Friday, 29 March 2013

कारगिल युद्ध मे वीरता पुरस्कार पाने वाले पर 8 केस -क्योकी वो सरकार की लूट के खिलाफ बोल दिया ।

जयराम- भूतपूर्व राजपुताना रायफल्स में दूसरी रेजिमेंट में फौजी-प्राणों पर खेलकर कारगिल युद्ध के दौरान तोलोलिंग पहाड़ी पर तिरंगा फहराया था! इस विरोचित कार्य के लिये राष्ट्रपति के हाथों वीरता पुरस्कार से भी नवाजा गया.. वही जयराम आज देशद्रोही हैं! उनपर राजस्थान की कांग्रेस सरकार ने आठ फौजी मुकदमें चला रखें हैं..अधिकतर मुकदमों में उन्होने अग्रिम जमानत ले रखा है पर इन मुकदमों के चलते उन्हे फौज की नौकरी से भी निकलना पड़ा..


उनका अपराध ये है कि उन्होने प्रण किया है कि वे अपने गांव डाबला को खनन माफिया के हाथों बरबाद नहीं होने देंगें..उन्होने देखा था कि गांव मे जब बारूद से पहाड़ों को उड़ाया जाता है तो घरों में दरारें...खेतों में पत्थरों के टूकड़े इस कदर भर जातें हैं कि फसल नष्ट हो जाती है और इतनी रेत उड़ती कि लोग एक विशेष बिमारी के शिकार हो जातें..हैंडपंप का पानी सूख जाता है..गांव के लोगो को एकत्रित करके उन्होने खनन माफिया के विरूद्ध मुहिम छेड़ दी.. तमाम बड़े अधिकारियों से मिले..गुहार लगाई जब कुछ नही हुआ तो उनके नेतृत्व में गांव वाले धरने पर बैठे.. जिन रास्तों से बारूद के ट्रक गुजरते उन रास्तों को अवरूद्ध कर दिया.. सेना के दूसरे जवानों ने भी उनका साथ दिया..कुछ समय के लिये अवैध खनन रूका भी जयराम निश्चिंत होकर फौज में लौट गये..लेकिन चार महिने बाद अचानक ये सब फिर शुरू हो गया.. जयराम को खबर मिली तो वापस गांव लौट आये..


वाकया अगस्त 2012 का है... जब जयराम और उनके साथियों नें अवैध बारूद के तीन ट्रक को पकड़ा और एस एस पी को फोन किया..पुलिस ने खनन माफियाओं पर कार्यवाई करने की जगह जयराम पर ही आईपीसी की धारा 136 के तहत आठ मामले ठोक दिये..तीन दिनों तक जयराम अपने साथियों के साथ अपने गांव की पहाड़ी पर छिपे रहें..पुलिस नीचे खड़ी रही...सेना ने भी जयराम के समर्थन में मुख्य सचिव को पत्र लिखा है और मामले की सीबीआई जांच की मांग की है.. जयराम कहतें है..'ये सिर्फ हमारे गांव की बात नही है..यह गांव गांव की कहानी है और जो भी अपने गांव खेत जंगल और अपने घर को बचाने की जुर्रत करेगा सरकार उसे यही इनाम देगी.. प्रधानमंत्री ने भी यही कहा है कि जो भी विकास का विरोध करेगा वह देशद्रोही है..हम भी तो ऐसे विकास का विरोध कर रहें हैं जो हमारे विनाश पर टिका हुआ है.. इसलिये हम भी देशद्रोही हैं.!!

फ्रेडरिक जेम्स ने कहा था कि पूंजीवाद एक ऐसी अवस्था में पहुंच गया है जिसमे तीन चीजों पर उसने कब्जा कर लिया है.. प्रकृति, ग्रामीण संस्कृति और मनुष्य का अंतः करण.!!

कांग्रेस सरकार को की जाने वाली कोई भी सेवा ,सब बेकार ही जायेगी ।

--
┌─────────────────────────┐
│  नरेन्द्र सिसोदिया
│  स्वदेशी प्रचारक, नई दिल्ली
│  http://narendrasisodiya.com
└─────────────────────────┘

Tuesday, 26 March 2013

हिन्दु घट ही रहा है इसके कारण क्या है ?

आचार्य चाणक्य के नगर अफगानिस्तान सेहिंदू मिट गया ?

