्रदर्शन बिहार, पश्चिम बंगाल, जम्मू कश्मीर और महाराष्ट्र का है.जी हाँ