Sunday, 15 December 2013

चाय वाले की दुकान पर पिज्जा की माँग उठाई - अनशन पर बैठा हैरी

हैरी नाम का बंदा, चाय वाले के दुकान के सामने अनशन पर बैठा है और बोल रहा है की भाई तु पिज्जा बना कर दे । चाय वाला हैरान परेशान है की जब में पिज्जा बनाता ही नही हूँ तो काहे अनशन पर बैठा है । उधर हैरी का नाम का कूलडूड बोल रहा है की पिज्जा खाना मेरा मैलिक अधिकार है, और ये चाय वाले को पिज्जा भी बनाना आना चाहिये। चाय वाला ये समझाने की कोशिश करना की वो पिज्जाहट क्युँ नही जा रहा है ।

अब मुद्दे की बात ।

अरे भाई, दुनिया में काफी ऐसे होटल है जहाँ स्टाफ से लेकर कस्टमर सब नंगे रहते है, काफी ऐसी खुली जगह है जहाँ आप खुले में सेक्स भी कर सकते हो और नंगे घुम सकते हो । काफी देश है है जहाँ आप एक क्या ५ -६ शादी कर सकते हो और सबके साथ सेक्स कर सकते हो  और कुछ तो ८ साल की बच्चियो से साथ भी करते है । कुछ ऐसी जगह भी है जहाँ भाई भाई , और बहन बहन से लेकर पता नही क्या क्या चल जाता है ।
ये सब होता है दुनिया में ।

सवाल ये है अगर आपको ये पसंद है तो आप उस देश में चले जाओ, किसी ने रोका है क्या ? क्यों भारत और भारतीयता की बजाने में लगे हो । आपका असली मकसद क्या है ? आपकी पसंद को गंदी आदत को पाना या उस गंदी आदत से लोगो को लगाना  और भारतीयता की धज्जीयाँ उडाना ?

जो गे लेस्बीयन और गंदे काम करना पसंद करते हो वो चले जाओ भारत के बाहर मजे करने , भारत को बिगाडने की क्या जरूरत है तुमको ।

================
चाय वाला == भारत
चाय == भारतीयता
हैरी == वामपंथी और अधिकतर कूल डूड
पिज्जा माँगना == गे लेस्बीयन के कानूनन सही ठहराना


--
┌─────────────────────────┐
│  नरेन्द्र सिसोदिया
│  स्वदेशी प्रचारक, नई दिल्ली
│  http://narendrasisodiya.com
└─────────────────────────┘