काबुल जो भगवान राम के पुत्र कुश का बनाया शहर था आज वहाँ एक भी मंदिर नही बचा

गंधार जिसका विवरण महाभारत मे है जो चाणक्य के अखंड भारत की सीमा हुआ करता था जहां की रानी गांधारी थी आज उसका नाम कंधार हो चूका है और वहाँ आज एक भी हिंदू नही बचा

कम्बोडिया जहां राजा सूर्य देव बर्मन ने दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर अंकोरवाट बनाया आज वहा भी हिंदू नही है

बाली द्वीप मे २० साल पहले तक ९०% हिंदू थे आज सिर्फ २०% बचे

कश्मीर घाटी मे सिर्फ २० साल पहले ५०% हिंदू थे , आज एक भी हिंदू नही बचा

केरल मे १० साल पहलेतक ६०% जनसंख्या हिन्दुओ की थी आज सिर्फ १०% हिंदू केरल मे है

नोर्थ ईस्ट जैसे सिक्किम, नागालैंड , आसाम आदि मे हिंदू हर रोज मारे या भगाएजाते है या उनका धर्मपरिवर्तन हो रहा है

1569 तक ईरान का नाम पारस
या पर्शिया होता था और वहाँ एक भी मुस्लिम नही था सिर्फ पारसी रहते थे .. जब पारस पर
मुस्लिमो का आक्रमणहोता था तब पारसी बूढ़े बुजुर्ग अपनेनौजवान को यही सिखाते थे की हमे कोई मिटा नही सकता . लेकिन ईरान से सारे के सारे पारसी मिटा दिये गए .. धीरे धीरे उनका कत्लेआम और धर्मपरिवर्तन होता रहा ..
एक नाव मे बैठकर २१ पारसी किसी तरह
गुजरात के नवसारी जिले के उद्वावाडा गांव मे पहुचे और आजपारसी सिर्फ भारत मे ही गिनती की संख्या मे बचे है

अफनिस्तान मेँ हिन्दू खत्म हो गया पाकिस्तान बाँग्लादेश मेँ हिन्दू खत्म होने की कगार पर है और भारत मेँ भी हिन्दु घट ही रहा है इसके कारण क्या है ????



--
┌─────────────────────────┐
│  नरेन्द्र सिसोदिया
│  स्वदेशी प्रचारक, नई दिल्ली
│  http://narendrasisodiya.com
└─────────────────────────┘

Saturday, 23 March 2013

जमात-ऐ-AAP

• कश्मीर को भारत से अलग करने की पैरवी करने वाली जमात-ऐ- AAP,
• ''I love my pak'' लिखने वाली जमात-ऐ- AAP,
• अफजल गुरु की फांसी का विरोध करने वाली जमात-ऐ- AAP,
• सौ करोड हिन्दुओं को काटने वाले ओवेसी जैसे देशद्रोही का समर्थन करने
वाली जमात-ऐ- AAP,
• सुर्दशन चैनल पर दिखाए जा रहे ओवेसी के खिलाफ प्रोग्राम को रोकने के
लिए फोन करने वाली जमात-ऐ- AAP,
• अन्ना, बाबा रामदेव जी को धोखा देने वाली जमात-ऐ- AAP,
• भगवान शिव का सरे आम मंच से भददा मजाक बनाने वाली जमात-ऐ- AAP..
• पार्टी बनाने के नाम पर चंदा खा जाने वाली जमात-ऐ- AAP,
• मुस्लिम तुस्टीकरण पर चलने वाली जमात-ऐ- AAP,
• बाबा रामदेव जी का सरे आम मजमा लगाकर अपमान करने वाली जमात-ऐ- AAP,
• ISI एजेंट भुखारी के तलवे चाटने वाली जमात-ऐ- AAP,
• दिल्ली में उछल कूद करने के बाद भी आजतक भुखारी के खिलाफ एक शब्द भी ना
बोलने वाली जमात-ऐ- AAP,
• सरे आम मंच से भारत माता की तस्वीर को फाडकर फेकने वाली जमात-ऐ- AAP..
• सदा दूसरों के खिलाफ बोलने वाली अपनी ही पार्टी की अंजलि दमानिया की
चोरी को दबाने वाली जमात-ऐ- AAP,
• केजरीवाल जी इतनी सारी नीच हरकतें करने के बाद भी यदि आपको लगता है कि
चार दिन आप बिजली, पानी के लिए भूखे रहने की नौटंकी करेंगे तो जनता AAP
की नीच हरकतों को भुला देगी, तो इस बात को अपने जहन से निकाल दीजिए..
• ज्यादा तो मैं सब के बारे में नहीं जानती मगर मुझे तो आप कम से कम अपनी
ये ''चार दिन भूखे रहने वाली नौटंकी'' से अपने को मेरे आगे देशभक्त सिद्ध
नहीं कर सकते..
• आपको एक फ्री की सलाह देती हूँ बिजली, पानी छोडिये राम सेतु के विषय
धरना दीजिए, इसको केवल आपके दिल्ली के कुछ एक लाख हिन्दू ही नहीं बल्कि
दुनिया भर के सौ करोडसे ज्यादा हिन्दुओं देखेंगे.. मगर शायद ऐसा करनेसे
आपके आका भुखारी और उनकी जमात गुस्सा हो जाएगी, औरशायद उन लोगों का वोट
बैंक खत्म हो जाएगा, जो AAP कभीनहीं चाहते होंगे..
जय हिन्द, जय श्री राम..



