Sunday, 9 December 2012

गांधीजीने स्वदेशी को अपनाया, कोंग्रेसियोने विदेशी को अपनाया ।


गांधीजीने स्वदेशी को अपनाया, कोंग्रेसियोने विदेशी को  अपनाया ।
गांधीजीने विदेशी कप्ड़ोंकी होली जलायी ।  अन्ग्रेजोंको भागानेकेलिये स्वदेशी का प्रचार किया ।
स्वातंत्र्यवीर सावरकरजीने विदेशी कपडो की होली पुणे में नवम्बर 1905 में जलायी । 
कोंग्रेस ने विदेशियोंको व्यापार के लिए वापस बुलाया।



















                                             



                      

             





\







--
┌─────────────────────────┐
│  नरेन्द्र सिसोदिया
│  स्वदेशी प्रचारक, नई दिल्ली
│  http://narendrasisodiya.com
└─────────────────────────┘