Sunday, 23 June 2013

दिल्ली माल में १०-१५ फीट के अधनंगे पोस्टर ?

ये दिल्ली का हाल है,
यहाँ के माल में १०-१५ फीट बढे नंगे पोस्टर होना आम बात है
ये चित्र साकेत के माल का है, आप लोगो के इस चित्र को मेरी प्रोफाईल में देखकर दुःख हो रहा होगा ।
मैं बस इतना कहना चाहता हूँ की इतने बढे नंगे और आकर्षक पोस्टर रास्तो पर क्यु लगाये जाते है । माल में २००-४०० बच्चे रोज आते है, वो सब बच्चे लोग कम से कम २-३ बार जरूर देखते है । बच्चो के मन में यदि बचपन से़ ही नारी को ऐसा दिखाया जायेगा तो उसकी वैल्यू घट जायेगी और वो उसको एक "खिलौना" समझेगा जैसे की विदेशी लोग करते है, ऐसा बच्चा बडा होकर बलात्कारी ही बनेगा और लडकीयाँ हाई प्रोफाईल *****।

आप लोगो से अनुरोध है की इसको शेयर और ऐसे मामलो को जनता के बीच लाये


--
┌─────────────────────────┐
│  नरेन्द्र सिसोदिया
│  स्वदेशी प्रचारक, नई दिल्ली
│  http://narendrasisodiya.com
└─────────────────────────┘