--
┌─────────────────────────┐
│ नरेन्द्र सिसोदिया
│ स्वदेशी प्रचारक, नई दिल्ली
http://narendrasisodiya.com
└─────────────────────────┘

Friday, 22 March 2013

पुस्तकें और साहित्य


http://www.rajivdixit.com/?p=1085


पुस्तकें और साहित्य

प्रिय भाइयों/बहनों,

राजीव भाई द्वारा लिखित और संपादित पुस्तकों एवं राजीव भाई द्वारा दिए गए व्याख्यानों की CD/DVd के बारे में जानकारी उपलब्ध है जिसमे डाकखर्च सम्मिलित नहीं है।  सूची नं. 2 में सेट के आधार पर जानकारी दी गई है जो कि डाकखर्च के साथ है।| आप किताबों की कुल राशि नीचे दिए खाते में जमा करके हमें जानकारी दें और अपना पूरा पता, फोन नंबर, ईमेल भेजें जिस पर रजिस्टर्ड डाक द्वारा सामाग्री भेजी जा सकें|

साहित्य एवं CD मंगाने के लिए

Account Name: Swadeshi Prakashan, SBI(State Bank of India), Sevagram Branch,  A/C No.: 32576320541, IFSCode: SBIN0012756

आर्थिक सहयोग करने के लिए

Account Name:  Rajiv Dixit Memorial Swadeshi Utthan Sanstha, Axis Bank, Wardha, A/C No.: 0912010065499853, IFS Code: UTIB0000808

सूची नं 1
1.  स्वदेशी चिकित्सा 1, 2, 3 – 150 रू.
2.  स्वदेशी चिकित्सा 4 (गंभीर रोगों की घरेलु चिकित्सा एवं सौन्दर्य निखार) – 50 रू.
3.  गौमाता – पंचगव्य चिकित्सा – 50  रू.
4.  स्वदेशी चिकित्सा (स्वाबलंबी और अहिंसक उपचार) – 25 रू.
5.  स्वदेशी चिकित्सा (आपका स्वास्थ्य आपके हाथ) –  25 रू.
6.  बहुराष्ट्रीय कम्पनियों द्वारा भारत की लूट – 40 रू.
7.  सरकारों ने दिया बहुराष्टीय कम्पनियों को देश लूटने का लायसेंस – 50 रू.
8.  बहुराष्ट्रीय कम्पनियों का असली चेहरा – 50 रू.
9.  गुलामी और लूट का दस्तावेज़ (W. T. O.) – 50 रू.
10.गौवंश पर आधारित स्वदेशी कृषि – 50 रू.
11. विदेशी कम्पनियों की जंजीरों में जकड़ा दैनिक जीवन (स्वदेशी – विदेशी सामानों की सूची ) – 10 रू.
12. सारी दुनिया का बोझ हम उठाते हैं – 25 रू.
13. सच्छे स्वराज की रूपरेखा – 15 रू.
14. भारत का स्वधर्म (धर्मपाल जी) – 20 रू.
15. स्वदेशी और भारतीयता (धर्मपाल जी) - 20 रू.
16. अंग्रेजो से पहले का भारत (धर्मपाल जी) - 10 रू.
17. चित्त, मानस और काल (धर्मपाल जी) - 10 रू.
18. अंग्रेजों भारत वापिस आओ – 20 रू.
19. आज भी खरे है तालाब – 25 रू.
20. The Real Pepsi The Real Story – 30 रू.
21. JPC and CSE Report on Hazardous Soft Drinks and Water – 70 रू.
22. 172 घंटे का व्याख्यान संग्रह Memory Card (4GB) – 200 रू.
_________________________________________________

सूची नं 2 – (डाक खर्च सहित)

1.  स्वदेशी चिकित्सा – सेट — 350 रु.
2.  राजीव भाई (All Books – 10) — 600 रु.
3.  किताब सेट — 900 रु.
4.  सम्पूर्ण कलेक्शन (किताब सेट + MP3 सेट + DVD सेट) — 1300 रु.
5.  MP3 सेट + DVD सेट — 400 रु..
6.  MP3 सेट — 200 रु.
7.  DVD सेट — 250 रु.
8.  मेरोरी कार्ड (Memory Card) (4GB) – 250 रू.

9.  यन्त्र  — 700 रु.

इन पुस्तकों एवं व्याख्यानों से संबन्धित और अधिक जानकारी पाने के लिए संपर्क करें :-

प्रदीप दीक्षित

(राजीव भाई के अनुज जो उनके राष्ट्रकर्म में 20 वर्ष से अधिक उनकी रीढ की हड्डी बनकर कदम से कदम मिलाकर चले)

फ़ोन – 09422903599, 09822520113, 07152-284014, 8380027016

ईमेल (Email):

order@rajivdixit.com

swadeshiprakashan@rajivdixit.com

पता (Address):

प्रदीप दीक्षित

राजीव दीक्षित मेमोरियल स्वदेशी उत्थान संस्था

10, जोतवानी लेआउट, सेवाग्राम रोड, सेवाग्राम, वर्धा, महाराष्ट्र (442102)

Rajiv Dixit Memorial Swadeshi Utthan Sanstha

10, Jotwani Layout, Sevagram Road, Sevagram, Wardha, Maharashtra (442102)

Monday, 18 March 2013

कानून नहीं नैतिकता लाइये समाज में ।

आप आप मुझे एक बात का जबाव दे, जबाव ३-४ शब्दों में होना चाहिये

१) आप सडक पर चलते समय किसी लडकी को क्यों नहीं छेडते हो ?
२) आप अपने पडोसी के घर पर जाकर चोरी क्यों नहीं करते हो ?
३) आप सडक पर दारू पीकर लोगों से लडाई क्यों नहीं करते हो ?
४) आप अपने टीचर की पिटाई क्यों नहीं करते हो?

?
?
?
?
?
?
?
?
?
अगर आप कहते है की पोलीस पकड लेगी तो मै पूछता हूँ की पोलीस अगर पकडने से मना कर दे तो आप सब कुछ करने लग जाओगे ?? नहीं ना ?? आपके अंदर आप क्या करते हो क्या नहीं करते हो वो नैतिकता तय करती है ।

इसलिये कानून बना लेने मात्र से ही कुछ नहीं होने वाला । जब तक स्कूलों में बच्चों को हितोपदेश और गीता रामायण महाभारत को नहीं पढाया जायेगा तब तक ये सब कुछ ठीक नहीं होने वाला है ।


--
┌─────────────────────────┐
│  नरेन्द्र सिसोदिया
│  स्वदेशी प्रचारक, नई दिल्ली
│  http://narendrasisodiya.com
└─────────────────────────┘

Sunday, 17 March 2013

Left Front Exposed

मित्रों वाम दल (Left Front) जिसमे CPM, CPI, Forward Bloc जैसी पार्टिया शामिल है ने केरल, पश्चिम बंगाल और त्रिपुरा में कई दशकों तक राज किया और आज भी वाम दल ये तीनों राज्यों में बहुत मजबूत है। अपने शासनकाल में वामदलों ने इन तीनों राज्यों कों पूरी तरह चौपट कर दिया। हमेशा कांग्रेस के खिलाफ चुनाव लड़ कर बाद में कांग्रेस कों समर्थन देने के कारण वामपंथी दल अब कांग्रेस की टीम B बन चुके है। आइये जानते है वामपंथी दलों का सच।

1) केरल और प.बंगाल में कारखाने, निर्माण, विकास ठप्प किया

http://ibnlive.in.com/blogs/sumonkchakrabarti/52/54068/jyoti-basu-the-unkindest-cut.html

2) सैकड़ो मस्जिद और मदरसे बनवा कर इस्लामीकरण किया
http://www.washingtontimes.com/news/2009/dec/31/non-muslim-pupils-flock-to-west-bengal-madrassas/?page=all

3) माओवादियों कों समर्थन देने से नक्सली हिंसा में बढ़ोतरी
http://www.indianexpress.com/news/modi-cpm-speaking-language-of-naxals/954680/0

4) बांग्लादेशी मुस्लिमों कों वोटर कार्ड बाटकर भारत में बसाया
http://www.jagran.com/odisha/bhubaneshwar-9564614.html
http://navbharattimes.indiatimes.com/articleshow/3434625.cms

5) कांग्रेस कों मुस्लिम आरक्षण और हज सब्सिडी पर समर्थन
http://www.rediff.com/news/report/cpm-convention-attempts-to-win-back-muslims/20101204.htm
http://www.haindavakeralam.com/HKPage.aspx?PageID=15693
http://articles.timesofindia.indiatimes.com/2003-12-13/india/27188652_1_haj-subsidy-haj-pilgrims-central-haj-committee

6) 1962 के युद्ध में भारत के खिलाफ चीन का समर्थन किया
http://www.indianexpress.com/news/during-china-war-comrades-cracked-down-on-vs-for-saying-lets-give-blood-to-jawans/488983/

7) धर्मांतर कर हिंदुओ कों मुस्लिम और ईसाई बनाने की मुहीम
http://indiatoday.intoday.in/story/love-jihad-oommen-chandy-islam-kerala-muslim-marriage/1/215942.html

8) कांग्रेस की टीम B है, लेफ्ट फ्रंट कों वोट याने कांग्रेस कों वोट
http://news.oneindia.in/2007/12/17/left-front-compelled-to-support-congress-led-upa-govt-cm-1197904331.html
http://www.wsws.org/articles/2012/jul2012/indi-j20.shtml

जय हिंद !!
https://www.facebook.com/HinduHindu


--
┌─────────────────────────┐
│  नरेन्द्र सिसोदिया
│  स्वदेशी प्रचारक, नई दिल्ली
│  http://narendrasisodiya.com
└─────────────────────────┘

Friday, 15 March 2013

कट्टर हिंदू

मैं मुस्लिम पर्सनल लाँ के खिलाफ हूँ , इसलिये नहीं की मै सनातनी हूँ । मै इसलिये बोल रहा हूँ क्योंकी मै  "हिंदूस्तानी" हूँ, मेरा ऐसा मानना है की जो कोई भी हिंदूस्तान मे रहता है उसके पूर्वज राम और कृष्ण है और भारतीय संस्कृती उसके अंदर होना ही चाहिये । यही भावना हमें जोडे रखती है । हमारे अंदर "हम" शब्द का प्राण ही हमारी संस्कृती है । जब भी कोई व्यक्ति धर्म विशेष (या कहे मत विशेष) के लिये आरक्षण की माँग करता है तो वो हमारे "हम" शब्द के मिटाने का प्रयास करता है , इसलिये यह एक तरह का "राष्ट्र द्रोह" है । अल्पसंख्यक आयोग भी भारत के संविधान के खिलाफ है जो कहता है सब लोग समान है। किसी भी जाती या समाज या आस्था विशेष के लोगो के विशेष अधिकार देने से उस समूह में राष्ट्रीय "हम" से अलग होकर संकीर्ण "हम" की नींव रखी जाती है इस तरह वो समूह "राष्ट्रीय विचारधारा" से अलग हो जाता है । जैसे विष्णु उपासक, शिव के उपासक, नागा साधू, आधात्यम योगी, मुनी , जैन , बौद्ध, सिख अनेका अनेक पंथी इस भारत भूमी में साथ साथ रहे है, क्योंकी  सभी ने मन से हिदू संस्कृती को माना है और राष्ट्रीय "हम" में शामील है । हम हमेशा से ही कट्टर हिंदू रहे है और इसी कारण लाखो सालो से भारत ने कभी भी किसी भी देश पर आक्रमण नहीं किया है ।  हम हमेशा से ही कट्टर हिंदू रहे है इसी कारण हमने अपने आपको और हमारी संस्कृती को जीवीत रखा है । हम सबने राष्ट्रीय "हम" को बनाये रखा है, भारत में रहने वालो को इसी "हम" को समझना होगा । उन्हे मानना होगा की यदि कोई नमाज अदा करता है पर वो है तो हिंदू ही, राम और कृष्ण की संतान है और इसी संस्कृति को मानने वाला । १००० सालो में मुस्लिमो ने कभी अलग मुस्लिम देश बनाने की माँग नहीं की । मुस्लिमो को विशेष संरक्षण दिया गया तो उन्होने संस्कृती के अलग किया और पाकीस्तान बना डाला । भारत के नेता महामूरख निकले की उसी तुस्टीकरण को बनाये रखा और स्वार्थपूर्ती के लिये भारत में हजारों दंगे करवा दिये ।
अब आप समझ गये होंगे की जातिगत या धार्मिक आरक्षण हमारी राष्ट्रीय "हम" या कहे "एकता" मे बाधक है ।

और बाते सुनने के लिये RSS के लेख और पुस्तके पढना चालू कर दो ।